कॉलेजों में टावर लग गए, पर फ्री वाई-फाई सेवा शुरू नहीं

0
65

बीआरए बिहार विवि के पीजी विभागों और कॉलेजों में अब तक फ्री वाई-फाई सुविधा की शुरुआत नहीं हो सकी है। हालांकि, कॉलेजों में टावर खड़े कर दिए गए हैं लेकिन छात्र-छात्राओं को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। किसी कॉलेज ने यूजर की संख्या नहीं भेजी है तो कहीं वाई-फाई सिस्टम सही तरीके से काम नहीं कर रहा है। इसको लेकर राजभवन ने बीआरए बिहार विवि से पूरी डिटेल रिपोर्ट मांगी है। इसमें विवि को उपलब्ध कराए गए फॉर्मेट के अनुसार पूरी रिपोर्ट तैयार कर भेजनी है। बीआरए बिहार विवि के सीसीडीसी डॉ विजय कुमार ने बताया कि कॉलेजवार डिटेल मांगी गई है। निर्धारित फॉर्मेट के अनुसार इस रिपोर्ट को जल्द ही भेजा जाएगा।

कहीं यूजर की संख्या कम है, तो कहीं बिजली समस्या
राजभवन की ओर से विवि को भेजे गए पत्र में कहा गया है कि सीएम के सात निश्चय के तहत कॉलेजों और पीजी विभागों में फ्री वाई-फाई सेवा की शुरुआत की गई थी। लेकिन कॉलेजों में कहीं यूजर की कम संख्या इसमें आड़े आ रही है तो कहीं बिजली की समस्या इसमें बाधा बन रही हैं। वहीं कई कॉलेजों के नोडल पदाधिकारी ने छात्र-छात्राओं की संख्या और डिटेल संबंधित एजेंसी को भी नहीं सौंपी है। राजभवन की ओर से विवि के अधिकार क्षेत्र में आने वाले कॉलेजों की स्थिति की अद्यतन रिपोर्ट मांगी गई है।

राजभवन ने बीआरए बिहार विवि से मांगी सेवा से संबंधित अपडेट रिपोर्ट 

एमडीडीएम में बनाया गया था नोडल केंद्र
एमडीडीएम कॉलेज को इसके लिए नोडल केंद्र बनाया गया था। यहीं से फ्री वाई फाई सेवा की मॉनिटरिंग की जानी था। लेकिन, कॉलेज में पावर कट की समस्या बरकरार है। यहां अब तक केवल शिक्षिकाएं और वोकेशनल कोर्स की छात्राएं ही इससे जुड़ सकी हैं। अधिक छात्रा का लोड सर्वर नहीं ले पा रहा है।

Source : Dainik Bhaskar