Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

व्हाट्सएप ने हाल ही में अपना पेमेंट फीचर यूजर्स के लिए उपलब्ध करवा दिया है। व्हाट्सएप पेमेंट सिस्टम UPI पर आधारित पेमेंट सेवा है। यह फीचर आधिकारिक रूप से आईओएस और एंड्रॉयड यूजर्स के लिए रोल-आउट कर दिया गया है। व्हाट्सएप के भारत में ही 200 मिलियन यूजर्स हैं। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है की इस मैसेजिंग एप के जरिए UPI कितना पॉपुलर होने वाला है।

व्हाट्सएप देगा अन्य एप्स को कड़ी चुनौती

भारत में व्हाट्सएप से पहले भी UPI के क्षेत्र में कई प्रतिस्पर्धी मौजूद हैं। दिसंबर 2016 में भीम UPI के लॉन्च होने के बाद से इसे इस्तेमाल करने का चलन बढ़ा। व्हाट्सएप का UPI प्लेटफार्म पहले से मौजूद पेमेंट एप्स जैसे की -पेटीएम और गूगल तेज के लिए बड़ा खतरा हो सकता है। इसके अलावा यह उन मैसेजिंग एप्स के लिए भी बड़ी चुनौती साबित होगी जो मैसेजिंग सेवा के जरिए बाजार में अपनी जगह बनाने की जुगत में हैं, जैसे की ट्रूकॉलर और हाइक।

ऊपर बताई गई एप्स के पास अपने-अपने UPI प्लेटफार्म हैं। नीचे हम आपको इसी की डिटेल्स बताने जा रहे हैं की इन एप्स से UPI के जरिए किस तरह पैसे भेजे और रिसीव किए जा सकते हैं।

पेटीएम

भारत में पेटीएम बड़े मोबाइल वॉलेट्स में से एक है। खास कर के नोटबंदी के बाद से पेटीएम के बिजनेस में बड़ा बूम देखने को मिला है। पेटीएम की शुरुआत तो एक डिजिटल वॉलेट के रूप में हुई थी लेकिन अब यह एक बड़े प्लेटफार्म का रूप ले चुका है। पेटीएम में अब पेटीएम मॉल, पेटीएम बैंक समेत कई अन्य फीचर्स भी दिए जा रहे हैं।

इसमें भीम UPI भी इंटीग्रेटेड है। इससे UPI पर आधारित ट्रांजैक्शंस की जा सकती हैं। व्हाट्सएप से प्रतिस्पर्धा करते हुए पेटीएम ने पिछले नवम्बर इनबॉक्स सेवा का आरम्भ किया। पेटीएम इनबॉक्स में यूजर्स चैट, नोटिफिकेशन्स, ऑर्डर्स और गेम्स आदि ढूंढ सकते हैं। चैट में ही पैसे भेजे और रिसीव किए जा सकते हैं।

गूगल तेज

गूगल ने भारतीय डिजिटल पेमेंट सेवा में पिछले सितम्बर तेज लॉन्च कर के एंट्री की। सर्च दिग्गज गूगल की मोबाइल पेमेंट सेवा गूगल तेज आईओएस और एंड्रॉयड पर उपलब्ध है। गूगल तेज के जरिए यूजर्स अपने बैंक अकाउंट और अन्य सेवाएं जैसे- UPI, क्यूआर कोड और फोन नंबर से पैसे ट्रांसफर कर सकते हैं।

इसके अलावा गूगल तेज में कैश मोड का दिलचस्प फीचर भी मौजूद है। इस फीचर की मदद से यूजर्स अपने आस-पास के लोगों को पैसे भेज पाते हैं। इस फीचर में यूजर्स को पैसे ट्रांसफर करते समय बैंक अकाउंट नंबर या फोन नंबर भरने की जरुरत नहीं होती।

हाइक

इन-हाउस मैसेजिंग एप हाइक, व्हाट्सएप को सीधी टक्कर देता है। पिछले कुछ महीनों में हाइक ने कई नए फीचर्स पेश किए हैं। इसमें से कुछ- स्नैपचैट-लाइक स्टोरीज, टाइमलाइन फॉर पोस्ट्स और सबसे जरुरी हाइक वॉलेट है। 2017 जून में लॉन्च हुए हाइक की भी पेटीएम की तरह अपनी वॉलेट सर्विस है। हाइक वॉलेट के जरिए यूजर्स पैसे भेज और रिसीव कर सकते हैं और मोबाइल नंबर रिचार्ज करा सकते हैं। हाइक वॉलेट में ही UPI का विकल्प मौजूद है।

ट्रूकॉलर

ट्रूकॉलर एक ऐसी एप है, जिसने अपने प्लेटफार्म पर कई अलग-अलग फीचर्स उपलब्ध करवाने की कोशिश की है। इस एप की शुरुआत एक कॉलर आईडी की तरह हुई थी। इस फोन नंबर ढूंढ़ने वाली एप में ऑफर करने के लिए कई टूल्स मौजूद हैं। ट्रूकॉलर अपना कस्टम डाइलर, कांटेक्ट लिस्ट और मैसेजिंग इनबॉक्स ऑफर करता है।

ट्रूकॉलर ने पिछले मार्च में अपनी UPI सेवा पेश की थी। ट्रूकॉलर का UPI तीन अलग-अलग तरीकों से कार्य करता है। इसमें पैसे भेजना, स्कैन कर के पे करना और मोबाइल बिल्स रिचार्ज करना सम्मिलित है।

Input : Dainik Jagran


Share Now
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •