Connect with us
leaderboard image

WORLD

कोरोना के बाद चर्चा में आया ‘HantaVirus’, जानिए इससे जुड़ी सभी जरूरी बातें

Muzaffarpur Now

Published

on

23 मार्च को पहली बार हंता वायरस (HantaVirus) के बारे में दुनिया को पता चला. कोरोना वायरस की तरह ही इस वायरस का केंद्र भी चीन है. हंता वायरस इस समय इसलिए चर्चा में है क्योंकि इसकी वजह से चीन के युन्नान प्रांत में एक शख्स की मौत हो गई है. ये शख्स बस में यात्रा कर रहा था. इसके बाद बस में बैठे बाकी 32 यात्रियों की भी जांच की गई.

हंता के आते ही ट्विटर पर इस वायरस को लेकर तमाम ट्वीट आने लगे और #HantaVirus ट्रेंड करने लगा. लोगों में सबसे ज्यादा डर इस बात को लेकर है कि कहीं कोरोना की तरह हंता वायरस भी पूरी दुनिया में ना फैल जाए. सीडीसी की रिपोर्ट का कहना है कि ये वायरस चूहों की वजह से फैलता है.

अगर कोई शख्स चूहों के मल-मूत्र के संपर्क में आता है और फिर उन्हीं हाथों को अपने मुंह के आस-पास ले जाता है तो उस शख्स में इस वायरस का संक्रमण हो सकता है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक इस वायरस के बारे में पता लगने में 8 हफ्तों का भी समय लग सकता है. अगर कोई शख्स हंता से पीड़ित है तो उसे सर्दी, उल्टी, बुखार, बदन दर्द जैसे लक्षण दिखाई दे सकते हैं.

हंता पीड़ितों को सांस लेने और फेफड़ों में पानी भरने की समस्या भी हो सकती है. मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक ये पहली बार नहीं है जब हंता की वजह से किसी की मौत हुई हो. जनवरी 2019 में पेटागोनिया में नौ लोगों की मौत हंता की वजह से हो गई थी. उस दौरान हंता के करीब 60 मामले सामने आए थे. मिली जानकारी के मुताबिक कोरोना की तरह इस वायरस का भी कोई तय इलाज नहीं है.

WORLD

कोरोना के बीच चीन में आया नया जानलेवा ‘हंता’ वायरस, एक की मौत

Ravi Pratap

Published

on

चीन अभी पूरी तरह से कोरोना वायरस की जकड़ से निकल भी नहीं पाया है कि वहां एक नए वायरस के प्रकोप की खबरें आ रही हैं. चीन के सरकारी मीडिया संस्थान ग्लोबल टाइम्स के अनुसार चीन के यूनान प्रांत में नया वायरस फैला है. इससे एक इंसान की मौत हो गई है. इसका नाम है हंता वायरस (Hantavirus). यूएस सेंटर फॉर डिजीस एंड कंट्रोल द्वारा जारी हंता वायरस की तस्वीर

 

ग्लोबल टाइम्स के अनुसार हंता वायरस से पीड़ित व्यक्ति बस से शाडोंग प्रांत लौट रहा था. तभी कोरोना की जांच के दौरान इस वायरस का पता चला. इस बस में कुल 32 लोग थे. सभी यात्रियों की जांच की गई. जब से चीन ने यह जानकारी शेयर की है. तब से सोशल मीडिया पर हंगामा मचा हुआ है।

यूएस सेंटर फॉर डिजीस एंड कंट्रोल के अनुसार हंता वायरस चूहों के मल, मूत्र और थूक में होता है. इससे इंसान तब संक्रमित होता है जब चूहे इसे हवा में छोड़ देते हैं. हंता वायरस सांस के जरिए शरीर में जाता है.

इसके शुरुआती लक्षण में इंसानों को ठंडी लगने के साथ बुखार आता है. इसके बाद मांसपेशियों में दर्द होने लगता है. एक दो दिन बाद सूखी खांसी आती है. सर में दर्द होता है. उलटियां होती हैं. सांस लेने में दिक्कत होने लगती है.

यह ज्यादातर चीन के ग्रामीण इलाकों में होता है. इसकी वजह से कई बार पर्वतारोहियों और कैंपिंग करने वाले पर्यटकों को दिक्कत हो चुकी है. हालांकि, यह कोरोना वायरस की तरह घातक नहीं है.

अब चीन में बड़ी संख्‍या में लोग ट्वीट करके यह डर जता रहे हैं कि यह कहीं कोरोना वायरस की तरह से ही महामारी न बन जाए. लोग कह रहे हैं कि अगर चीन के लोग जानवरों को जिंदा खाना बंद नहीं करेंगे तो यह होता रहेगा

Input : Aaj Tak

Continue Reading

WORLD

WHO चीफ बोले- कोरोना वायरस की तेजी से बढ़ रही रफ्तार, फुटबॉल की इस टेक्निक से रोक सकते हैं प्रसार

Santosh Chaudhary

Published

on

जेनेवा.विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने सोमवार को आगाह किया कि कोविड-19 महामारी स्पष्ट तौर पर ‘तेज गति से फैल रही है’. हालांकि, संगठन ने कहा कि प्रकोप के ‘इस रुख को बदलना ‘ संभव है. संगठन के प्रमुख टेड्रॉस गेब्रयासस ( Tedros Adhanom Ghebreyesus) ने पत्रकारों से कहा, ‘ महामारी तेज हो रही है.’ उन्होंने कहा, ‘पहले मामले से 100,000 मामले तक पहुंचने में 11 दिन लगे, दूसरे 100,000 मामले पहुंचने में भी 11 दिन लगे और तीसरे 100,000 मामले सिर्फ चार दिनों में सामने आए. हालांकि उन्होंने ये भी कहा, ‘हम असहाय नहीं हैं. हम इस महामारी पर जीत हासिल कर सकते हैं.’

टेड्रोस ने कहा, ‘हम असहाय नहीं हैं. हम इस महामारी के लक्षण को बदल सकते हैं.’ एक मिश्रित दृष्टिकोण का आह्वान करते हुए टेड्रोस ने कोरोना के खिलाफ कार्रवाई को फुटबॉल मैच से जोड़ा. फीफा और (डब्ल्यूएचओ) ने विश्व-प्रसिद्ध फुटबालरों के नेतृत्व में कोरोना वायरस के खिलाफ एक नया जागरूकता अभियान शुरू किया है. इस अभियान के जरिए दुनिया भर के लोगों से बीमारी के प्रसार को रोकने के लिए पांच प्रमुख चरणों का पालन करने का आह्वान किया गया है.

अगर अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं तो घर में रहें

इस अभियान का नाम ‘पास द मैसेज टू किक आउट कोरोना वायरस (कोरोना वायरस को हराने के लिए संदेश फैलाये) है, जिसमें डब्ल्यूएचओ के मार्गदर्शन में लोगों को लोगों के स्वास्थ्य के लिए पांच प्रमुख चरणों को बढ़ावा दिया जा रहा है. इसमें हाथ धोना, खांसने से जुड़ा शिष्टाचार, चेहरे को छूने से बचना, शारीरिक दूरी और अगर अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं तो घर में रहना शामिल है.

इस वीडियो अभियान को 13 भाषाओं में तैयार किया गया है, जिसमें 28 खिलाड़ियों में पूर्व भारतीय कप्तान छेत्री, अर्जेंटीना के सुपरस्टार लियोनेल मेसी के अलावा फिलिप लाहम, इकर कैसिलास और कार्ल्स पुयोल जैसे विश्व कप विजेता खिलाड़ी शामिल हैं.

डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक डॉ. टी.ए. घेब्रेसस ने स्विट्जरलैंड के जिनेवा में डब्ल्यूएचओ मुख्यालय से अभियान की शुरुआत में कहा, ‘फीफा और उसके अध्यक्ष जियान्नी इन्फेंटिनो शुरू से ही इस महामारी के खिलाफ संदेश देने में सक्रिय रूप से शामिल रहे हैं.’

इन्फेंटिनो ने कहा, ‘हमें कोरोनो वायरस का मुकाबला करने के लिए टीम वर्क की आवश्यकता है. फीफा ने डब्ल्यूएचओ के साथ मिलकर यह काम किया है क्योंकि स्वास्थ्य पहले आता है. मैं दुनिया भर के फुटबाल समुदाय का आह्वान करता हूं कि इस अभियान को आगे बढ़ाने और संदेश को प्रसारित करने में हमारा साथ दें.’ इस दौरान WHO चीफ ने कहा कि ‘फुटबॉल मैच को सिर्फ डिफेंड कर के नहीं जीता जा सकता है बल्कि अटैक भी करना होगा.’

टेड्रोस ने कहा, ‘लोगों को घर पर रहने और अन्य शारीरिक दूरी बनाये रखनी होगी यह वायरस के प्रसार को धीमा करने और समय हासिल करने का महत्वपूर्ण तरीका है, लेकिन वे रक्षात्मक उपाय हैं जो हमें जीतने में मदद नहीं करेंगे.’ उन्होंने कहा ‘जीतने के लिए, हमें आक्रामक और लक रणनीति के साथ वायरस पर हमला करने की आवश्यकता है. हर संदिग्ध मामले का परीक्षण, अलग-थलग करना और हर पुष्ट मामले की देखभाल करना और हर करीबी संपर्क का पता लगाना और आइसोलेट करना हमारी प्राथमिकता में शामिल होना चाहिए.’

कई देश अधिक आक्रामक उपाय करने के लिए संघर्ष कर रहे

इस दौरान डब्ल्यूएचओ प्रमुख ने स्वीकार किया कि संसाधनों की कमी और परीक्षणों तक पहुंच के कारण कई देश अधिक आक्रामक उपाय करने के लिए संघर्ष कर रहे है. टेड्रोस ने COVID -19 के उपचार के लिए एक वैक्सीन और दवाओं को खोजने के लिए अनुसंधान और विकास में लगाए जा रहे उर्जा की प्रशंसा की.

हालांकि उन्होंने कहा कि ‘वर्तमान में कोई इलाज नहीं है जो Covid​-19 के खिलाफ प्रभावी साबित हुआ है. उन्होंने उन दवाओं के इस्तेमाल से चेताया जो बीमारी के खिलाफ काम नहीं कर रहीं. उन्होंने कहा कि ‘बिना सही साक्ष्य के बिना परीक्षण वाली दवाओं का इस्तेमाल करने से झूठी उम्मीदें जग सकती हैं और यह लाभ के बजाए ज्यादा नुकसान कर सकती हैं और आवश्यक दवाओं की कमी हो सकती है जिनकी जरूरत अन्य बीमारियों के उपचार में होती हैं.’ अन्य बातों के अलावा, देश नए कोरोनोवायरस के खिलाफ उपचार के रूप में एंटीमाइरियल दवाओं का उपयोग कर रहे हैं.

Input : News18

Continue Reading

BIHAR

14 हाथी शराब के स्टोर रूम में घुसे, 2 ने 30 लीटर शराब पी और चाय बागान में सो गए, फोटो वायरल

Santosh Chaudhary

Published

on

युन्नान. दक्षिण पश्चिम चीन के युन्नान प्रांत के एक गांव में 14 हाथियों का एक दल शराब के स्टोर रूम में घुस गया। हाथियों ने यहां उत्पात तो मचाया ही, शराब बनाने की सामग्री को गिरा दिया। दो हाथी वहां रखी मक्के से बनी 30 लीटर शराब भी पी गए। शराब पीकर वे मस्त होकर जंगल की ओर निकल गए।

इसके बाद यह हाथियों का दल चाय के बागानों में पहुंचा। चाय बागान में शराबी हाथियों को संतुलन बिगड़ने लगा। दोनों कुछ देर एक दूसरे का सहारा बने रहे। फिर दोनों वहीं सो गए। यह घटना गांव के सीसीटीवी में कैद हो गई जो वायरल हो रही है।

चाय के बागान में हाथी।

वहीं, शराब के नशे में सो रहे हाथियों की तस्वीरें जुजोउ बिंगबिंग ने वीबो और ट्विटर पर शेयर की हैं। बिंगबिंग ट्रैवल फोटोग्राफर हैं। इसे अब तक एक लाख 40 हजार के लाइक्स मिल चुके हैं।

शराब स्टोर, जिसमें हाथी घुसे थे।

शिन्हुआंग्बना दाई प्रान्त के मेंघई गांव के लोगों को दावा है कि 14 हाथियों में से सिर्फ दो ने स्टोर रूम में उत्पात मचाया और शराब पी थी। ट्विटर पर वायरल होने के बाद युन्नान प्रांत के अधिकारियों ने खुलासा किया कि यह घटना पिछली गर्मियों की है।

 

Continue Reading
INDIA10 mins ago

गृह मंत्री ने डॉक्टरों को परेशान करने वाले मकान मालिकों पर सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश

WORLD15 mins ago

कोरोना के बाद चर्चा में आया ‘HantaVirus’, जानिए इससे जुड़ी सभी जरूरी बातें

EDUCATION19 mins ago

इंटर का रिजल्ट जारी, नेहा कुमारी साइंस में , कौसर फातमा और सुधांशु नारायण चौधरी कॉमर्स एवं साक्ष्य कुमारी बनी आर्ट में टॉपर

BIHAR36 mins ago

आज रात 12 बजे के बाद पुरे देश में लॉक डाउन : पीएम मोदी

INDIA2 hours ago

एम्‍स के रेजीडेंट डॉक्‍टरों ने गृहमंत्री शाह से लगाई गुहार, कहा- घर से निकाल रहे हैं मकान मालिक

BIHAR2 hours ago

बिहार बोर्ड 12वीं रिजल्ट जारी, 80.44% पास

BIHAR3 hours ago

थोड़ी देर में आएगा बिहार इंटरमीडिएट का रिजल्ट, बोर्ड की वेबसाइट पर जारी होगा परिणाम

BIHAR3 hours ago

पटना : नगर निगम का स्टाफ बताने पर भी नहीं मानें पुलिस वाले, मारा ऐसा कि फट गया सिर

WORLD3 hours ago

कोरोना के बीच चीन में आया नया जानलेवा ‘हंता’ वायरस, एक की मौत

INDIA5 hours ago

SBI की बेहतरीन पहल- बैंकों में अब सैनिटाइज्ड नोट, लेनदेन में बरती जा रही सतर्कता

cheating-on-first-day-of-haryana-board-exam
INDIA3 weeks ago

बिहार तो बेवजह बदनाम है… हरियाणा बोर्ड परीक्षा में शिखर पर नकल

BIHAR1 week ago

जूली को लाने सात समंदर पार पहुंचे लवगुरु मटुकनाथ, बोले- जल्द ही होंगे साथ

INDIA4 weeks ago

दं’गा’ईयों को दे’खते ही गो’ली मा’रने के आ’देश, ला’उडस्प’कर से पु’लिस कर रही ऐ’लान

INDIA4 weeks ago

दिल्ली हिं’सा के दौरान फाय’रिंग करने वाले उप’द्रवी शा’हरुख को पु’लिस ने किया गिर’फ्तार

BIHAR4 weeks ago

आम्रपाली दुबे को होली में लग रहा है देवर से डर, र‍िलीज होते ही छाया गाना

INDIA2 days ago

PM मोदी को पटना के बेटे ने दिए 100 करोड़ रुपये, कहा – और देंगे, थाली भी बजाई

BIHAR4 weeks ago

पहले दिन से हीं दरभंगा में एम्स और एयरपोर्ट की स्थापना मेरी ज़िद : सीएम नितीश कुमार

BIHAR7 days ago

बिहार में 81 एक्सप्रेस और 32 पैसेंजर ट्रेनें दो सप्ताह के लिए रद्द, देखें लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

बड़ी खुशखबरी: बिहार में घरेलू गैस की अब नहीं होगी किल्लत, बांका में नया प्लांट शुरू

INDIA4 weeks ago

“आप” पार्षद, ताहिर हुसैन ने मारा अंकित को, खूब भड़काया दंगा

Trending