गजब! अधिकारी दो साल से जे'ल में बंद और उनके हस्ताक्षर से बैंक से निकली राशि
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

गजब! अधिकारी दो साल से जे’ल में बंद और उनके हस्ताक्षर से बैंक से निकली राशि

Santosh Chaudhary

Published

on

भागलपुर में जिला कल्याण कार्यालय के पांच साल पुराने चेक से राशि के भुगतान करने का मामला प्रकाश में आया है। चेक पर पूर्व जिला कल्याण पदाधिकारी अरुण कुमार का हस्ताक्षर है। कुमार सृजन घोटाले में दो साल से जे’ल में बंद हैं। वर्तमान जिला कल्याण पदाधिकारी ने बैंक ऑफ बड़ौदा को वकालतन नोटिस भेजा है।

जिला कल्याण शाखा का बैंक ऑफ बड़ौदा में खाता है। वित्तीय वर्ष 2018-19 के खाता विवरणी की जांच के दौरान पाया गया कि दो मार्च 2019 को बैंक द्वारा सारो देवी को 10 हजार रुपये भुगतान किया गया है। जांच में पता चला कि वर्तमान कल्याण पदाधिकारी द्वारा इस तरह का कोई चेक जारी ही नहीं किया गया है। चेक और राशि के भुगतान की जानकारी के लिए जिला कल्याण पदाधिकारी ने राशि की निकासी से संबंधित साक्ष्य और जानकारी के लिए 22 अप्रैल 2019,10 जुलाई और 19 अगस्त को बैंक ऑफ बड़ौदा के संबंधित शाखा, क्षेत्रीय कार्यालय और भारतीय रिजर्व बैंक को पत्र भेजा।

बैंक ने एक अक्टूबर को पत्र के माध्यम से जानकारी दी कि दो मार्च 2019 के चेक संख्या 650729 के माध्यम से राशि की निकासी की गयी है। बैंक द्वारा चेक की छायाप्रति भी भेजी गयी है। चेक में तत्कालीन जिला कल्याण पदाधिकारी अरुण कुमार का हस्ताक्षर है। जबकि कुमार 16 अगस्त 2017 से न्यायिक हिरासत में हैं और खाता का संचालन वर्तमान जिला कल्याण पदाधिकारी के हस्ताक्षर से किया जा रहा है।

जिला कल्याण पदाधिकारी ने बताया कि डीपीएस उवि. करहरिया की छात्रा सारो देवी को वित्तीय वर्ष 2014-15 में अत्यंत पिछड़ी जाति मेधावृत्ति योजना के तहत चेक के माध्यम से 29 नवम्बर 2014 को तत्कालीन जिला कल्याण पदाधिकारी द्वारा जारी किया गया था। बैंक द्वारा हस्ताक्षर का मिलान नहीं करना गंभीर मामला है। चेक की तिथि, माह और वर्ष के साथ भी छेड़छाड़ किया गया है। बैंक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज करायी जायेगी। बैंक ऑफ बड़ौदा के मुख्य प्रबंधक संतोष कुमार ने बताया कि मामला संज्ञान में आया है। इसकी जांच करायी जा रही है। चेक डाकघर में जमा किया गया था। चेक का ऑनलाइन क्लीयरेंस हुआ है। डाकघर को पत्र भेजकर चेक सहित अन्य जानकारी मांगी गयी है।

Input : Hindustan

BIHAR

मानव श्रृंखला के खिलाफ जनहित याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा- इसमें शामिल होना अनिवार्य नहीं है

Md Sameer Hussain

Published

on

बिहार में 19 जनवरी को सीएम नीतीश कुमार के आह्वान पर मानव श्रृंखला बनाई जानी है. जल जीवन हरियाली को लेकर बनाई जाने वाली इस मानव श्रृंखला की तैयारियां अंतिम चरण में हैं. खुद सीएम नीतीश भी राज्य के विभिन्न जिलों में जाकर लोगों को जागरुक कर चुके हैं. प्रशासन भी इसको लेकर पूरी तरह से तैयार और मुस्तैद है.

इसी क्रम में राज्य सरकार द्वारा 19 जनवरी को मानव श्रृंखला बनाये जाने के खिलाफ दायर जनहित याचिका को पटना हाई कोर्ट ने खारिज करते हुए इसे हरी झंडी दे दी है. ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन की जनहित याचिका पर चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने सुनवाई की.

AISF ने दायर की थी जनहित याचिका

दरअसल ऑल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन की ओर से पटना हाईकोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी. इस याचिका पर चीफ जस्टिस संजय करोल की खंडपीठ ने सुनवाई करते हुए याचिका को खारिज कर दिया है और मानव श्रृंखला को हरी झंडी दे दी है. कोर्ट ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि इसमें शामिल होना अनिवार्य नहीं है. इसलिए कोर्ट को इसमें हस्तक्षेप करने की आवश्कता नहीं हैं.

 

साथ ही कोर्ट ने कहा कि इसके माध्यम से सरकार सामाजिक और आर्थिक मुद्दों के मामले में लोगों को जागरूक करना चाहती है. कोर्ट ने स्पष्ट किया कि लोगों को अपने अधिकार के साथ अपने कर्तव्यों के लिए भी जागरुक होने की जरूरत है.

बता दें 19 जनवरी को पूरे बिहार में 16 हजार किलोमीटर से अधिक की लंबाई में मानव श्रृंखला बनाई जाएगी. इसमें 4 करोड़ से अधिक लोग शामिल होंगे और जल जीवन हरियाली अभियान के लिए लोगों को जागरूक किया जाएगा. इसको लेकर तैयारी जोरों पर है और इसे सफल बनाने के लिए सरकारी विभाग लगातार बैठक कर रहे हैं.

Input : Live Cities

Continue Reading

BIHAR

15 हेलीकाप्टर से होगी मानव श्रृंखला की फोटो व वीडियोग्राफी

Santosh Chaudhary

Published

on

जल-जीवन-हरियाली, नशामुक्ति, दहेज व बाल विवाह उन्मूलन के समर्थन मेंबनने वाली राज्यव्यापी मानव शृंखला की फोटग्राफी-वीडियोग्राफी अबकी आसमान से होगी। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर यह कार्य हेलीकाप्टर से कराने का निर्णय लिया गया है। फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी को लेकर मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई बैठक में इसके लिए जिम्मेवारी भी तय कर दी गयी है।

गौरतलब हो कि वर्ष 2017 में नामशुक्ति और 2018 में बाल विवाह व दहेज उन्मूलन के पक्ष में बनी बिहार की मानव शृंखलाओं ने विश्व रेकार्ड बनाया था। इन दोनों की शृंखलाओं की फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी ड्रोन से करायी गयी थी लेकिन समीक्षा में यह बात सामने आयी कि ड्रोन से इस ऐतिहासिक क्षण की यादों को सहेजने की कोशिश बहुत कारगर नहीं हो सकी। शोध एवं प्रशिक्षण निदेशक डा. विनोदानंद झा ने बताया कि फोटोग्राफी-वीडियोग्राफी कराने का कार्य अब सूचना एवं जनस्मपर्क विभाग कराएगा। इस कार्य के लिए 12 हेलीकाप्टर राज्य सरकार किराए पर लेगी। 3 और हेलीकाप्टर राज्य में कार्यरत तीन फ्लाइंग क्लब के होंगे। इन सभी 15 हेलीकाप्टर पर सवार होकर विशेषज्ञ फोटोग्राफर और वीडियोग्राफर मानव शृंखला को अपने कैमरे में कैद करेंगे। ये फोटोग्राफर और वीडियोग्राफर सिनेमा के अनुभवी लोग होंगे। सूचना एवं जनसम्पर्क विभाग इनका चुनाव कर इन्हें जिम्मा सौंपेगा। हेलीकाप्टरों का अलग-अलग रूट चार्ट भी बनाया जा रहा है। कोशिश होगी कि राज्य के हर इलाकों में वीडियोग्राफर और फोटोग्राफर मानव शृंखला को अपने कैमरों में कैद कर सकें।

17 को पूर्वाभ्यास संभव
डा. झा के मुताबिक 17 जनवरी को मानव शृंखला के दो दिन पूर्व राज्य के कई जिलों में मानव कतार लगाने का अभ्यास किया जाएगा। किराए पर लिये गये कुछ हेलीकाप्टरों को बतौर एक्सरसाइज शुक्रवार को इन जिलों में रूट बनाकर भेजा जाएगा। उसपर छायाकार भी सवार होंगे और रिहर्सल करके उसकी रफ्तार और ऊंचाई आदि तय की जाएगी कि किस रफ्तार और किस ऊंचाई से बेहतर तस्वीरें ली जा सकती हैं। इनके द्वारा ली गयी तस्वीरें बाद में मानव शृंखला को लेकर की जा रही दस्तावेजीकरण का भी हिस्सा बनेंगी।

हर एक किमी पर मोटरसाइकिल से वीडियोग्राफी
जनशिक्षा के मो. गालिब ने बताया कि मानव शृंखला की तैयारियां पूरी हो गयी हैं। ग्राउंड जीरो से अर्थात गांव-कस्बों से लेकर मानव शृंखला के हर रूट पर एक किमी की दूरी पर एक मोटरसाइकिल से वीडियोग्राफी की जाएगी।

पहली बार अभियान में किन्नरों का जत्था
रेशमा के नेतृत्व में पहली बार मानव शृंखला को लेकर जागरूकता अभियान में शिक्षा विभाग ने किन्नरों के कला जत्थे का इस्तेमाल किया है। यह जत्था पटना के सभी वार्डों में घूम-घूमकर नुक्कड़ नाटक और गीतों के माध्यम से लोगों को 19 जनवरी के मानव कतार में शामिल होने का न्यौता दे रहा है।

Input : Hindustan

Continue Reading

BIHAR

देश में पहला: पटना एयरपोर्ट पर खुला एयर एंबुलेंस काउंटर, जब चाहें बुक कराएं

Santosh Chaudhary

Published

on

गंभीर मरीज के परिजनों को एयर एंबुलेंस के लिए अब पटना एयरपोर्ट पर भटकने की जरूरत नहीं है। पटना एयरपोर्ट से पहली बार एयर एंबुलेंस की सुविधा शुरू हो गई है। पटना एयरपोर्ट पर गुरुवार को एयर एंबुलेंस की सुविधा देने के लिए काउंटर खुल गया। दिल्ली, कोलकाता समेत अन्य शहरों के बड़े हवाई अड्‌डे पर इस तरह का काउंटर नहीं है, जहां से मरीज के परिजन सीधे एयर एंबुलेंस बुक कर सकें। पटना एयरपोर्ट पर इस तरह का यह देश का पहला काउंटर है। गुरुवार को स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने इसका उद्घाटन किया। पटना से दिल्ली का किराया 4.80 लाख और कोलकाता का 7.50 लाख होगा। फ्लाइंग टाइम अधिक होने से कोलकाता या किसी शहर का चार्ज दिल्ली से अधिक होगा। एयर एंबुलेंस दिल्ली से ही उड़कर पटना पहुंचेगा और यहां से फिर मरीज को लेकर दूसरे शहर जाएगा।

मरीज के साथ 2 परिजन, डॉक्टर की टीम भी

एयर एंबुलेंस से मरीज के अलावा उनके दो परिजन साथ जाएंगे। उसमें एंबुलेंस संचालक की डॉक्टरों की टीम रहेगी जो उन्हें साथ ले जाएगी। एंबुलेंस में सभी जरूरी मेडिकल उपकरण लगे हुए हैं। पटना से दिल्ली जाने में एयर एंबुलेंस का सफर करीब दो घंटे का होगा। अंशु ने बताया कि पटना एयरपोर्ट पर पार्किंग नहीं मिली है। पार्किंग मिल जाने के बाद एक एयर एंबुलेंस चौबीसों घंटे स्टैंडबाई में रहेगा।

बेड-टू बेड होगा मरीजों का ट्रांसफर

सूचना के बाद सारी प्रक्रिया पूरी कर छह घंटे में मरीज को पटना से दिल्ली के किसी भी अस्पताल में ट्रांसफर कर दिया जाएगा। मरीज का ट्रांसफर बेड टू बेड होगा यानी एयर एंबुलेंस संचालक अंशु अमन की टीम अस्पताल से एंबुलेंस से लेने के बाद पटना एयरपोर्ट लाएगी फिर उन्हें एयर एंबुलेंस से दिल्ली एयरपोर्ट ले जाने के बाद वहां के अस्पताल में पहुंचा देगी।

Input : Dainik Bhaskar

Continue Reading
Advertisement
BIHAR2 hours ago

मानव श्रृंखला के खिलाफ जनहित याचिका खारिज, कोर्ट ने कहा- इसमें शामिल होना अनिवार्य नहीं है

RELIGION2 hours ago

गौतम बुद्ध ने शिष्यों के सामने एक रस्सी में तीन गांठ लगा दीं और पूछा कि इन गांठों को कैसे खोल सकते हैं?

RELIGION3 hours ago

साईं बाबा के दर्शन के लिए जाना चाहते हैं शिरडी तो पहले यहां पढ़ लें पूरी जानकारी

INDIA3 hours ago

UPSC सिविल सेवा परीक्षा 2020 के उम्मीदवारों के लिए बुरी खबर, वैकेंसी हो सकती है कम

BIHAR11 hours ago

15 हेलीकाप्टर से होगी मानव श्रृंखला की फोटो व वीडियोग्राफी

INDIA11 hours ago

दीपिका पादुकोण की जेएनयू विजिट पर कंगना रनौत का जवाब, ‘मैं टुकड़े टुकड़े गैंग का सपोर्ट नहीं करती’

RELIGION14 hours ago

कालभैरव अष्टमी अाज, नारद पुराण के अनुसार काल भैरव पूजा से दूर होती हैं तकलीफ

BIHAR14 hours ago

देश में पहला: पटना एयरपोर्ट पर खुला एयर एंबुलेंस काउंटर, जब चाहें बुक कराएं

SPORTS14 hours ago

संन्यास की अटकलों की बीच धोनी ने नेट्स में किया जमकर अभ्यास

BIHAR14 hours ago

पटना : महावीर मंदिर का अब होगा LIVE दर्शन, राज्यपाल फागू चौहान करेंगे शुरूआत

BIHAR2 weeks ago

लंबे समय बाद नए लुक में नजर आए तेज प्रताप, पत्‍नी ऐश्‍वर्या के मायके जाने के बाद कटवाए बाल

INDIA6 days ago

बिहार के लोगों ने दीपिका पादुकोन को नकारा, पटना में छपाक देखने पहुंचे मात्र तीन लोग

INDIA1 week ago

निर्भया के चारों दो’षियों को 22 जनवरी की सुबह दी जाएगी फां’सी, डे’थ वा’रंट जारी

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर के एक साधारण किसान का पुत्र बना Air Force में Flying Officer, ग्रामीण युवाओं के सपनों को लगे पंख

MUZAFFARPUR2 weeks ago

गाय ने दो मुंह व चार आंख वाली बछिया को जन्म दिया

MUZAFFARPUR4 weeks ago

ठंड को लेकर मुजफ्फरपुर डीएम ने जिले के सभी स्कूल के लिए जारी किया आदेश

BIHAR1 week ago

BPSC Civil Services की परीक्षा देनी है तो ध्‍यान दें, अब पहले से कठिन हो जाएगा पाठ्यक्रम

BIHAR1 week ago

दुखद : वर्ष 2019 की इंटर स्टेट टाॅपर रोहिणी की दिल्ली में ट्रेन से क’ट कर मौ’त

MUZAFFARPUR5 days ago

मुजफ्फरपुर में दम्पति की ह’त्या मामला, साहेबगंज थाना इलाके से पकड़ा गया ह’त्यारा

BIHAR3 weeks ago

दरभंगा, मधुबनी, बेतिया के ऐसे नाम, जिन्होंने इस साल बड़ी उपलब्धि अपने नाम की

Trending

0Shares