सदर थाना क्षेत्र के रामदयालु इलाके में रविवार को युवक की संदेहास्पद स्थिति में मौत पर जमकर बवाल हुआ

0
36
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सदर थाना क्षेत्र के रामदयालु इलाके में रविवार को युवक की संदेहास्पद स्थिति में मौत पर जमकर बवाल हुआ। मृतक की पहचान पारू थाना क्षेत्र के अजीत के रूप में हुई है। वह एक महिला प्रोफेसर के घर में काम करता था। उन्हीं के घर में करीब 10 वर्षो से रह रहा था। सुबह कमरे में पंखे से लटका उसका शव मिला। सूचना पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। कमरे से मोबाइल बरामद हुआ है। कॉल डिटेल्स खंगालने की कवायद की जा रही। सूचना मिलने पर मृतक के परिजन समेत काफी लोग एसकेएमसीएच पहुंचे। पोस्टमार्टम के बाद शव लेकर रामदयालु आए और सड़क पर शव को रखकर जाम कर दिया। प्रोफेसर पर हत्या कर शव लटकाने का आरोप लगाते हुए गिरफ्तारी की मांग करने लगे। पुलिस समझाने गई तो हंगामा कर खदेड़ दिया। इसके बाद रामदयालु गुमटी के समीप पहुंचकर पटना-मुजफ्फरपुर हाइवे को जाम कर दिया। टायर जलाकर आगजनी की।

बल प्रयोग कर भीड़ को हटाया : स्थिति अनियंत्रित होने के बाद एसएसपी के आदेश पर सदर, काजीमोहम्मदपुर, ब्रह्मापुरा और विवि थाने की पुलिस पहुंची। उग्र लोगों को समझाने का प्रयास किया। लेकिन, आक्रोशित लोग पुलिस से धक्का मुक्की व हाथापाई करने लगे। बल प्रयोग कर पुलिस ने उन्हें हटाया। थानाध्यक्ष मो. सुजाउद्दीन ने पीड़ित परिवार को प्राथमिकी दर्ज कराने को कहा।

वाहनों में तोड़फोड़ का प्रयास : उग्र लोगों ने जाम के बाद इलाके में जमकर उत्पात मचाया। एक दर्जन से अधिक वाहनों में तोड़फोड़ का प्रयास किया। वहीं, कई राहगीरों और वाहन चालकों की जमकर पिटाई कर दी।

शादी टूटने की चर्चा : स्थानीय लोगों ने बताया कि अजीत की शादी तय हुई थी। लेकिन, एक सप्ताह पूर्व पारिवारिक कारणों से उसकी शादी टूट गई। इसे लेकर वह डिप्रेशन में था। इसी वजह से उसने पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली। लेकिन, अजीत के परिजन इससे इन्कार कर रहे। उनका कहना था कि एक-दो साल बाद शादी करने की सोची थी।

पंखे से लटका मिला था शव : बताया गया कि शनिवार की रात वह खाना खाकर सोने चला गया था। सुबह काफी देर तक कमरा नहीं खुला तो महिला प्रोफेसर को चिंता हुई। दरवाजा खटखटाने पर जवाब नहीं मिला। खिड़की से झांक कर देखी तो वह पंखे से झूल रहा था। सूचना देकर पुलिस को बुलाई।

बिना परिजन के पहुंचे कराया पोस्टमार्टम : मृतक के पिता हरिहर महतो ने बताया कि पुलिस ने आनन-फानन शव का पोस्टमार्टम करा दिया, ताकि हत्या को आत्महत्या का रूप दिया जा सके। उन्हें इसकी सूचना भी नहीं दी गई। पोस्टमार्टम शुरू होने के बाद उनलोगों को मौत की खबर मिली। इधर, पुलिस महिला प्रोफेसर की तलाश कर रही थी।

Source : Dainik Jagran


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •