Connect with us

INDIA

इस मंत्री ने मां दुर्गा को लिख डाली ‘चिट्ठी’, मांगा डिप्टी CM बनने का आशीर्वाद

Muzaffarpur Now

Published

on

बेंगलुरु: कर्नाटक (Karnataka) में संभावित मंत्रिमंडल विस्तार पर बहस जारी है. इस बीच राज्य के स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री (Minister of Health and Family Welfare) बी. श्रीरामुलु (B Sriramulu) ने गुरुवार को कथित रूप से प्रसिद्ध देवी दुर्गा (गडे दुर्गम्मा) को पत्र लिखकर जल्द ही उपमुख्यमंत्री बनने का आशीर्वाद मांगा. श्रीरामुलु कलबुर्गी में कल्याण कर्नाटक उत्सव में हिस्सा लेने के लिए यादगीर पहुंचे थे. प्रसिद्ध गोनल दुर्गा देवी मंदिर, बेंगलुरु से 500 किलोमीटर दूर यादगीर जिले के शाहपुर तालुक में स्थित है.

Karnataka minister writes a letter to goddess Durga, asks for blessings to  become deputy chief minister soon | इस मंत्री ने मां दुर्गा को लिख डाली  'चिट्ठी', मांगा डिप्टी CM बनने का

श्रीरामुलु मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का हिस्सा हैं और कई गणमान्य व्यक्ति पहले से ही कल्याण कर्नाटक उत्सव का हिस्सा बनने के लिए कलबुर्गी पहुंचे हैं. यह उत्सव हैदराबाद-कर्नाटक मुक्ति दिवस की खुशी में मनाया जा रहा है, जिसे पिछले साल से कल्याण कर्नाटक उत्सव के रूप में फिर से शुरू किया गया था. यह क्षेत्र हैदराबाद निजाम के शासन से मुक्त हुआ था.

Seeking Divine Intervention! Karnataka Health Minister Writes Letter to  Goddess to Make Him Deputy CM | India.com

देवी के चरणों में रखा पत्र

कलबुर्गी जाने से पहले श्रीरामुलु यादगीर में उतरे और वह सबसे पहले शाहपुर तालुक के गोनल गांव स्थित मंदिर में पहुंचे. उन्होंने वहां पूजा-अर्चना की और फिर अपना पत्र देवी के चरणों में रख दिया और उनसे आशीर्वाद मांगा.

पत्र में लिखे 2 लाइन

मंत्री के करीबी सूत्र के अनुसार, उन्होंने एक पत्र लिखा है, जिसमें दो पंक्तियों के साथ उनके हस्ताक्षर हैं. इसमें कहा गया है कि वह जल्द से जल्द उपमुख्यमंत्री बनना चाहते हैं. सूत्र ने आगे कहा कि मंदिर जाने से पहले श्रीरामुलु ने मंदिर के पुजारी, मारिस्वामी के घर का दौरा किया और वहां से दोनों मंदिर गए और पूजा की.

ये है मान्यता

यहां प्रचलित मान्यता के अनुसार, जो कोई भी इस मंदिर में जाता है और अपने या अपने परिवार के लिए कुछ चाहता है तो वह एक पत्र लिखता है और इसे दुर्गा देवी के चरणों में रख देता है और इच्छा पूरी होने का आशीर्वाद मांगता है.

डी. के. शिवकुमार भी लिख चुके हैं पत्र

कर्नाटक राज्य कांग्रेस कमेटी के प्रमुख डी. के. शिवकुमार ईडी में मामला दर्ज किए जाने के बाद जेल से रिहा होने पर इस मंदिर में गए थे. उनके अनुयायियों का मानना है कि इसी के परिणामस्वरूप उन्हें पार्टी का नेतृत्व करने के लिए चुना गया था.

Source : Zee News

INDIA

65 साल के हरीश साल्वे करने जा रहे दूसरी शादी, जानिए कौन हैं उनकी होने वाली पत्नी

Muzaffarpur Now

Published

on

पूर्व सॉलिसिटर जनरल हरीश साल्वे अगले हफ्ते विवाह बंधन में बंधने जा रहे हैं. हरीश साल्वे देश के जाने-माने वकील और ब्रिटेन में क्वींस काउंसिल हैं. 65 वर्षीय साल्वे, पिछले महीने ही अपने 38 साल के वैवाहिक जीवन को तिलांजलि देकर अपनी पत्नी मीनाक्षी साल्वे से तलाक लेकर कानूनी तौर पर अलग हो गए थे. हरीश साल्वे और मीनाक्षी की दो बेटियां भी हैं. हरीश साल्वे अपनी दोस्त कैरोलिन ब्रॉसर्ड के साथ 28 अक्तूबर को लंदन के एक चर्च में विवाह करने जा रहे हैं. दोनों का ये दूसरा विवाह है.

साल्वे भी धर्म बदलकर अब ईसाई बन चुके हैं. अपनी होने वाली पत्नी कैरोलिन के साथ वे पिछले दो सालों से नियमित रूप से उत्तरी लंदन के चर्च में जाते रहे हैं. हरीश साल्वे और कैरोलिन दोनों का ये दूसरा विवाह है. दोनों की पूर्व विवाह से संतानें भी हैं. पेशे से कलाकार कैरोलिन 56 साल की हैं और एक लड़की की मां हैं. हरीश साल्वे की कैरोलिन से मुलाकात आर्ट एग्जीबिशन में हुई थी. दोनों के बीच की यह मुलाकात धीरे-धीरे और गहरी हो गई.

Harish Salve SA

बकौल साल्वे तलाक के बाद लंदन में बच्चों से दूर रहते हुए भी कैरोलिन ने उन्हें भावनात्मक रूप से काफी संभाला. दोनों के बीच अंडरस्टैंडिंग जमी और बात आगे की जिन्दगी एक साथ गुजारने तक आ पहुंची.

चीफ जस्टिस शरद अरविंद बोबडे और साल्वे दोनों की पढ़ाई एक ही स्कूल में हुई है. दोनों महाराष्ट्र के नागपुर शहर में पढ़ाई करते थे. 1976 में साल्वे दिल्ली आए गए और बोबडे मुंबई हाई कोर्ट. बाद में बोबडे हाई कोर्ट जज बन गए और साल्वे सीनियर एडवोकेट और फिर सॉलिसिटर जनरल.

ICJ Verdict: Judgment gladdened hearts, restored faith in rule of law, says Harish  Salve

हरीश साल्वे शुरू से ही अपनी प्रतिभा की बदौलत नामी वकील रहे हैं. यही वजह थी कि उन्हें भारत सरकार ने सॉलिसिटर जनरल नियुक्त किया था. साल्वे, कुलभूषण जाधव सहित कई अंतर्राष्ट्रीय मामलों में भारत सरकार की पैरवी कर देश को गौरवान्वित कर चुके हैं. भारत सरकार की विदेश मंत्री दिवंगत सुषमा स्वराज के आग्रह पर उन्होंने इस केस की सुनवाई के लिए सिर्फ एक रुपए फीस ली थी.

देश दुनिया के नामी उद्योगपतियों और कंपनियों वोडाफोन, रिलायंस, मुकेश अंबानी, रतन टाटा जैसे सभी बड़े नामों के कानूनी मामलों की कोर्ट में नुमाइंदगी भी साल्वे ने ही की है.

Continue Reading

INDIA

मोहन भागवत के CAA वाले बयान पर बोले ओवैसी; ‘हम बच्चे नहीं, जो कोई भी भटका दे’

Muzaffarpur Now

Published

on

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) प्रमुख मोहन भागवत ने नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर कहा है कि इस कानून से किसी को खतरा नहीं है. देश में मुस्लिम समुदाय को भ्रमित करने की साजिश की गई है. उनके इस बयान पर ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुसलमीन (एआईएमआईएम) सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने तीखी प्रतिक्रिया दी है.

उन्होंने कहा कि हमलोग बच्चे नहीं हैं कि हमें कोई ‘भटका’ दे. बीजेपी ने यह नहीं बताया कि एक साथ CAA+NRC का मतलब क्या है? अगर यह सिर्फ मुस्लिमों के लिए नहीं है तो सभी कानून से धर्म शब्द हटा दे.

ओवैसी ने कहा, जान लीजिए हमलोग बार-बार प्रदर्शन करते रहेंगे, जबतक कानून में हमें खुद को भारतीय साबित करने की बात रहेगी. हम उस तरह के सभी कानून का विरोध करेंगे, जिसमें लोगों की नागरिकता धर्म के आधार पर तय की जाएगी.

ओवैसी का RSS प्रमुख पर पलटवार (फाइल फोटो- पीटीआई)

वहीं बिहार चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस और आरजेडी (राष्ट्रीय जनता दल) पर हमला करते हुए ओवैसी ने कहा, ‘मैं कांग्रेस, आरजेडी और उनके क्लोन से भी यह स्पष्ट कर दूं कि सीएए के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के दौरान आपकी चुप्पी लोग भूलेंगे नहीं. जब बीजेपी नेता सीमांचल के लोगों को घुसपैठिए करार दे रहे थे तो आरजेडी और कांग्रेस ने अपना मुंह बंद कर रखा था. उन्होंने कुछ नहीं बोला.

इससे पहले नागपुर में दशहरे के कार्यक्रम में मोहन भागवत ने कहा, हमने देखा कि देश में CAA विरोधी प्रदर्शन हुए जिससे समाज में तनाव फैला. उन्होंने कहा कि कुछ पड़ोसी देशों से सांप्रदायिक कारणों से प्रताड़ित होकर विस्थापित किए जाने वाले व्यक्ति जो भारत में आते हैं, उन्हें इस CAA के जरिए नागरिकता दी जाएगी. भारत के उन पड़ोसी देशों में साम्प्रदायिक प्रताड़ना का इतिहास है. भारत के इस नागरिकता संशोधन कानून में किसी संप्रदाय विशेष का विरोध नहीं है.

मुसलमानों को लेकर RSS चीफ मोहन भागवत ने कही ऐसी बात की,भड़क गए ओवैसी,कही ये  बात... | देश-विदेश | Humlog

संघ प्रमुख ने कहा कि जो भारत के नागरिक हैं उनके लिए इस कानून में कोई खतरा नहीं था. बाहर से अगर कोई आता है और वह भारत का नागरिक बनना चाहता है तो इसके लिए प्रावधान है जो बरकरार हैं. वो प्रक्रिया जैसी की तैसी है.

आरएसएस चीफ ने कहा कि बावजूद इसके कुछ अवसरवादी लोगों ने इस कानून का विरोध करना शुरू किया और ऐसा माहौल बनाया कि इस देश में मुसलमानों की संख्या न बढ़े इसलिए ये कानून बनाया गया है. इसके बाद इस कानून का विरोध शुरू हो गया. देश के वातावरण में तनाव आ गया.

भागवत ने कहा कि CAA पर सार्थक विचार होता, इस पर मंथन होता इससे पहले ही कोरोना महामारी आ गई और सांप्रदायिक आंच लोगों के मन में ही रह गई. मोहन भागवत ने कहा कि CAA किसी धर्म विशेष के साथ भेदभाव नहीं करता है.

Continue Reading

INDIA

दुश्मनों को NSA अजित डोवल का कड़ा संदेश, बोले- जहां से खतरा होगा, वहीं प्रहार करेंगे

Muzaffarpur Now

Published

on

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोवल (NSA Ajit Doval) ने ऋषिकेश से भारत के साथ दुश्मनी रखने वालों को कड़ा संदेश दिया है. डोवल ने कहा कि ‘इतिहास गवाह है कि भारत ने कभी किसी पर हमला नहीं किया’ लेकिन ये तय है कि जहां से खतरा होगा, वहीं प्रहार किया जाएगा’.

एनएसए ने कहा है कि भारत एक ‘सभ्य’ देश है, जिसका वजूद अनादिकाल से मौजूद है. उन्होंने प्रकाश डाला कि भारत, भले ही 1947 में अस्तित्व में आया हो लेकिन प्राचीन भारतीय ज्ञान-विज्ञान की कायल पूरी दुनिया रही है.

धर्म और भाषा से परे भारत
NSA ने ये भी कहा कि हमारा देश इतना महान है कि भारत अपनी समृद्ध संस्कृति और सभ्यता की वजह से किसी धर्म या भाषा के दायरे में नहीं बंधा. बल्कि इस धरती से वसुधैव कुटुंबकम और हर मनुष्य में ईश्वर का अंश मौजूद है के भाव का प्रचार प्रसार हुआ.

संतो ने किया राष्ट्र निर्माण
सुरक्षा सलाहकार के मुताबिक भारत की एक देश के तौर पर पहचान मजबूत करने और उसे संस्कारी बनाने में यहां के संत और महात्माओं का बड़ा योगदान रहा. इन संतों ने अपने अपने समय काल में भारत का राष्ट्र निर्माण करने में अपनी अहम भूमिका निभाई.

‘हस्ती मिटती नहीं हमारी’
डोवल ने उदाहरण दिया कि यहूदी सभ्यता दो हजार साल पहले अस्तित्व में आई लेकिन दुनिया के पहले यहूदी देश का निर्माण 1947 में हु्आ. वहीं मिस्र जैसी समृद्ध सभ्यता का अस्तित्व मिट गया.

एनएसए डोभाल अपनी पत्नी के साथ पुस्तैनी घर देखने पहुंचे थे. घर के अवशेष देखकर उन्होंने गांव में पैतृक घर बनाने की बात कही. इसके बाद वो परमार्थ निकेतन पहुंचे और मां गंगा के दर्शन किए. आज विजयादशमी (Vijayadashami) यानी दशहरे के पावन अवसर पर वो परमार्थ निकेतन (Parmarth Niketan) भी पहुंचे और वहां के सर्वेसर्वा स्वामी चिदानन्द सरस्वती (Swami Chidanand Saraswati) के मिशन की आध्यात्मिक गतिविधियों में अपनी भागीदारी निभाई.

उन्होंने यहां मौजूद सभी लोगों को दुनिया में भारत की आध्यात्मिकता के संदेश का प्रसार करने को भी कहा. गौरतलब है कि NSA का पद संभालने के बाद से डोभाल का अपने गांव का यह तीसरा दौरा है.

Source : Zee News

Continue Reading
BIHAR32 mins ago

बिहार के वोटर्स से उद्धव ठाकरे की अपील, बोले- 2014 में हमारे साथ थे नीतीश, सोच समझकर वोट करें

DHARM15 hours ago

रावण की कुंडली में ना होता ये दोष तो असंभव थी मौत, राम के लग्न की खासियत भी जानें

INDIA16 hours ago

65 साल के हरीश साल्वे करने जा रहे दूसरी शादी, जानिए कौन हैं उनकी होने वाली पत्नी

INDIA16 hours ago

मोहन भागवत के CAA वाले बयान पर बोले ओवैसी; ‘हम बच्चे नहीं, जो कोई भी भटका दे’

INDIA16 hours ago

दुश्मनों को NSA अजित डोवल का कड़ा संदेश, बोले- जहां से खतरा होगा, वहीं प्रहार करेंगे

INDIA16 hours ago

कपिल देव को अस्पताल से मिली छुट्टी, पहली तस्वीर आई सामने

BIHAR16 hours ago

LJP सत्ता में आई तो मुख्यमंत्री सलाखों के पीछे होंगे- चिराग पासवान

BIHAR19 hours ago

तेजस्वी की सभा में बेकाबू भीड़ पर पुलिस ने चटकाई लाठियां, मची अफरा-तफरी

DHARM20 hours ago

19 नवंबर को बदरीनाथ तो 15 को गंगोत्री धाम के कपाट शीतकाल के लिए होंगे बंद

BIHAR20 hours ago

चिराग के नए दांव से क्या बिहार में और मजबूत होगी बीजेपी ?

TRENDING4 weeks ago

गर्लफ्रेंड को घुटने पर बैठकर कर रहा था प्रपोज, एक सेकंड में धुली रह गई सारी मेहनत

BIHAR4 weeks ago

पिता ने ‘लूडो’ में की चीटिंग तो बेटी पहुंची फैमिली कोर्ट, जानें पूरा मामला

BOLLYWOOD3 weeks ago

बॉलीवुड को झटका! अजय देवगन के छोटे भाई अनिल देवगन का निधन

INDIA1 week ago

PNB खोल रहा है महिलाओं के लिए खास खाता, मुफ्त में मिलेंगी ये 6 सुविधाएं

INDIA3 weeks ago

इस साल पड़ेगी कड़ाके की ठंड, सर्दी का मौसम होगा लंबा; जानें- कब से होगी जाड़े की शुरुआत

BIHAR2 weeks ago

अंतिम दर्शन को पहुंची पहली पत्नी राजकुमारी, थम नहीं आंसुओं की धार

INDIA4 weeks ago

1 अक्टूबर से होने वाले हैं ये बड़े बदलाव, आपकी जेब पर ऐसे पड़ेगा असर

BIHAR1 week ago

पति के सामने पत्नी ने ठोकी ताल, चुनावी मैदान में निर्दलीय उतरे

BIHAR4 weeks ago

MLA का टिकट लेने 74 लाख रुपए लेकर पटना आया था कारोबारी, पुलिस ने ड्राइवर समेत 2 को पकड़ा

BIHAR3 weeks ago

पीठ में खंजर भोंका , कहकर महागठबंधन से बाहर हुए मुकेश सहनी

Trending