बहुचर्चित नवरूणा कांड में आया नया मोड़

0
66
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सूबे के अबतक के अनसुलझे मामलों में से एक मुजफ्फरपुर का नवरुणा कांड भी है। जिसकी जाँच सीबीआई के द्वारा कि जा रही है। आपको बता दे कि बीते दिनों सीबीआई ने इस मामले में जिले के वार्ड 23 के पार्षद राकेश कुमार सिन्हा उर्फ पप्पू को गिरफ्तार किया था। वार्ड पार्षद की गिरफ्तारी मुजफ्फरपुर में ही उनके घर के पास से की गई थी।
गत सोमवार मामले में नया मोड़ सामने आया है। नवरूणा के घर के सामने रमेश कुमार उर्फ बबलू नामक व्यक्ति रहता है। आपको बता दे कि अपहरण में रमेश कुमार भी शामिल है। कल नवरुणा के परिजन शहर के मोतीझील मार्किट गए थे। वही रमेश कुमार के द्वारा परिजनों को काट देने का इशारा किया गया। जिस कारण नवरूणा के पिता घबरा गए। उनके द्वारा सीबीआई को इस घटना के बारे में सूचित किया गया । सीबीआई के निर्देशानुसार शहर के नगर थाना में इसकी प्राथमिकी दर्ज करवाई गई। पुलिस के द्वारा मामले को गंभीरता से लेते हुए जाँच कि जा रही है।

गौरतलब है कि इस मामले के तार एक पूर्व विधायक से भी जुड़े हैं जिनके गिरफ्तार वार्ड पार्षद को करीबी बताया जाता है। वही कई उच्चाधिकारी कि संलिप्ता कि आशंका भी जताई जा रही है।

क्या है नवरुणा मामला

वर्ष 2012 की 17-18 सितंबर की रात नगर थाना के जवाहरलाल रोड स्थित आवास से नाबालिग नवरुणा का अपहरण कर लिया गया। बाद में ढ़ाई माह बाद उसके घर के नाला से कंकाल बरामद हुआ। डीएनए टेस्ट से यह कंकाल नवरुणाा का निकला। शुरू में इस मामले की जांच पुलिस फिर बाद में सीआइडी ने की। दोनों जांच में नतीजा कुछ नहीं निकला। बाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सीबीआई को जांच सौंपी गई। सीबीआई फरवरी 2014 से इस मामले की जांच कर रही है।


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •