Connect with us

BIHAR

अब नहीं सचेत हुए बिहार वाले तो, अपनों की लाशें उठाने को रहें तैयार

Abhishek Ranjan Garg

Published

on

– देश के साथ-साथ बिहार वाले भी कोरोना के चपेट में है , फिर भी कुछ लोगो ने क़सम खा रखी है, कि हम नही सुधरेंगे, न सुधरने वाले थेथर लोग सावधान रहें क्योंकि उन्हें जल्द ही अपने कंधों पर अपनों की लाश उठानी पड़ सकती है.

जी हाँ हम इतने सख़्त शब्दो में इसलिये लिख रहे है क्योंकि मामला बहुत गंभीर है, इसका खामियाजा आने वाले दिनों में देखने को मिलेगा, आप आज स्वस्थ है तो ये जरूरी नही है कि आप कल भी ठीक हो क्योंकि कोरोना के सिम्पटम 14 दिनों में दिखते है और ये वक़्त कभी भी आ सकता है.

जो समाज के दुश्मन रोड पर अब भी निकल रहे है उन्हें देखकर गुस्सा आता है कि आख़िर ये बिहारी कभी नहीं सुधर सकते है, हमे समझना होगा कि हमने पहले ही देर कर दी है, हमारे राज्य में मरीजों के मिलने का सिलसिला शुरू हो चुका है, और ये सिलसिला तबतक नहीं रुकेगा जबतक आप अपने घरों में नही रुकेंगे.

आपको लाश नहीं उठाना पड़े इसलिये प्रशासन को लाठी उठाना बहुत जरूरी है, ना जाने कौन से ये लतखोर लोग है, जो मार से भी नहीं डर रहे और खुद के साथ साथ समाज को भी संक्रमण के खतरों में डालने के लिये बाहर निकल रहे है, जरूरत का सामान लेने का समझ मे आता है, लेकिन अपनी आवश्यकताओं को भी कम करने का यही समय है जब आप जीवित नहीं ही रहेंगे तो क्या जरूरी है, उन जरूरत के सामानों का, दाल चावल खा कर भी कुछ दिन जिंदगी काटी जा सकती है, जरूरी नहीं कि सब्जी से ही पेट भरे.

चाय के लिये दूध लेना कितना जरूरी है, क्या आपके अपनों के जान से ज्यादा जरूरी है क्या, जरूरत के दाल, चावल और आटा को घर मे रख ले बाकी चीज़ो को भुल जाए, सब्जी औऱ दूध लेने भी तभी जाए जब आपके लिये ये लेना बहुत जरूरी हो, दूध बच्चों के लिये बहुत जरूरी है अगर आपके घर मे बच्चें नही है तो दूध भी नहीं लेने जाये, आप आने वाले कल के खतरों को समझियेगा ज़रा विचार कीजियेगा, चीख और चीत्कारता कल देखना चाहते है या जरूरत को कम कर के आज जीना चाहते है.

कुछ बिहारी चाय पीने के लिये दूध- दूध करते रहते है, सोचिये क्या आपको चाय आपके घरवालो से ज्यादा प्रिय है, क्यों संक्रमण का ख़तरा उठा रहे है, बाहर तभी निकले जब अधिक जरूरी हो, क्या अधिक जरूरी है ये निर्णय आपको करना है हमे तो बस आपको सचेत करना था.

रोड पर सन्नाटा देखने जो निकल रहे है ,ध्यान रहे ये सन्नाटा आपके घर तक भी पहुँच सकता है, तब पछताने से कुछ नहीं होगा जब चिड़िया खेत चुग जाएगी, तब माथा पीटने से भी कुछ नहीं होगा जब आपके अपने मौत की नींद सो जाएंगे आपका परिवार तबाह हो जाएगा, तबतक घर मे रहे जबतक लौकडाउन है, स्तिथि की गंभीरता को समझे और आने वाले कल से डरे क्योंकि डरना जरूरी है, न डरने वाले अपनों की चिता जलाने को तैयार रहे, ये कोरोना मौत का नंगा नाच है, ईटली और चीन में कई परिवार तबाह हो गए, आप सचेत नहीं हुए तो अगला नंबर आपका भी हो सकता है.

BIHAR

नीतीश कैबिनेट की बैठक खत्म, 5 एजेंडों पर लगी मुहर

Muzaffarpur Now

Published

on

PATNA : कोरोना संकट के बीच मंत्रियों के साथ चल रही नीतीश कैबिनेट की अहम बैठक खत्म हो गई है. इस बैठक में कुल 5 एजेंडों पर मुहर लगी है. इसके साथ ही कई बड़े फैसले कैबिनेट की बैठक में लिए गए हैं. बैठक में तीन अध्यादेशों पर कैबिनेट की मुहर लगी है. GST-2017 में संसोधन को मंजुरी दी गई है.

कैबिनेट की बैठक में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण के 641 स्थायी पदों के सृजन को मंजूरी मिल गई है. इन सभी पदों पर स्थाई बहाली होगी. इसके साथ ही 3 अस्थाई पदों के सृजन को भी मंजूरी कैबिनेट की बैठक में मिली है.इसके साथ ही अन्य एजेंडों पर मुहर लगी है.

बता दें कि गुरुवार को नीतीश कैबिनेट की अहम बैठक बुलाई गई थी. मुख्यमंत्री नीतीश के नेतृत्व में यह बैठक सचिवालय स्थित संवाद में सुबह 11:30 बजे से हो रही थी. जिसमें कुल 5 एजेंडों पर मुहर लगी है.

Input : First Bihar

Continue Reading

BIHAR

बिहार से अब चलेंगी 45 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें, ECR ने रेलवे बोर्ड को भेजा 23 जोड़ी नयी ट्रेनों का प्रस्ताव

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार से अब जल्द ही 45 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें चलेंगी। पूर्व मध्य रेलवे( ईसीआर) ने रेलवे बोर्ड को 23 जोड़ी नयी ट्रेनें चलाने का प्रस्ताव भेजा है।जल्द ही इन ट्रेनों को हरी झंडी मिलने की उम्मीद है। अभी 22 जोड़ी विशेष ट्रेनों का परिचालन किया जा रहा है।

माना जा रहा है कि बिहार से 23 जोड़ी नये ट्रेनों के परिचालन की मंजूरी के बाद बिहार से देश के किसी भी कोने में पहुंचना आसान होगा। दानापुर के मंडल रेल प्रबंधक सुनील कुमार ने बताया कि अनलॉक-2 में ईसीआर की ओर से और 23 जोड़ी विशेष ट्रेनों को चलाने का प्रस्ताव रेलवे बोर्ड को भेजा गया है। इस प्रस्ताव पर शीघ्र ही हरी झंडी मिलने की उम्मीद है। रेलवे बोर्ड से हरी झंडी मिलते ही ट्रेनों का परिचालन शुरू होगा।

बताया जा रहा है कि पूर्व मध्य रेलवे की तरफ से सिकंदराबाद पटना,वास्कोडिगामा पटना, उधना दानापुर,सूरत मुजफ्फरपुर, सूरत-भागलपुर, वलसाड मुजफ्फरपुर, भागलपुर दिल्ली, आसनसोल सीएसटीएम, कामख्या दिल्ली, डिब्रूगढ़ लालगढ़, डिब्रूगढ़ दिल्ली, पोरबंदर मुजफ्फरपुर, इंदौर हावड़ा, अगरतला देवघर, मधुपुर दिल्ली, यशवंतपुर भागलपुर, कोलकाता-अमृतसर अकालतख्त, सियालदह अमृतसर, डिब्रूगढ़ अमृतसर, एलटीटी गुवाहाटी, एलटीटी कामख्या और भागलपुर एलटीटी के बीच ट्रेनों को चलाने का प्रस्ताव भेजा गया है।

Input : First Bihar

Continue Reading

MUZAFFARPUR

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर से हाजीपुर या पटना जाना हो या पटना हाजीपुर से उत्तर बिहार के किसी जिले में जाना हो। रामदयालुनगर से लेकर मधौल तक आपको जाम व दुर्घटना का सामना करना पड़ेगा। यह स्थिति पिछले कई वर्षों से बनी है। नगर विकास व पथ निर्माण विभाग की पहल से इस एनएच को दुरुस्त करने की पहल तो हुई, लेकिन दो साल बाद भी बात बनी नहीं है।

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच इतनी जर्जर हो चुकी है कि हर दूसरे दिन बड़े वाहन भी दुर्घटनाग्रस्त हो जाते हैं। जर्जर सड़क के कारण बड़े वाहनों की धूरी व पत्ती ऐसे टूटती है, मानों ताश के पत्ते भहराते हों। एक बार एक वाहन गड्ढे में फंसा नहीं कि मुजफ्फरपुर से पटना की दूरी एक से चार घंटे तक बढ़ जाती है। रामदयालुनगर में जाम लगने से एनएच 77 से गुजरने वाले वाहनों का पहिया पूरी तरह से थम जाता है। फिर चाहे एनएच 28 से एनएच 77 पर जाने वाले वाहन हों या फिर अघोरिया बाजार से रामदयालुनगर होते हुए एनएच 77 पर पहुंचने वाले वाहन। सभी रोड में वाहनों की लम्बी कतार लग जाती है। इस कतार में गंभीर मरीजों को पटना लेकर जाने वाली एम्बुलेंस भी होती हैं और स्कूली बच्चों को घर व स्कूल पहुंचाने वाले बस भी। इसके अलावा सैकड़ों सरकारी व गैर सरकारी कर्मचारी भी इस जाम में फंसे होते हैं।

सप्ताह में तीन से चार दुर्घटना इस छोटे से दायरे में आम बात है। दुर्घटना में कई लोगों की जान भी जा चुकी है। करीब डेढ़ किलोमीटर में एनएच का यह हाल है कि गांव की सड़क भी इससे अच्छी दिखती है।

Input : Hindustan

 

Continue Reading
BIHAR3 mins ago

नीतीश कैबिनेट की बैठक खत्म, 5 एजेंडों पर लगी मुहर

BIHAR5 mins ago

बिहार से अब चलेंगी 45 जोड़ी स्पेशल ट्रेनें, ECR ने रेलवे बोर्ड को भेजा 23 जोड़ी नयी ट्रेनों का प्रस्ताव

INDIA8 mins ago

SBI ग्राहकों के लिए अलर्ट! बैंक ने ATM से कैश निकालने के बदले नियम, नहीं जानने पर भरना होगा जुर्माना

MUZAFFARPUR2 hours ago

रामदयालुनगर से मधौल तक एनएच लेती है धैर्य की परीक्षा

INDIA2 hours ago

मेथी समझ कर खाई गांजे की सब्जी, परिवार के छह लोग बीमार

MUZAFFARPUR2 hours ago

मुजफ्फरपुर: रेप पीड़िता की खुदकुशी मामले में आठ नामजद, थानेदार के खिलाफ जांच

BIHAR2 hours ago

कभी सुना है इन नायाब नोटों के बारे में, 165 देशों की करेंसी है विक्रमजीत के पास, आप भी देंखें

BIHAR2 hours ago

पटना सिटी में मिले कोरोना के 63 नए मरीज, खाजेकला एरिया आज होगा सील

WORLD4 hours ago

चीन के खिलाफ सैनिकों में गुस्सा, कर सकते हैं विद्रोह, गलवन में झड़प की सच्चाई को छिपा रहे चिनफिंग

BIHAR5 hours ago

कोविड अस्पताल बनेगा पटना AIIMS, कोरोना संक्रमितों की बढ़ती संख्या को लेकर हुआ फैसला

INDIA4 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA3 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR6 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA1 week ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA3 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending