डॉक्टर व इंजीनियर के बंद घरों से लाखों की चोरी

0
26
Muzaffarpur News, Bihar News, Muzaffarpur Now, Online Media,Bihar
Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

सदर थाना क्षेत्र के कच्ची-पक्की इलाके में डॉक्टर कुणाल विभू के बंद घर को चोरों ने निशाना बनाया। उनके घर का ताला तोड़ पैतीस हजार नकद, मोबाइल, लगभग तीन लाख के जेवरात समेत पांच लाख से अधिक की संपत्ति की चोरी कर ली। इस संबंध में उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। बताया गया कि 19 अक्टूबर को दीपावली व छठ को लेकर वह सपरिवार अपने पैतृक गांव बलिगांव वैशाली चले गए। इस बीच चोरों को मौका मिल गया। 24 अक्टूबर की सुबह पड़ोसियों से जानकारी मिलने के बाद यहां पहुंचे। कमरों के ताले टूटे हुए और बिखरे सामान को देखकर पांव तले जमीन खिसक गई।

फिल्मी अंदाज में मिठनपुरा में चोरी

बेखौफ चोरों ने मिठनपुरा थाना क्षेत्र के मंगल पथ इलाके में फिल्मी अंदाज में चोरी की घटना को अंजाम दिया। एक निजी कंपनी में काम करने वाले इंजीनियर लालबाबू प्रसाद के घर से चोरों ने नकद चालीस हजार, जेवरात समेत लगभग तीन लाख के सामान उड़ा लिए। किराये के मकान में रहने वाले लालबाबू का कमरा दूसरी मंजिल पर है। घर बंद पड़ा था। अलमीरा को तोड़ जेवरात, नकदी समेत अन्य सामान समेट ले गए। दूसरी मंजिल पर चोरी की घटना सुनकर हर कोई हैरत में है। सूचना मिलने के बाद पुलिस भी पहुंची। छानबीन के बाद मामला दर्ज कर लिया।

हार्डवेयर दुकान में चोरी : एसएसपी ऑफिस के समीप मो. मुन्ना अहमद की हार्डवेयर दुकान को चोरों ने इसी रात निशाना बनाया। दुकान के पीछे से चदरा उठाकर काउंटर में रखे चार हजार रुपये नकद समेत लगभग बीस हजार के सामान चोरी कर लिए। स्थानीय व्यवसायी एसएसपी ऑफिस इलाके में चोरी की लगातार घटनाओं से आक्रोशित हैं। उनका कहना है कि चोरों के हौंसले किस कदर बुलंद हैं, ये घटनाएं उसकी बानगी पेश करती हैं।

इनसेट

सावधान! बंद घरों को निशाना बना रहे चोर

मुजफ्फरपुर : दीपावली-छठ के मौके पर घरों को बंद देख चोरों की चांदी कट रही है। ऐसे घरों को लगातार निशाना बना रहे हैं। अमूमन हर रोज चोरियां हो रही हैं। रात में ताले टूट रहे हैं और सुबह घर पहुंचने पर ऐसे लोगों को पछतावा हाथ लग रहा है। पर्व-त्योहारों पर घर जाने वालों से पुलिस खुद भी सजगता की अपील करती रही है। बावजूद, कई लोग एहतियात नहीं बरत रहे हैं। घर छोड़ने से पूर्व उसकी सुरक्षा की चिंता होनी चाहिए। जरूरी है कि घर की रखवाली किसी परिचित के हवाले कर दें। नजदीकी थाना पुलिस को भी इत्तला कर दें। इसमें लापरवाही के चलते ही आयेदिन चोरियां हो रही हैं। इसमें दो राय नहीं कि पुलिस गश्त में सुस्ती का भी चोरों को फायदा मिल रहा है।

Source : Dainik Jagran


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •