भारत वैगन को मिले 151 करोड़, कर्मियों के वीआरएस पर होंगे खर्च
Spread the love

आम बजट में भारत वैगन इंजीनियरिंग कंपनी के लिए 151 करोड़ 18 लाख रुपये का ऐलान किया गया है। इसमें 141 करोड़ रुपये कंपनी के करीब छह सौ कर्मियों के वीआरएस पर खर्च होंगे। शेष राशि अन्य बकाया मद में खर्च की जाएगी। हालांकि कर्मियों को राशि के लिए चार माह और इंतजार करना पड़ सकता है।

लोकसभा के दोनों सदनों में पास होने के बाद राशि की मंजूरी के लिए फाइल राष्ट्रपति के पास भेजी जाएगी। इसके बाद वित्त मंत्रालय में रेलवे को राशि के लिए क्लेम करना होगा। इसमें तीन से चार माह का समय लगना तय माना जा रहा है। अधिकारियों ने कर्मियों के तक जून तक राशि पहुंचने की संभावना जताई है। बताया गया कि रेल बजट में ऐलान होने पर राशि शीघ्र मिल जाती थी। लेकिन, रेल बजट को आम बजट में शामिल किए जाने से लंबी प्रक्रिया के बाद राशि मिल पाती है।

केंद्र सरकार ने 23 अगस्त को कंपनी को बंद करने के ऐलान के साथ 151.18 करोड़ रुपये देने की घोषणा की गई थी। सरकार के निर्देशानुसार 31 अक्टूबर को कंपनी के 540 कर्मियों को स्वैच्छिक सेवानिवृति (वीआरएस) दे दी गई। लेकिन, राशि नहीं दी गई। इसके विरोध में यूनियन कई बार आंदोलन कर चुका है।

आम बजट में भारत वैगन के लिए 151.18 करोड़ रुपये राशि का ऐलान किया गया है। कर्मियों के वीआरएस पर राशि खर्च की जाएगी। हालांकि कर्मियों के हाथों तक राशि पहुंचने में चार माह का वक्त लग सकता है।

-सज्जन कुमार वर्मा, महासचिव भारत वैगन वर्कस यूनियन

Input : Live Hindustan

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter