कई राजनेताओं के साथ कई कुख्यातो से भी है काफी मधुर संबंध

0
1925

पटना। पटना के प्रतिष्ठिम मगध अस्पताल के मालिक व युवा व्यवसायी गुंजन खेमका हत्याकांड में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया अभिषेक वर्मा उर्फ मस्तु वर्मा की आपराधिका के साथ-साथ राजनीतिक गलियारों में भी गहरी पैठ है। भाजपा के कई नेताओं और मंत्रियों के साथ उसकी निकटता तो है ही सुल्तानगंज निवासी अजय कुमार उर्फ अजय वर्मा सहित कई दुर्दांत अपराधियों से भी उसके नजदीकी रिश्ते हैं।

इन रिश्तों का खुलासा मस्तु वमा के फेसबुक प्रोफाइल से हो रहा है। किसी तस्वीर में वो प्रसिद्ध पाश्र्व गायक उदित नारायण के साथ तो किसी तस्वीर में पथ निर्माण मंत्री नंद किशेर यादव तो किसी तस्वीर में विधान पार्षद रणवीर नंदन जिको मस्तू ने अपना बड़ा भाई का दर्जा दे रखा है के साथ दिखाई पड़ रहा है। अपने एक पोस्ट में मस्तु ने रणवीर नंदन को पाटलिपुत्र लोकसभा से उम्मीदवार बना जाने की भी वकालत की है।

हालांकि रणवीर नंदन की ितस्वीर पटना के कुख्यात और दुर्दांत अपराधी अजय वर्मा के साथ भी है। सुल्तानगंज निवासी अजय वर्मा पर लगभग दो दर्जन संगीन मामले दर्ज हैं। मस्तु वर्मा से भी अजय वर्मा की नजदीकिया हैं और मस्तु की अजय वर्मा के साथ कई तस्वीरें भी हैं। मस्तु ने 2017 में पटना नगर निगम के वार्ड पार्षद चुनाव में वार्ड नंबर 62 से अपनी पत्नी पम्पी वर्मा को खड़ा किया था पर वह चुनाव हार गई थी।

गौरतलब है कि अजय वर्मा कुम्हरार से पिछला चुनाव बतौर निर्दलीय लड़ चुंका है तब उसकी जमानत भी जप्त हो गई थी। गौश्रतलब है कि गुंजन खेमका की हत्या बीते 20 दिसम्बर को तब कर दी गइ्र थी जब वह पटना से हाजीपुर के इंडस्ट्रीयल एरिया स्थित अपने फैक्ट्री जाने के क्रम में फैक्ट्री के मुख्य,ार पर अपनी गाड़ी और ड्राइवर के साथ पहुंचे थे। तभी मुख्य द्वार पर ही घात लगाए एक अपराधी ने कार में ही उन्हें गोली मार दी जिससे उनकी घटनास्थल पर ही मौत हो गई थी। पुलिस ने इस मामले में चार दिनों पूर्व मस्तु वर्मा और उसके एक सहयोगी राहुल आनंद उर्फ चीकू को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। एडीजी, मुख्यालय कुंदन कृष्णन ने ‘खबर मंथन’ को बताया कि हाजीपुर पुलिस जल्द ही अब दोनों को पूछताछ के लिए रिमांड पर लेने की तैयारी कर रही है।

इनपुट : खबर मंथन