एस्सल के मनमानी से भड़का उपभोक्ताओं का गुस्सा, हस्ताक्षर अभियान चला जताया बिरोध
Spread the love

मुजफ्फरपुर शहर के माड़ीपुर स्थित एस्सल के प्रधान कार्यालय से बुधवार को एस्सल कंपनि की मनमानी व उपभोक्ताओं को सुबिधा मुहैया नही कराने को लेकर पन्द्रह दिवशीय हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत किया गया।

हस्ताक्षर अभियान मोर्चा के अध्यक्ष सह सामाजिक कार्यकर्ता अजय पांडेय के नेतृत्व में हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत कीया गया। हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत होते ही सैकड़ो की संख्या में नाराज उपभोक्ता हस्ताक्षर के लिये पांगती में लग गये।

इस दौरान उपभोक्ताओं में एस्सल कंपनी के बिरुद्ध आक्रोश साफ झलक रहा था। उपभोक्ताओं ने बताया की एस्सल कंपनी मनमानी तरीके से बिजली बिल भेजती है। मीटर तेज चलने की शिकायत पर भी कोई कार्यवाई नही किया जाता है। और तो और विजिलेंस के द्वारा मनमानी तरीके से छापा मारकर जबरन फाइन वसूला जाना नियति बन गया है।

शहर में पचास से अधिक जगह पर ट्रंसफ़र्मर जला हुआ है लेकिन बिभाग उसे बदलने के बजाय उपभोक्ताओं से पैसे एठने का काम करती है। शहर में कई जगहों पर बास के सहारे बिजली गयी हुई है। लेकिन कंपनी वहां बिजली का पोल लगाना मुनासिब नही समझती है। जिससे बड़ी घटना होने की संभावना बनी रहती है। इन सभी कारणों से नराज होकर आज एस्सल भगाओ मुज़फ़्फ़रपुर बचाओ मोर्चा के द्वारा पन्द्रह दिवशीय हस्ताक्षर अभियान की शुरुआत माड़ीपुर स्तिथ एस्सल के हेड ऑफीस से की गई। करीब एक घंटे में ही 150 से अधिक नाराज उपभोक्ताओं ने हस्ताक्षर कर बिरोध जताया। हस्ताक्षर अभियान सुबह 11 बजे से शाम 3 बजे तक चला। जिसमे सामान्य से लेकर गणमान्य उपभोक्ताओ ने हस्ताक्षर किया।हस्ताक्षर करने वाले में मुख्य रूप से देवांसु किशोर भाजपा नेता,रंजीत कुमार सिंह भाजपा नेता,कुमोद पासवान जिला पार्षद,नर्मदा शंकर पूर्व जिला पार्षद,शिवपूजन सहनी उपमुखिया भटौना,महावीर सिंह पैक्स अध्यक्ष,विष्णुदेव सहनी जदयू जल श्रमिक प्रकोष्ठ मड़वन प्रखण्ड अध्यक्ष सह वार्ड सदस्य,विकाश यादव,मो.नौशाद वार्ड पार्षद प्रत्यासी समेत 410 उपभोक्ताओं ने हस्ताक्षर कर बिरोध प्रकट किया।

वैशाली सांसद प्रवक्ता देवांशु किशोर ने एस्सल के अधिकारियों से मांग की है कि अबिलंब बड़कागांव उतरी में नया पोल,तार व ट्रांसफार्मर लगाया जाये और नये उपभोक्ताओं को कनेक्शन दिया जाये। विष्णुदेव सहनी प्रखंड अध्यक्ष मड़वन जल श्रमिक प्रकोष्ठ जदयू,सह वार्ड सदस्य ने कहा की लगभग 18 महीना पहले जानकी उच्च विद्यालय मड़वन में शिविर लगाया गया था। उसमे से 33 उपभक्ताओ को उपभोक्ता संख्या दे दिया गया। बिजली बिल भेजा जा रहा है। लेकिन आज तक उनके घर तक बिजली नहीं पहुँची है। एक साल से दौड़ने के बावजूद भी एस्सल का कोई भी अधिकारी सुधि लेने को तैयार नही है। वही शरद गुट के जदयू नेता हीरा यादव ने बताया की भगवानपुर इलाके में बिजली का नंगा तार लटका हुआ है। आये दिन बिजली के चपेट में लोग आते है। और तार भी टूट कर जमीन पर गिर जाता है। लेकिन एस्सल में कोई इसका सुधि लेने वाला नही है।

Total 2 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?

News Reporter