खुशखबरी : मुजफ्फरपुर से काठमांडू जनकपुर के लिए एसी बस
Spread the love

मुजफ्फरपुर से काठमांडू जनकपुर के लिए एसी बस सेवा जल्द शुरू होगी। नए साल में खरमास के बाद इस सेवा के शुरू होने की उम्मीद है। इसके लिए भारत नेपाल के ट्रांसपोर्टरों के साथ बिहार राज्य पथ परिवहन निगम का करार हुआ है। करार होने के बाद परिवहन निगम ने राज्य परिवहन प्राधिकार को परमिट देने के लिए अनुरोध पत्र भेजा है। निगम के प्रशासक आरके मिश्रा का कहना है कि परमिट मिलते ही काठमांडू जनकपुर के लिए बसों का परिचालन शुरू हो जाएगा।

प्रशासक ने बताया कि काठमांडू के रास्ते में पहाड़ी इलाका होने के कारण वॉल्वो बसें नहीं चलाई जा सकती हैं। ऐसे में आरामदायक यात्रा के लिए एसी बस सेवा शुरू करने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। बताया कि गया पटना से चार-चार बसें काठमांडू के लिए चलेंगी। वहीं, चार बसें पटना से जनकपुर के लिए खुलेंगी। नेपाल के ट्रांसपोर्टर मंजूश्री और भारत के ट्रांसपोर्टर सतीश कुमार ने अपनी बसों को काठमांडू जनकपुर तक चलाने की सहमति प्राप्त करने के बाद परमिट लेने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।

काठमांडू जाने में 10-12 घंटे समय की होगी बचत 

-10-12घंटे समय की बचत होगी काठमांडू की यात्रा करने वालों की। फिलवक्त, मुजफ्फरपुर से काठमांडू तक की करीब 400 किमी की दूरी तय करने में 20 से 22 घंटे लगते हैं। सीधी बस सेवा शुरू हो जाने से ना रक्सौल और ना ही वीरगंज उतर कर दूसरी बस या अन्य साधन पकड़ने की जरूरत होगी।

वर्तमान में यह है व्यवस्था 

काठमांडू के लिए वर्तमान में रेल सड़क मार्ग है। दोनों मार्गों से पहले रक्सौल पहुंचना होता है। फिर वहां से ऑटो से करीब 5 किमी दूर वीरगंज जाना पड़ता है। वहां से फिर बस या टैक्सी लेकर काठमांडू तक की आगे की यात्रा करनी पड़ती है।

उत्तर बिहार के लोगों को होगा फायदा 

काठमांडू तक सीधी बस सेवा शुरू होने से उतर बिहार के लोगों को फायदा होगा। कम समय में यात्री काठमांडू जनकपुर पहुंच सकेंगे। मुजफ्फरपुर, पूर्वी पश्चिमी चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर के लोगों को वीरगंज या अन्य स्थानों पर जाकर दूसरी बस पकड़ने की बाध्यता नहीं रहेगी।

एसी बस शुरू होने से आरामदेह होगी काठमांडू की यात्रा 

रक्सौल के रास्ते हर दिन करीब 5 हजार लोग काठमांडू की यात्रा करते हैं। इसमें अमूमन 50 विदेशी पर्यटक शामिल होते हैं। वहीं, भिट्ठामोड़ के रास्ते करीब एक हजार लोग जनकपुर की भी यात्रा करते हैं। एसी बस सेवा शुरू होने से यात्रा आरामदायक सस्ती होने के साथ ही समय भी कम लगेगा।

5000 लोगअभी औसतन प्रतिदिन करते हैं काठमांडू की यात्रा

50 विदेशीपर्यटक भी अमूमन रोजाना जाते हैं बिहार के रास्ते काठमांडू

1000 लोग जनकपुर की यात्रा करते हैं प्रतिदिन

14/1/2018 कोसमाप्त होगा खरमास

Source : Dainik Bhaskar

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?

यह भी पढ़ें : भारत की मानुषी छिल्लर ने जीता मिस वर्ल्ड का ताज

Kathmandu, Muzaffarpur, AC, Bus, Services,

ADVERTISMENT, MUZAFFARPUR, BIHAR, DIGITAL, MEDIA

Total 1 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter