युवाओं को बिहार सरकार की सौगात, जल्द मिलेगा टैबलेट

0
85
bihar-government-will-give-tablet-to-youth

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने घोषणा की कि कुशल युवा कार्यक्रम के तहत प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद युवाओं को राज्य सरकार टैबलेट देगी। इस योजना को अंतिम रूप दिया जा रहा है। राज्य के युवाओं के कौशल विकास के लिए राज्य के प्रखंडों तक प्रशिक्षण केंद्र खोले गये हैं।

मुख्यमंत्री सोमवार को एक अणे मार्ग में लोक संवाद कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कुशल युवा कार्यक्रम के तहत युवाओं को कंप्यूटर और भाषा का ज्ञान, जिसमें अंग्रेजी बोलना भी शामिल है और व्यवहार कौशल की जानकारी दी जा रही है। ताकि वे कहीं भी नौकरी की तलाश में जाएं तो बेहतर ढंग से अपनी बात रख सकें।

 

 

नौकरी खोजने में उन्हें सहूलियत हो। कंप्यूटर की बुनियादी जानकारी भी उनके पास रहे। इसके लिए सभी प्रखंडों में प्रशिक्षण केंद्र बनाए गए हैं।

यह भी पढ़ें -» छठ पूजन की तैयारी शुरू, 26 को पहला अ‌र्घ्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि छह अक्तूबर को केंद्रीय पेट्रोलियम सह कौशल विकास मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पटना आए थे। उन्हें भी बिहार के कुशल युवा कार्यक्रम की जानकारी दी गई थी। उनके साथ मंत्रालय के अधिकारी भी थे। हमने आग्रह किया था कि वे कुशल युवा प्रशिक्षण केंद्र में जाकर देखें कि कैसे चल रहा है। आगे इस योजना को केंद्रीय योजना में शामिल करने पर विचार करें।

राज्य में प्रशिक्षण केंद्र चल रहे 1178प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके युवा 1 लाख 13 हजार 170अभी प्रशिक्षण ले रहे युवा 63 हजार 715

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में पेट्रोल-डीजल का आधार मूल्य कम करने का आग्रह हमने केंद्र से किया है। छह अक्तूबर को पटना आए केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान से भी इस संबंध में बात हुई थी। मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार में पेट्रोल का आधार मूल्य करीब 56 रुपये है। जबकि झारखंड में यह 51 रुपये है। कई राज्यों में आधार मूल्य बिहार से काफी कम है। इस पूरे आधार मूल्य को रिकैलकुलेट करने की जरूरत है।

बालू की किल्लत जल्द दूर होगी

मुख्यमंत्री ने कहा कि बालू के अवैध कारोबार को रोकने के लिए हमने कड़े कदम उठाये हैं। दो नंबर की कमाई करने वालों पर अंकुश लगी है। ये लोग पर्यावरण से खुलेआम खिलवाड़ करते थे। इन सब पर रोक लगाई गई है। अब बालू की थोक बिक्री निगम के माध्यम से की जाएगी।