Share Now
  •  
  •  
  •  
  • 605
  •  
  •  

बिहार के मुजफ्फरपुर जिले के सरैया के पारू  थाना क्षेत्र के भेलाईपुर व जैतपुर ओपी क्षेत्र के बसरा काजी सीमा पर स्थित एक परिवार को पूजा के नाम पर कथित तांत्रिक ने न केवल मूर्ख बनाया, बल्कि घर का सामान लूट कर फरार हो गया। इधर, नशीला पदार्थ खाने से पीडि़त परिवार के परिजन अचेत हो गए जिनका इलाज बसरा स्थित निजी क्लीनिक में चल रहा है।

बताया गया कि शिवपूजन सिंह के घर में सोमवार की रात्रि एक कथित तांत्रिक ने पूजा- पाठ की। फिर प्रसाद के नाम पर सबको नशीला पदार्थ खिला दिया जिससे परिवार के सभी सदस्य अचेत हो गए। फिर वह ठग घर का सारा कीमती सामान समेट कर फरार हो गया।

यह भी पढ़ें -» छठ पूजन की तैयारी शुरू, 26 को पहला अ‌र्घ्य

सुबह काफी देर तक जब उनके घर के सदस्य नहीं जगे तो काफी लोग वहां जुट गए। लोगों ने घर के अंदर जाकर देखा तो सारा माजरा समझ गए। आंगन में पूजा का सामान बिखरा पड़ा था। आनन-फानन में ग्रामीणों की मदद से घर के सदस्यों को बसरा बाजार स्थित निजी क्लीनिक में भर्ती कराया गया। परिजनों के अचेत होने से लूट की रकम के बारे में जानकारी नहीं मिल सकी है। हालांकि अलमारी समेत कई बक्से का ताला टूटा है। अचेत परिजनों मेंं शिवपूजन सिंह (75), पत्नी कमल देवी (70) व बहू सपना देवी (30) शामिल हैं।

यह भी पढ़ें -» बिहार की इस बेटी ने मॉस्को में लहराया तिरंगा, बनीं ‘राइजनिंग स्टार’

जैतपुर ओपी प्रभारी नवीन कुमार ने बताया कि सूचना है कि दो दिनों से पीडि़त के घर पर तांत्रिक ठहरा हुआ था। घर में झाड़- फूंक व पूजा- पाठ के नाम पर तांत्रिक घर में दो दिनों से  था। पीडि़त के परिवार में दो नाबालिग बच्चे हैं जो पहले ही सो गए थे। इसलिए उन्हें कुछ नहीं खिलाया गया था। पूर्व पंचायत समिति लव साह व वकील अरविंद कुमार ने बताया कि तांत्रिक धन- संपत्ति में वृद्धि को लेकर परिजनों को चकमा दे रहा था।

Source : Dainik Jagran


Share Now
  •  
  •  
  •  
  • 605
  •  
  •