Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

 

 

 

औद्यौगिक थाना क्षेत्र के नाइपर संस्थान के निकट स्थित दो फैक्ट्रियों में आग लग गई। आग इतनी भयंकर थी कि उसका धूंआ कई किलो मीटर दूर से ही दिख रहा था। सूचना मिलने पर फायर ब्रिगेड की 6 गाड़ियां मौके पर पहूंची लेकिन आग पर काबू नहीं कर पाई। आग के विकराल रूप को देखते हुए पटना, दानापुर और छपरा से भी दमकल की गाड़ियां मंगाई गई। 9 घंटे बाद भी आग नहीं बुझ पाई थी। बुधवार को 11.30 बजे के करीब इंडस्ट्रियल क्षेत्र स्थित ओम साई कुर्सी फैक्ट्री में अचानक आग लग गई। पहुंची दमकल की गाड़ियां इस फैक्ट्री की आग पर काबू करती इससे पहले ही ठीक बगल में स्थित नेशनल कुर्सी फैक्ट्री को भी आग ने लपेटे में ले लिया।

 

यह भी पढ़ें  पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

 

फैक्ट्री में कई परिवार  

जिस फैक्ट्री में आग लगी थी उन दोनों ही फैक्ट्रियों में काम करने वाले कई परिवार पीछे बने क्वाटर्स में रहते थे। जब आग लगी तो जिसके हाथ जो भी सामान लगा वो जैसे तैसे निकालकर भागे। ज्यादातर लोगों के सारे सामान जलकर राख हो गए।

नहीं लगी इतनी भयंकर आग

गर्मी के मौसम में आग लगने की ऐसे तो कई बड़ी घटनाएं जिले में हुई है। कई घटनाओं में तो लोगों की मौतें भी हुई है। लेकिन इतनी भयंकर आग आजतक जिले में नहीं लगी। यहां रहने वाले बुजुर्ग बताते हैं कि गांव देहात में झोपड़ी या फसल में आग लगने की घटनाएं होती थी लेकिन वे बुझ भी जल्दी जाते थे। लेकिन यह आग अलग और भयंकर है।

 

 

15 किमी दूर से दिख रहा था धुंआ

आग कितनी भयंकर थी इस बात का अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि उसकी लपटें और धुंआ 15 किमी से भी ज्यादा दूर से दिख रहा था। उससे निकलने वाला धुंआ ऐसा लग रहा था जैसे कोई बवंडर घूम रहा हो। फैक्ट्री से काला धुंआ निकलकर पूरे आसमान में फैल गया। शहर के पूर्वी छोर पर जहां फैक्ट्री स्थित है उसके उपर का पूरा आसमान धुंए के कारण काला हो गया था। दूर से लग रहा था मानो बारिश के दिनों में बादल छाए हों।

 

Source : Dainik Bhaskar | Image : Sonu Malahotra


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •