Connect with us

HEALTH

आम खाने से पहले जान लें इसके फायदे बेशुमार

Muzaffarpur Now

Published

on

आम खाने के फायदे (Mango Eating Benefits): गर्मियों का मौसम अपने शबाब पर है. इस मौसम की सबसे ख़ास बात है- आम. आम को फलों का राजा कहा जाता है. आम को कई तरीके से खाया और इस्तेमाल किया जाता है. आम को काटकर छीलकर, निचोड़कर, मैंगो शेक और लस्सी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है . फूड हिस्टोरियन केटी आचार्य ने अपनी बुक ‘ए हिस्टोरिकल डिक्शनरी ऑफ इंडियन फूड’ में लिखा है, आम का सबसे पहले उल्लेख ब्राह्मणरायक उपनिषद (c.1000 ईसा पूर्व) में ‘अमरा’ के रूप में मिलता है और थोड़े बाद में शतपथ ब्राह्मण, में आम की खासियतों का जिक्र है. महात्मा बुद्ध को भी आम बहुत पसंद थे. वो आम के बगीचे में ही मेडिटेशन करना पसंद करते थे. ये तो हुईं आम की तारीफ में कुछ बातें लेकिन आह हम आपको एनडीटीवी डॉक्टर के हवाले से आम के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताएंगे जो सेहत के लिहाज से काफी बेहतर हैं…

How to Eat Fresh Mango | Healthy Eating | SF Gate

 

 

विटामिन सी से भरपूर:

आम में विटामिन सी की प्रचुर मात्रा पाई जाती है. इसमें मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट बॉडी की रोग प्रतिरक्षा तंत्र को स्ट्रांग करते हैं जिससे कि सर्दी, जुकाम, बुखार से बचत रहती है.

Mango during pregnancy - Benefit, Side effect, Is it safe to eat

आंखों के लिए है बेहतर:

आम का सेवन आंखों की सेहत के लिए भी काफी बेहतर होता है. आम बीटा-कैरोटीन की प्रचुर मात्रा होती है जो विटामिन ए के उत्पादन में मदद करता है. इसमें पाए जाने वाले स्ट्रांग एंटीऑक्सिडेंट आंखों की रोशनी सुधारने में मददगार हैं.

आम खाने के फायदे

पाचन में मदद करता है:

आम स्वस्थ पाचन में मदद कर सकता है. डीके पब्लिशिंग की किताब ‘हीलिंग फूड्स’ के अनुसार, आम में ऐसे एंजाइम होते हैं जो प्रोटीन के टूटने और पाचन में मदद करते हैं और फाइबर भी होता है, जो पाचन क्रिया को बेहतर बनता है. आहार फाइबर हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह के रिस्क को कम करने में मदद करता है. हरे आम में पके आम की तुलना में अधिक पेक्टिन फाइबर होता है.

Murshidabad mangoes, India Post, Kolkata, Bengal, Murshidabad, West Bengal

HEALTH

ये 5 लक्षण मुंह पर दिखें तो तुरंत करवा लें जांच, हो सकता है कोरोना

Ravi Pratap

Published

on

कोरोना वायरस नाम की महामारी ने पूरे विश्व को अपनी चपेट में ले लिया है। आए दिन बढ़ते संक्रमितों की संख्या लोगों के बीच परेशानी का सबब बनती जा रही है। वैज्ञानिक भी लगातार इस महामारी से बच निकलने के उपाय ढ़ूंढ़ रहे हैं। बावजूद इसके अभी तक कोरोना से निजात पाने में सफलता नहीं मिल पाई है।

कोरोना को खत्म करने के लिए वैज्ञानिक आए दिन नए-नए शोध कर रहे हैं। जिससे कभी लोगों की हैरानी बढ़ती है तो कभी परेशानी। अभी तक कोरोना के बारे में कहा जा रहा था कि यह मुख्य रूप से एक वायरल संक्रामक बीमारी है, जो एक बीमार व्यक्ति के खांसने, छींकने या छूने से एक स्वस्थ व्यक्ति को फैल सकती है। कोरोनावायरस बीमारी के सामान्य लक्षणों में बुखार, खांसी, गले में खराश, कभी-कभी सिरदर्द और थकान शामिल हैं।

हालांकि, दुनिया भर के डॉक्टर और वैज्ञानिक जो COVID-19 रोगियों का इलाज और उनके बारे में अध्ययन कर रहे हैं, वे कोरोनवायरस से संक्रमित लोगों द्वारा प्रदर्शित किए जा रहे नए लक्षणों का भी तेजी से अवलोकन कर रहे हैं। कोरोना फेफड़ों को प्रभावित नहीं करता है बल्कि यह शरीर के अन्य अंगों को भी नुकसान पहुंचा रहा है। कोरोना के कुछ लक्षण मुंह पर भी दिखाई देने शुरू हो गए हैं जिनका आप आसानी से पता लगा सकते हैं।

साल 2021, जनवरी में ऐसा ही एक अलग लक्षण ‘COVID Tongue’ के बारे में शोधकर्ताओं को पता चला है। इसके बारे में लंदन के किंग्स कॉलेज के एक प्रसिद्ध ब्रिटिश महामारी एक्सपर्ट प्रोफेसर टिम स्पेक्टर ने अपने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर करके बताया। प्रोफेसर टिम स्पेक्टर के अनुसार, COVID-19 के असामान्य गंभीर लक्षणों में से एक मुंह में भी विकसित हो सकता है।

NIH अध्ययन के अनुसार, कोरोना के मुंह से जुड़े लक्षण हल्के और गंभीर हो सकते हैं। यह लक्षण उनमें भी दिख सकते हैं जिनमें कोरोना के बाकी लक्षण जैसे खांसी या बुखार नहीं हैं। वैज्ञानिक पत्रिका नेचर मेडिसिन में प्रकाशित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हेल्थ द्वारा किए गए एक नए अध्ययन के अनुसार, कोरोना वायरस के लगभग आधे पीड़ित संक्रमण के दौरान मुंह के लक्षणों से पीड़ित होते हैं।

आइए जानते हैं कोरोना के मुंह से जुड़े उन लक्षणों के बारे में, जिनके दिखते ही आपको तुरंत करवाना चाहिए अपना कोविड टेस्ट।

कोविड टंग-
यह एक वायरल लक्षण है। इसमें कोरोना व्यक्ति की जीभ को प्रभावित करता है। जिसकी वजह से रोगी की जीभ की सतह पर जलन और सूजन महसूस होती है।

जीभ का रंग बदलना-
कोरोना के मरीजों में जीभ का रंग बदलना जैसे लक्षण भी देखे जा रहे हैं। मुंह में जलन और सूजन जीभ को अजीब महसूस करा सकते हैं। इससे मुंह में जलन, होंठ और जीभ में झुनझुनी हो सकती है। यह जीभ के रंग में बदलाव का कारण भी बन सकता है।

जीभ पर सफेद पैच-
कोरोना के मरीजों की जीभ पर सफेद पैच भी देखे जा सकते हैं।

ड्राई होंठ-
कोविड सिम्पटम्स स्टडी ऐप के संयोजन में ब्रिटिश एसोसिएशन ऑफ डर्मेटोलॉजिस्ट के अनुसार, यदि आप कोरोना से संक्रमित हैं, तो आपके होंठ ड्राई dry lips) और पपड़ीनुमा महसूस हो सकते हैं। होठों की यह समस्या मुंह के अंदर तक फैल सकती है, शोधकर्ताओं ने यह चेतावनी दी। कोरोनोवायरस का यह मौखिक संकेत स्किन से संबंधित लक्षणों की एक छोटी सी समस्या है। यूके में अब तक 46 हजार से भी अधिक लोगों की मौत कोरोनावायरस के कारण हो चुकी है।

मुंह के छाले-
कोरोना के कई रोगियों ने अपने जीभ पर आए उभार या छाले को पिंपल्स यानी मुंहासों के समान बताया है। ये छाले, रैश या बम्प्स बिना कुछ खाए पीए भी काफी दर्दनाक हो सकते हैं। हालांकि, यह जरूरी नहीं कि आपको लाई बम्प्स हो गया है, तो आप कोरोनावायरस से संक्रमित हो गए हैं। लाई बम्प्स कई बार अधिक मसालेदार भोजन, खाने से एलर्जी या फिर गलती से जीभ कटने की वजह से भी हो सकता है।

इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज-
हालांकि मुंह और जीभ में देखे गए ये बदलाव अभी कोरोना के सटीक लक्षण नहीं माने जा रहे हैं। कहा जा रहा है कि कोरोना से जुड़े ये लक्षण हर संक्रमित व्यक्ति को प्रभावित करें यह जरूरी नहीं है। लेकिन वायरस के बदलते व्यवहार और मामलों में वृद्धि के साथ, किसी भी लक्षण और अचानक, असामान्य लक्षण को जांचने की जरूरत बताई जा रही है। तो अगर आपको भी इस तरह के लक्षण महसूस हो तो तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Disclaimer- इस आलेख में दी गई जानकारी की सटीकता, समयबद्धता और वास्तविकता सुनिश्चित करने का हर सम्भव प्रयास किया गया है हालांकि इसकी नैतिक जि़म्मेदारी Muzaffarpur Now की नहीं है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्सक से अवश्य संपर्क करें। हमारा उद्देश्य आपको जानकारी मुहैया कराना मात्र है।

Input: Live Hindustan

Continue Reading

HEALTH

लापरवाही: कोरोना वैक्सीन की जगह बुुजुर्ग महिलाओं को लगा दिया रैबिज का इंजेक्शन

Muzaffarpur Now

Published

on

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में तीन वृद्ध महिलाओं को कोरोना वैक्सीन के स्थान पर रैबिज का टीका लगा दिया गया। इसी दौरान एक महिला की हालत बिगड़ने लगी तो लापरवाही उजागर हो गई। इस पर परिजनों ने हंगामा किया। उधर, इस मामले में स्वस्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।

जानकारी के अनुसार गुरुवार को कस्बे के मोहल्ला सरावज्ञान निवासी 70 वर्षीय सरोज पत्नी स्वर्गीय जगदीश नगर के रेलवे मंडी निवासी 72 वर्षीय अनारकली व 60 वर्षीय सत्यवती के साथ ई रिक्शा में बैठकर सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में कोरोना की पहली वैक्सीन डोज लगवाने के लिये पंहुची थी। आरोप है कि जैसे ही महिलायें स्वास्थ्य केन्द्र पर पहुंचीं तो वहां कर्मचारियों ने उन से 10-10 रुपये वाली सिरींज मंगवाकर उन्हें कोरोना का टीका लगाने की बजाय एंटी रैबिज का इंजेक्शन लगाकर घर भेज दिया। आरोप है कि इसी बीच वृद्ध महिला सरोज की हालत बिगड़ गई।

महिला को तेज चक्कर आने के बाद घबराहट शुरू हो गई। परिजनों आनन-फानन में प्राइवेट चिकित्सक के पास वृद्ध महिला को उपचार कराने के लिये ले गए। चिकित्सक को स्वास्थ्य केन्द्र की पर्ची दिखाकर कोरोना वैक्सीन लगवाने का हवाला दिया तो प्राईवेट चिकित्सक स्वास्थ्य केन्द्र पर्ची देखकर हैरान रह गया।

प्राईवेट चिकित्सक ने महिला के परिजनों को बताया कि स्वास्थ्य केन्द्र पर महिला को रैबिज का टीका लगाया गया है। तीनों महिलाओं के परिजनों ने मामले की जांच की तो सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के कर्मचारीयों की लापरवाही की पोल खुल गई। इस पर पीड़िता महिलाओं के परिजनों ने हंगामा करते हुए सीएमओं शामली को मामले के शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की है।

तीन वृद्ध महिलाओं को कोरोना वैक्सीन के स्थान पर रैबिज का टीका लगाये जाने का मामला संज्ञान में आया है। मामले की जांच कर लापरवाह कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।
डा. बिजेन्द्र सिंह- सीएचसी प्रभारी कांधला

Input: Live Hindustan

Continue Reading

HEALTH

कई सालों तक लगाना पड़ सकता है मास्‍क, सोशल डिस्‍टेंसिंग भी जरूरी- विशेषज्ञ

Muzaffarpur Now

Published

on

लंदन. दुनिया भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर लगातार जारी है. कई देशों में इसकी दूसरी लहर का डर बना हुआ है. हालांकि लोगों को कोरोना वैक्‍सीन (Corona Vaccine) दी जा रही है, फिर भी मास्‍क और सोशल डिस्‍टेंसिंग (Social Distancing) को जरूरी बताया जा रहा है. इस बीच इंग्‍लैंड के पब्लिक हेल्‍थ विभाग के टीकाकरण प्रमुख डॉ. रैमसे ने बड़ा दावा किया है. उनका कहना है कि हम लोगों को सोशल डिस्‍टेंसिंग और फेस मास्‍क का इस्‍तेमाल कई सालों तक करते रहना पड़ सकता है.

डॉ. रैमसे का कहना है कि दुनियाभर में लोगों को अब निम्‍न स्‍तर के प्रतिबंधों की आदत हो गई है और अब वे इसके साथ ही रह सकते हैं. अर्थव्‍यवस्‍था भी इन प्रतिबंधों के साथ ही आगे बढ़ सकती है. सरकार को भी किसी भी प्रतिबंध को हटाने से पहले सावधानीपूर्वक देखना होगा.

डॉ. रैमसे ने कहा, ‘ज्यादा दर्शकों वाले इवेंट की अधिक सावधानीपूर्वक निगरानी जरूरी है. साथ ही साफ दिशानिर्देश भी सुरक्षित रखने के लिए आवश्‍यक हैं.’ वहीं अगर भारत की बात करें तो देश के कई राज्‍यों में कोरोना वायरस संक्रमण की स्थिति खराब है. महाराष्‍ट्र, पंजाब, मध्‍य प्रदेश और तमिलनाडु में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए कई अहम कदम उठाए जा रहे हैं.

इनके बीच केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने भी लोगों से कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए जरूरी दिशानिर्देशों का पालन करने की अपील की है. उनका कहना है कि लोग लोग लापरवाही बरतकर कोरोना को किसी कीमत पर नहीं बढ़ने दें. लोग सोशल डिस्‍टेंसिंग और फेस मास्‍क जेसे उपायों का पालन करना चाहिए.

Source : News18

Continue Reading
BIHAR3 mins ago

बिहार में कोरोना की रफ्तार बढ़ने का खतरा, स्टेशन पर जांच से बचने को यूं भाग रहे हैं महाराष्ट्र से आने वाले लोग

BIHAR9 mins ago

नहाय-खाय के साथ चार दिवसीय चैती छठ महापर्व आरंभ, खरना आज

BIHAR19 mins ago

बिहार में कोरोना की भयावह स्थिति को लेकर उपजे हालात को लेकर राज्यपाल आज करेंगे सर्वदलीय बैठक

BIHAR34 mins ago

लापरवाही: बिहार में पुलिसिया रौब दिखाकर पान की गुमटी चलाता रहा कोरोना पॉजिटिव, संक्रमण चेन बनने का बढ़ा खतरा

BIHAR52 mins ago

बिहार में 3.82 फीसदी की औसत दर से बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण, टॉप 4 जिलों में ही 56 फीसदी केस

BIHAR56 mins ago

बिहार में 16 मई तक सभी म्यूजिम, स्टेडियम और पुरातत्विक स्थल बंद, जिम, स्विमिंग पूल, स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स भी नहीं खुलेंगे

BIHAR1 hour ago

बिहार में लॉकडाउन लगना तय? सीएम नीतीश बोले- जो लोग दूसरे राज्यों से वापस आना चाहते हैं, वे जरूर आयें, 18 को बड़ा एलान!

MUZAFFARPUR1 hour ago

कोरोना के बीच चमकी का कहर शुरू, मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच में एक बच्ची ने तोड़ा दम

MUZAFFARPUR1 hour ago

पताही हवाई अड्डे में फिर कोविड अस्पताल खोलने की मांग

DHARM2 hours ago

दुल्हन की तरह सजा मां वैष्णो का दरबार, जयकारों से गूंज रहा त्रिकुटा पर्वत

BIHAR4 weeks ago

अलर्ट! बिहार में वैक्सीन लेने के बावजूद आंगनबाड़ी सेविका कोरोना पीड़ित, पटना एम्स में तोड़ा दम

VIRAL4 weeks ago

पबजी खेलते हुआ था प्यार, हिमाचल से वाराणसी पहुंची महिला, युवक निकला कक्षा 2 का छात्र

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर में नौ जगहों पर बनेगा माइक्रो कंटेनमेंट जोन, इसमें कहीं आपका इलाका तो नहीं

HEALTH7 days ago

ये 5 लक्षण मुंह पर दिखें तो तुरंत करवा लें जांच, हो सकता है कोरोना

INDIA3 weeks ago

ये 4 बैंक जल्द ही सरकारी से प्राइवेट हो सकते हैं! करोड़ों ग्राहकों पर क्या होगा असर?

BIHAR4 weeks ago

दरभंगा एयरपोर्ट पर जादूगर का साया, एक व‍िमान फ‍िर गायब

INDIA4 weeks ago

होली पर अपने घर जाने वाले यात्रियों को बड़ा झटका, रेलवे ने कैंसिल कर दी कई ट्रेनें

TRENDING3 weeks ago

मिट्टी का तेल सिर पर छिड़ककर बाल सीधे करने के प्रयास में लड़के की मौत

TRENDING3 weeks ago

‘प्रदूषण का पुरुषों के प्राइवेट पार्ट पर पड़ रहा बुरा असर’, दीया मिर्जा ने ऐसे किया रिएक्ट

BIHAR4 weeks ago

बिहार के स्कूल में कोरोना की दस्तक, छठी कक्षा का छात्र निकला पॉजिटिव

Trending