बिहार में जल्द होगी 1734 दरोगा की नियुक्ति, बदल गई है चयन प्रक्रिया
Spread the love

 

बिहार समाचार, पटना समाचार, बिहार पुलिस अवर चयन आयोग, दारोगा, सरकारी नौकरी, Bihar Police High Selection Commission, Government Job, Sub inspector, bihar top, Job

 

बिहार पुलिस में दरोगा बनने का सपना देखने वालों के लिए एक अच्छी खबर है। राज्य में जल्द ही 1734 दरोगा की नियुक्ति होगी। राज्य पुलिस मुख्यालय ने बुधवार को इस संबंध में अपनी अधियाचना संबंधित नियुक्ति प्राधिकार को सौंप दी है। इनमें से 17 पुलिस अवर निरीक्षकों की नियुक्ति स्पोट्र्स कोटे से होगी।

राज्य के अपर पुलिस महानिदेशक संजीव कुमार सिंघल ने बुधवार को बताया कि अब दरोगा की नियुक्ति के लिए बिहार पुलिस अवर चयन आयोग द्वारा अगले कुछ ही दिनों में विज्ञापन प्रकाशित किया जाएगा। यह पहला मौका है जब पुलिस अवर निरीक्षक के पद पर होने वाली नियुक्ति बिहार पुलिस अवर चयन आयोग द्वारा की जा रही है।

 

इससे पूर्व दरोगा की नियुक्ति बिहार कर्मचारी चयन आयोग द्वारा की जाती रही है। इस बार नियुक्ति प्रक्रिया में भी बदलाव किया गया है। दरोगा अभ्यर्थियों के लिए अब पहले लिखित परीक्षा का आयोजन किया जाएगा।

 

खेल कोटे से होगी 17 दरोगा की नियुक्ति

कोटे से होने वाली 17 दरोगा की नियुक्ति का विज्ञापन बिहार पुलिस की खेल समिति द्वारा प्रकाशित कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि खेल कोटे से होने वाली नियुक्तियों के लिए विभिन्न खेल स्पद्र्धाओं में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले खिलाडिय़ों से आवेदन आमंत्रित किए जाएंगे। इसमें केवल वही खिलाड़ी आवेदन करने के पात्र होंगे जिन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर अपने राज्य का तथा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व करते हुए श्रेष्ठ प्रदर्शन किया हो।

 

सामान्य श्रेणी को अभ्यर्थियों को 40 प्रतिशत नंबर लाना अनिवार्य

 

दारोगा बहाली के लिए सामान्य श्रेणी के अभ्यर्थियों को कम से कम 40 प्रतिशत नंबर लाना अनिवार्य होगा। तभी वह क्वालिफाई कर सकेंगे। वहीं अत्यंत पिछड़ा वर्ग और पिछड़ा वर्ग के अभ्यर्थियों के लिए यह 35 प्रतिशत निर्धारित किया गया है। अनुसूचित जाति एवं जनजाति के लिए क्वालिफाइंग नंबर 33.5 प्रतिशत रखा गया है।

 

दारोगा बहाली के मापदंड में किए गए बदलाव के तहत अब लिखित परीक्षा के केवल वस्तुनिष्ठ प्रश्न ही पूछे जाएंगे। पहले विषयनिष्ठ प्रश्न भी पूछे जाते थे। प्रारंभिक और मुख्य दो लिखित परीक्षाएं होंगी। जितने पद होंगे उसके 20 गुणा अभ्यर्थियों का चयन मुख्य परीक्षा के लिए होगा। प्रारंभिक परीक्षा में सौ वस्तुनिष्ठ प्रश्न होंगे।

 

नया पैटर्न- पीटी-मेंस के बाद होगा फिजिकल टेस्ट

 

राज्य में दारोगा की बहाली का फाॅर्मूला बदल गया है। अब शारीरिक परीक्षा की बजाए उम्मीदवार को प्रारंभिक और मुख्य परीक्षा पहले पास करनी होगी। मौजूदा व्यवस्था में आवेदक को शारीरिक परीक्षा पास करने के बाद लिखित परीक्षा देनी होती थी। नई व्यवस्था में बहाली राज्य कर्मचारी चयन आयोग की बजाए पुलिस अवर सेवा आयोग के माध्यम से होगी।

 

200 अंक की होगी पीटी

 

सबसे पहले 200 अंक की प्रारंभिक परीक्षा होगी। इसमें नेगेटिव मार्किंग होगी। पास करने के लिए न्यूनतम 30 % अंक लाना होगा। मुख्य परीक्षा के लिए रिक्त पदों के 20 गुना उम्मीदवार चुने जाएंगे। इसमें 200 अंक की सामान्य हिन्दी और 200 अंक का एक अन्य पेपर होगा।

 

मेन्स में एससी-एसटी के लिए 33 %, पिछड़ा -अति पिछड़ा वर्ग के लिए 35 %, सामान्य के लिए न्यूनतम 40 % अंक अनिवार्य। फिजिकल के लिए रिक्ति से 6 गुना को मौका दिया जाएगा।

 

2004 के विज्ञापन के आधार पर 97 दरोगा का हुआ चयन

सिंघल ने बताया कि वर्ष 2004 में दरोगा नियुक्ति के लिए प्रकाशित विज्ञापन के आधार पर रिक्त रह गए 97 पदों के लिए उस विज्ञापन के विरुद्ध फिर से आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की पुन: परीक्षा लेकर उन्हें उत्तीर्ण घोषित कर दिया गया है।

 

उन्होंने कहा कि इस मामले में सर्वोच्च न्यायालय ने बिहार सरकार को वर्ष 2004 में दरोगा पद के लिए निकाले गए विज्ञापन के विरुद्ध आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों की फिर से परीक्षा लेकर परिणाम जारी करने का आदेश दिया था। इसके लिए पुलिस मुख्यालय ने उन्हीं अभ्यर्थियों को फिर से आवेदन करने को कहा था जिन्होंने वर्ष 2004 में आवेदन किया था लेकिन तब उनकी नियुक्ति नहीं हो पाई थी।

 

Source : Dainik Jagran

 

(मुज़फ़्फ़रपुर नाउ के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Total 16 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter