Connect with us

HEALTH

आम खाने से पहले जान लें इसके फायदे बेशुमार

Published

on

आम खाने के फायदे (Mango Eating Benefits): गर्मियों का मौसम अपने शबाब पर है. इस मौसम की सबसे ख़ास बात है- आम. आम को फलों का राजा कहा जाता है. आम को कई तरीके से खाया और इस्तेमाल किया जाता है. आम को काटकर छीलकर, निचोड़कर, मैंगो शेक और लस्सी के रूप में इस्तेमाल किया जाता है . फूड हिस्टोरियन केटी आचार्य ने अपनी बुक ‘ए हिस्टोरिकल डिक्शनरी ऑफ इंडियन फूड’ में लिखा है, आम का सबसे पहले उल्लेख ब्राह्मणरायक उपनिषद (c.1000 ईसा पूर्व) में ‘अमरा’ के रूप में मिलता है और थोड़े बाद में शतपथ ब्राह्मण, में आम की खासियतों का जिक्र है. महात्मा बुद्ध को भी आम बहुत पसंद थे. वो आम के बगीचे में ही मेडिटेशन करना पसंद करते थे. ये तो हुईं आम की तारीफ में कुछ बातें लेकिन आह हम आपको एनडीटीवी डॉक्टर के हवाले से आम के कुछ ऐसे फायदों के बारे में बताएंगे जो सेहत के लिहाज से काफी बेहतर हैं…

How to Eat Fresh Mango | Healthy Eating | SF Gate

 

Advertisement

 

विटामिन सी से भरपूर:

Advertisement

आम में विटामिन सी की प्रचुर मात्रा पाई जाती है. इसमें मौजूद शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट बॉडी की रोग प्रतिरक्षा तंत्र को स्ट्रांग करते हैं जिससे कि सर्दी, जुकाम, बुखार से बचत रहती है.

Mango during pregnancy - Benefit, Side effect, Is it safe to eat

आंखों के लिए है बेहतर:

Advertisement

आम का सेवन आंखों की सेहत के लिए भी काफी बेहतर होता है. आम बीटा-कैरोटीन की प्रचुर मात्रा होती है जो विटामिन ए के उत्पादन में मदद करता है. इसमें पाए जाने वाले स्ट्रांग एंटीऑक्सिडेंट आंखों की रोशनी सुधारने में मददगार हैं.

आम खाने के फायदे

पाचन में मदद करता है:

Advertisement

आम स्वस्थ पाचन में मदद कर सकता है. डीके पब्लिशिंग की किताब ‘हीलिंग फूड्स’ के अनुसार, आम में ऐसे एंजाइम होते हैं जो प्रोटीन के टूटने और पाचन में मदद करते हैं और फाइबर भी होता है, जो पाचन क्रिया को बेहतर बनता है. आहार फाइबर हृदय रोग, टाइप 2 मधुमेह के रिस्क को कम करने में मदद करता है. हरे आम में पके आम की तुलना में अधिक पेक्टिन फाइबर होता है.

Murshidabad mangoes, India Post, Kolkata, Bengal, Murshidabad, West Bengal

Advertisement

HEALTH

पोषक तत्वों से भरपूर होती है अंकुरित मूंग, घर में इस तरीके से कर सकते हैं तैयार

Published

on

मूंग की दाल सेहत से भरपूर फूड है. वहीं जब बात मूंग स्प्राउ्टस की हो तो शरीर के लिए ये और भी ज्यादा फायदेमंद हो जाती है. अगर आप रोजाना मूंग स्प्राउट्स का सेवन करते हैं तो शरीर पर इसका असर साफ देखा जा सकता है. अंकुरित मूंग पोषक तत्वों से भरपूर होती है. यही वजह है कि सब ब्रेकफास्ट के तौर पर इसका प्रयोग करने की सलाह देते हैं. सामान्य तौर पर हम बाजार में मिलने वाली स्प्राउट्स का सेवन करते हैं क्योंकि यह आसानी से उपलब्ध हो जाती है. वहीं दूसरी ओर हम घर में इसे तैयार करने के झंझट से बचना चाहते हैं. हम आपको बता दें कि बाजार में मिलने वाली स्प्राउट्स और घर में तैयार होने वाली स्प्राउट्स में क्वालिटी का बड़ा अंतर देखा जा सकता है.

घर में स्प्राउट्स तैयार करना भी उतना कठिन नहीं है जितना हमें लगता है. हम आज आपको मूंग स्प्राउट्स बनाने का तरीका बताने जा रहे हैं. इसे फॉलो कर आप आसानी से घर में ही अंकुरित मूंग को तैयार कर सकेंगे. यह बाजार में मिलने वाली अंकुरित मूंग की तुलना में बेहद सस्ता और अच्छा मिल सकेगा.

Advertisement

Haldiram Bhujiawala, Muzaffarpur - Restaurant

इस तरह तैयार करें अंकुरित मूंग

अंकुरित मूंग तैयार करने के लिए सबसे पहले खड़े मूंग के दानें लें. यह ध्यान रखें कि दानें अच्छी क्वालिटी के होने चाहिए. अब इस खड़ी मूंग को एक गहरे बर्तन में गलाकर कम से कम 6 से 8 घंटे के लिए रख दें. ध्यान रखें कि मूंग पानी में पूरी तरह से डूबे होने चाहिए. इसके बाद मूंग को पानी में से निकाल दें और भीगे हुए मूंग को एक मलमल के कपड़े पर रख दें. अब कपड़े को मोड़ दें और उस पर थोड़ा सा पानी छि़ड़क दें. इसके बाद इसे लगभग 12 घंटे के लिए किसी गर्म जगह पर रख दें. इस तरह मूंग अंकुरित हो जाएंगे.
अगर आपके पास अंकुरित मूंग तैयार करने के लिए घर में मलमल का कपड़ा नहीं है तो आप एक छलनी लें और उसमें भिगोए हुए और सूखे स्प्राउट्स को रख सकते हैं. इसे भी लगभग 12 घंटे के लिए गर्म स्थान पर रखना होगा, इस तरह से अंकरित मूंग तैयार करने के लिए बीच में कम से कम दो बार पानी छिड़कना पड़ता है और मूंग को फैलाना पड़ता है. इस विधि से भी अंकुरित मूंग को बनाया जा सकता है.

Advertisement

hondwing in Muzaffarpur

ऐसे करें अंकुरित मूंग का प्रयोग

अंकुरित मूंग तैयार होने के बाद इसका प्रयोग आप दो तरीकों से कर सकते हैं. अगर आप इसमें मौजूद पोषक तत्वों का पूरी तरह से फायदा लेना चाहते हैं तो इसमें पिसा जीरा, काली मिर्च, नींबू का रस मिलाकर कच्चा भी खा सकते हैं, वहीं अगर आप थोड़ा टेस्ट बनाना चाहते हैं तो थोड़े से तेल में मिलाकर इसे फ्राई कर भी खाया जा सकता है.

Advertisement

Source : News18

(मुजफ्फरपुर नाउ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Advertisement

Continue Reading

HEALTH

सर्दियों में मूली खाने के हैं कई जबरदस्त फायदे, रखती है इन 6 समस्‍याओं से दूर

Published

on

सर्दी के मौसम में कई सारी बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है. ऐसे में अगर आपको सिजनल बीमारियों से बचना है और अपने इम्युन सिस्टम को मजबूत रखना बहुत ही जरूरी है. ऐसे में मूली का सेवन कर आप कई सिजनल बीमारियों से बच सकते हैं. वेमएमडीके मुताबिक, मूली में भरपूर मात्रा में विटामिन सी, रिबोफ्लेविन, नियासिन, विटामिन बी6, फोलेट, पोटैशियम, आयरन, मैग्‍नीज, फाइबर, शुगर पाया जाता है. जिस वजह से विंटर में मूली का सेवन आपकी सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है. मूली में कैल्शियम और पोटैशियम हार्ट डिजीज की समस्‍याओं को दूर रखने में काफी फायदेमंद है. तो आइए जानते हैं कि मूली आपकी सेहत के लिए कितना फायदेमंद हैं.

Mooli Ke Fayde: सर्दी-खांसी को दूर रखने के साथ ही बीपी कंट्रोल करती है मूली - Health benefits of radish - Navbharat Times Photogallery

मूली के फायदे

Advertisement

1.डायबिटीज रखे दूर

मूली में कई ऐसे कैमिकल कॉम्‍पेनेंट होते हैं जो ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने में सहायक हैं और इंशुलिन लेवन को बैलेंस रखने में मदद करता है. यही नहीं, मूली में कई ऐसे एन्‍जाइम भी होते हैं जो डाइबिटीज के फॉरमेशन को ब्‍लॉक करना है.

Advertisement

Red Radish farming - लाल मूली की खेती से लाखों कमाएँ - Kheti Kisani ◊ खेती किसानी ‖ खेती किसानी जानकारी ‖ Latest Kheti Kisani News in Hindi - खेती किसानी समाचार

2.पेट के लिए फायदेमंद

मूली में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है जो पाचन तंत्र को ठीक करने में मदद करता है और पेट संबंधी अधिकतर बीमारियों को दूर करता है. अगर आप रोज मूली को सलाद के रूप में खाएं तो आपको कब्‍ज की समस्‍या कभी नही होगी.

Advertisement

3.इम्युनिटी बनाए स्‍ट्रॉन्‍ग

मूली में कई तरह के एंटीऑक्‍सीडेंट और एंथोसायनिन पाये जाते हैं जो शरीर की इम्‍यूनिटी को बढाने में मदद करता है. मूली में विटामिन ए, सी, ई, बी 6, पोटैशियम समेत कई अन्य पोषक तत्व भी होते हैं जो इम्‍युनिटी बढाने में काफी फायदेमंद हैं.

Advertisement

4.स्किन डिजीज की समस्‍या रहती है दूर

मूली में मौजूद फॉस्फोरस और जिंक ठंड में ड्राई स्किन को नरिश करने का काम करता है और मुंहासे, चेहरे पर होने वाले लाल चकत्ते, अलर्जी आदि को दूर रखने में मदद करता है.

Advertisement

5.बॉडी रखता है हाइड्रेट

शरीर में पानी की कमी को दूर करने के लिए अगर मूली का सेवन किया जाए तो इससे शरीर में डीहाइड्रेशन की समस्‍या नहीं होती और शरीर को प्राकृतिक रूप से हाइड्रेट रखने में मदद मिलता है.

Advertisement

6.ब्लड प्रेशर रखे ठीक

शरीर में सोडियम और पोटैशियम के संतुलन को ठीक रखने में भी मूली मदद करती है. बता दें कि शरीर में सोडियम की मात्रा बढ़ने से हाई ब्लड प्रेशर की समस्‍या हो सकती है.

Advertisement

(मुजफ्फरपुर नाउ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Haldiram Bhujiawala, Muzaffarpur - Restaurant

KRISHNA-HONA-MUZAFFARPUR

Advertisement
Continue Reading

HEALTH

सर्दी-खांसी से लेकर ऑर्थराइटिस के दर्द को भी ठीक करता है पारिजात-हरसिंगार

Published

on

आयुर्वेद के अनुसार पारिजात या हरसिंगार एक औषधीय पौधा है. इसके पत्ते में कई गुण मौजूद होते हैं. भारत में इस पौधे को पवित्र माना जाता है. मान्यता के अनुसार पारिजात पौधे को देवराज इंद्र ने स्वर्ग में लगाया था. पारिजात का दूसरा नाम हरसिंगार है. हरसिंगार के फूल बेहद सुगन्धित, छोटे पखुड़ियों वाले और सफेद रंग के होते हैं. फूल के बीच में चमकीला नारंगी रंग इसकी खूबसूरती को और बढ़ा देता है. यह फूल सिर्फ रात को ही खिलता है, इसलिए इसे नाइट ब्लूमिंग जैस्मीन भी कहते हैं. इसे रात की रानी भी बोला जाता है. इस पौधे के पत्ते, फूल और छाल में कई गुण पाए जाते हैं. इससे साइटिका और ऑर्थराइटिस के दर्द को ठीक किया जा सकता है. इसके अलावा इसके पत्ते में पेट के कीड़ों की मारने की क्षमता होती है. साथ ही इसके पत्ते सर्दी-खांसी में बेहद फायदेमंद होते हैं. एचटी की खबर के मुताबिक पारिजात में एंटीऑक्सीडेंट्स, एंटी-इंफ्लामेटरी और एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं, जो कई बीमारियों से लड़ने में मददगार होते हैं. तो आइए जानते हैं पारिजात से किस-किस चीज का इलाज किया जा सकता है.

पारिजात के फायदे

Advertisement

साइटिका के दर्द का इलाज

पारिजात के पत्ते को पीसकर इसे गर्म पानी के साथ उबालें. इसके बाद इसे छानकर पी लें. दिन में दो बार खाली पेट इसे पीने से साइटिका का दर्द खत्म हो सकता है.

Advertisement

सर्दी-खांसी में राहत

पारिजात के पत्ते को पीस लें और इसमें शहद मिलाकर इसे खाएं. आप चाहें तो पारिजात के पत्ते को पीसकर इसे छान लें और शहद में मिलाकर जूस की तरह बना लें. दिन में दो बार इसका सेवन करें. सूखी खांसी खत्म हो जाएगी. सर्दी-खांसी के लिए आप इसे चाय की तरह बनाकर पी सकते हैं. पारिजात के पत्ते को पानी के साथ उबालें. इसमें कुछ तुलसी के पत्ते भी दे दें. इसे रोजाना पीएं, सर्दी-खांसी दूर हो जाएगी.

Advertisement

Haldiram Bhujiawala, Muzaffarpur - Restaurant

ऑर्थराइटिस के दर्द में कारगर

पारिजात के पत्ते, छाल और फूल तीनों को एक साथ लें. 5 ग्राम इन सामग्रियों में 200 ग्राम पानी मिलाएं. इसका काढ़ा बनाएं. इसे आग पर तब तक रखें, जब तक कि पानी का दो तिहाई भाग सूख न जाए. सिर्फ एक चौथाई पानी ही बचना चाहिए. अब इसका सेवन करें.

Advertisement

सूजन और दर्द में राहत

पारिजात के पत्ते को पानी में उबाल कर काढ़ा बनाएं, इसका दो बार सेवन करें. सूजन खत्म हो जाएगी और इससे हो रहे दर्द से भी राहत मिलेगी.

Advertisement

पेट के कीड़ों से निजात दिलाते हैं इसके पत्ते

पेट में किसी भी तरह के कीड़े को मारने में पारिजात के पत्ते बेहद कारगर होते हैं. इसके लिए ताजे पत्ते को पीसकर इससे रस निकाल लें और इसमें चीनी मिलाकर इसे पीए. इससे पेट और आंतों में रहने वाले हानिकारक कीड़े खत्म हो जाते हैं.

Advertisement

घाव को भरता है पारिजात का पौधा

पारिजात में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण पाया जाता है, इसलिए यह किसी भी तरह के घावों को भरने में सक्षम है. इसके लिए पारिजात के बीज का पेस्ट बनाएं. इसे फोड़े-फुन्सी या अन्य सामान्य घाव पर लगाएं. इससे घाव ठीक हो जाता है.

Advertisement

Source : News18

(मुजफ्फरपुर नाउ के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Advertisement

Continue Reading
BIHAR48 mins ago

नींबू, भैंस और बकरी चोरी के मामले को लेकर नीतीश कुमार के जनता दरबार में पहुंची महिला

BIHAR52 mins ago

गोलियों की तड़तड़ाहट से गूंजा झाझा-पटना मेमू, महिला समेत तीन यात्री घायल, PMCH रेफर

BIHAR4 hours ago

पटना व मुजफ्फपुर में गाड़ियों के मनचाहे नंबर के लिए मारामारी, 2 लाख तक बोली लगा रहे लोग

BIHAR5 hours ago

वैशाली में 3 लोगों की संदेहास्पद मौत पर मचा हड़कंप, जहरीली शराब की जांच में जुटा प्रशासन

BIHAR6 hours ago

बिहार के पूर्व मंत्री बोले- बच्चों का भविष्य संवारने के लिए शराबबंदी कानून को हटाये सरकार

WORLD7 hours ago

ट्विटर-फेसबुक बैन झेल रहे डोनाल्ड ट्रंप बना रहे अपनी सोशल मीडिया कंपनी, 75 अरब रुपये की पूंजी खड़ी!

INDIA9 hours ago

तबादले के लिए ‘सिफारिश कल्चर’ पर सरकार की सख्ती! राजनीतिक मदद से ट्रांसफर मांगने वाले IAS अधिकारियों को चेताया

MUZAFFARPUR9 hours ago

मुजफ्फरपुर जंक्शन को मिला आईएसओ सर्टिफिकेट

MUZAFFARPUR9 hours ago

मुजफ्फरपुर : दादर से जीरोमाइल तक कब्जा वाली दुकानों पर चला प्रशासन का बुल्डोजर

BIHAR9 hours ago

बिहार : जीपीएस ई-लॉक लगे टैंकर से ही अल्कोहलिक उत्पादों की ढुलाई

VIRAL6 days ago

वीडियो : JCB पर बैठ शादी में मारी एंट्री, अचानक औंधे मुंह गिरे दूल्हा-दुल्हन

BIHAR3 weeks ago

बिहार : जो काम पुलिस नहीं कर पायी अब वह बच्चे करेंगे, शराबबंदी को सफल बनाएंगे स्कूली बच्चे

BIHAR2 weeks ago

बिहार के 38 जिलों में 28 से गुजरेंगे 4 एक्सप्रेसवे, देखें नाम और रूट प्लान

BIHAR1 day ago

बिहार : न बैंड न बारात, कोर्ट की पहल पर जेल में बंद प्रेमी से प्रेमिका ने रचाई शादी

BIHAR2 weeks ago

हिंदुस्‍तानी छोरे पर आ गया फ्रांसीसी मैम का दिल, सात समंदर पार से आकर बिहार में रचाई शादी

BIHAR2 weeks ago

बिहार में दिल दहलाने वाली वारदात, ट्रेन रोक युवती को खींचकर उतारा, सामूहिक दुष्‍कर्म के बाद की हत्‍या

BIHAR2 days ago

कोचिंग सेंटर में खेसारी लाल के गाने दिखा पढ़ाते हैं गुरूजी, मिला ‘बेस्ट टीचर ऑफ ईयर’ का अवार्ड

OMG1 week ago

गाय से शादी करके बोली महिला- ये मेरे पति हैं, मुझसे प्यार भी करते हैं

MUZAFFARPUR2 weeks ago

साइकिल से जा रही मुजफ्फरपुर की छात्रा ने बजाई शादीशुदा मर्द के दिल की घंटी

INDIA5 days ago

आज से मोबाइल रिचार्ज और LPG सिलिंडर हुआ महंगा, बैंकिंग, पेंशन से जुड़े कई बदलाव लागू

Trending