Connect with us
leaderboard image

RELIGION

आज है विजया एकादशी, पढ़ें इस व्रत का महत्व और पूजा का शुभ समय

Muzaffarpur Now

Published

on

ऐसा कहा जाता है कि विजया एकादशी के दिन व्रत करने से व्यक्ति मुश्किल से मुश्किल परिस्थितियों में भी विजय प्राप्त कर सकता है। इस व्रत के बारे में पद्म पुराण और स्कन्द पुराण में भी बताया गया है। कहा जाता है कि इस व्रत को करने से बड़े से बड़े शत्रु से विजय पाई जा सकती है। विजया एकादशी पर रात भर भगवान विष्णु का जागरण करना चाहिए।

विजया एकादशी पर जल और अन्न नहीं लिया जाता। विष परिस्थियों में फल खा सकते हैं और अगर नहीं रह सकते तो जल भी पी सकते हैं। एकादशी के दिन न चावल बनाए जाते हैं और न ही खाए जाते हैं। इस दिन किसी भी गरीब और जरूरतमंद व्यक्ति को भोजन करवाएं।

फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि का प्रारंभ 18 फरवरी दिन मंगलवार को दोपहर 02 बजकर 32 मिनट पर हो रहा है, जो 19 फरवरी दिन बुधवार को दोपहर 03 बजकर 02 मिनट तक रहेगा। एकादशी व्रत बुधवार को रखा जाएगा और पारण अगले दिन सुबह होगा। विजया एकादशी व्रत के पारण का समय गुरुवार को सुबह 06 बजकर 56 मिनट से 09 बजकर 11 मिनट तक है।

RELIGION

काशी में भगवान शिव को मा’स्क पहनाया गया, लोगों से कहा- मूर्ति को छूकर पूजा न करें

Santosh Chaudhary

Published

on

वाराणसी. देश में को’रोनावा’यरस के मा’मले सामने आने के बाद जहां लोगों से सभी एह’तियातन उ’पाय करने की सलाह दी जा रही है, वहीं वाराणसी के एक मंदिर में पुजारी ने भगवान शिव को मा’स्क पहना दिया है। लोगों से उन्हें न छूने (स्पर्श) की अपील की गई है।

कोरोनावायरस के खौफ से मंदिर में पुजारी और भक्त मास्क पहनकर पूजा करने पहुंच रहे हैं।

यहां के पहलादेश्वर महादेव मंदिर के पुजारी कृष्णा आनंद पांडे ने बताया कि कोरोनावायरस पूरे देश में फैल रहा है। लोगों को जागरूक करने के लिए हमने भगवान शिव को मास्क पहनाया है। यह ठीक वैसे ही है जैसे गर्मी में हम मंदिर में एसी लगाते हैं और सर्दी में भगवान को कपड़े पहना देते हैं। उन्होंने कहा कि हमने लोगों से शिव की प्रतिमा को नहीं छूने की अपील की है। अगर कई लोग इस प्रतिमा को छुएंगे तो वायरस फैलने की संभावना बढ़ जाएगी। मंदिर में कई लोग मास्क पहनकर पूजा करते देखे जा सकते हैं।

दुबई से लौटे पुणे के दो व्यक्तियों में संक्रमण पाया गया

देश में सोमवार तक कोरोनावायरस से संक्रमण के कुल 47 मामले सामने आए हैं। देर रात दुबई से लौटे पुणे के दो व्यक्तियों में संक्रमण पाया गया। दोनों को पुणे के नायडू अस्पताल में भर्ती कराया गया है। इससे पहले अमेरिका से लौटा युवक कर्नाटक में और इटली से लौटा युवक पंजाब में संक्रमित पाया गया था। संक्रमण की जांच के लिए देशभर में 52 लैब बनाई गई हैं। इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) ने स्वास्थ्य और शोध विभाग के साथ मिलकर ये लैब बनाई हैं। आईसीएमआर के मुताबिक, दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज समेत देश के अलग-अलग स्थानों पर वायरस रिसर्च एंड डॉयग्नॉस्टिक लैब (वीआरडी) नमूने एकत्रित कर रही हैं। 6 मार्च तक 3,404 लोगों के 4,058 सैंपल की जांच की जा चुकी है। इनमें चीन के वुहान शहर से लाए गए 654 लोगों के 1,308 सैंपल भी शामिल हैं।

Continue Reading

RELIGION

मथुरा-वृंदावन घूम आएं, आध्यात्मिक सुकून तो मिलेगा ही, लौटेंगे तो खुद को तरोताजा महसूस करेंगे

Md Sameer Hussain

Published

on

भगवान कृष्ण का मथुरा और वृंदावन से गहरा नाता रहा है। मथुरा में भगवान कृष्ण का जन्मस्थल है तो वहीं बरसाना में राधारानी का जन्म हुआ था। वृंदावन के कण-कण में कृष्ण और राधा का प्रेम बसा हुआ है। यहां की यात्रा करने से आध्यात्मिक सुकून तो मिलता ही है, लोग खुद को पॉजिटिव एनर्जी से भरा हुआ भी महसूस करते हैं।

प्रेम मंदिर पर उमड़ी भक्तों की भीड़(File Photo)

मथुरा और वृंदावन आध्यात्मिक स्थल होने के साथ-साथ देसी और विदेशी पर्यटकों को भी खूब आकर्षित करता है। यहां के प्राचीन मंदिर और यहां की संस्कृति अमूल्य धरोहर हैं। यहां के प्रमुख मंदिरों में गोविन्द देव मंदिर, रंगजी मंदिर, द्वारकाधीश मंदिर, बांकेबिहारी मंदिर और इस्कॉन मंदिर। वहीं मथुरा जिला में भगवान कृष्ण जन्मस्थान, गोकुल, बरसाना और गोवर्धन जैसे पवित्र स्थान हैं।

भगवान कृष्ण का जन्म मथुरा में हुआ था, लेकिन उनका पालन गोकुल में हुआ था। यशोदा ने श्रीकृष्ण का पालन उनके मामा कंस की नजर से दूर चोरी छिपे किया गया था। श्रीकृष्ण की सहचरी राधारानी बरसाना में रहती थीं, जहां आज भी होली के अवसर पर लट्ठमार होली धूम धाम से खेली जाती है। गोवर्धन में श्रीकृष्ण ने स्थानीय निवासियों को वर्षा के देवता इंद्र के प्रकोप से बचाने के लिए गोवर्धन पर्वत को अपनी ऊंगली पर उठा लिया था।

मथुरा जिला में भगवान कृष्ण से जुड़े दर्शनीय स्थल

कृष्ण जन्मस्थान मंदिर, कंस का किला, बरसाना, गोकुल नंदगांव (नंदग्राम), विश्राम घाट, द्वारकाधीश मंदिर, मथुरा का संग्रहालय
वृंदावन के दर्शनीय स्थल
मदन मोहन मंदिर, बांके बिहारी मंदिर, श्री राधा रमण मंदिर, रंगाजी मंदिर, गोविंद देव मंदिर, इस्कॉन मंदिर

खान-पान के लिहाज से भी शानदार है मथुरा और वृंदावन

मथुरा में आपको समोसा-कचोरी, पूरी-आलू, जलेबी, खामन, ढोकला, पोहे, टमाटर चाट, दूध से बने पकवान, लस्सी, पेड़ा, खोया मिठाई, सोएं पापड़ी और घेवर जैसे लजीज व्यंजन खाने को मिलेंगे तो वहीं वृंदावन के पेड़े, लस्सी और चाट का स्वाद आप कभी नहीं भूलेंगे।

कैसे पहुंचें मथुरा

मथुरा उत्तर प्रदेश का एक प्रमुख शहर है। यह देश के प्रमुख शहरों दिल्ली, आगरा, मुंबई, जयपुर, ग्वालियर, हैदराबाद, चेन्नै, लखनऊ और अन्य स्टेशनों से रेल मार्ग से जुड़ा हुआ है। मथुरा जंक्शन और मथुरा कैंट प्रमुख रेलवे स्टेशन है। वहीं आप सड़क मार्ग से भी नेशनल हाइवे के जरिए यहां पहुंच सकते हैं।

Input : Amar Ujala

Continue Reading

INDIA

राजस्थान के सीकर में होली पर लगता है प्रसिद्ध खाटूश्यामजी का मेला

Santosh Chaudhary

Published

on

राजस्थान में सीकर जिले के खाटू में खाटूश्यामजी के फाल्गुन मेले में राजस्थान ही नहीं, दुनियाभर से लाखों श्रद्धालु आते हैं। खाटूश्यामजी का मेला पूरे विश्व में विख्यात है। खाटू मंदिर में पाण्डव महाबली भीम के पौत्र और घटोत्कच के पुत्र वीर बर्बरीक का शीश विग्रह रूप में विराजमान है। बर्बरीकजी को उनकी अतुलनीय वीरता एवं त्याग के कारण भगवान श्री कृष्ण से वरदान मिला था कि कलियुग में बर्बरीक स्वयम् श्री कृष्ण के नाम एवं स्वरूप में पूजे जाएंगे। इसलिए बर्बरीक श्री श्याम बाबा के रूप में खाटू धाम में पूजे जाते हैं। बर्बरीक जी का शीश फाल्गुन शुक्ल एकादशी को प्रकट हुआ था, लिहाजा इस उपलक्ष्य में फाल्गुन मास में शुक्ल पक्ष की दशमी से द्वादशी तक यहां विशाल मेला लगता है, जिसमें विश्वभर से लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए आते है । यह मेला फाल्गुन शुक्ल दशमी से द्वादशी तक तीन दिनों तक चलता है एवं यह होली से कुछ समय पूर्व ही लगता है। श्याम बाबा की महिमा का गुणगान पुरे विश्व में होता है।

Image result for सीकर में होली खाटूश्यामजी का मेला

मेले के दौरान लाखों श्रद्धालु श्रीश्याम प्रभु को अपनी विनयांजलि देने के लिए एकत्र होते हैं। भक्तों के बड़े-बड़े दल पदयात्रा करते श्री श्याम प्रभु के गीत एवं जयकारे लगाते खाटू की ओर उमड़े आते हैं। इस यात्रा को ‘निशान यात्रा’ भी कहा जाता है। मेले के दौरान लाखों भक्त्त श्री श्याम को निशान (ध्वज) अर्पित करते हैं। कहा जाता है कि श्री श्याम को निशान अर्पित करने से श्याम हमारी सभी मनोकामनाएँ पूर्ण करते हैं। भक्त श्री श्याम के उपनामों के उल्लेख से उनका महिमा का वर्णन एवं उनके प्रति अपनी आस्था व्यक्त करते चलते हैं।

Image result for सीकर में होली खाटूश्यामजी का मेला

मेले के समय श्रद्धालु श्याम कुण्ड में डुबकी भी लगते लगाते हैं। श्याम कुण्ड वही स्थान है, जहां श्री श्याम का शालिग्राम विग्रह प्राप्त हुआ था। कहते हैं की श्याम कुण्ड के जल में आरोग्य कारक और पापों का नाश कर देने की शक्ति है। अत: इसे बहुत पवित्र माना जाता है। श्याम मेले के दौरान इसका महत्व और भी बढ़ जाता है। इसलिए मेले के तीनों दिनों में प्रतिदिन लाखों लोग खाटू आते हैं और श्याम कुण्ड में डुबकी लगते है। श्रद्धालु श्री श्याम की एक अनमोल झलक पाने के लिए घण्टों मंदिर के बाहर पंक्तियों में लगे रहते हैं और श्याम नाम का गुणगान करते रहते हैं।

Image result for सीकर खाटूश्यामजी का मेला

इस दौरान खाटू में भक्तों के भोजन के लिये व्यवस्था बड़े स्तर पर की जाती है और खाटू आने वाले सभी यातायात के साधन बढ़ा दिए जाते हैं। यह मेला समाज में न केवल धार्मिक एकता का प्रतीक है, लेकिन यह समाज में शक्ति, एकता एवं उत्साह को भी दशार्ता है।

Continue Reading
BIHAR9 mins ago

कोरोना से जंग: बोधगया मंदिर प्रबन्ध समिति ने पीड़ितों की मदद में लिए दिए एक करोड़ रुपये

INDIA37 mins ago

COVID-19: पीएम केयर फंड में पीयूष गोयल और रेलवे कर्मचा​री मिलकर देंगे 151 करोड़ रुपये

INDIA44 mins ago

Be A SuperHero & Defeat Corona in ‘Lockdown’ Style

WORLD58 mins ago

अमेरिका में एक दिन में सामने आए कोरोना के 19000 नए केस, ट्रंप का लॉकडाउन से इनकार

INDIA2 hours ago

कोरोना लॉकडाउन: घर के लिए पैदल ही निकल पड़ा शख्स, 200 किलोमीटर चलने के बाद हुई मौत

INDIA2 hours ago

लॉकडाउन से हुई कठिनाई के लिए माफी, लेकिन कोई और रास्ता नहीं : मन की बात में पीएम मोदी की कही 10 खास बातें

INDIA4 hours ago

देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा बढ़कर पहुंचा 1029

MUZAFFARPUR4 hours ago

लॉकडाउन : पति-बच्चे घर में, बढ़ा महिलाओं पे दैनिक कार्यों का बोझ

BIHAR5 hours ago

बिहार में 2 और लोग संक्रमित, 11 हुई कोरोना पॉजिटिव की संख्या

BIHAR5 hours ago

दुनियाभर में फेमस है नालंदा का शीतला माता मंदिर, चीनी यात्री फाह्यान ने की थी पूजा

BIHAR2 days ago

स्पाइसजेट का सरकार को प्रस्ताव, दिल्ली-मुंबई से बिहार के मजदूरों को ‘घर’ पहुंचाने के लिए हम तैयार

cheating-on-first-day-of-haryana-board-exam
INDIA3 weeks ago

बिहार तो बेवजह बदनाम है… हरियाणा बोर्ड परीक्षा में शिखर पर नकल

INDIA7 days ago

PM मोदी को पटना के बेटे ने दिए 100 करोड़ रुपये, कहा – और देंगे, थाली भी बजाई

INDIA2 days ago

पूरी हुई जनता की डिमांड, कल से दोबारा देख सकेंगे रामानंद सागर की ‘रामायण’

BIHAR2 weeks ago

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

BIHAR2 weeks ago

बिहार में 81 एक्सप्रेस और 32 पैसेंजर ट्रेनें दो सप्ताह के लिए रद्द, देखें लिस्ट

BIHAR4 weeks ago

बड़ी खुशखबरी: बिहार में घरेलू गैस की अब नहीं होगी किल्लत, बांका में नया प्लांट शुरू

BIHAR4 days ago

अब नहीं सचेत हुए बिहार वाले तो, अपनों की लाशें उठाने को रहें तैयार

INDIA3 weeks ago

आज होगी देश की सबसे महंगी शादी, 500 पंडित पढ़ेंगे मंत्र

BIHAR4 days ago

लॉकडाउन के बाद पैदल जयपुर से बिहार के लिए निकले 14 मजदूर, भूखे-प्यासे तीन दिन में जयपुर से आगरा पहुंचे

Trending