चार पुलिस अधिकारी और नौ होमगार्ड जवान पर गिरी गाज, DIG मनु महराज ने किया सस्पेंड

0
1357

खगड़िया जिले से बड़ी खबर आ रही है. कर्तव्यहीनता के आरोप में जिले के चार पुलिस पदाधिकारी और नौ होमगार्ड जवानों को निलंबित कर दिया गया है. DIG ने परबत्ता के थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह सस्पेंड किया है. वहीँ दारोगा केशव कुमार, मानसी के दारोगा अनिल कुमार सिंह सहित होमगार्ड जवान विजय कुमार सिंह, नित्यानंद यादव, नबोध कुमार, रामविलास सिंह, संजय यादव (सभी मानसी थाना), संजय कुमार, नयन यादव, कपिलदेव यादव व रामविलास (सभी महेशखूंट थाना) को एसपी ने सस्पेंड किया है.

परबत्ता थानाध्यक्ष को डीआईजी ने सस्पेंड किया है वहीं अन्य सभी दारोगा व होमगार्ड जवानों पर एसपी ने कार्रवाई की है. एसपी मीनू कुमारी ने मीडिया से बताया कि परबत्ता में दो बेगुनाह युवकों को शराबी बताकर जेल भेजने के मामले में वहां के थानाध्यक्ष विनोद कुमार सिंह और दारोगा केशव पर कार्रवाई हुई है. गोगरी एसडीओ और सर्किल इंस्पेक्टर की जांच रिपोर्ट के आधार पर इनपर कार्रवाई हुई है.

होमगार्ड जवानों के खिलाफ डीएम को शिकायत मिली थी कि एनएच 31 पर वाहनों को रोकर पुलिसकर्मी अवैध वसूली कर रहे हैं. वहीं एसएसपी राजकुमार राज से जाँच की रिपोर्ट भी मांगी गई थी. जांच में मामला सही पाया गया. इसके बाद DIG ने यह कार्रवाई की. होमगार्ड जवानों का रजिस्ट्रेशन रद्द करने की अनुशंसा की गई है.

आपको बता दें कि पिछला 24 घंटा पुलिस महकमे में इस्तीफ़े का रहा है. शनिवार की रात डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय रात को अचानक एक्टिव हो गए. वो राजधानी पटना के दो थानों को टारगेट कर निकल पड़े. दो थाने शहर के एसके पुरी और गर्दनीबाग थाने पर दबिश दी.

डीजीपी ने जब थाने की जांच शुरू की तो कमियां ही कमियां पाई. थाने की डायरी लंबित मिली तो साथ ही हाजत में बगैर किसी कानूनी कार्रवाई के एक शख्स को बन्द पाया गया. इस दौरान डीजीपी ने ऑन द स्पॉट फैसला लेते हुए एसकेपुरी और गर्दनीबाग के थानेदार पर कार्रवाई की. उनके साथ ही लापरवाही बरतने वाले दो और पुलिसकर्मियों को भी सस्पेंड किया गया.

Input : Live Cities

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur