मुजफ्फरपुर हादसे में शामिल गाड़ी BJP नेता की, पार्टी ने कहा- वह हमारा ‘आदमी’ नहीं

0
154
nine student, bihar, muzaffarpur, road accident

मुजफ्फरपुर हादसे के मामले में बड़ी खबर आ रही है. जिस बोलेरो से हादसा हुआ था, उसमें भाजपा नेता का नेम प्लेट लगा हुआ है. नेम प्लेट पर बीजेपी दलित प्रकोष्ठ के महामंत्री का नाम लिखा हुआ है. हालांकि भाजपा ने उसे अपनी पार्टी का पदाधिकारी व कार्यकर्ता मानने से इनकार किया है. बता दें कि शनिवार की दोपहर में मुजफ्फरपुर के मीनापुर प्रखंड में तेज रफ्तार से जा रही बोलेरो ने डेढ़ दर्जन से अधिक बच्चों को कुचल दिया था, जिसमें 9 बच्चों की मौत हो गयी, जबकि दो की स्थिति चिंताजनक बतायी जा रही है. इसी मामले में भाजपा नेता के गाड़ी होने की बात कही जा रही है.

जानकारी के अनुसार 9 बच्चों की मौत के मामले में अब नया अपडेट यह आ रहा है कि उक्त बोलेरो में भारतीय जनता पार्टी का बोर्ड लगा हुआ है. उस पर ‘महामंत्री, बीजेपी दलित प्रकोष्ठ’ लिखा हुआ है. महामंत्री का नाम मनोज बैठा है. बोलेरो मालिक का नाम आने के बाद बिहार की सियासत तेज हो गयी है. हालांकि अभी किसी भी पार्टी ने इस पर कमेंट नहीं किया है, लेकिन इसके पहले ही भाजपा की ओर से आ रही बयान में कहा गया कि मनोज बैठा हमारी पार्टी का नहीं है. पार्टी की ओर से यह भी कहा गया है कि मनोज बैठा न भाजपा का कोई पदाधिकारी है और न ही कार्यकर्ता.

गौरतलब है कि बिहार के मुजफ्फरपुर में हुई भीषण हादसे को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काफी गंभीरता से लिया है. हादसे में 9 बच्चों की मौत पर वे काफी मर्माहत हैं तथा घटना पर काफी शोक जताया है. उन्होंने घटना की जांच कराने का निदेश दिया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि घटना में जो भी दोषी हो, उस पर कड़ी कार्रवाई की जाए. उन्होंने कहा कि मामले की जांच के बाद दोषियों के खिलाफ शीघ्र और सख्त कार्रवाई बिहार सरकार करेगी. वहीं घटना पर बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी ने भी दुख जताया. उधर डीएम धमेंद्र सिंह ने मृतक के परिजनों को चार-चार लाख रुपये मुआवजा देने की घोषणा की है.

nine student, bihar, muzaffarpur, road accident

इतना ही नहीं, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्कूलों को भी सख्त निर्देश दिया है. उन्होंने यह भी कहा कि ऐसी घटना फिर से न हो, इसके लिए स्कूल प्रशासन एवं शिक्षा विभाग दिशा निर्देश जारी करे और इसमें स्थानीय प्रशासन का सहयोग ले. इसे सख्ती से लागू किया जाए. गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर के मीनापुर प्रखंड में शनिवार की दोपहर में स्कूल से लौटते वक्त मुजफ्फरपुर-सीतामढ़ी रोड पर अनियंत्रित बोलेरो ने डेढ़ दर्जन से अधिक बच्चों को रौंद दिया. इसमें 9 बच्चों की मौत हो गई. हादसे के बाद बोलेरो भी दुर्घटनाग्रस्त हो गयी. उसमें सवार महिलाएं और अन्य घायल हो गए.

हादसे के बाद वहां पर कोहराम मच गया. तीन महिलाओं, एक युवक और 10 बच्चों सहित 20 घायलों को एसकेएमसीएच में भर्ती कराया गया है. इनमें से 4 बच्चों की स्थिति गंभीर बताई जा रही है. एसकेएमसीएच में भी अफरातफरी की स्थिति है. उधर परिजनों और ग्रामीणों ने इलाज में विलंब को लेकर हंगामा किया. स्कूल के एक शिक्षक पहुंचे तो गुस्साए लोगों ने उनकी पिटाई कर दी. वे किसी तरह जान बचाकर भागे.

घटना को लेकर डीएम धमेंद्र सिंह की मानें तो यह घटना बच्चों को सड़क पार करवाने के दौरान हुई है. स्कूल में छुट्टी के बाद बच्चों को सड़क पार कराया जा रहा था, तब यह हादसा हुआ. बहरहाल, घटना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जांच के आदेश दिये हैं.

Source : Live Cities