एसकेएमसीएच में प्रस्तावित कैंसर अस्पताल के लिए नर्सरी की जमीन फाइनल
Spread the love

जिले में प्रस्तावित कैंसर अस्पताल एसकेएमसीएच परिसर में वन विभाग की नर्सरी के समीप बनेगा। मुंबई से आई तीन सदस्यीय टीम बुधवार को एसकेएमसीएच पहुंची और कैंसर अस्पताल के लिए जमीन फाइनल की। अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस बनने वाले इस अस्पताल का प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अप्रैल में शिलान्यास कर सकते हैं। मुंबई से पहुंची टीम को एसकेएमसीएच प्राचार्य डॉ. विकास कुमार ने दो जगहों पर जमीन दिखाई। इसमें वन विभाग की नर्सरी के समीप और पुराने हॉस्टल के पास। इसके बाद दोनों स्थलों की मैपिंग कर टीम ने ग्राफिक्स तैयार की, फिर नर्सरी वाले स्थान का चयन किया गया। भाभा इंस्टीट्यूट और टाटा ट्रस्ट के अधिकारियों की टीम दो माह पहले भी एसकेएमसीएच में सर्वे कर चुकी थी। टीम में निदेशक डॉ. अभय कुमार, डॉ. पंकज कुमार समेत अपर समाहर्ता रंगनाथ चौधरी, डीसीएलआर पूर्वी शाहजहां, मुशहरी सीओ नागेंद्र कुमार थे।

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur

125 बेड होंगे; इलाज, ऑपरेशन व अन्य काम किए जाएंगे ऑनलाइन 

टाटा मेमोरियल की तर्ज पर निर्माण 


टीम के सदस्यों ने बताया कि भाभा इंस्टीट्यूट के सहयोग से मुंबई के टाटा मेमोरियल कैंसर अस्पताल की तर्ज पर एसकेएमसीएच में अस्पताल खुलेगा। अस्पताल के लिए 15 एकड़ जमीन ली जाएगी है। इसमें 6 मंजिला भवन होगा और 125 बेड होंगे। अस्पताल में मुंबई से डॉक्टर व टेक्नीशियन तैनात होंगे। वहीं इलाज, ऑपरेशन व अन्य काम ऑनलाइन होंगे।

9 जिलों में खुलेगा डिटेक्शन सेंटर

सदस्यों ने बताया कि उत्तर बिहार के 9 जिलो में कैंसर डिटेक्शन सेंटर खुलेगा। इसमें कैंसर डिटेक्ट होने के बाद मरीज का पूरा इलाज किया जाएगा।

Input : Dainik Bhaskar

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter