Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

पटना विश्वविद्यालय के सौ साल पूरे होने पर तैयार किया गया मंच बिहार में एक नया राजनीतिक दृश्य का गवाह बनेगा। बदले राजनीतिक परिवेश के बीच राजनीति में एक-दूसरे के धुर-विरोधी आपस में हाथ मिलाते और गले लगते नजर आएंगे, ये किसी चमत्कार से कम नहीं होगा।

ये कोई मजाक नहीं बल्कि हकीकत में 14 अक्टूबर को देखने को मिलेगा जिसमें लालू यादव, नीतीश कुमार और पीएम नरेंद्र मोदी एक ही मंच पर विराजमान होंगे।

ये और बात है कि यह मंच राजनीतिक नहीं बल्कि पटना यूनिवर्सिटी के शताब्दी समारोह का मंच होगा। बिहार में महागठबंधन की सरकार टूटने के बाद शायद पहली बार ऐसा  मौका होगा जब लालू-नीतीश कहीं एक साथ खड़े दिखाई पड़े हों। लेकिन अगले कुछ दिनों में ये दोनों एक साथ तो नहीं लेकिन एक मंच पर जरूर रहेंगे और इन दोनों के बीच खड़े होंगे पीएम नरेंद्र मोदी।

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’

बता दें कि पटना यूनिवर्सिटी अपने शताब्दी समारोह के इस बड़े आयोजन में सभी गणमान्य लोगों को आमंत्रित किया है जिसमें यूनिवर्सिटी ने अपने तमाम पुराने छात्रों को भी इस बड़े आयोजन में बुलाया है।  लालू यादव, नीतीश कुमार, सुशील मोदी, रामविलास पासवान और रविशंकर प्रसाद ये सारे दिग्गज इसी यूनिवर्सिटी के छात्र रह चुके हैं और ये सभी आयोजन में शामिल हो सकते हैं।

यह भी पढ़ें -» छठ पूजन की तैयारी शुरू, 26 को पहला अ‌र्घ्य

कभी एक वक्त था जब बिहार के ये नेता एक-ही छत के नीचे राजनीति करते थे और आज एक-दूसरे के धुर-विरोधी हैं। राजनीति में एेसा होता रहता है। अब देखने वाली बात यह होगी कि मंच पर कौन-कौन दिग्गज शिरकत करते हैं और बिहार के इस बदले माहौल में मंच पर किसके क्या हाव-भाव होते हैं।

वैसे यूनिवर्सिटी के लिए यह शताब्दी समारोह किसी उत्सव से कम नहीं है तो इन दिग्गजों को चाहनेवालों के लिए भी यह समारोह रोमांच भरने वाला है।

Source : Dainik Jagran


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •