Connect with us

INDIA

कैसा दिखता है अयोध्या का वह विवादित हिस्सा, जिस पर आज सुप्रीम कोर्ट सुनाएगा फैसला

Published

on

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट रोजाना सुनवाई कर रहा है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ इस मामले की सुनवाई कर रही है. ग्राफिक और मैप से समझिए आखिर विवाद जमीन के कितने हिस्से को लेकर है?

 

 राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन तक रोजाना सुनवाई की. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ इस मामले की सुनवाई की है. 9 नवंबर 2019 शनिवार को कोर्ट इस ऐतिहासिक मामले पर फैसला सुना सकता है. ग्राफिक और मैप से समझिए आखिर विवाद जमीन के कितने हिस्से को लेकर है और सरकार के अधिग्रहण में कितनी जमीन है?

राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन तक रोजाना सुनवाई की. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली 5 सदस्यीय संवैधानिक पीठ इस मामले की सुनवाई की है. 9 नवंबर 2019 शनिवार को कोर्ट इस ऐतिहासिक मामले पर फैसला सुना सकता है. ग्राफिक और मैप से समझिए आखिर विवाद जमीन के कितने हिस्से को लेकर है और सरकार के अधिग्रहण में कितनी जमीन है?

 अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद सरकार ने साल 1993 में सरकार ने 2.77 एकड़ के विवादित स्थल के अलावा आसपास की 67 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर लिया था. इस 67 एकड़ में से 43 एकड़ राम जन्मभूमि ट्रस्ट के नाम थी, जो बाद में अधिग्रहित कर ली गई.

अयोध्या में बाबरी मस्जिद विध्वंस के बाद सरकार ने साल 1993 में सरकार ने 2.77 एकड़ के विवादित स्थल के अलावा आसपास की 67 एकड़ जमीन का अधिग्रहण कर लिया था. इस 67 एकड़ में से 43 एकड़ राम जन्मभूमि ट्रस्ट के नाम थी, जो बाद में अधिग्रहित कर ली गई.

 साल 1992 बाबरी विध्वंस से पहले विवाद 2.77 एकड़ जमीन कुछ ऐसी दिखाई देती थी. इसमें अस्थाई रूप से रामलला विराजमान थे. सीता रसोई, सिंह द्वार, भंडार, हनुमान द्वार और राम चबूतरा ऐसे मौजूद था.

साल 1992 बाबरी विध्वंस से पहले विवाद 2.77 एकड़ जमीन कुछ ऐसी दिखाई देती थी. इसमें अस्थाई रूप से रामलला विराजमान थे. सीता रसोई, सिंह द्वार, भंडार, हनुमान द्वार और राम चबूतरा ऐसे मौजूद था.

 इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में जमीन का बंटवारा कुछ ऐसे किया गया कि राम चबूतरा, सीता रसोई और भंडार निर्मोही अखाड़े को सौंपा गया. जबकि जमीन का बाकी हिस्सा सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अधीन है.

इलाहाबाद हाईकोर्ट के फैसले के बाद अयोध्या में जमीन का बंटवारा कुछ ऐसे किया गया कि राम चबूतरा, सीता रसोई और भंडार निर्मोही अखाड़े को सौंपा गया. जबकि जमीन का बाकी हिस्सा सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अधीन है.

 गूगल मैप पर सरकार द्वारा अधिग्रहित जमीन को आप लाल बाउंड्री के जरिए देख सकते हैं. जबकि 2.77 एकड़ विवादत जमीन कुछ ऐसी दिखाई देती है.

गूगल मैप पर सरकार द्वारा अधिग्रहित जमीन को आप लाल बाउंड्री के जरिए देख सकते हैं. जबकि 2.77 एकड़ विवादत जमीन कुछ ऐसी दिखाई देती है.

Input : News18

 

INDIA

AAP में शामिल हो सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू, केजरीवाल बोले उनका स्वागत है

Published

on

नई दिल्ली. क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. फिलहाल वो कांग्रेस में हैं. गुरुवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के चीफ अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal ) ने कहा कि अगर सिद्धू उनकी पार्टी में शामिल होना चाहते हैं को वो उनका स्वागत करेंगे. उन्होंने ये बातें न्यूज़18 इंडिया के कॉनक्लेव में कही.

AAP में शामिल हो सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू, केजरीवाल बोले उनका स्वागत है

क्या है केजरीवाल की राय

केजरीवाल से सिद्धू के बारे में पूछा गया कि क्या आम आदमी पार्टी में उनके शामिल होने की बात चल रही है तो इस सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘हमारी पार्टी में उनका स्वागत है’. केजरीवाल से ये भी पूछा गया कि क्या उनकी पार्टी की तरफ से सिद्धू से किसी ने बातचीत की है? तो केजरीवाल ने कहा कि कोरोना वायरस के संकट के दौर में अगर किसी नेता से राजनीति के मुद्दे पर सवाल पूछे जाएं तो वो ज्यादा विस्तार से कुछ नहीं बता सकते.

प्रशांत किशोर कर रहे हैं बात

ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि सिद्धू पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले AAP में शामिल हो सकते हैं. दावा किया जा रहा है कि इस सिलसिले में सिद्धू चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर से बातचीत कर रहे हैं. बता दें कि पिछले विधानसभा चुनाव से पहले भी सिद्धू के आम आदमी पार्टी में शामिल होने को लेकर अटकलें लगाई जा रही थी. लेकिन उस वक्त मुख्यमंत्री पद को लेकर बात नहीं बनी थी. इसके बाद सिद्धू कांग्रेस में शामिल हो गए थे. उन्हें कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार में मंत्री भी बनाया गया था.

Input : News18

Continue Reading

BIHAR

UP के प्रतापगढ़ में भीषण सड़क हादसा, बिहार के नौ लोगों की मौत, हरियाणा से लौट रहे थे घर

Published

on

उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ में शुक्रवार की सुबह हुए भीषण सड़क हादसे में हरियाणा से बिहार के भोजपुर लौट रहे नौ लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे की है जब नवाबगंज थाना क्षेत्र के वाजिदपुर में ट्रक और स्कॉर्पियो की सीधी भिड़ंत में स्कॉर्पियो के परखच्चे उड़ गए और उसमें सवार नौ लोगों की मौत हो गई।

Pratapgarh Truck Accident

सड़क हादसे में शामिल पांच पुरुष, तीन महिलाएं और एक बच्चे की मौत हो गई तो वहीं स्कॉर्पियो चालक की स्थिति गंभीर बनी हुई है। स्कॉर्पियो को गैस कटर से काटकर गाड़ी में फंसे मृतकों के शवों को बाहर निकाला गया है। जानकारी के मुताबिक ये सभी स्कॉर्पियो से हरियाणा से बिहार जा रहे थे।

जानकारी के मुताबिक ये सभी स्कॉर्पियो से हरियाणा के भिवाड़ी शहर से बिहार के भोजपुर जिला जा रहे थे। मृतकों में अभी तक दो शवों की पहचान हो पाई है। इसमें बिहार के भोजपुर जिले के शाहपुर थाना क्षेत्र के गोसाईगंज के रहने वाले नंदलाल (45) व उनकी पत्नी मीना देवी (38) थे। यह दोनों अपनी बेटी की सगाई के लिए गांव जा रहे थे।

Image

इस घटना में दो घायलों को गंभीर स्थिति में लखनऊ के एक अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। इनके गांव के बहुत से लोग भिवाड़ी शहर में काम करते हैं। पुलिस द्वारा सूचना मिलते ही भोजपुर जिले से घरवाले घटना स्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

कहा जा रहा है कि प्रतापगढ़ के नबाबगंज के वाजिदपुर गांव के पास हाईवे पर भीषण बारिश के चलते कंटेनर ट्रक और स्कार्पियो कार में आमने-सामने टक्कर हो गई, जिससे ये हादसा हुआ है। टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि स्‍कार्पियो पूरी तरह से ट्रक के अंदर घुसी और जाकर उसमें फंस गई और उसमें सवार नौ लोगों की स्कॉर्पियो में ही मौत हो गई।

दुर्घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से किसी प्रकार गैस कटर आदि से स्‍कार्पियो की बॉडी को काटकर शवों को बाहर निकाला है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

INDIA

नाराज होकर मायके जा रही थी पत्नी, पति ने एयरपोर्ट पर फोन कर कहा- महिला को रोको उसके बैग में बम है

Published

on

दिल्ली के इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर मंगलवार शाम उस समय हड़कंप मच गया जब सुरक्षाकर्मियों को महिला के बैग में बम होने की जानकारी मिली। एयरपोर्ट के टर्मिनल 3 पर भुवनेश्वर के लिए उड़ान भरने वाली फ्लाइट के पास केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) का बम निरोधक दस्ता पहुंचा और उसके बैग की जांच की लेकिन उसमें से कोई विस्फोटक नहीं मिला। हालांकि कुछ देर बाद जांच में बम होने की सूचना गलत निकली।

मिली जानकारी के मुताबिक महिला के बैग में बम होने की खबर उसके पति ने ही दी थी। वह नहीं चाहता था कि महिला भुवनेश्वर जाने वाली विमान में बैठे। वरिष्ठ सुरक्षा अधिकारियों ने कहा कि गुरुग्राम में दिल्ली हवाई अड्डे के कॉल सेंटर को शाम 5:45 बजे सूचना मिली थी कि महिला अपने बैग में बम ले जा रही है। बाद में पता चला की यह फेक कॉल था जो महिला के पति द्वारा ही किया गया था। दरअसल, उन दोनों के बीच झगड़ा हुआ था जिसके बाद महिला अपने पति का घर छोड़कर भुवनेश्वर जा रही थी।

पुलिस के मुताबिक, फोन करने वाले शख्स ने सूचना दी थी कि महिला भुवनेश्वर जा रही है। बम की सूचना मिलने पर कॉल सेंटर के अधिकारियों ने दिल्ली हवाई अड्डे के संचालन नियंत्रण केंद्र को सूचित किया। इसके बाद दिल्ली पुलिस और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल को सतर्क किया गया जो हवाई अड्डे को सुरक्षित के लिए तैनात थे। फोन पर शख्स द्वारा बताई गई महिला की पहचान टर्मिनल 3 के बोर्डिंग एरिया में बैठी महिला के रूप में की गई। सुरक्षाबलों ने उसे पूछताछ की और सामान से दूर हटने को कहा, हैंडबैग की जांच करने के बाद उसे जाने दिया गया।

अधिकारी ने कहा कि बम का पता लगाने और बम निरोधी दस्ते को बुलाया गया था। क्योंकि महिला का हैंडबैग पहले से ही हवाई अड्डे की नियमित सुरक्षा जांच से गुजर चुका था, इसलिए उसके किसी भी विस्फोटक को ले जाने की संभावना कम थी। हालांकि, एहतियात के तौर पर क्षेत्र में इंतजार कर रहे अन्य यात्रियों को भी हटने के लिए कहा गया था। शाम करीब 6.45 बजे बम की धमकी को एक झूठा पाया गया। पुलिस उपायुक्त (दिल्ली हवाई अड्डे) राजीव रंजन ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि यह कॉल गुरुग्राम से की गई थी। गुरुग्राम पुलिस से उस व्यक्ति के खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई के लिए संपर्क किया गया है।

Continue Reading
BIHAR8 mins ago

बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय हुए हाईटेक, यूट्यूब चैनल के बाद अब वेबसाइट भी बनाया

INDIA1 hour ago

AAP में शामिल हो सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू, केजरीवाल बोले उनका स्वागत है

BIHAR2 hours ago

UP के प्रतापगढ़ में भीषण सड़क हादसा, बिहार के नौ लोगों की मौत, हरियाणा से लौट रहे थे घर

BIHAR2 hours ago

जून में बंद हो जाएंगे पटना के सभी पीपा पुल, पुल निर्माण निगम ने जारी किया आदेश

BIHAR2 hours ago

गार्ड ने फर्जी SI बनकर रिटायर्ड दारोगा की बेटी से की शादी, दहेज में लिया 12 लाख रुपए

MUZAFFARPUR2 hours ago

प्रधानमंत्री समेत अन्य गण्यमान्यों को लीची भेजने की परेशानी खत्म, उद्यान रत्न किसान ने की व्यवस्था

BIHAR2 hours ago

World Environment Day 2020: पश्चिम चंपारण के इस विद्यालय में नामांकन के समय पौधा लगाते छात्र, जानें कैसे हुई शुरुआत

MUZAFFARPUR2 hours ago

चमकी बुखार से पीड़ित दो बच्चों की मौत, एक एईएस मरीज भर्ती

MUZAFFARPUR3 hours ago

मुजफ्फरपुर के जय अलानी देशभर से भगा रहे ‘भूत-प्रेत’

MUZAFFARPUR4 hours ago

मीनापुर से फिर मजदूरों को लेकर पंजाब गई बस

BIHAR3 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

WORLD4 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 4 जिलों के लिए मौसम विभाग का अलर्ट,वर्षा-वज्रपात और ओलावृष्टि की चेतावनी

TECH4 weeks ago

ज़बरदस्त ऑफर! सिर्फ 22,999 रुपये का हुआ सैमसंग का 63 हज़ार वाला धांसू स्मार्टफोन

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर आ रहें हैं सोनू सूद, कहा साइकिल से घूमेंगे पुरा मुजफ्फरपुर

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 33916 शिक्षकों की होगी बहाली, मैथ और साइंस के होंगे 11 हजार टीचर, यहां देखिये सभी विषयों की लिस्ट

INDIA3 weeks ago

घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग शुरू, पर शर्तें लागू; जानें आपको फायदा मिलेगा या नहीं

TECH7 days ago

आ रहा नोकिया का 43 इंच का TV, जानें कितनी होगी कीमत

INDIA3 weeks ago

भारत के 700 स्टेशनों के लिए चलेगी ट्रेन, रेल मंत्रालय ने कहा- रोज चलेंगी 300 ट्रेनें

Trending