Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

चारा घोटाला मामले के तीसरे केस की सुनवाई करते हुए रांची की विशेष सीबीआइ अदालत ने लालू यादव को दोषी करार देते हुए पांच साल की सजा और दस लाख का जुर्माना लगाया है। इस मामले पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कोई भी टिप्पणी करने से इंकार किया है।

उन्होंने कहा कि ये न्यायालय का मामला है इसमें कोई क्या कर सकता है। हमलोग इस मामले में राजनीती नहीं करते। उन्होंने कहा कि हम अपना काम करते हैं और बिहार के विकास की बात करते हैं और इस मामले में किसी तरह का कोई समझौता नहीं कर सकते। भ्रष्टाचार और न्याय के साथ विकास हमारा नारा है और हम इस पर मरते दम तक कायम रहेंगे।

चारा घोटाला के मामले में आज सीबीआइ की स्पेशल कोर्ट ने तीसरे केस में लालू यादव को पांच साल की सजा और दस लाख का जुर्माना लगाया है। इसपर नीतीश ने कहा कि इस बारे में कोई कॉमेंट नहीं।

नीतीश कुमार ने तेजस्वी यादव के उस बयान पर तंज कसा जिसमें उन्होंने नीतीश कुमार और भाजपा पर साजिश कर लालू यादव को जेल भेजने का आरोप लगाया था और कहा था कि इन लोगों ने मिलकर साजिश रची जिससे लालू किसी तरह चुनाव से पहले जेल से ना निकलें। साथ ही तेजस्वी ने कहा कि ये लोग विधानसभा और लोकसभा चुनाव एक साथ करवाना चाहते हैं।

Source : Daink Jagran


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •