चंद्र की महादशा आज,शाम 5:58 से रात 8:41 तक ना खाएं ये 1 चीज वरना जिंदगीभर के लिए बन जाएंगे रोगी
Spread the love

आज साल का पहला ग्रहण लग रहा है। हम आपको बता रहे हैं कि ग्रहण के दौरान क्या करना है और क्या नहीं।

महिलाएं इस दिन सिलाई-कढ़ाई का काम ना करें। ऐसे काम को ग्रहण के समय टाल देना ही अच्छा होगा। ग्रहण के दौरान किसी की निंदा ना करें और किसी के लिए गलत ख्याल अपने मन में ना लाएं। चंद्र ग्रहण के दौरान गर्भवती महिलाओं को खास ध्यान रखने की जरूरत है। क्योंकि ग्रहण के वक्त वातावरण में नकारात्मक ऊर्जा का संचार होता है, जो कि बच्चे और मां दोनों के लिए हानिकारक हैं।

तीन महीने से ज्यादा गर्भवती महिलाएं घर से बाहर ना निकलें और ऐसे कमरे में जाकर बैठ जाएं, जिसमें चंद्र की एक भी किरण ना आती हो। इस दौरान किसी भी तरह का गलत ना सोचें और ना ही कुछ खाएं-पीएं। नकारात्मक विचार अपने मन में ना आने दें और मानसिक रूप से भगवान का ध्यान लगाएं। ग्रहण खत्म होने के बाद स्नान करें या फिर गीले कपड़े से अपने बदले को साफ करके कपड़े बदल लें।

चंद्र ग्रहण के दिन किसी भी प्रकार का शुभ कार्य ना करें। अगर आप किसी शुभ कार्य की शुरुआत करने जा रहे हैं तो यह आपके लिए खतरनाक हो सकता है। पति-पत्नी को इस दिन संभोग नहीं करना चाहिए। शास्त्रों के मुताबिक ग्रहण के वक्त शारीरिक संबंध बनाए जाने से पैदा होने वाली संतान में कई तरह की बुराइयां हो सकती हैं। इस दौरान पति-पत्नी दोनों भगवान का ध्यान लगाएं। ग्रहण काल में स्वस्थ व्यक्ति को सोना नहीं चाहिए। गर्भवती, बुजुर्ग और बीमार लोगों को इस मामले में छूट है, वे आराम कर सकते हैं। इस दौरान सोने से स्वास्थ्य संबंधी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। ग्रहण के दौरान भोजन का सेवन नहीं करना चाहिए। इसके अलावा ग्रहण के वक्त खाना बनाना भी अशुभ है। इसके अलावा उस दिन खाना पकाते वक्त उसमें तुलसी के पत्ते डाल देना चाहिए, इससे भोजन पर ग्रहण का असर नहीं होगा। साथ ही इस वक्त दही बिल्कुल भी ना खाएं वरना कोढ हो सकता है।

ग्रहण काल के दौरान किसी भी तरह की पूजा नहीं करना चाहिए। मंत्रों का जाप भी मन ही मन करें। किसी भी तरह के पूजन की ग्रहण के दौरान मनाही होती है। ग्रहण के वक्त सभी मंदिरों के पट बंद कर दिए जाते हैं।

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter