Connect with us

INDIA

कोरोना वैक्सीन बनाने में बड़ी कामयाबी की ओर भारत, PGI चंडीगढ़ में 6 मरीजों पर टेस्ट में मिली सफलता

Published

on

कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए आज पूरी दुनिया जद्दोजेहद कर रही है. तमाम विकासशील और विकसित देश कोरोना की वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं. इसी रास्ते में भारत को एक बड़ी कामयाबी मिलती हुई दिख रही है. क्योंकि वैकल्पिक दवा को लेकर पीजीआई चंडीगढ़ को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है. पीजीआई चंडीगढ़ ने दावा किया है कि कोरोना वायरस की वैकल्पिक दवा के तौर पर शुरू किए सेफ्टी ट्रायल में सकारात्मक परिणाम मिले हैं.

चंडीगढ़ केशरी में छपी खबर

पीजीआई चंडीगढ़ ने कुष्ठ रोग के इलाज में दी जाने वाली दवा माइकोवैक्टेरियम डब्ल्यू (MW) वैक्सीन को 6 मरीजों पर आजमाया है, जिसके सकारात्मक परिणाम नजर आए हैं. पीजीआई का दावा है कि जिन्हें कोरोना ट्रीटमैंट के दौरान ऑक्सीजन की जरूरत थी, उन मरीजों को MW वैक्सीन की 0.3 एम.एल दवा का इंजेक्शन देने से काफी सुधार हुआ है.

दो दिन पहले काउंसिल ऑफ साइंस एंड इंडस्ट्रीयल रिसर्च (CSIR) ने कोरोना वायरस पर कुष्ठ रोग में इस्तेमाल होने वाली वैक्सीन माइकोवैक्टेरियम डब्ल्यू (MW) का क्लीनिक ट्रायल की मंजूरी दी थी. पीजीआई चंडीगढ़ के अलावा कोरोना मरीजों पर इस दवा का ट्रायल ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैडिकल साइंस (एम्स) दिल्ली और भोपाल में भी किया जा रहा है. चंडीगढ़ के पीजीआई में इस समय कोरोना के 12 मरीजों का इलाज चल रहा है.

Advertisement

पीजीआई प्रबंधन का कहना है कि इन मरीजों पर डॉक्टरों ने लगातार तीन दिन तक यह दवा प्रयोग की और पाया गया कि मरीज पर वैक्सीन का इस्तेमाल बिल्कुल सुरक्षित और सकारात्मक है. बता दें कि इस दवा का इस्तेमाल पहले कुष्ठ, तपेदिक और निमोनिया ग्रस्त पेशेंट्स पर भी किया गया था और उनमें भी दवा के इस्तेमाल को सुरक्षित पाया गया था. अब कोरोना के पेशेंट्स पर भी दवा सुरक्षित पाई गई है.

पीजीआई चंडीगढ़ ने भारत सरकार के विश्वास बरकरार रखा है. अगर इसको सरकार से मंजूरी मिल जाती है तो आने वाले दिनों में यह वैक्सीन कोरोनो के मरीजों पर और जगहों पर भी आजमाया जाएगा. CSIR गुजरात की फार्मा कंपनी कैडिला हेल्थकेयर लिमिटेड के साथ मिलकर MW वैक्सीन का कोरोना वायरस पर क्लीनिकल ट्रायल आगे भी जारे रहेगी. इस क्लीनिकल ट्रायल में PGI चंडीगढ़ के साथ दिल्ली एम्स और भोपाल के एम्स को भी मंजूरी मिली है.

Advertisement

पीजीआई डायरेक्टर प्रो. जगत राम के ने इससे पहले ही कहा था कि ड्रग के ट्रायल को लेकर एथिकल कमेटी से बात चल रही है. पीजीआई चंडीगढ़ के पलमोनरी डिपार्टमेंट को एचओडी प्रो. आशुतोष अग्रवाल और रितेश अग्रवाल इस पर काम करेंगे. इजाजत मिलते ही ट्रायल शुरू कर दिया गया है. मरीजों की हलात में काफी सुधार देखें जा रहे हैं. इस कोरोना वैक्सीन को सीएसआईआर (काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रीयल रिसर्च) का भी योगदान दिया जा रहा है. यह वैक्सीन अपने पहले चरण से गुजर चुकी है. जिसके रिजल्ट अच्छे रहे हैं. क्लीनिकल ट्रायल को 3 चरणों में पूरा किया जायेगा

पीजीआई डायरेक्टर प्रो. जगत राम के ने इससे पहले ही कहा था कि ड्रग के ट्रायल को लेकर एथिकल कमेटी से बात चल रही है. पीजीआई चंडीगढ़ के पलमोनरी डिपार्टमेंट को एचओडी प्रो. आशुतोष अग्रवाल और रितेश अग्रवाल इस पर काम करेंगे. इजाजत मिलते ही ट्रायल शुरू कर दिया गया है. मरीजों की हलात में काफी सुधार देखें जा रहे हैं. इस कोरोना वैक्सीन को सीएसआईआर (काउंसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंडस्ट्रीयल रिसर्च) का भी योगदान दिया जा रहा है. यह वैक्सीन अपने पहले चरण से गुजर चुकी है. जिसके रिजल्ट अच्छे रहे हैं. क्लीनिकल ट्रायल को 3 चरणों में पूरा किया जायेगा.

Advertisement

Input : First Bihar

 

Advertisement
Advertisement

INDIA

सिम कार्ड खरीदना अब नहीं होगा आसान, सरकार ने जारी किए नए नियम

Published

on

कुछ लोगों के लिए नया सिम कार्ड खरीदना पहले जैसा आसान नहीं होगा. पहले कोई व्यक्ति जितना चाहे, जब चाहे सिम कार्ड खरीद सकता था. इसके लिए बस एक पहचान पत्र देने की जरूरत होती थी. लेकिन सरकार ने इसके नियम में बदलाव किया है. नए नियम के मुताबिक सिम कार्ड खरीदना अब कठिन हो गया है. हालांकि इसके दायरे में सभी लोग नहीं आएंगे बल्कि कुछ लोगों के लिए ही सिम लेना मुश्किल होगा. सबसे खास नियम यह होगा कि 18 साल से कम उम्र के लोगों को टेलीकॉम कंपनियां नया सिम कार्ड नहीं देंगी. 18 से ऊपर की उम्र है तो सिम लेने के लिए कुछ खास नियम तय किए गए हैं. सबसे जरूरी बात, यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया यानी कि UIDAI से वेरिफिकेशन होने पर ही सिम कार्ड लिए जा सकेंगे.

18 साल से अधिक उम्र के लोगों को नया सिम कार्ड लेने के लिए आधार देना होगा या डिजिलॉकर में सेव किसी दस्तावेज से खुद को वेरिफाई करना होगा. ये सभी काम ऑनलाइन भी किए जा सकते हैं और इसके लिए केवाईसी भी ऑनलाइन की जाएगी. ऑनलाइन सिम कार्ड की बुकिंग कर सकते हैं जिसकी डिलीवरी घर के पते पर की जाएगी. यूआईडीएआई ने ईकेवाईसी का नियम तय किया है. उसके मुताबिक केवाईसी कराकर सर्टिफिकेट लेना होगा. इस पूरी प्रक्रिया के लिए 1 रुपये का पेमेंट करना होगा.

Advertisement

किसे मिलेगा सिम कार्ड

अब यह बात भी जान लेते हैं कि किसे सिम कार्ड नहीं मिलेगा. 18 साल से कम उम्र के यूजर के लिए सिम कार्ड जारी नहीं होगा. कोई व्यक्ति अगर मानसिक रूप से बीमार है तो उसके प्रूफ पर सिम कार्ड जारी नहीं हो सकता. यानी ऐसे लोगों के नाम पर सिम कार्ड नहीं मिलेगा. इन नियमों का उल्लंघन करते हुए या जानकारी छिपा कर सिम कार्ड लिया जाए तो सिम जारी करने वाली कंपनी को दोषी माना जाएगा और उसके खिलाफ कार्रवाई होगी.

Advertisement

वैसे लोगों के लिए सिम खरीदना आसान होगा जिनका यूआईडीएआई से वेरिफिकेशन हो जाए. अगर वेरिफिकेशन नहीं हो तो सिम कार्ड लेना मुश्किल होगा. अब सबकुछ यूआईडीएआई से वेरिफिकेशन पर निर्भर करेगा. मोबाइल और सिम कार्ड के जरिये होने वाले फ्रॉड पर शिकंजा कसने के लिए यह नया नियम लाया गया है. सिम कार्ड से जुड़े ये नए नियम टेलीकॉम विभाग ने जारी किए हैं जिन्हें कैबिनेट की मंजूरी मिली है.

UIDAI वेरिफिकेशन जरूरी

Advertisement

नए नियम में कहा गया है, अब ग्राहक यूआईडीएआई आधारित वेरिफिकेशन के माध्यम से अपने घर पर सिम प्राप्त कर सकते हैं. डीओटी के मुताबिक, ग्राहकों को मोबाइल कनेक्शन ऐप/पोर्टल आधारित प्रक्रिया के जरिए दिया जाएगा, जिसमें ग्राहक घर बैठे मोबाइल कनेक्शन के लिए आवेदन कर सकते हैं. दरअसल, ग्राहकों को पहले मोबाइल कनेक्शन के लिए या मोबाइल कनेक्शन को प्रीपेड से पोस्टपेड में बदलने के लिए केवाईसी प्रक्रिया से गुजरना पड़ता था. इस नियम को और भी सख्त किया गया है.

Source : TV9

Advertisement

nps-builders

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Continue Reading

INDIA

‘धाकड़’ के धड़ाम होने के बाद कंगना रनौत के पास आई ‘इमरजेंसी’, ‘पंगा गर्ल’ ने समझाया सारा माजरा

Published

on

कंगना रनौत इन दिनों फिल्म ‘धाकड़’ को लेकर सुर्खियों में हैं. स्पाई थ्रिलर फिल्म ‘धाकड़’ को लेकर दबरदस्त बज बना हुआ था. फिल्म को लेकर कंगना रनौत और ‘धाकड़’ की टीम ने जमकर प्रमोशन भी किया, लेकिन कार्तिक आर्यन और कियारा आडवाणी की फिल्म ‘भूल भुलैया 2’ कंगना की  ‘धाकड़’ के धड़ाम हो गई. ‘धाकड़’ के बाद ‘पंगा गर्ल’ के पास अब ‘इमरजेंसी’ आ गई है, जिसका जिक्र उन्होंने खुद किया.

कंगना रनौत सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. अपने पोस्ट के जरिए वह फैंस को अपने करियर के बारे में अपडेट्स देती रहती हैं. हाल ही में उन्होंने फिल्म ‘धाकड़’  के फ्लॉप होने के बाद ‘इमरजेंसी’ के बारे में फैंस को बताया है.

Advertisement

 ‘धाकड़’ के बाद  ‘इमरजेंसी’ में ‘पंगा क्वीन’


‘पंगा गर्ल’ ने ‘धकाड़’ के बाद अपनी आगामी फिल्म ‘इमरजेंसी’ की घोषणा कर दी है. उन्होंने सोशल मीडिया पर अपनी आगामी फिल्म का ऐलान एक तस्वीर के साथ किया है.  कंगना इंडस्ट्री की उन एक्ट्रेसेस में से एक हैं, जो अपने अलग-अलग किरदारों से ये साबित कर चुकी हैं कि एक्सपेरिमेंट करना उन्हें बेहद पसंद है. ‘धाकड़’ में निडर एजेंट ‘अग्नि’ की भूमिका निभाने के बाद, कंगना अपने अगले प्रोजेक्ट ‘इमरजेंसी’ के साथ अपने फैंस को प्रभावित करने के लिए पूरी तरह तैयार हैं. फिल्म ‘इमरजेंसी’ के जरिए वह पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के किरदार में नजर आने वाली हैं.

Advertisement

Kangana Ranaut, Kangana Ranaut News, Kangana Ranaut Upcoming Film, Kangana Ranaut set to play PM Indira Gandhi role, Kangana Ranaut Next Film Emergency, कंगना रनौत, कंगना रनौत की नई फिल्म

इमरजेंसी क्रू के साथ शुरू हुआ डिस्कशन


कंगना ने अपनी ‘इमरजेंसी’ की क्रू के साथ इंस्टा स्टोरी पर एक तस्वीर शेयर की है, जिसमें वह फिल्म पर डिस्कशन करती हुईं नजर आ रहीं हैं. इस स्टोरी को पोस्ट करते हुए कंगना ने लिखा, ‘इमरजेंसी क्रू, फिल्म की शूटिंग जल्द ही शुरू होगी’.

Advertisement

अदाकारी के साथ निर्देशन की कमाल संभालेंगी कंगना


मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो कंगना इस फिल्म में न सिर्फ पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी का किरदार निभाएंगी, बल्कि वह निर्देशन की कमान को भी संभालते हुए नजर आएंगी.

Advertisement

21 महीने तक देश में लगी थी इमरजेंसी


आपको बता दें कि साल 1975 में प्रधानमंत्री रहीं इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाए जाने की घोषणा की थी, जिसके बाद 25 जून 1975 से 21 मार्च 1977 तक 21 महीने तक पूरे देशभर में इमरजेंसी लगी थी.

Advertisement

Source : News18

nps-builders

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Advertisement
Continue Reading

INDIA

यात्रियों को फ्लाइट में खराब सीट देना अब बहुत महंगा पड़ेगा एयरलाइन्‍स को

Published

on

हवाई यात्रा करने वाले बहुत से यात्रियों की यह शिकायत रहती है कि एयरलाइन्‍स कंपनी ने उन्‍हें फ्लाइट में जो सीट उपलब्‍ध कराई थी, वह अच्‍छी स्थिति में नहीं थी. इस तरह की आ रही शिकायतों पर संज्ञान लेते हुए अब नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) ने सभी एयरलाइन्‍स को चेतावनी दी है कि वे घरेलू और अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के दौरान अनुपयोगी सीट पर यात्रियों की बुकिंग ना करें. विमानन नियामक ने यह भी कहा कि इस संबंध में दिशानिर्देशों का पालन नहीं करने को गंभीरता से लिया जाएगा.

मनीकंट्रोल डॉट कॉम की एक रिपोर्ट के अनुसार, डीजीसीए ने कहा है कि विमान में कोई भी ऐसा उपकरण या पार्ट नहीं लगाया जा सकता जो निर्धारित डिजाइन और मानकों के अनुसार न हो. डीजीसीए ने कहा कि विमानन कंपनियों के इस तौर-तरीके से न केवल यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड़ता है, बल्कि यह गंभीर सुरक्षा चूक भी है.

Advertisement

डीजीसीए के ऑडिट में भी मिली खामियां

गौरतलब है कि पिछले सप्‍ताह ही डीजीसीए ने विमानों में सीट और केबिन में लगने वाली अन्‍य चीजों का ऑडिट किया था. इस ऑडिट में डीजीसीए को विमानों के अंदर टूटी हुई सीटें मिली थी. इसके अलावा पहले भी यात्री लगातार विमान में सीटों के खराब या गंदी होने की शिकायतें करते रहे हैं.

Advertisement

लगातार आ रही हैं शिकायतें

विमानों में खराब सीट की शिकायतें लंबे समय से आ रही हैं. 24 मई को दिल्‍ली-लंदन के बीच चलने वाली एयर इंडिया  की फ्लाइट 3 घंटे इसलिए लेट हो गई, क्‍योंकि एक पैसेंजर को खराब सीट दी गई थी. पिछले महीने ही डीजीसीए ने एयर इंडिया को अपने विमानों के इंटीरियर की मरम्‍मत करने का आदेश दिया था. यह आदेश सोशल मीडिया पर एयर इंडिया के विमान के जर्जर इंटीरियर की फोटो वायरल होने के बाद दिया गया. एक पैसेंजर ने ही एयर इंडिया के एयरबस ए320 विमान के खराब इंटीरियर की ये फोटो ली थी. इन फोटो में सीटों के हत्‍थे टूटे हुए साफ नजर आ रहे हैं. अप्रैल 2022 में ही डीजीसीए ने स्‍पाइजेट के एक विमान को भी गंदी सीटों और केबिन पैनल खराब होने की शिकायत आने पर उड़ान भरने से रोक दिया था.

Advertisement

Source : News18

nps-builders

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

Advertisement
Continue Reading
VIRAL11 mins ago

25 की स्पीड पर दो टुकड़ों में बंटा ओला स्कूटर

BIHAR15 mins ago

बिहार : 40 दिन के बच्चे के पेट में मिला भ्रूण, डॉक्टर भी हैरान

BIHAR29 mins ago

तलाक की अर्जी पर कोर्ट में आज दूसरी पत्नी से होगा पवन सिंह का सामना

MUZAFFARPUR2 hours ago

दुनिया की ताकतवर महिलाओं में शामिल हुई मुजफ्फरपुर की बेटी रेणु पासवान

MUZAFFARPUR2 hours ago

कांटी बिजली घर से अब नहीं मिलेगी मुफ्त फ्लाई ऐश, नीलामी होगी

BIHAR3 hours ago

पटना पहुंचे लालू यादव की गाड़ी समर्थकों की भीड़ में फंसी, तेज प्रताप को जोड़ना पड़ा हाथ

VIRAL9 hours ago

अमेजन पर 26 हज़ार रुपये में बिकी प्लास्टिक की बाल्टी, लोग बोले- किडनी बेचकर खरीदें क्या

BIHAR10 hours ago

इंजीनियरिंग कॉलेजों में शिक्षक-कर्मियों की नियुक्ति जल्द : सीएम नीतीश

MUZAFFARPUR10 hours ago

आचार संहिता उल्लंघन के दो अलग-अलग मामलों में सांसद अजय निषाद पर आरोप गठित

BIHAR10 hours ago

बिहार विधान परिषद की 7 सीटों के लिए 20 जून को होगी वोटिंग, नामांकन 2 जून से

BIHAR3 weeks ago

बिहार में अनोखी शादी: 36 इंच का दूल्हा, 34 इंच की दुल्हन…इस शादी में बिन बुलाए पहुंच गए हजारों लोग

BIHAR3 weeks ago

बिहार : शादी के 42 साल बाद अपनी दुल्हन लेने पहुंचा दूल्हा, 8 बेटी-बेटे भी बने ‘बाराती’

VIRAL2 weeks ago

तस्वीर ने आंखों को किया नम, इस मां को हर कोई कर रहा है सलाम

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर के तीन प्रखंडों से होकर गुजरेगा रिंग रोड

BIHAR1 week ago

पटना एनआईटी पासआउट गौरव आनंद निकला बीपीएससी पेपर लीक का मास्टरमाइंड, पटना में बना रखा था कंट्रोल रूम

BIHAR3 weeks ago

बिहार : ड्राइवर की नौकरी करने वाला शख्‍स रातोंरात बना करोड़पति, Dream-11 में ₹59 लगाकर जीते ₹2 करोड़

BIHAR3 weeks ago

समस्तीपुर : पापा रोज मेरे साथ करते हैं गंदी हरकतें, मां से कहती तो मुझे ही दोषी बताती… बेटी ने बताई टीचर पिता की दरिंदगी

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर डीएम स्कूल पहुँच बने शिक्षक, बच्चियों का फर्राटेदार जवाब सुन बोले- बच्चियां किसी से कम नहीं

BIHAR4 weeks ago

भोजपुरी सुपरस्टार पवन सिंह लेने जा रहे तलाक, पत्नी का आरोप- कराया दो बार अबॉर्शन, किया प्रताड़‍ित

BIHAR7 days ago

बिहार के स्कूलों में गर्मी की छुट्टी घोषित, 23 दिनों तक बंद रहेंगे सभी प्राइवेट व सरकारी स्कूल

Trending