बिहार में नये मॉडयूल पर काम कर रहे आतंकी, तीन संदिग्धों की तलाश में NIA
Spread the love

बिहार में आतंक के नए मॉड्यूल के लिए काम कर रहे तीन युवकों की तलाश में एनआइए जुटी है। इन तीनों की शिनाख्त का काम पूरा हो चुका है और इनकी तलाश में उत्तर बिहार के सात जिलों में छापेमारी की जा रही है।

बताया जाता है कि लश्कर-ए-तैयबा से जुड़े ये तीनों युवक भी अब्दुल नईम शेख की तरह महाराष्ट्र के रहने वाले हैं और महाराष्ट्र में इनकी तलाश तेज होते ही इन्होंने उत्तर बिहार में पनाह ले ली है।

एनआइए के सूत्र बताते हैं कि इन तीनों की तलाश में बिहार के सिवान और छपरा के अलावा बेतिया व मोतिहारी में भी छापेमारी की जा रही है। इन तीनों के नेपाल भागने की संभावना व्यक्त की गई है। हालांकि एनआइए के सूत्र इन तीनों के संबंध में कुछ खास जानकारी नहीं दे रहे।

Terrorist, Bihar, NIA

सूत्रों की मानें तो इन तीनों ने भी फर्जी कागजातों के आधार पर नेपाल से लगे उत्तर बिहार के विभिन्न जिलों से अपना आधार कार्ड, पैनकार्ड, बैंक खाते और यहां तक कि पासपोर्ट बनवा रखा है।

बता दें कि पिछले दो महीनों के अंदर एनआइए ने बिहार से दो बड़े आतंकियों को गिरफ्तार किया है। इनमें पहली गिरफ्तारी गया के डोभी से तौफीक अहमद उर्फ तौकीर की हुई थी। तौफीक मूलरूप से गुजरात के अहमदाबाद का रहने वाला है। जबकि वर्ष 2009 में अहमदाबाद सीरियल ब्लास्ट के बाद वह गया में अपना नाम और पता बदलकर रह रहा था।

इसी तरह, विगत 28 नवंबर को एनआइए की टीम ने अब्दुल नईम शेख को उत्तर प्रदेश के वाराणसी से गिरफ्तार किया था। साथ ही नईम को गोपालगंज में पनाह देने वाले एनएसयूआइ के पूर्व जिला सचिव धन्नु राजा उर्फ बेदार बख्त को भी गिरफ्तार कर लिया गया।

के सूत्र बताते हैं कि महाराष्ट्र के रहने वाले जिन तीन युवकों को बिहार के विभिन्न जिलों में पनाह देने वालों की पहचान कर ली गई है। लेकिन एनआइए की टीम पहले उन तीनों संदिग्धों को दबोचने की तैयारी में है।

ADVERTISMENT, MUZAFFARPUR, BIHAR, DIGITAL, MEDIA

संदिग्धों की तलाश में सिवान पहुंची एनआइए

इस बीच गोपालगंज में धन्नु राजा की गिरफ्तारी और अब्दुल नईम खान उर्फ सोहेल से तार जुडऩे के बाद एनआइए की टीम सिवान पहुंची है। एनआइए को जिले के छह लोगों के आतंकियों से जुड़ाव के इनपुट मिले हैं।

पुलिस के एक उच्चाधिकारी ने बताया कि एनआइए की टीम ने अभी सिवान से किसी को गिरफ्तार नहीं किया है, लेकिन उसके निशाने पर आधा दर्जन संदिग्ध लोग हैं। सभी अलग-अलग इलाकों के हैं। इनमें सिवान शहर के भी दो लोग हैं। सभी के यहां टीम गई, लेकिन कोई नहीं मिला। परिजनों को उनसे संपर्क होते ही इत्तिला करने को कहा गया है। हालांकि अभी इनमें कुछ खाड़ी देशों में काम कर रहे हैं।

लश्कर आतंकी नईम उर्फ सोहेल छह माह पहले जिस होटल में कई दिनों तक रुका और टीम के आने के पहले वहां से भागा, उसके मालिक से भी पूछताछ की गई। एनआइए ने कुछ अन्य होटलों के रजिस्टर भी खंगाले। एएसपी कार्तिकेय शर्मा के अनुसार एनआइए टीम शुक्रवार को आई थी और कुछ स्थानों पर जांच कर चली गई।

Source : Dainik Jagran

 

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’

यह भी पढ़ें -» यह भी पढ़ें -» पटना स्टेशन स्थित हनुमान मंदिर, जानिए क्यों है इतना खास

यह भी पढ़ें :ट्रेन के लास्ट डिब्बे पर क्यों होता है ये निशान, कभी सोचा है आपने ?

यह भी पढ़ें -» गांधी सेतु पर ओवरटेक किया तो देना पड़ेगा 600 रुपये जुर्माना

यह भी पढ़ें -» अब बिहार के बदमाशों से निपटेगी सांसद आरसीपी सिंह की बेटी IPS लिपि सिंह

यह भी पढ़ें -» बिहार के लिए खुशखबरी : मुजफ्फरपुर में अगले वर्ष से हवाई सेवा

 

                                                                                      

(मुज़फ़्फ़रपुर नाउ के यूट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter