Connect with us

INDIA

आजादी मिलने के बाद हिमालय क्यों जाना चाहते थे सुभाष चंद्र बोस

Md Sameer Hussain

Published

on

आजादी के बाद देश में अक्सर ये माना जाता था कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस का निधन विमान हादसे में नहीं हुआ है. वो जल्द अज्ञातवास से वापस स्वदेश लौटेंगे और तब देश में आमूलचूल बदलाव आएगा. ये तो चर्चाओं की बात थी लेकिन नेताजी आजादी की लड़ाई के दौरान आजाद हिंद फौज के सहयोगियों से एक खास इच्छा जाहिर करते थे, जिसके लिए वो आजादी के बाद हिमालय जाना चाहते थे.

उनके एक खास सहयोगी एसए अय्यर ने इस बारे में कई बार लिखा भी. इसमें ये बताया गया है कि सुभाष उनसे अक्सर आजादी के बाद एक खास काम करने की इच्छा जाहिर करते थे. वो कहते थे कि खून से सनी दिल्ली जाने वाली सड़क पर वो अपनी क्रांतिकारी सेना का संचालन करेंगे लेकिन जैसे ही उन्हें अपने इस उद्देश्य में सफलता मिल जाएगी, तब वो अपने जीवन के असली ध्येय की ओर मुड जाएंगे.

सुभाष बोस पर लिखी पत्रकार संजय श्रीवास्तव की किताब “सुभाष की अज्ञात यात्रा” में इस बारे में चर्चा की गई है. ये भी बताया गया है कि सुभाष क्यों अक्सर ये बात कहते थे. सुभाष कहते थे,” देश को आजादी मिलते ही वो हिमालय चले जाएंगे, जहां वो ध्यान-भजन करेंगे. यही उनके जीवन का असली ध्येय है.”
दरअसल आध्यात्म सुभाष के जीवन का एक अनिवार्य और गहन तत्व था, जिसने उनके अंदर किशोरवय से ही पैठ जमा ली थी. जब वो किशोर हो रहे थे, तब उनका रुझान आध्यात्म की ओर होने लगा. तब वो बाबा और साधुओं की तलाश में लग गए. इससे उनके व्यक्तित्व में अजीब सा बदलाव आने लगा. उनके घरवालों ने भी इसे महसूस किया.

क्यों एकांत जगह की तलाश करते थे
साधु और महात्माओं की संगत को तलाशने के चलते वो घर से कई कई घंटों के लिए बाहर रहते. आसपास के उन स्थानों में चले जाते, जहां प्रकृति की छटा होती और एकांत होता. ऐसी जगहों पर वो ध्यान साधना करने लगते. घर में रहने पर वो कोई अंधेरा कमरा तलाशते और वहां बैठकर खुद को ध्यान में डूबोने की कोशिश करते.किताब कहती है,” बाद में जब वो जर्मनी और जापान में लंबे समय के लिए रहे तब भी हर हाल में रोज रात में ध्यान साधना जरूर करते थे. वो रोज रात भगवद्गीता पढ़ते थे, इससे उन्हें शांति और शक्ति मिलती थी. हालांकि उनका ज्यादा समय लोगों के बीच बीतता था लेकिन रात में ज्यों एकांत मिलता, वो ध्यान साधना में लीन हो जाते.”

रात का समय उनके आध्यात्मक का समय होता था
जनता के बीच वो मंच पर लंबा भाषण देते थे लेकिन मंच से अलग होते ही एकांत चाहते थे. तब वो कम ही लोगों से बातचीत करते थे. भोजन के बाद वो आमतौर पर विश्राम करते लेकिन अगर उनके पास कोई बुलाया हुआ व्यक्ति आ जाता था तो पूरे घंटे में शायद कुछ ही शब्द बोलते थे. वो उस समय शांति ज्यादा चाहते थे. वो उनका आध्यात्मिक समय होता था.

घंटों ध्यान साधना करते थे
रात में उनका ध्यान लंबा होता था. वो देर रात दो-तीन बजे तक सोते थे लेकिन सबेरे उठने पर चेहरे ताजगी और आभा से भरपूर होता था. सिंगापुर में रहने के दौरान सोने के पहले रामकृष्ण परमहंस आश्रम चले जाते थे. वहां जाकर ध्यान करते थे. उनके रोज के काम और आध्यात्मिक साधना साथ-साथ चलती रहती थी. बर्लिन में जब दूसरे विश्व युद्ध के दिनों में बमबारी की आबाज आती थी, तब वो अपने घर में देर रात तक ध्यान करते रहते थे.

मानते थे तंत्र साधना की ताकत
उनकी जीवन की आदतें आमतौर पर सादगी लिये हुए थीं. वो खुद उसी राशन का भोजन करते थे, जो उनके सैनिक करते थे. वो मां काली के भक्त थे. ये भी कहा जाता है कि वो तंत्र साधना की शक्ति मानते थे. जब वो गांधीजी के विरोध के बाद 1939 में कांग्रेस के अध्यक्ष बन गए तो कुछ समय बाद रहस्यमय तरीके से बीमार हो गए. तब उनका मानना था कि कांग्रेस के कुछ नेताओं ने उनके खिलाफ तंत्र साधना की थी.

1933 में जब वो एसएस गंगे जहाजे से यूरोप जा रहे थे तो अपने दोस्त दिलीप कुमार रॉय को लिखा, मैं शिव के प्रति ज्यादा भक्तिभाव में रहता हूं. कुछ सालों से मंत्रों की शक्ति को मानने लगा हूं. वाकई मंत्रों में बहुत ताकत होती है. पहले मैं मंत्रों को लेकर सामान्य भाव रखता था. बाद में मैने तंत्र फिलास्फी पढ़ी. कुछ मंत्र तो शक्ति देने के मामले में वाकई अदभुत होते हैं.

Input : News18

INDIA

TikTok ने अपनी सोशल मीडिया की प्रोफाइल फोटो में लगाया भारत का झंडा, भड़के यूज़र्स ने लिखा- ‘RIP’

Muzaffarpur Now

Published

on

चीन की पॉपुलर शॉर्ट वीडियो मेकिंग ऐप टिकटॉक (TikTok) ने अपने सभी सोशल मीडिया पर प्रोफाइल फोटो (profile photo) में भारत के झंडे को शामिल किया है. पहले फेसबुक (facebook) और ट्विटर (twitter) पर इसकी प्रोफाइल फोटो में सिर्फ टिकटॉक का लोगो दिखाई देता था, लेकिन अब इन दोनों जगहों पर लोगो के राइट साइड में नीचे की ओर भारत का झंडा भी दिखाई दे रहा है. जहां एक तरफ भारत और चीन के बीच तनाव से भारतीय सोशल मीडिया (social media) पर चीनी माल और ऐप को बॉयकॉट (boycott) की मांग कर रहे हैं, ऐसे में टिकटॉक का प्रोफाइल में तिरंगे के इस्तेमाल को माना जा रहा है कि इसे भारतीय ग्राहकों की नाराज़गी को देखते हुए किया गया है.

i1.wp.com/images.news18.com/ibnkhabar/uploads/2...

जानकारी के लिए बता दें कि टिकटॉक का पहले से ही विरोध किया जा रहा था. ऐसी परिस्थिति में ऐप ने प्रोफाइल फोटो में भारत के झंडे को लगाकर ग्राहकों के साथ अपने जुड़ाव को दिखाया है. टिकटॉक के ऑफिशियल फेसबुक पेज पर 1.5 करोड़ से भी ज्यादा फॉलोअर्स हैं.

ऐप की प्रोफाइल फोटो में शनिवार शाम को बदली गई है, जिसके बाद इसपर भारतीय झंडा देखने पर यूज़र्स ने काफी नाराज़गी जताई है. फेसबुक की प्रोफाइल फोटो पर काफी सारे यूज़र्स ने कमेंट्स में ‘RIP’ (रेस्ट इन पीस) लिखकर स्पैम किया और रिएक्शन के तौर पर ‘angry’ और ‘funny’ इमोजी भी दिए.

भड़के यूज़र्स ने लिखा- 'RIP'.

डाउनलोड में आई भारी गिरावट

लद्दाख रीजन में LAC पर बढ़ते तनाव के चलते बहुत सारे भारतीयों ने अपने स्मार्टफोन से कई चाइनीज ऐप्स को अनइंस्टॉल कर दिया है. SensorTower की रिपोर्ट के मुताबिक तमाम लोकप्रिय चाइनीज़ ऐप के डाउनलोड में गिरावट देखने को मिली है. इन ऐप्स में TikTok, Bigo Live, PUBG, Likee, Helo शामिल हैं.

twitter और facebook की फोटो में भारत का झंडा.

चीन के बाद भारत में सबसे ज्यादा यूज़र बेस रखने वाली TikTok के डाउनलोड में अप्रैल की तुलना में मई में 5 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है. वहीं मई की तुलना में जून में TikTok के डाउनलोड में 38 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है. वित्त वर्ष 2020 की पहली तिमाही TikTok के लिए सबसे शानदार तिमाही रही थी जिसमें उसके 2 अरब डाउनलोड हुए थे. इसमें से भारत की हिस्सेदारी 3.3 फीसदी अथवा 611 मिलियन थी.

Input : News18

Continue Reading

INDIA

लद्दाख में चीनी धोखेबाजी का Zomato कर्मचारियों ने किया विरोध, छोड़ दी नौकरी और जलाई कंपनी की टी-शर्ट

Muzaffarpur Now

Published

on

लोगों के घरों तक भोजन पहुंचाने वाली ऐप आधारित कंपनी जोमैटो के कुछ कर्मचारियों ने गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हिंसक झड़प में 20 भारतीय सैनिकों के शहीद होने पर, चीन के खिलाफ विरोध जताते हुए कोलकाता में कंपनी के टी-शर्ट फाड़े और जलाए।

Ladakh stand-off: Zomato employees burn company T-shirts in ...

बेहाला में प्रदर्शन के दौरान उसमें शामिल कुछ लोगों ने दावा किया कि उन्होंने जोमैटो की नौकरी छोड़ दी है क्योंकि इसमें चीन का निवेश है। साथ ही, उन्होंने लोगों से जोमैटो के जरिये भोजन का ऑर्डर नहीं करने का अनुरोध किया।

गौरतलब है कि चीन की कंपनी अलीबाबा से जुडे एंट फाइनेंशियल ने 2018 में जोमैटो में 21 करोड़ डॉलर का निवेश कर उसकी 14.7 प्रतिशत साझेदारी (शेयर) खरीद ली थी। जोमैटो ने हाल ही में एंट फाइनेंशियल से 15 करोड़ डॉलर की राशि फिर से जुटायी है।

प्रदर्शन में शामिल एक व्यक्ति ने कहा, ‘चीनी कंपनियां यहां से मुनाफा कमा रही हैं और हमारे सैनिकों पर हमले कर रही हैं। वे हमारी भूमि हथियाना चाहती हैं। ऐसा नहीं होने दे सकते।’

गौरतलब है कि मई में जोमैटो ने अपने 13 प्रतिशत कर्मचारियों, 520 लोगों को कोविड-19 महामारी का हवाला देकर नौकरी से निकाल दिया था। जोमैटो से इस संबंध में तत्काल कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है। और नाही इस बारे में कोई जानकारी मिली है कि प्रदर्शन करने वाले लोग कहीं नौकरी से निकाले गए कर्मचारी तो नहीं हैं।

Input : Hindustan

Continue Reading

INDIA

चीन को सबक सिखाएगा भारत, पूर्वी लद्दाख में तैनात किया वायु रक्षा मिसाइल सिस्टम

Muzaffarpur Now

Published

on

भारत-चीन (India China) के बीच बढ़ते सीमा विवाद को देखते हुए सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे दो दिन से लद्दाख में थे. सेना प्रमुख के लद्दाख (Ladakh) दौरे के महज एक दिन बाद वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line of Actual Control, एलएसी) पर चीनी लड़ाकू विमान और हेलीकॉप्टर की बढ़ती गतिविधियों के बीच भारतीय सशस्त्र बलों ने वायु रक्षा मिसाइल सिस्टम (Air defense missile system) को सीमा पर तैनात किया है. सरकारी सूत्रों के अनुसार, पूर्वी लद्दाख सेक्टर में चल रहे बिल्ड-अप के हिस्से के रूप में भारतीय थल सेना और भारतीय वायु सेना दोनों की वायु रक्षा प्रणालियों को चीनी वायु सेना के लड़ाकू जेट या पीपुल्स लिबरेशन आर्मी हेलीकॉप्टरों द्वारा किसी भी दुस्साहस को रोकने के लिए लद्दाख सेक्टर में इसे तैनात किया गया है.

Foreign nations have shown interest in Akash missile: DRDO

पिछले कुछ हफ्तों में, चीनी बलों के सुखोई-30 जैसे विमान को भारतीय सीमा से महज 10 किलोमीटर दूर उड़ते देखा गया है. सूत्रों ने कहा कि भारत बहुत जल्द अत्यधिक सक्षम वायु रक्षा प्रणाली प्राप्त करने वाला है, जिसे एलएसी पर तैनात किया जा सकता है. सूत्रों का कहना है कि एलएसी पर इन विमानों की तैनाती का अर्थ पूरे क्षेत्र का ध्यान रखना है.

Akash missile test fired successfully - Current Affairs Today

इन क्षेत्रों में उड़ान भर रहे हैं चीनी हेलीकॉप्टर

सूत्रों का कहना है कि चीनी हेलीकॉप्टर सब सेक्टर नॉर्थ (दौलत बेग ओल्डी सेक्टर), गलवान घाटी के पास पेट्रोलिंग पॉइंट 14, पेट्रोलिंग पॉइंट 15, पेट्रोलिंग पॉइंट 17 और 17 ए (हॉट) सहित सभी विवादित क्षेत्रों में भारतीय एलएसी के बहुत करीब से उड़ान भर रहे हैं. पैंगोंग सो और फिंगर क्षेत्र के साथ स्प्रिंग्स क्षेत्र. जहां वे अब फिंगर 3 क्षेत्र के करीब जा रहे हैं.

चीन की इन गतिविधियों को ध्यान में रखते हुए भारत ने एयर डिफेंस मिसाइल को सीमा पर तैनात करने का फैसला लिया है. इसके लिए हवा में बहुत तेज चलने वाले लड़ाकू विमान, ड्रोन को उतारा जा सकता है. उच्च पहाड़ी क्षेत्र में यह मिसाइल पूरी तरह से काम कर सके इसके लिए इसमें कई तरह के संशोधन किए गए हैं. इसके साथ ही भारतीय वायु सेना के लड़ाकू विमान पूर्वी लद्दाख में काफी सक्रिय हैं. सीमा क्षेत्र में चीन की तरफ से किसी भी तरह की गतिविधि को सही समय पर रोका जा सके इसके लिए पूरी निगरानी की जा रही है.

Input : News18

Continue Reading
BIHAR2 hours ago

बिहार में हाई अलर्ट, तालिबान और जैश के आतंकी देश में कर सकते हैं घुसपैठ

OMG5 hours ago

शादी के 9 साल बाद महिला को पता चला कि वह ‘पुरुष’ है, पति की काउंसिलिंग शुरू

BIHAR8 hours ago

नीतीश सरकार के मंत्री को हुआ कोरोना, मंत्री विनोद सिंह की रिपोर्ट पॉजिटिव

BIHAR8 hours ago

वैशाली में में अवैध आर्म्स फैक्ट्री का खुलासा, पुलिस ने 4 हथियार तस्करों की भी दबोचा

BIHAR9 hours ago

सुशांत सिंह राजपूत के घर पहुंचे नाना पाटेकर, परिवार वालों से मिलकर हुए भावुक

INDIA10 hours ago

TikTok ने अपनी सोशल मीडिया की प्रोफाइल फोटो में लगाया भारत का झंडा, भड़के यूज़र्स ने लिखा- ‘RIP’

TRENDING10 hours ago

चिकेन की जगह प्लेन बिरयानी ले आया पति, गुस्से में पत्नी ने कर लिया आत्मदाह!

BIHAR14 hours ago

…सर जेल जाने के लिए करते हैं चोरी, वहां मुर्गा, मछली और पनीर फ्री में खाने को मिलता है

Muzaffarpur Junction
MUZAFFARPUR14 hours ago

समस्तीपुर से सिवान के बीच पैसेंजर के बदले चलेगी एक्स.

MUZAFFARPUR14 hours ago

इस वर्ष नहीं लगेगा श्रावणी मेला, सावन से पहले बंद हो जाएगा बाबा गरीबनाथ का पट

INDIA3 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA2 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR2 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR3 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA6 days ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA2 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending