KYC के फेर में फंसा नियोजित शिक्षकों का वेतन
Spread the love

शिक्षक नियोजन इकाई के बैंक खाते का केवाईसी नहीं होने के कारण जिले के लगभग 20 हजार प्राथमिक, मध्य, माध्यमिक तथा उच्च माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत नियोजित शिक्षकों और पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन अधर में है।

बैंक ने जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय को पत्र लिखा है कि सभी नियोजन ईकाई सचिव का केवाईसी फार्म नहीं रहने के कारण नियोजित शिक्षकों का वेतन तथा वकाया वेतन का भुगतान संभव नहीं है। खाता का केवाईसी अपडेट होने के बाद ही नियोजित शिक्षकों और पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन भुगतान हो पाएगा।

Morari Bapu, Bihar, Katha, Sitamadhi

भारतीय स्टेट बैंक, सचिवालय शाखा के महाप्रबंधक ने तीन नवंबर, 2017 को इस संबंध में जिला कार्यक्रम पदाधिकारी (स्थापना) को पत्र लिखा था। डीपीओ स्थापना ने बताया कि नगर परिषद, नगर पंचायत, प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी, विद्यालय अवर निरीक्षक, सभी कार्यक्रम पदाधिकारी, शिक्षक नियोजन इकाई को पत्र लिखकर केवाईसी अपडेट करने के बाबत पत्र लिखा गया था। पांच जनवरी तक सभी खातों का केवाईसी फॉर्म जमा कर दिया जाएगा। ज्यादातर खातों की सूचना संबंधित बैंक की शाखा को एक-दो दिनों में उपलब्ध करा दी जाएगी।

Morari Bapu, Bihar, Sitamadhi, Katha

पटना जिला माध्यमिक शिक्षक संघ के सचिव सुधीर कुमार ने कहा कि बैंकों द्वारा कई बार पत्र लिखने के बाद भी जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय संज्ञान नहीं लिया। संबंधित अधिकारियों और कर्मियों की लापरवाही के कारण शिक्षकों को नियत समय पर वेतन का भुगतान नहीं हो पा रहा है।

Source : Dainik Jagran

यह भी पढ़ें -» बिहार के लिए खुशखबरी : मुजफ्फरपुर में अगले वर्ष से हवाई सेवा

यह भी पढ़ें -» खुदीराम बोस की जीवनी – जरुर पढ़े और शेयर करे

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter