Connect with us

DHARM

खुदाई में निकला था मां गंगा का चमत्कारिक मंदिर, आज भी देवी की मूर्ति से निकलता है पानी

Muzaffarpur Now

Published

on

भारत को मान्यताओं का देश कहा जाता है। यहां पत्थरों को भी भगवान का दर्जा दिया जाता है। लोगों की इसी आस्था को कई बार देश के अलग-अलग हिस्सों में होने वाले चमत्कार सही साबित करते दिखते हैं। कुछ ऐसा ही अजूबा झारखंड में मौजूद एक चमत्कारिक मंदिर में देखने को मिलता है। जिसका नाम टूटी झरना मंदिर (Tuti Jharna Temple) है। ये प्राचीन मंदिर अंग्रेजों के काल में खुदाई के दौरान जमीन से निकाली गई थी। यहां मां गंगा की एक अद्भुत मूर्ति मिली थी, जिसकी नाभि से पानी निकलता है। वहीं एक शिवलिंग भी मिला था। हैरानी की बात यह है कि देवी मां की मूर्ति से निकलने वाला जल अपने आप उनके हाथों से होता हुआ शिवलिंग पर गिरता है। जिसे प्राकृतिक अभिषेक का स्त्रोत माना जाता है।

Lord Shiva Ganga River tuti jharna mandir jharkhand | झारखंड: रहस्यमयी है रामगढ़ का टूटी झरना मंदिर, मां गंगा खुद करती हैं भोले का जलाभिषेक

सदियों से चली आ रही ये प्रथा आज भी जारी है। मां गंगा की मूर्ति से पहले की ही तरह जल निकलता है। मान्यता है कि ये जल कभी भी किसी मौसम में सूखता नहीं है। ये देवी मां के चमत्कार को दर्शाता है। मंदिर के इस अद्भुत चमत्कार की कथा को सुन दूर-दूर से भक्त यहां दर्शन को आते हैं और मूर्ति से निकलने वाले जल का सेवन करते हैं। भक्तों का दावा है कि ऐसा करने से उन्हें कई तरह के रोगों से छुटकारा मिलता है, साथ ही उनके कष्ट दूर होते हैं।

रामगढ़ स्थित टूटी झरना मंदिर में पूरी होती है हर मनोकामना, महादेव पर स्वयं होता है जलाभिषेक | BNN BHARAT NEWS

झारखंड के रामगढ़ जिले में स्थित इस मंदिर की खोज अंग्रेजों ने की थी। पौराणिक धर्म ग्रंथों के अनुसार सन् 1925 में अंग्रेज इस जगह पर रेलवे लाइन बिछाने का काम कर रहे थे। तभी खुदाई के दौरान उन्हें जमीन के नीचे एक गुम्बद—सी चीज दिखाई दी थी। बाद में मिट्टी को खोदने पर उन्हें पूरा मंदिर नजर आया था। मंदिर में मां गंगा की सफेद रंग की प्रतिमा भी है। मंदिर परिसर में दो नल भी बहुत चमत्कारिक है। बताया जाता है कि इससे भी हमेशा पानी निकलता रहता है। इसके लिए हैंडपंप चलाने की जरूरत नहीं पड़ती है। लोगों के मुताबिक मां गंगा भक्तों की प्यास बुझाने के लिए हैंडपंप से निरंतर बहती रहती हैं। जो भक्त इस जल का सेवन करता है उसे कष्टों से मुक्ति मिलती है।

Source : Patrika 

DHARM

बिना बेलपत्र अधूरी मानी जाती है भगवान शिव की पूजा, जा’निए महत्व

Muzaffarpur Now

Published

on

सोमवार का दिन भगवान शिव को समर्पित होता है. इस दिन भगवान शिव की पूजा करने से सभी परेशानी दूर हो जाती है. कई लोग सोमवार के दिन व्रत भी रखते हैं. भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भांग, धतूरा और बेलपत्र चढ़ाते हैं. ऐसा मान्यता है कि शिवलिंग पर बेलपत्र अर्पित करने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं और बिना बेलपत्र के उनकी पूजा अधूरी मानी जाती है. आइए जानते हैं बेलपत्र के महत्व के बारे में और क्यों प्रिय है भगवान शिव को बेलपत्र.

सावन शिवरात्रि विशेष: भगवान शिव के प्रिय ये पत्ते स्वास्थ्य के लिए होते हैं फायदेमंद | न्यूजबाइट्स

बेलपत्र का महत्व

बेल की पत्तियों को बेलपत्र कहते हैं. बेलपत्र में तीन पत्तियां एक साथ जुड़ी होती हैं लेकिन इसे एक पत्ती गिना जाता है. बेलपत्र चढ़ाने से भगवान शिव प्रसन्न होते हैं. इससे चढ़ाने से आपकी सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है. बिना बेलपत्र चढ़ाएं भगवान शिव की पूजा अधूरी मानी जाती हैं.

बेलपत्र चढ़ाते समय इन बातों का रखें ध्यान

लपत्र में एक साथ तीन पत्तियां जुड़ी होनी चाहिए. अगर बेलपत्र में दो या एक पत्ती है तो उसे बेलपत्र नहीं माना जाता है.

पत्तियां कहीं से टूटी – कटी नहीं होनी चाहिए. कोई भी पत्ते में छेद नहीं होना चाहिए.

भगवान को चिकनी तरफ से बेलपत्र चढ़ाएं और जल की धारा जरूर चढ़ाएं.

बिना जल के बेलपत्र अर्पित नहीं करना चाहिए.

Sawan 2019 know reason why we bel patra and jal on shivling: आखिर क्यों शिवलिंग पर चढ़ाया जाता है जल और बेलपत्र, जानें पौराणिक कथा - India TV Hindi News

बेलपत्र चढ़ाने से बिगड़े काम

कई बार बिगड़ते काम को बनाने के लिए भगवान शिव को बेलपत्र चढ़ाने से सभी परेशानियां ठीक हो जाती है.

कई बार न चाहते हुए शादी में परेशानी होने लगती है. इसके पीछे कई भी कारण हो सकता है. आप बेलपत्र का उपयोग कर इस परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं. आइए जानते हैं बेलपत्र का इस्तेमाल कर समय पर विवाह होगा

आपको 108 बेलपत्रों पर चंदन से राम लिखना होगा. इसके अलावा आप शिवलिंग पर ऊं नम: शिवाय कहते हुए बेलपत्र चढ़ाएं.

अगर आप किसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे हैं तो 108 बेलपत्रों को चंदन के इत्र में डूबाते हुए शिवलिंग पर चढ़ाएं. आप इसके मंत्र जाप कर स्वस्थ होने की प्रार्थना करें.

Source : TV9

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

DHARM

माता वैष्णो देवी धाम जाने वाले श्रद्धालु ध्यान दें, अब 24 घंटे मिलेगी यात्रा से संबंधित हर जानकारी

Ravi Pratap

Published

on

श्री माता वैष्णो देवी की यात्रा पर आने वाले श्रद्धालुओं को अब चौबीस घंटे यात्रा से जुड़ी हर जानकारी उपलब्ध होगी। श्रद्धालु यात्रा से संबंधित जानकारी के साथ यात्रा के दौरान आ रही समस्याओं को लेकर अपनी शिकायत भी दर्ज करवा सकेंगे। उप-राज्यपाल ने गुरुवार को चौबीस घंटे सुविधा देने वाले हाई-टेक कॉल सेंटर का शुभारंभ किया है।

कॉल सेंटर सेवा शुरू होने से श्रद्धालुओं के प्रति श्राइन बोर्ड की जिम्मेदारी और जवाबदेही बढ़ेगी। कॉल सेंटर के माध्यम से यात्री यात्रा की स्थिति, हेलीकॉप्टर, बैटरी से चलने वाली वाहन की उपलब्धता जान सकेंगे।

उप-राज्यपाल ने इस दौरान कहा कि बोर्ड श्रद्धालुओं की यात्रा को सुविधाजनक और सुखद बनाने के लिए हर संभव प्रयास कर रहा है और आगे भी करेगा। हाई-टेक कॉल सेंटर में श्रद्धालु इमेल और एसएमएस की सुविधा भी है, वर्तमान में छह कॉल सेंटर हैं, जिन्हें भविष्य में बढ़ाकर 30 किया जाएगा। यात्री 01991-234804 नंबर पर संपर्क कर सकेंगे। इस दौरान उप-राज्यपाल के साथ सीईओ श्राइन बोर्ड, उपायुक्त रियासी व अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Input: Amar Ujala

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

DHARM

क्यों की जाती है पूजा के अंत में आरती, क्या है इसका महत्व, यहां पढ़ें

Ravi Pratap

Published

on

हम सभी ने ईश्वर की आराधना करते वक्त आरती जरूर की होगी. आरती पूजा पाठ का एक अभिन्न हिस्सा है. माना जाता है कि सच्चे मन और श्रृद्धा से की गई आरती बेहद कल्याणकारी होती है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि पूजा पाठ में आरती का क्या महत्व है. शास्त्रों में पूजा में आरती का खास महत्व बताया गया है. हम आपको आज बताते हैं कि पूजा पाठ में आरती का क्या महत्व है.

धार्मिक मान्यता है कि अगर कोई व्यक्ति मंत्र नहीं जानता, पूजा की विधि नहीं जानता लेकिन आरती कर लेता है, तो भगवान उसकी पूजा को पूर्ण रूप से स्वीकार कर लेते हैं. “स्कन्द पुराण” में आरती के महत्व की चर्चा सबसे पहले की गई है. आरती हिन्दू धर्म की पूजा परंपरा का एक अत्यंत महत्वपूर्ण हिस्सा है.

किसी भी पूजा, यज्ञ, अनुष्ठान के अंत में की आरती की जाती है. एक थाल में ज्योति और कुछ विशेष वस्तुएं रखकर भगवान के सामने घुमाते हैं. सबसे ज्यादा महत्व होता है आरती के साथ गाई जाने वाली स्तुति का. आरती की थाल को इस प्रकार घुमाना चाहिए कि ॐ की आकृति बन सके. आरती को भगवान के चरणों में चार बार, नाभि में दो बार, मुख पर एक बार और सम्पूर्ण शरीर पर सात बार घुमाना चाहिए.

यह ध्यान रखें कि आरती की थाल में कपूर या घी के दीपक दोनों से ही ज्योति प्रज्ज्वलित की जा सकती है. अगर दीपक से आरती करनी, तो ये पंचमुखी होना चाहिए.

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading
INDIA53 mins ago

अब वोट देने के लिए नहीं जाना होगा घर, कहीं से भी कर पाएंगे मतदान, यह है EC की प्लानिंग

INDIA56 mins ago

राशन कार्ड हुआ गजब खेल, पत्नी बनी बहन, बेटा बना भाई

BIHAR59 mins ago

अब बदल गई है Cycle Girl ज्योति की जिंदगी, PM Modi आज करेंगे वर्चुअल संवाद

BIHAR1 hour ago

किडनी के साथ फेफड़ों के संक्रमण से भी लड़ रहे लालू, सांस लेने में परेशानी बरकरार

BIHAR1 hour ago

सीएम नीतीश कुमार को क्‍यों सता रहा है कुर्सी जाने का डर? कर्पूरी ठाकुर का जिक्र छेड़ कह दी बड़ी बात

INDIA2 hours ago

अब Aadhar कार्ड की तरह फोन पर Download कर सकेंगे Voter ID कार्ड, आज से शुरू हो जाएगी सुविधा

BIHAR2 hours ago

मोतीपुर में उपद्रवियों ने वैशाली पुलिस पर किया हमला, हथियार छीनने की कोशिश

BIHAR3 hours ago

बिहार : मुखिया लगवाएंगे गांव में सोलर स्ट्रीट लाइट

TRENDING23 hours ago

दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलन मस्क ईनाम में देंगे 730 करोड़ रुपये, लेकिन करना होगा ये काम

BIHAR1 day ago

लालू प्रसाद की बिगड़ी तबीयत पर बोले नीतीश कुमार- वे जल्द ठीक हों, मेरी शुभकामना उनके साथ

TRENDING7 days ago

WagonR का Limousine अवतार! तस्वीरों में देखिए एक मैकेनिक का शाहकार

INDIA3 weeks ago

लड़कियों के लिए मिसाल हैं ये महिला IAS, अपनी हाइट को नहीं बनने दिया बाधा

INDIA1 week ago

इंग्लिश मीडियम बहू और हिंदी मीडियम सास के रिश्‍तेे में यूं आ रही दरार, पहुंच रहे थाने तक

TRENDING3 weeks ago

12 लीटर सोडा, 40 बोतल बीयर रोज: 412 किलो के शख्स ने दुनिया को कहा अलविदा

JOBS4 weeks ago

डाक विभाग ने निकाली है बंपर भर्तियां, 10वीं पास करें आवेदन, जानें फॉर्म भरने का तरीका

BIHAR3 weeks ago

29 IAS, 38 IPS की ट्रांसफर-पोस्टिंग: 12 DM बदले, चंद्रशेखर सिंह पटना के नए DM बने; 13 SP बदले, लिपि सिंह को सहरसा SP बनाया गया

TRENDING1 week ago

‘दोस्त’ ने किया बेइज्जत: ‘कंगाल’ पाकिस्तान का यात्री विमान मलेशिया ने किया जब्त, उतारे गये यात्री

MUZAFFARPUR4 weeks ago

निगम में शामिल होंगे शहर से सटे 32 गांव, 49 से बढ़ कर हाे सकते हैं अब 76 वार्ड

MUZAFFARPUR4 days ago

मुजफ्फरपुर समेत 3 शहरों में फरवरी से दौड़ने लगेंगी इलेक्ट्रिक बसें, किराया भी कम लगेगा

BIHAR1 week ago

बिहार: अब सभी जिलों में चलेगी BSRTC की बस, पटना से काठमांडू, जनकपुर व भूटान सीमा तक मिलेगी सर्विस

Trending