मुजफ्फरपुर-पटना एनएच होगा आठ लेन

0
281
Muzaffarpur, Patna, NH

मुजफ्फरपुर से हाजीपुर हाेकर पटना जानेवाला एनएच अब आठ लेन का होगा. यह सड़क अभी चार लेन की है. केंद्र सरकार की भारतमाला योजना में बिहार की 1432 किमी  सड़कों को शामिल किया गया है. इसमें मुजफ्फरपुर-हाजीपुर एनएच-77 समेत उत्तर बिहार की कुल छह प्रमुख सड़कें शामिल हैं. इनमें से कुछ का निर्माण होगा, वहीं अन्य सड़कों का विस्तार किया जायेगा. बुधवार को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की समीक्षा बैठक के बाद पथ निर्माण विभाग के प्रधान सचिव अमृतलाल मीणा ने यह जानकारी दी.

Muzaffarpur, Patna, NH

Image Source : Bihari Babu

योजना के तहत पहले फेज में पूरे देश में 35 हजार किमी सड़क का निर्माण होना है. बेगूसराय-मुजफ्फरपुर एनएच-28 को भी चार लेन का बनाया जायेगा. यह अभी दो लेन है. देवरिया के रास्ते जानेवाले मुजफ्फरपुर-साहेबगंज पथ को एनएच का दर्जा दिया जायेगा.  इसे भी दो लेन का बनाया जायेगा. योजना में उत्तर बिहार की जिन सड़कों को शामिल किया गया है, उनमें सोनबरसा से रक्सौल, चकिया से बैरगनिया, औरंगाबाद से दरभंगा भी शामिल हैं.

अमृतलाल मीणा ने बताया कि इस योजना के तहत दो लेन एनएच को चार लेन व चार लेन एनएच को आठ लेन तक विस्तार किया जायेगा. वहीं, योजना के तहत कुछ ऐसी भी सड़कों का चयन किया गया है, जो फिलहाल एनएच नहीं हैं. इसके लिए डीपीआर बनाने का आदेश दे दिया गया है. अगले साल से निर्माण कार्य शुरू होने की संभावना है. योजना में ये सभी सड़कें इंटर कॉरीडोर के रूप में शामिल हैं. बैठक में उपमुख्यमंत्री सुशील  कुमार मोदी, पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव,  विकास आयुक्त  शिशिर  सिन्हा,  जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव अरुण कुमार  सिंह, ऊर्जा विभाग के  प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के प्रधान  सचिव चंचल कुमार, सचिव  अतीश चंद्रा व मनीष कुमार वर्मा,  बिहार राज्य पुल  निर्माण निगम के  अध्यक्ष  विनय कुमार, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य  पदाधिकारी गोपाल सिंह,  एनएचएआई के अधिकारी  सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे.

See First, Facebook Page

यह है भारतमाला योजना 

यह राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियाेजना है. इसमें नयी के साथ-साथ राजमार्ग निर्माण की अधूरी योजनाओं को भी शामिल किया जाता है. इसका मकसद बंदरगाहों, सड़कों व राष्ट्रीय गलियारों (नेशनल कॉरीडोर) को बेहतर बनाना है. इसके अलावा पिछड़े इलाकों, धार्मिक, पर्यटक स्थल को जोड़ने के लिए भी नये राजमार्ग का निर्माण करना है.

इन सड़कों का होगा निर्माण

मोहनिया-आरा

रजौली-बख्तियारपुर

औरंगाबाद-दरभंगा

सासाराम-पटना

पटना-हाजीपुर-मुजफ्फरपुर

सोनवर्षा-रक्सौल

मुजफ्फरपुर-बेगूसराय-पटना साहिब

मुजफ्फरपुर-साहेबगंज

छपरा-पटना

चकिया-बैरगिनिया

अररिया-सुपौल आदि सड़कों के निर्माण की योजना है.

उत्तर बिहार की ये सड़कें हैं शामिल व दूरी

सोनबरसा-रक्सौल: 98.3 किमी

चकिया-बैरगनिया:  45 किमी

औरंगाबाद-दरभंगा: 309.8 किमी

हाजीपुर-मुजफ्फरपुर:55. 04 किमी

बेगूसराय-मुजफ्फरपुर: 112 किमी

मुजफ्फरपुर-साहेबगंज:60.1 किमी

यह होगा फायदा

पटना जाना होगा आसान व आरामदेह

हाजीपुर दिघी के पास जाम

से मिलेगी मुक्ति

रामदयालुनगर के पास सड़कें होंगी चौड़ी

हाजीपुर -मुजफ्फरपुर के बीच

की पुलिया होगी चौड़ी

सोनबरसा-रक्सौल व चकिया से बैरगनिया के रास्ते नेपाल जाना आसान

–फोरलेन होने से एनएच 28 पर ओवरटेक से होने वाली सड़क दुर्घटना होगी कम

ADVERTISMENT, MUZAFFARPUR, BIHAR, DIGITAL, MEDIA

 

Source : Prabhat Khabar

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?