गुड न्यूज! इंजीनियरिंग MTec और PhD के स्टूडेंट्स की स्कॉलरशिप बढ़ी
Connect with us
leaderboard image

EDUCATION

गुड न्यूज! इंजीनियरिंग MTec और PhD के स्टूडेंट्स की स्कॉलरशिप बढ़ी

Santosh Chaudhary

Published

on

इंजीनियरिंग कॉलेज में पढ़ाई कर रहे छात्रों की छात्रवृति की राशि बढ़ायी गयी है। एमटेक करने वाले छात्रों को आठ हजार से बढ़ाकर 12.50 हजार किया गया है। वहीं पीएचडी करने वाले छात्रों को जूनियर रिसर्च फेलोशिप के तहत दो साल के लिए 25 हजार से बढ़ाकर 31 हजार किया गया है। जबकि पीएचडी चार साल के कोर्स के लिए 28 की छात्रवृति को बढ़ाकर 35 हजार कर दिया गया है। सूत्रों की मानें तो इस पर जल्द ही निर्णय लिया जाएगा।

मंगलवार को दिल्ली में अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) मुख्यालय में काउंसिल की बैठक चेयरमेन डॉ. अनिल डी सहस्त्रबुद्दे की अध्यक्षता में हुई। जिसमें एआईसीटीई के कार्यकारी सदस्य मौजूद थे। बैठक में निर्णय लिया गया है कि वैसे इंजीनियरिंग कॉलेज जिन्हें अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) से मान्यता प्राप्त होगा उसी कॉलेज में पढ़ने वाले एमटेक और पीएचडी के छात्रों को इसका लाभ मिल पाएगा। बैठक में मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव भी मौजूद थे।

एआईसीटीई के कार्यकारी सदस्य व भागलपुर ट्रिपल आईटी के निदेशक प्रो. अरविंद चौबे ने बताया कि एमटेक और पीएचडी करने वाले छात्रों की छात्रवृति की राशि बढ़ाने पर चर्चा हुई है। इस पर एआईसीटीई निर्णय लेगा कि इसे कब से लागू कराया जाएगा।

सूत्रों की माने तो देशभर में एआईसीटीई से मान्यता प्राप्त सभी कॉलेजों में नए सत्र से इसे लागू करने की योजना है। इसकी अधिसूचना जल्द ही जारी की जाएगी।

जानकारी हो कि बिहार में मुजफ्फरपुर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी और भागलपुर इंजीनियरिंग कॉलेज में एमटेक की पढ़ाई हो रही है। वहीं पीएचडी की पढ़ाई आईआईटी और एनआईटी में हो रही है।

Input : Hindustan

BIHAR

अब स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ मिलेगा हर महीने, राज्यस्तरीय बैठक में लिया गया निर्णय

Himanshu Raj

Published

on

सोमवार को शिक्षा विभाग की हुई राज्यस्तरीय बैठक में स्टूडेंट्स के लिए एक अच्छा फैसला लिया गया है. जी हां, हम बात कर रहे हैं स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना की. अब एक महीने के अंदर आवेदकों को स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ मिलेगा. योजना में तेजी लाने को लेकर सोमवार को शिक्षा विभाग की हुई राज्यस्तरीय बैठक में इसे सुनिश्चित करने का निर्देश जिलों को दिया गया है.

बता दें कि 12वीं के बाद आगे की पढ़ाई के लिए इस योजना के तहत चार लाख तक का लोन दिया जाता है. इसके लिए बिहार सरकार ने शिक्षा वित्त नगम का गठन किया है.

इसके साथ ही यूनिवर्सिटी और कॉलेज में जाकर स्टूडेंट को इसके लिए प्रेरित करने का भी आदेश दिया गया. सभी जिलों के डीपीओ को निर्देश दिया गया कि डीआरसीसी पर उपस्थित स्टूडेंट के साथ उचित व्यवहार हो.

विभाग ने जुलाई 2019 में निजी संस्थानों के लिए अहर्ता तय कर दी है. नैक द्वारा ए ग्रेड प्राप्त, संस्थान में संचालित विषयों को नेशनल बोर्ड ऑफ एक्रेडिएशन द्वारा मान्यता प्राप्त अथवा केंद्रीय मानव संसाधन मंत्रालय द्वारा नर्गत नेशनल इंस्टीट्यूशनल रैंकिंग फ्रेमवर्क की रैंकिंग प्राप्त निजी संस्थानों को ही इस योजना में शामिल किया गया है. सरकारी संस्थानों के लिए यह बाध्यता नहीं है.

Input: Live Cities

 

Continue Reading

EDUCATION

सैनिक स्कूल में पहली बार 12 लड़कियां, प्रिंसिपल बोले- प्रदर्शन में लड़कों से आगे

Himanshu Raj

Published

on

दो साल पहले तक सैनिक स्कूलों में सिर्फ लड़कों को दाखिला मिलता था, लेकिन 2017 में बने मिजोरम के छिंगछिप सैनिक स्कूल में पहली बार लड़कियों के लिए 10% सीटें रिजर्व की गईं। 2018 में 6 लड़कियों को दाखिला मिला था। 2019 में आंकड़ा दोगुना हो गया। इन 12 बच्चियों में एक सैन्य अधिकारी की बेटी भी है।

दरअसल, सैनिक स्कूल में लड़कियों को दाखिला देना रक्षा मंत्रालय का एक पायलट प्रोजेक्ट था, यह समझने के लिए कि लड़कों के गढ़ में उनका प्रदर्शन कैसा रहता है। यह प्रयोग कामयाब रहा, जिसे देखते हुए रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पिछले माह ही ऐलान किया था कि 2021-22 से देश के हर सैनिक स्कूल में लड़कियां भी पढ़ सकेंगी।

तीन अलग-अलग राज्यों से हैं लड़कियां 

छिंगछिप के सैनिक स्कूल में इस साल (2019-20) जिन छह लड़कियों का दाखिला हुआ, उनमें तीन (साइथांग्कुई, वनलालॉमपुई, रेशल लालहुनबाईसाई) मिजोरम से हैं। दो (मुस्कान और खुशबू) बिहार से हैं और एक (नेहा आरएस) केरल से है। 2018 से यहां पढ़ रही जोनुनपुई कहती है- ‘अब हमारी फुटबॉल टीम पूरी है। अब हम लड़कों की टीम से मुकाबला कर सकती हैं।’

वहीं, 11 साल की मुस्कान और खुशबू कहती हैं- हमें सेना में जाना है। देश की रक्षा करनी है और दुश्मनों को मारना है।  लड़कियों को दाखिला देने के पायलट प्रोजेक्ट के नतीजों के बारे में  स्कूल के प्रिंसिपल लेफ्टिनेंट कर्नल यूपीएस राठौर बताते हैं- कैडेट के तौर पर इन लड़कियों का प्रदर्शन लड़कों से बेहतर रहा है। ट्रेनिंग लड़कों के समान होती है। आगे चलकर ये सभी सेना में जाएंगी।  यह स्कूल 212 एकड़ में है। लड़कियों के लिए अलग हॉस्टल और वार्डन हैं। सीसीटीवी से कैंपस की निगरानी की जाती है।

Input: Danik Bhaskar

Continue Reading

EDUCATION

1613 छात्र-छात्राओं ने दी जीनियस क्लास प्रतिभा खोज परीक्षा

Muzaffarpur Now

Published

on

बोर्ड परीक्षाओं से पहले छात्र-छात्राओं को अपनी क्षमता आकलन एवं उनकी की प्रतिभा को परख कर उन्हें उच्च शिक्षा प्राप्ति के लिए सहयोग करने के उद्देश्य से जीनियस क्लासेज (A strategic unit of AESPL) द्वारा रविवार को प्रतिभा सम्मान परीक्षा (GTSE 2020) का आयोजन किया गया। जिसमें 1613 छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। मेगा फाइनल (द्वितीय चरण) GTSE, पंकज मार्केट, मुजफ्फरपुर में आठ दिसंबर को होगा।

प्रत्येक वर्ष जीनियस क्लासेज द्वारा प्रतिभा सम्मान परीक्षा का आयोजन किया जा रहा है। रविवार को मुजफ्फरपुर में दो सेंटरों, पंकज मार्केट और मिठनपुरा में परीक्षा का आयोजन किया गया। आयोजित परीक्षा में पंजीकृत 1936 छात्र-छात्राओं में से 1613 विद्यार्थी सम्मिलित हुए। परीक्षा में कक्षा 7, 8, 9 तथा 10 के परीक्षार्थियों ने हिस्सा लिया। निदेशक भारतेन्दु कुमार, प्रीति रानी व कक्ष निरीक्षकों की देखरेख में शांतिपूर्ण परीक्षा संपन्न कराई गई।

परीक्षा केंद्र के संयोजक आलोक वर्मा व हिमांशु राज ने बताया कि परीक्षा में भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, जीव विज्ञान, गणित और सामान्य अध्ययन के प्रश्न पूछे गए। प्रथम चरण तथा द्वितीय चरण की परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर प्रत्येक कक्षा से चार सर्वश्रेष्ठ छात्र-छात्राओं को लैपटाप, टैबलेट, साईकिल, घड़ी, किताबें इत्यादि दे कर पुरस्कृत किया जाएगा।

तथा कक्षा 10 के मेरिट लिस्ट के आधार पर आर्थिक रूप से पिछड़े टॉप 25 विद्यार्थियों को मेडिकल या इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षाओं की दो साल मुफ्त तैयारी करवाई जाएगी।

 

Continue Reading
Advertisement
BIHAR5 mins ago

पीयू में जीत गई पप्पू यादव की पार्टी, जाप के मनीष यादव बन गए नए प्रेसिडेंट

BIHAR3 hours ago

प्याज के बाद लहसुन की बारी, बिहार में 64 बोरी लू’ट ले गए लु’टेरे

BIHAR12 hours ago

बिहार के अररिया में फिर ब’ड़ी वा’रदात, दु’ष्क’र्म के बाद ब’च्ची को रे’ड लाइट एरिया में बे’चा

BIHAR14 hours ago

चुनाव से पहले हर घर में नल का जल : CM नीतीश

MUZAFFARPUR15 hours ago

मुजफ्फरपुर: ABVP के कार्यालय पर ह’मला, लाखो रुपये के लू’ट का लगाया आ’रो’प

MUZAFFARPUR16 hours ago

मुजफ्फरपुर : आप भी ऑटो से आना-जान करते हैं तो हमेशा रहें सावधान, बाद में सिर धुनने से कुछ भी हाथ नहीं लगने वाला

BIHAR16 hours ago

NEET: करना चाहते हैं रजिस्‍ट्रेशन तो देर ना करें, जारी हो गया है परीक्षा का शेड्यूल

BIHAR17 hours ago

3.75 लाख कांट्रैक्‍ट शिक्षकों को CM नीतीश का तोहफा, अब सेवा काल में तीन प्रमोशन

MUZAFFARPUR18 hours ago

मुज़फ़्फ़रपुर के निबंधन कार्यालय में निगरानी विभाग की छा’पेमारी

MUZAFFARPUR18 hours ago

प्‍याज के ‘फेर’ में फंसे केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान, मुजफ्फरपुर के CJM कोर्ट में हुआ परिवाद

TRENDING1 week ago

अक्षय कुमार के गाने फिलहाल ने तोड़ा वर्ल्ड रिकॉर्ड, सबसे कम समय में 100 मिलियन व्यूज़ मिले

INDIA5 days ago

12वीं पास के लिए CISF में नौकरियां, 81,100 होगी सैलरी

OMG3 days ago

पति ने खुद की पढ़ाई रोककर पत्नी को पढ़ाया, नौकरी लगते ही पत्नी ने दूसरी शादी कर ली

MUZAFFARPUR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर बैंक मैनेजर की ह’त्या करने पहुचे शूट’र की लो’डेड पिस्ट’ल ने दिया धो’खा, लोगो ने जम’कर पी’टा

INDIA1 week ago

डॉक्टर गैंगरे’प: पुलिस ने बताई उस रात की है’वानियत की कहानी

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर में 8 ब’म मिलने से ह’ड़कंप, घर में छिपाकर रखा गया था ब’म

BIHAR2 weeks ago

मुजफ्फरपुर पहुंची श्रीराम जानकी विवाह बरात का शंख ध्वनि के बीच भव्य स्वागत

MUZAFFARPUR3 weeks ago

मुजफ्फरपुर का थानेदार नामी गुं’डा के साथ मनाता है जन्मदिन! केक काटते हुए सोशल मीडिया पर तस्वीर वायरल…खाक होगा क्रा’इम कंट्रोल?

BIHAR5 days ago

बिहार पुलिस: सब इंस्‍पेक्‍टर के 221 पदों के ल‍िये आवेदन शुरू, 1 लाख से ज्‍यादा होगी सैलरी

INDIA2 days ago

है’दरा’बाद गैं’गरे’प: एनका’उंटर पर आ’रोपी की पत्‍नी बोली- जहां पति को मा’रा, वहीं मुझे भी मा’र दो

Trending

0Shares