थम नहीं रहा डायरिया का कहर, फिर दो की मौत
Spread the love

 

muzaffarpur, diarrohea, affect

बाढ़ के बाद मौसम बदलने से डायरिया का कहर जारी है। एसकेएमसीएच में मंगलवार को एक बच्चा समेत दो की इलाज के दौरान मौत हो गई। मृतक मीनापुर धर्मपुर के विशेश्वर सहनी व मधुबन के सूरज कुमार हैं। पिछले सप्ताह ही इस बीमारी से तीन बच्चों की मौत हो गई थी। शिशु विभाग के वरीय चिकित्सक डॉ. विमलेश कुमार ने बताया कि डायरिया व कुपोषण का जबरदस्त असर है, मरीजों की संख्या बढ़ गई है।

बता दें कि एसकेएमसीएच, सदर अस्पताल व केजरीवाल से लेकर अन्य सरकारी अस्पतालों व निजी क्लीनिकों में तेज बुखार, सिर दर्द, सर्दी-खांसी, उलटी-दस्त, पेट दर्द व एलर्जी की शिकायत लेकर मरीज पहुंच रहे हैं। एसकेएमसीएच में मंगलवार को मौसमी बीमारी के 800 से अधिक मरीज इलाज को पहुंचे। इनमें 300 तो सिर्फ बच्चे ही थे। 100 से अधिक बच्चे डायरिया की शिकायत लेकर पहुंचे थे। 70 से 80 बच्चे सर्दी-खांसी से पीड़ित थे। यही हालात औषधि विभाग की थी। यहां गंभीर रूप से बीमार 56 मरीजों को भर्ती किया गया।

चिकित्सकों के अनुसार बाढ़ के बाद तेज धूप व उमस भरी गर्मी के साथ चौतरफा फैली गंदगी से बीमारी का प्रकोप बढ़ने लगा है। इससे सभी उम्र के लोगों की सेहत बिगड़ने लगी है।

इससे बचने को साफ-सफाई व ताजा भोजन करना चाहिए। प्रदूषण व दूषित खाद्य पदार्थ के सेवन एवं धूप में निकलने से परहेज करना चाहिए। पर्याप्त मात्रा में पानी, जूस व फल लेना चाहिए।

 

Source : Dainik Jagran

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter