Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

ग्रेटर मुजफ्फरपुर शहर के आसपास के उन गांवों को जोड़कर बन रहा है जो शहरीकरण की क्षमता रखते हैं। इसमें शामिल 216 राजस्व गांवों को मास्टर प्लान के तहत विकसित करने की विभागीय गतिविधियां तेज हो गई हैं।

बुधवार को इसे लेकर नगर विकास व आवास विभाग की पटना में बैठक बुलाई गई है। बैठक में मुजफ्फरपुर से नगर आयुक्त संजय दूबे व कार्यपालक अभियंता के साथ इंजीनियरों की टीम भी शामिल होगी। हाल में इसे लेकर अधिसूचना जारी होने के बाद से ग्रेटर मुजफ्फरपुर पर जोर-शोर से काम शुरू हो गया है। बता दें कि 24 जनवरी 2017 को विकास बोर्ड की बैठक में मुजफ्फरपुर के मास्टर प्लान पर सहमति बनी थी। इसके अनुसार ग्रेटर मुजफ्फरपुर का नगर निगम को मिला कर कुल क्षेत्रफल 265.71 वर्ग किलोमीटर है। इसमें शहरी क्षेत्र का 47.08 वर्ग किमी, जबकि ग्रामीण क्षेत्र का 218.63 वर्ग किमी शामिल है। ग्रेटर मुजफ्फरपुर के सभी चयनित गांवों को आयोजना क्षेत्र का नाम दिया गया है। निगम प्रशासन के अनुसार बैठक में आयोजना प्राधिकार की आगे की तैयारी व योजना पर चर्चा होगी। साथ ही प्राधिकार का कार्यालय खोलने समेत 20 वर्षों तक के विकास का खाका खींचा जाएगा। चयनित क्षेत्रों में प्राधिकार के तहत नक्शा पास किया जाएगा।

आज पटना में बैठक
नगर आयुक्त और कार्यपालक अभियंता के साथ इंजीनियरों की टीम भी होगी शामिल

अधिसूचना में सेलेक्टेड राजस्व गांव
प्रखंड गांवों की संख्या
मुशहरी 115
कांटी 43
मड़वन 23
कुढ़नी 18
बोचहां 10
मीनापुर 7

मास्टर प्लान में शामिल प्रखंडों के हिस्से

उत्तरी हिस्सा : बोचहां ब्लॉक के मिर्जापुर, पटियासा, यूसुफपट्टी, सादुल्लाहपुर; मुशहरी के झपहां; कांटी के दादर कोल्हुआ, मिठनसराय, गोसाईपुर, धमोली रामनाथ; मीनापुर के चांदपरना, रायपुरा उर्फ शाहपुर लखन, बिशुनपुर केसो उर्फ किशुनपुरकंत, मुरसंड से होते हुए पश्चिमी भाग में पर्षद तक।

दक्षिणी हिस्सा : मुशहरी के मानसी, नवादा उर्फ विशुनपुर भगवानपुर, नरसिंहपुर, सामापुर उर्फ नंदग्रामपुर, चक अलाहदाद; कुढ़नी के चैनपुर बंगरा बाजिद, मथुरापुर, चकमेहसी चकभिखी, विशुनपुर गिधा, काफे दरियाछपरा, लदौरा, सुमेरा; मुशहरी के धर्मपुर, मधुबनी से होते हुए मादापुर चौबे तक

पूर्वी हिस्सा : बोचहां ब्लॉक के गिधा उर्फ मेचहां फारुकपुर, हमीदपुर; मुशहरी ब्लॉक के बहादुरपुर, पीर मोहम्मदपुर, यूसुफपुर, राधा नगर, मणिका हरिकिशुन, मानसी नवादा, नरसिंहपुर से होते हुए दक्षिण की तरफ नया गांव तक।

पश्चिमी हिस्सा : कांटी के माधोपुर दुल्हन, रतनपुरा, कांटी खुर्द, कुसी उर्फ हारपुर भगवानपुर, बसंतपुर कांटी, भेरियाही नारायण, सिरसियान बुजुर्ग, मिर्जापुर, अजीजपुर, हिचरा पानापुर हवेली; मड़वन के मिठनपुरा; कांटी के हारपुर गणेश, बठना राम, बठनाडीह, कोडरिया निजामुद्दीन, पकाही खास।

टीम में अध्यक्ष-उपाध्यक्ष के साथ होंगे 10 और सदस्य

प्रमंडलीय आयुक्त अध्यक्ष और जिलाधिकारी उपाध्यक्ष

मुख्य नगर निवेशक, नगर व क्षेत्रीय निवेशन प्रतिनिधि

नगर अायुक्त, नगर निगम -उप विकास आयुक्त

अपर समाहर्ता, राजस्व

कार्यपालक अभियंता, आरसीडी

पीएचईडी व ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता

राज्य सरकार की ओर से नियुक्त दो वैसे व्यक्ति जिन्हें नगर निवेशन का ज्ञान और व्यावहारिक अनुभव हो

कार्यपालक पदाधिकारी, नगर पंचायत क्षेत्र कांटी

मुख्य कार्यपालक पदाधिकारी, आयोजना प्राधिकार

Source : Dainik Bhaskar

 

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिरजानिए क्यों है इतनाखास


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •