जन्मतिथि में हेराफेरी करनेवाले दो अभ्यर्थी धराए

0
30
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

चक्कर मैदान में चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच सेना बहाली के दूसरे दिन सोमवार को सोल्जर ट्रेडमैन के लिए पूर्वी-पश्चिम चंपारण व समस्तीपुर के 3682 अभ्यर्थियों ने जमकर पसीना बहाया। शैक्षणिक व अन्य प्रमाणपत्रों की जांच के क्रम में दो अभ्यर्थी फर्जी प्रमाणपत्र के साथ पकड़े गए। सेना भर्ती बोर्ड मुजफ्फरपुर के निदेशक कर्नल अमरजीत सिंह मल्लिक के अनुसार, भर्ती बोर्ड के पास उपलब्ध पूर्व की बहाली के कम्प्यूटर डाटा से दोनों अभ्यर्थी द्वारा शैक्षणिक प्रमाणपत्र में की गई गड़बड़ी पकड़ी गई। दोनों ने अपनी गलती स्वीकार कर ली, इसलिए उनको भर्ती से बाहर निकाल दिया गया।

सोल्जर ट्रेडमैन की बहाली में शामिल होने के लिए पूर्वी चंपारण, पश्चिमी चंपारण व समस्तीपुर के 5709 अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन निबंधन कराए थे, लेकिन 3682 अभ्यर्थी ही भर्ती में शामिल होने पहुंचे। प्रारंभिक जांच के दौरान आवश्यक कागजात के आधार पर बिना दौड़े 780 अभ्यर्थी बाहर हो गए। कागजी जांच के बाद बचे 2902 अभ्यर्थियों ने दौड़ लगाई। इनमें 262 ने बाजी मारी। शारीरिक परीक्षा के विभिन्न चरणों की जांच के बाद 215 अभ्यर्थियों को मेडिकल जांच के लिए चुना गया। बहाली के दौरान हाई जंप में पूर्वी चंपारण का शेख बबलू आलम घायल हो गए। लेकिन, उसके बाद भी वह रैली में शामिल हुआ और चयनित हुआ।

मंगलवार को सोल्जर टेक्निकल एवं नर्सिग असिस्टेंट पद की बहाली होगी। इसमें आठ जिलों (मुजफ्फरपुर के अलावा सीतामढ़ी, शिवहर, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, दरभंगा, समस्तीपुर व मधुबनी) के 6549 अभ्यर्थी भाग लेंगे।

बहाली के दौरान अभ्यर्थी सेना की सतर्क निगाहों से बच नहीं पा रहे। कागजात में किसी प्रकार की गड़बड़ी पकड़ने के लिए सेना हाईटेक सिस्टम का प्रयोग कर रही है। भर्ती बोर्ड के निर्देशक ने कहा कि अभ्यर्थियों की चालबाजी सेना बहाली में सफल नहीं होनेवाली है।

बहाली के दौरान चक्कर मैदान के चारों तरफ सुरक्षा की चाक-चौबंद व्यवस्था रही। मैदान के बाहर व भीतर सैन्यकर्मियों व पुलिस बलों ने व्यवस्था संभाल रखी है। आधी रात से ही पुलिस बल के जवान अपनी ड्यूटी पर लगकर अभ्यर्थियों की भीड़ को संभालते रहे। मैदान के बाहर सेना की विजिलेंस टीम दलालों पर नजर रख रही है।

Source : Dainik Jagran

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?

यह भी पढ़ें -» गांधी सेतु पर ओवरटेक किया तो देना पड़ेगा 600 रुपये जुर्माना

यह भी पढ़ें -» अब बिहार के बदमाशों से निपटेगी सांसद आरसीपी सिंह की बेटी IPS लिपि सिंह

यह भी पढ़ें -» बिहार के लिए खुशखबरी : मुजफ्फरपुर में अगले वर्ष से हवाई सेवा

 

                                                                                      

(मुज़फ़्फ़रपुर नाउ के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •