Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

निगम द्वारा तैयार बाढ़ प्रभावित परिवारों की सूची में नाम शामिल नहीं किए जाने पर वार्ड 47 के दो दर्जन परिवारों ने निगम कार्यालय में जमकर हंगामा किया। प्रभावित परिवारों का आरोप था कि साजिश के तहत उनका नाम सूची से हटा दिया गया है।

उनका कहना था कि पहले उनका नाम शामिल था, लेकिन एक पूर्व पार्षद एवं निगम के तहसीलदार के इशारे पर उनका नाम सूची से हटा दिया गया और ऐसे परिवारों का नाम शामिल कर लिया गया जो प्रभावित नहीं थे। वे अपना नाम सूची में शामिल किए जाने की मांग कर रहे थे।

बाद में पहुंचे वार्ड 45 के पार्षद शिव शंकर महतो ने उनका समर्थन किया। उनका कहना था कि सूची से उनका नाम कैसे कटा, इसकी जांच होने चाहिए। उन्होंने कहा कि सर्वे में उनका नाम शामिल था। बाद में सूची फाइनल करते समय उनका नाम किसके कहने पर हटा दिया गया, संबंधित तहसीलदार से इसकी पूछताछ होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि छूटे परिवारों का नाम शामिल नहीं हुआ तो वे पीड़ित परिवारों के साथ आंदोलन करेंगे। प्रधान सहायक अशोक कुमार सिंह ने कहा कि लोगों की शिकायत की जांच होगी।

Source : Dainik Jagran

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •