Connect with us

HEALTH

इलाहबाद हाईकोर्ट का फैसला: डेंगू से हुई मौ’त..पी’ड़ित परिवार को मिलेगा 25 लाख का मुआवजा

Himanshu Raj

Published

on

अदालत ने सभी जिलों के डीएम से डेंगू के मामलों की मानीटरिंग करते हुए बीमारी की रोकथाम व बचाव के लिए एहतियाती कदम उठाए जाने के साथ ही पी’ड़ितों को बेहतर इलाज मुहैया कराए जाने की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है।

अदालत ने इसके साथ ही हाईकोर्ट के वकील के बेटे की डेंगू की बी’मारी से हुई मौ’त के मामले में पीड़ित परिवार को पचीस लाख रूपये का मुआवजा देने का निर्देश दिया है। कोर्ट ने राज्य सरकार को निर्देश दिया है कि प्रयागराज के स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल में डायलिसिस यूनिट के लिए पर्याप्त धन उपलब्ध कराया जाए।

यह भी कहा है कि डेंगू से बचाव के लिए स्थापित स्पेशल हॉस्पिटल और ब्लड सिपरेशन यूनिट को पूरी तरीके से क्रियाशील रखा जाए ताकि डेंगू के मरीजों को इलाज में किसी प्रकार की परेशानी ना होने पाए।इलाहाबाद हाईकोर्ट के अधिवक्ता बीपी मिश्रा की जनहित याचिका पर यह आदेश न्यायमूर्ति पीकेएस बघेल और न्यायमूर्ति पीयूष अग्रवाल की खंडपीठ ने दिया है। अधिवक्ता बीपी मिश्रा के युवा पुत्र की 2016 में डेंगू से मौत हो गई थी। उन्होंने इलाज में लापरवाही बरतने की शिकायत करते हुए मुख्य न्यायाधीश को पत्र लिखा था। इस पत्र को अदालत ने जनहित याचिका के तौर पर स्वीकार करते हुए सुनवाई शुरू की।कोर्ट का कहना था की युवक की मौ’त डॉक्टरों द्वारा बीमारी का सही कारण पता न लगा पाने के कारण हुई है। डाक्टर यह जान नहीं पाए कि उसे डेंगू है और उसे ऐसी दवाएं दी गई जो डेंगू के मरीज के लिए घा’तक होती है।डॉक्टरों द्वारा एंटीबायोटिक दिए जाने के कारण बाद में मरीज की स्थिति खराब हो गई और उसे बचाया नहीं जा सका। कोर्ट ने इस मामले में राज्य सरकार से जवाब मांगा था।

Input: Live Bihar

HEALTH

चीन से आई चौंकाने वाली खबर, चिकन में भी कोरोना वायरस!

Ravi Pratap

Published

on

चीन ने दावा किया है कि ब्राजील से भेजे गए फ्रोजन चिकन के पंखों में कोरोना वायरस पाया गया है. दरअसल चीन के शहर शेनझेन (Shenzhen) के लोकल डिजीज कंट्रोल ने ब्राजील से भेजे गए फ्रोजन चिकन का सैंपल लिया था. नियमित जांच के बाद सैंपल रिपोर्ट आई तो पता चला कि फ्रोजन चिकन के विंग (frozen chicken Wings) में कोरोना वायरस (corona Virus) पाया गया.

इसके बाद चीनी अधिकारियों ने गुरुवार (13 अगस्त) को संक्रमित चिकन के संपर्क में आए कुछ लोगों और दूसरे प्रोडक्ट की भी जांच कराई. हालांकि उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई है. चीन के शहर शेनझेन सीडीसी ने दूसरे देशों के फूड प्रोडक्‍ट्स खाने में सावधानी बरतने को कहा है. बता दें कि चिकन फ्रोजन से पहले जून में चीन की राजधानी बीजिंग के शिनफैडी सीफूड मार्केट में संक्रमण के मामले सामने आए थे. उस दौरान वायरस के लक्षण इक्वाडोर से आयात होने वाले झींगे में पाए गए थे. इसके बाद से ही सरकार सभी फूड प्रोडक्ट्स का सैंपल लेकर उसका कोरोना टेस्ट करवा रही है. अभी तक ब्राजील ने इस पर कोई बयान जारी नहीं किया है.

गौरतलब है कि महामारी के प्रकोप के दौरान चीन ने जून में ब्राजील समेत कई देशों से मांस के आयात को बैन कर दिया है. हालांकि, जल्द ही इस निर्णय को वापस ले लिया गया था. जानकारी के लिए बता दें कि चीन के वुहान शहर से दुनियाभर में कोरोना महामारी फैली है. वुहान में ही वायरस यहां के सी फूड मार्कट से फैला था, जहां पर चमगादड़ और सांप समेत कई तरह के जीवों-जंतुओं का मीट बेचा जाता है.

Input : Zee News

Continue Reading

HEALTH

कोरोना वैक्सीन लॉन्च करने के बाद रूस का दावा, दो सालों तक छू नहीं सकेगा वायरस

Ravi Pratap

Published

on

दुनियाभर में फैली कोरोना वायरस महामारी के लिए रूस ने ‘स्पूतनिक वी’ नामक वैक्सीन बनाई है। राष्ट्रपति पुतिन ने दावा किया है कि यह दवा पूरी तरह से सुरक्षित है और असरदार है। हालांकि, दुनिया के कई एक्सपर्ट्स इसके पूरी तरह से सुरक्षित होने के दावे पर सवाल खड़े कर रहे हैं। अब रूस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने वैक्सीन को लेकर नया दावा किया है।

रूस के शीर्ष अधिकारी ने कहा कि कोरोना वैक्सीन ‘स्पूतनिक वी’ कम से कम दो सालों तक कोरोना वायरस से सुरक्षा प्रदान करेगी। रूसी न्यूज एजेंसी टीएसएसएस के अनुसार, गामालेया अनुसंधान केंद्र के निदेशक अलेक्जेंडर गिंट्सबर्ग ने कहा, ‘रूस की कोरोना वैक्सीन का असर सिर्फ छह महीने या सालभर तक के लिए नहीं होगा, बल्कि यह दो साल तक असर करेगी और वायरस को दूर रखेगी।’

अलेक्जेंडर गिंट्सबर्ग गामालेया अनुसंधान केंद्र और एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी के निदेशक हैं। यह वही संस्थान है, जिसने कोरोना वायरस की वैक्सीन को विकसित किया है। रूस के स्वास्थ्य अधिकारियों का कहना है कि दुनिया की पहली कोरोना वैक्सीन का पहला बैच दो सप्ताह के अंदर ही आ जाएगा। स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराशको ने बुधवार को कहा, ‘कोरोनो वायरस संक्रमण के खिलाफ वैक्सीन के पहले पैकेजेस अगले दो सप्ताह के भीतर प्राप्त हो जाएंगे।’

वहीं, रूस की कोरोना वैक्सीन पर दुनिया के कई देशों के एक्सपर्ट्स सवाल उठा रहे हैं। पिछले सप्ताह जहां डब्लूएचओ ने वैक्सीन की जल्दबाजी को लेकर आगाह किया था, वहीं अमेरिका के शीर्ष स्वास्थ्य विशेषज्ञ एंथोनी फॉसी ने वैक्सीन को लेकर रूस और चीन दोनों के ऊपर सही प्रक्रिया का पालन करने पर संदेह जताया। विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि संगठन अतिरिक्त जानकारी प्राप्त करने के लिए रूस के साथ संपर्क में है।

‘अन्य देशों को भी उपलब्ध कराई जाएगी वैक्सीन’ 

इससे पहले, रूसी स्वास्थ्य मंत्री मिखाइल मुराशको ने कहा कि कोविड-19 के खिलाफ विकसित की गई वैक्सीन निश्चित रूप से कारगर है और यह अन्य देशों को भी उपलब्ध कराई जाएगी, लेकिन घरेलू स्तर पर इसकी मांग को ध्यान में रखकर आपूर्ति करना हमारी पहली प्राथमिकता है। उन्होंने कहा, ‘मैं समझता हूं कि हमारे विदेशी साथी वैक्सीन विकसित करने में मामले में प्रतिस्पर्धा महसूस कर रहे हैं इसलिए उन्होंने ऐसे विचार व्यक्त किए हैं जिन्हें हम आधारहीन मानते हैं। रूस ने वैक्सीन का विकास निश्चित क्लीनिकल जानकारी और डाटा को ध्यान में रखकर किया है।’

Input : Live Hindustan

Continue Reading

HEALTH

मंजूरी से पहले रूसी वैक्सीन की जांच करेगा WHO, सितंबर से शुरू होगा प्रॉडक्शन, 20 देशों ने कर ली बुकिंग

Muzaffarpur Now

Published

on

रूस की ओर से पहले कोरोना वैक्सीन को पंजीकृत किए जाने की घोषणा के बाद विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने कहा है कि संस्था की ओर से किसी वैक्सीन को तभी मंजूरी दी जाएगी जब उसके सुरक्षित होने की जांच सख्ती से कर ली जाएगी। रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने कहा है कि रूस कोरोना वायरस के खिलाफ वैक्सीन को मंजूरी देने वाला पहला देश बन गया है। यह वैक्सीन नए कोरोना वायरस के खिलाफ मजबूत इम्युनिटी पैदा करने में सक्षम है।

Russia says its COVID-19 vaccine creates immunity - TeleTrader.com

जेनेवा में ऑनलाइन प्रेस ब्रीफिंग के दौरान WHO के प्रवक्ता तारिक जासारेविक ने कहा, ”हम रूस के हेल्थ अथॉरिटीज के साथ संपर्क में हैं और वैक्सीन के संभावित प्री-क्वालिफिकेशन को लेकर चर्चा चल रही है। किसी वैक्सीन के प्री-क्वालिफिकेशन के लिए सख्त समीक्षा और सभी सुरक्षा व प्रभावी मानकों की जांच शामिल है।”

रूस के स्पूतनिक वी वैक्सीन को गमालेया रिसर्च इंस्टिट्यूट और रक्षा मंत्रालय ने मिलकर विकसित किया है। दुनिया में इस समय कुल 165 कैंडिडेट वैक्सीन पर काम चल रहा है। इनमें से 139 अभी भी प्री-क्लीनिकल इवैल्यूएशन में हैं, जबकि 26 अन्य मानव परीक्षण के अलग-अलग फेज में हैं। छह वैक्सीन फेज तीन में हैं।

US, Canada and UK accuse Russia of hacking coronavirus vaccine ...

गमालेया कैंडिडेट उन 26 वैक्सीन में शामिल है जिन्हें मानव पर परीक्षण किया जा रहा है और फेज 1 में सूचीबद्ध है। वैक्सीन प्रॉजेक्ट के लिए फंड देने वाले रसियन डायरेक्ट इन्वेस्टमेंट फंड के मुखिया किरिल दिमित्रिएव ने कहा कि फेज 3 का ट्रायल बुधवार को शुरू होगा। वैक्सीन का औद्योगिक उत्पादन सितंबर में शुरू होने की उम्मीद है। 20 देशों ने एक अरब से अधिक डोज के लिए ऑर्डर दे दिया है।

Russia to have anti-COVID vaccine enough for mass vaccination in ...

जासारेविक ने कहा, ”हर देश में एक राष्ट्रीय नियामक एजेंसी है जो अपनी सीमा में वैक्सीन या दवा के इस्तामल को मंजूरी देता है। WHO में वैक्सीन और दवा के लिए प्री-क्वॉलिफिकेशन प्रोसेस है। उत्पादक WHO से प्री-क्वालिफिकेशन की मांग करते हैं, क्योंकि यह एक तरीके से गुणवत्ता का मुहर है।”

Input : Hindustan

Continue Reading
INDIA2 mins ago

गैंगरेप के आरोपियों को मिली फांसी की सजा, दुल्हन की तरह सजा पुलिस स्टेशन

BIHAR15 mins ago

बिहार में सामने आए कोरोना के 3911 नए मामले, संक्रमितों का आंकड़ा 98 हजार के पार

BOLLYWOOD26 mins ago

‘बिग बॉस 14’ के सेट से सामने आई सलमान खान की पहली तस्वीर, हो रही है वायरल

HEALTH52 mins ago

चीन से आई चौंकाने वाली खबर, चिकन में भी कोरोना वायरस!

INDIA1 hour ago

अमित शाह की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट आई नेगेटिव, कहा- कुछ और दिनों तक होम आइसोलेशन में रहूंगा

BOLLYWOOD1 hour ago

सुशांत सिंह राजपूत के बीमार होने पर भी पार्टी करती थीं रिया चक्रवर्ती, ड्राइवर ने खोले कई राज?

BIHAR2 hours ago

रामविलास पासवान का चुनावी दांव: नीतीश को बताया बीता हुआ कल, बोले- चिराग में है CM बनने का दम

INDIA2 hours ago

जम्मू-कश्मीर: स्वतंत्रता दिवस से एक दिन पहले पुलिस पार्टी पर जैश के आतंकियों ने किया हमला, 2 जवान शहीद

BIHAR3 hours ago

बिहार: पब्‍जी खेलने के लिए नहीं था माेबाइल तो रची खुद के अपहरण की साजिश, मां को कॉल कर मांगे तीन लाख

MUZAFFARPUR4 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर : हार्ट अटैक से उत्पाद निरीक्षक अभय सिंह की हुई मौत

BIHAR1 week ago

भोजपुरी एक्ट्रेस अनुपमा पाठक ने की खुदकुशी, मरने से पहले किया फेसबुक लाइव

INDIA3 days ago

बाइक पर पत्नी के अलावा अन्य को बैठाया तो कार्रवाई: हाई कोर्ट

INDIA3 weeks ago

वाहनों में अतिरिक्त टायर या स्टेपनी रखने की जरूरत नहीं: सरकार

INDIA3 days ago

सुप्रीम कोर्ट का फैसला – पिता की प्रॉपर्टी में बेटी का हर हाल में आधा हिस्सा होगा

BIHAR1 week ago

UPSC में छाए बिहार के लाल, जानिए कितने बच्चों का हुआ चयन

BIHAR4 weeks ago

बिहार लॉकडाउन: इमरजेंसी हो तभी निकलें घर से बाहर, नहीं तो जब्त हो जाएगी गाड़ी

MUZAFFARPUR1 week ago

उत्तर बिहार में भीषण बिजली संकट, कांटी थर्मल पावर ठप्प

BIHAR2 weeks ago

पप्पू यादव का खतरनाक स्टंट: नियमों की धज्जियां उड़ा रेल पुल पर ट्रैक के बीच चलाई बुलेट, देखें VIDEO

BIHAR5 days ago

IPS विनय तिवारी शामिल हो सकते है, सुशांत केस की CBI जांच टीम में…

MUZAFFARPUR6 days ago

बिहार के प्रमुख शक्तिपीठों में प्रशिद्ध राज-राजेश्वरी देवी मंदिर की स्थापना 1941 में हुई थी

Trending