मीटर रीडिंग में गड़बड़ी की बार-बार शिकायत के बाद भी एस्सेल की ओर से इसे रोकने के लिए प्रयास नहीं किया जा रहा है। आदर्श मध्य विद्यालय कपरपुरा को गलत रीडिंग पर 30 हजार का बिल थमाया गया है। स्कूल प्रबंधन ने एस्सेल अधिकारी से इसकी जांच कर सही बिल देने की मांग की है। विद्यालय में मीटर लगा, जिसमें 2110 यूनिट खपत दिखाई जा रही है। जबकि जारी बिजली बिल में 2614 यूनिट खपत दिखाते हुए बिल जारी किया गया है। एस्सेल भगाओ, मुजफ्फरपुर बचाओ मोर्चा के अध्यक्ष अजय कुमार पांडेय का कहना है कि इसी तरह से सरकारी विभाग को गलत बिल देकर एस्सेल की ओर से राशि ली जा रही है। जिसकी शिकायत पिछले दिनों उन्होंने मुख्यमंत्री व डीएम से की। उन्होंने बताया कि मीटर रीडिंग करने में लापरवाही बरती जाती है। जबकि नियम के अनुसार, मीटर रीडिंग के बाद ही बिल जारी करना है।

Input : Dainik Bhaskar