बिहार का जर्दालु आम, कतरनी धान और मगही पान हो गया खास, जानिए
Spread the love

बिहार के जर्दालू आम, कतरनी धान एवं मगही पान को अंतरराष्ट्रीय स्तर की पत्रिका ज्योग्राफिकल इंडिकेशन जॉर्नल में जगह मिली है। उक्त जर्नल में इसे राज्य के बौद्धिक संपदा अधिकार शीर्ष से जगह मिली है। कृषि मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने इस आशय की जानकारी दी।

jardalu mango, bihar

 

 

कृषि मंत्री ने बताया कि भागलपुर के जर्दालु आम उत्पादक संघ के आवेदन को स्वीकृत करते हुए ज्योग्राफिकल इंडिकेशन जॉर्नल ने स्थान दिया है। ऐसा माना जाता है कि जर्दालु आम को सबसे पहले अली खान बहादुर ने इस क्षेत्र में लगाया था।

zardalu mango, cm, bihar

जर्दालु आम की विशेषता है कि इसका फल हल्के पीले रंग का होता है तथा यह विशेष सुगंध के कारण विश्व भर में प्रसिद्ध है। भागलपुर कतरनी उत्पादक संघ को कतरनी भौगोलिक दर्शन के लिए पंजीकृत किया गया है।

मगही पान, maghai pan, biahr

 

कतरनी धान अपनी लंबाई और सुगंध के लिए मशहूर है। नवादा जिला स्थित मगही पान उत्पादक  कल्याण समिति देवड़ी के आवेदन को मान्यता दी गयी है।

Source : Dainik Jagran

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?

यह भी पढ़ें -» गांधी सेतु पर ओवरटेक किया तो देना पड़ेगा 600 रुपये जुर्माना

यह भी पढ़ें -» अब बिहार के बदमाशों से निपटेगी सांसद आरसीपी सिंह की बेटी IPS लिपि सिंह

यह भी पढ़ें -» बिहार के लिए खुशखबरी : मुजफ्फरपुर में अगले वर्ष से हवाई सेवा

 

                                                                                      

(मुज़फ़्फ़रपुर नाउ के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter