अगर बिहार ने यह बंद कर दिया तो थम जाएगी मुंबई की लाइफलाइन
Spread the love

मुंबई वाले को भले ही बिहार के लोग फूटी आंख नहीं सुहाते हों. हर वक्त बिहारियों पर कहर बरपाने वाले को शायद इस बात की जानकारी नहीं है कि अगर बिहार का सहयोग न हो तो मुंबई की लाइफलाइन ठप पड़ जाएगी. बिहार की बदौलत ही मुंबई की लोकल ट्रेनें चलती है.

बिहार के लोगों के लिए यह अच्छी खबर है. अब तक बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यह दावा करते रहे हैं कि मुंबई के विकास में बिहार के लोगों का योगदान है. लेकिन क्या आपको मालूम है कि बिहार में उत्पादित बिजली से ही अब मुंबई की लोकल ट्रेनें दौड़ रही हैं.

मुंबई को बिजली देने का सिलसिला इस साल अगस्त महीने में शुरू हुआ. बिहार के नबीनगर में भारतीय रेल और एनटीपीसी के संयुक्त पॉवर प्लांट भारतीय रेल बिजली कम्पनी लिमिटेड से अगस्त में मुंबई में चलने वाली लोकल ट्रेनों को बिजली की आपूर्ति शुरू की गई. इस प्लांट की 90 प्रतिशत बिजली पर रेलवे का अधिकार होता है और शेष दस प्रतिशत बिहार सरकार खरीदती है. फिलहाल इस पॉवर प्लांट से 500 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है. अगले साल नवंबर महीने तक दो और इकाइयों में जब उत्पादन शुरू होगा तब 500 मेगावाट और बिजली उपलब्ध होगी.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस प्लांट की आधारशिला तब रखी थी जब वे रेल मंत्री थे. उस समय अटल बिहारी वाजपेयी प्रधानमंत्री थे. तब बिहार में बाढ़ में एक पावर प्लांट की आधारशिला रखी जा चुकी थी. रेलवे ने अपना पावर प्लांट लगाया ताकि राज्यों से ट्रेनों के परिचालन के लिए बिजली खरीदने के लिए निर्भरता खत्म हो जाए.

Source : Live Cities

Total 10 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter