Connect with us

BIHAR

…जब नीतीश कुमार ने टेबल पर मारा मुक्का और बोले- मैं बनूंगा सीएम, By hook or by crook, पढ़ें क्या है ये कहानी

Published

on

‘नीतीश कुमार ने टेबल पर मुक्का मारा और बोले मैं बनूंगा एक दिन बिहार का मुख्यमंत्री, BY HOOK OR CROOK’… ये दिलचस्प वाकया है, पटना के उस कॉफी बोर्ड (Coffee board) का जिसे लोग पटना कॉफी हाउस (Patna Coffee House) के नाम से भी जानते हैं. दरअसल, सत्तर के दशक में डाकबंगला चौराहा पर भारत सरकार के उपक्रम के तौर पर कॉफी बोर्ड का कार्यालय खुला था. उस वक्त कॉफी हाउस का महत्व इसी से समझा जा सकता है कि बिहार (Bihar) के साहित्य जगत से लेकर राजनीति के तमाम दिग्गज यहां पहुंचते थे, और न सिर्फ कॉफी का आनंद लेते थे बल्कि देश और दुनिया के साहित्य से लेकर राजनीति की तमाम चर्चाएं कॉफी बोर्ड में होती थी.

Nitish Kumar sworn in as Bihar Chief Minister again

दरअसल, कॉफी हाउस की कई ऐसी कहानियां हैं जिसे आज भी वहां बैठने वाले लोग बताते हैं तो अतीत की यादों में खो जाते हैं. ऐसा ही दिलचस्प वाकया बताया बिहार के वरिष्ठ और देश के जाने-माने पत्रकार सुरेंद्र किशोर (Journalist Surendra Kishore) ने. सुरेंद्र किशोर सत्तर के दशक में सोशलिस्ट विचारधारा से प्रभावित हो राजनीति में थे और तत्कालीन मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर (Karpoori Thakur) के प्राइवेट सेक्रेटरी भी रह चुके थे.

सुरेंद्र किशोर बताते हैं कि आए दिन की तरह कॉफी हाउस में बैठे हुए थे, नीतीश कुमार (Nitish Kumar) भी तब छात्र नेता के तौर पर तेजी से उभर रहे थे. लेकिन 1977 में हुए विधानसभा चुनाव में नीतीश कुमार की हार हो गई थी. इस वजह से वे परेशान भी थे. इसी परेशानी के बीच नीतीश कुमार उनके सामने बैठे थे और इसी बीच कॉफी टेबल पर आ गई. दोनों कॉफी पी रहे थे. तभी तत्कालीन मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर की चर्चा छिड़ गई. चर्चा हो रही थी कि जिस उम्मीद से वे मुख्यमंत्री बने थे वो पूरी नहीं हो पा रही थीं.

जब सुरेंद्र किशोर ने इसी चर्चा के दौरान सवाल किया कि क्या बिहार को एक अच्छा मुख्यमंत्री नहीं मिलने वाला है? इस बात को सुन नीतीश कुमार ने अचानक सामने की टेबल पर मुक्का मारा और बोले, सुरेंद्र जी, एक दिन मैं बिहार का मुख्यमंत्री बनूंगा, By hook or by crook, और मैं बिहार में सब ठीक कर दूंगा.

दरअसल, कॉफी बोर्ड में कई दिग्गज राजनेता आते थे. जिनमें कर्पूरी ठाकुर (Karpoori Thakur), लालू यादव (Lalu Yadav), सुशील मोदी (Sushil Modi), शिवानंद तिवारी, सुबोधकांत सहाय और सरयू राय जैसे कई बड़े नेता शामिल थे. तब माना जाता था कि कॉफी बोर्ड युवा राजनेताओं को तैयार करने का एक बड़ा सेंटर है. जहां तब के युवा नेताओं ने, जिन्होंने बाद में चलकर बिहार और देश के बड़े नेता के तौर पर अपनी पहचान बनाई, आया करते थे. आज की तारीख में बिहार के जितने जाने-माने राजनीतिक चेहरे हैं, वे सभी कॉफी बोर्ड में बैठा करते थे. उस समय समाजवादी राजनीति की चर्चाएं ज्यादा होती थीं.

The loud and long fight: How Nitish and Laloo fell out

कॉफी हाउस की चर्चा करते हुए वरिष्ठ पत्रकार रवि उपाध्याय कहते हैं, उस समय कई सोशलिस्ट विचारधारा के लोग कॉफी हाउस में बैठा करते थे. 1974 के जेपी आंदोलन के समय कॉफी बोर्ड की भूमिका काफी बढ़ गई थी. कॉफी बोर्ड में घंटों जेपी मूवमेंट की चर्चा होती. लालू यादव भी उन्हीं दिनों नेता के तौर पर तेजी से उभर रहे थे, लेकिन उनकी पहचान तब छात्र नेता के तौर पर ही थी. रवि उपाध्याय बताते हैं कि लालू यादव भी कॉफी हाउस में आया करते, थोड़ा समय गुजार किसी के साथ कॉफी पी लेते और निकल जाते थे. लेकिन, तब भी उनका स्वभाव मसखरापन वाला ही था.

कॉफी हाउस की चर्चा और महत्व को इसी से समझा जा सकता है कि उस वक्त के मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर से जब पत्रकार सुरेंद्र किशोर ने, जो तब ‘आज’ अखबार में पत्रकार थे, एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सवाल पूछा तो सवाल सुनते ही कर्पूरी ठाकुर ने तेज आवाज में कहा था, मुझे पता है कि कॉफी हाउस में क्या-क्या चर्चा होती है मेरी सरकार के बारे में. जाहिर है इससे समझा जा सकता है कि तब के सत्ता के शीर्ष में बैठे नेताओं को पता था कि कॉफी हाउस का लेवल क्या था और वो कहां तक की जानकारी रखते थे.

कॉफी बोर्ड में सिर्फ राजनीतिक जगत के लोगों का ही जमावड़ा नहीं लगता था, बल्कि साहित्य जगत के दिग्गज भी कॉफी बोर्ड में बैठते थे. फणीश्वर नाथ रेणु, नागार्जुन, शंकर दयाल सिंह, योग जगत के जाने-माने चेहरे फूलगेंदा सिंह जो अमेरिका में योग सिखाते थे, जब बिहार आते तो कॉफी बोर्ड में आना नहीं भूलते. कॉफी बोर्ड में एक खास कॉर्नर साहित्यकार फणीश्वर नाथ रेणु के लिए बुक रहता था, जिसका नाम था रेणु कॉर्नर. जब रेणु जी आते तो कॉफी हाउस में बैठे लोग उनके पास आ जाते और उनकी बातों को घंटों सुना करते थे.

सर गणेश दत्त के पोते और विधानसभा के सदस्य रह चुके गजानन शाही, जिन्हें लोग मुन्ना शाही के नाम से भी जानते हैं, कॉफी बोर्ड में प्रतिदिन बैठा करते थे. कॉफी बोर्ड की बातों की चर्चा होते ही यादों में खो जाते हैं. मुन्ना शाही बताते हैं कि एक समय था जब पटना के डाकबंगला चौराहा पास बने कॉफी बोर्ड में बैठना राजनीतिक जगत के हों, या फिर किसी दूसरे क्षेत्र के, सम्मान की बात समझी जाती थी. रौनक का आलम ये था कि एक कप कॉफी पीने के लिए लोग इंतजार करते थे. अपने-अपने क्षेत्र के दिग्गजों से मिलने के लिए इससे बेहतर जगह कोई दूसरी नहीं थी.

मुन्ना शाही बताते हैं कि 1990 के बाद जब भारत सरकार की तरफ से खोले गए कॉफी बोर्ड को घाटा होने लगा, तो पटना के कॉफी हाउस को भी बंद कर दिया गया. बहुत प्रयास किया गया कॉफी बोर्ड बंद ना हो, लेकिन पटना का कॉफी बोर्ड, जिसे पटना कॉफी हाउस भी बोला जाता था, बंद हो ही गया. इतिहास के कई यादगार पलों को अपने में समेटे पटना कॉफी हाउस पटना के डाकबंगला चौराहा के पास आज भी दिखता है, लेकिन आज यहां अब कोई बैठक नहीं लगती.

Input : News18

BIHAR

बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय हुए हाईटेक, यूट्यूब चैनल के बाद अब वेबसाइट भी बनाया

Published

on

अपने बयान और कार्यशैली से चर्चा में रहने वाले बिहार के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय और हाईटेक हो गए हैं. डीजीपी ने अपने नाम से वेबसाइट बनवाया हैं. इनके वेबसाइट पर लाइव स्ट्रीमिंग की भी व्यवस्था है.

डीजीपी के साथ जुड़ सकते युवा

डीजीपी का वेबसाइट आईपीएस गुप्तेश्वर पांडेय डॉट कॉम के नाम से बना है. इस पर उनके बारे में जानकारी दी गई है. वह किस बैच के आईपीएस अधिकारी है. इसके साथ ही ज्वाइन यूथ बिग्रेड एक सेक्शन बना हुआ है. जिसमें नाम पता, मोबाइल नंबर भर कर युवा उनके साथ जुड़ सकते हैं. लेकिन नीचे शर्त दिया गया है कि किसी तरह का ज्वाइन करने वाले शख्स पर कोई अपराधिक मामला दर्ज न हो.

नशा मुक्ति अभियान

खुद डीजीपी ने अपने फेसबुक पेज पर लिखा है कि बिहार को नशा मुक्त करने के लिए आप हमारे वेबसाइट से जुड़ सकते हैं. इसमें भी डिटेल्स देना होगा. इसके अलावे उनके पीसी का लिंक, खबरों का लिंक दिया गया है. कई कार्यक्रम का फोटो भी अपलोड है.

पहले से ही यूट्यूब चैनल पर मौजूद

वेबसाइट से पहले गुप्तेश्वर पांडेय अपने नाम यूट्यूब चैनल भी चला रहे हैं. इस चैनल पर प्रेस कॉन्फ्रेंस और इंटरव्यू का वीडियो डाले हुए है. यहां पर इनके चाहने वाले कम नहीं है. 6 लाख 29 चैनल के सब्सक्राइबर है.

फेसबुक लाइव देते रहते हैं जानकारी

कई खास मुद्दों पर गुप्तेश्वर पांडेय अपने फेसबुक पेज पर लाइव आते हैं. इस दौरान वह मुद्दों पर बात करते हैं. हाल ही में गोपालगंज ट्रिपल मर्डर केस में हो रही कार्रवाई को लेकर भी फेसबुक लाइव आकर लोगों को जानकारी दी थी. फेसबुक पेज पर 6 लाख 60 फ्लोवर है.

Input : First Bihar

Continue Reading

BIHAR

UP के प्रतापगढ़ में भीषण सड़क हादसा, बिहार के नौ लोगों की मौत, हरियाणा से लौट रहे थे घर

Published

on

उत्तरप्रदेश के प्रतापगढ़ में शुक्रवार की सुबह हुए भीषण सड़क हादसे में हरियाणा से बिहार के भोजपुर लौट रहे नौ लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना शुक्रवार की सुबह करीब साढ़े पांच बजे की है जब नवाबगंज थाना क्षेत्र के वाजिदपुर में ट्रक और स्कॉर्पियो की सीधी भिड़ंत में स्कॉर्पियो के परखच्चे उड़ गए और उसमें सवार नौ लोगों की मौत हो गई।

Pratapgarh Truck Accident

सड़क हादसे में शामिल पांच पुरुष, तीन महिलाएं और एक बच्चे की मौत हो गई तो वहीं स्कॉर्पियो चालक की स्थिति गंभीर बनी हुई है। स्कॉर्पियो को गैस कटर से काटकर गाड़ी में फंसे मृतकों के शवों को बाहर निकाला गया है। जानकारी के मुताबिक ये सभी स्कॉर्पियो से हरियाणा से बिहार जा रहे थे।

जानकारी के मुताबिक ये सभी स्कॉर्पियो से हरियाणा के भिवाड़ी शहर से बिहार के भोजपुर जिला जा रहे थे। मृतकों में अभी तक दो शवों की पहचान हो पाई है। इसमें बिहार के भोजपुर जिले के शाहपुर थाना क्षेत्र के गोसाईगंज के रहने वाले नंदलाल (45) व उनकी पत्नी मीना देवी (38) थे। यह दोनों अपनी बेटी की सगाई के लिए गांव जा रहे थे।

Image

इस घटना में दो घायलों को गंभीर स्थिति में लखनऊ के एक अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। इनके गांव के बहुत से लोग भिवाड़ी शहर में काम करते हैं। पुलिस द्वारा सूचना मिलते ही भोजपुर जिले से घरवाले घटना स्थल के लिए रवाना हो गए हैं।

कहा जा रहा है कि प्रतापगढ़ के नबाबगंज के वाजिदपुर गांव के पास हाईवे पर भीषण बारिश के चलते कंटेनर ट्रक और स्कार्पियो कार में आमने-सामने टक्कर हो गई, जिससे ये हादसा हुआ है। टक्कर इतनी जबर्दस्त थी कि स्‍कार्पियो पूरी तरह से ट्रक के अंदर घुसी और जाकर उसमें फंस गई और उसमें सवार नौ लोगों की स्कॉर्पियो में ही मौत हो गई।

दुर्घटना की जानकारी मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से किसी प्रकार गैस कटर आदि से स्‍कार्पियो की बॉडी को काटकर शवों को बाहर निकाला है।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

BIHAR

जून में बंद हो जाएंगे पटना के सभी पीपा पुल, पुल निर्माण निगम ने जारी किया आदेश

Published

on

PATNA : गंगा के जलस्तर में हो रही वृद्धि और मॉनसून के आगमन को देखते हुए पटना के सभी पीपा पुलों पर आवागमन बंद हो जाएगा. इसके लिए बिहार राज्य पुल निर्माण निगम ने कहा है कि 15 जून से सभी पीपा पुलों पर परिचालन बंद हो जाएगा.

15 जून से महात्मा गांधी सेतु के समानानंतर गायघाट पीपा पुल, दानापुर में दानापुर-पानापुर पीपा पुल, ग्यासपुर-काला दियारा और कच्चीदरगाह-रुस्तमपुर के बीच बने पीपा पुल पर आवागमन बंद कर दिया जाएगा. पीपा पुल को खोलने की तिथि बाद में निर्धारित की जाएगी.

बता दें कि हर साल बरसात के मौसम में गंगा के जलस्तर में हो रही वृद्धी को देखते हुए पीपा पुल को खोल दिया जाता है. पीपा पुल पर वाहनों का परिचालन बंद होते ही वैशाली एवं पटना की ओर से सभी तरह के छोटे वाहनों की आवाजाही गांधी सेतु के रास्ते होती है, जिसके कारण लोगों को जाम का सामना करना पड़ता है. वहीं दूसरे पीपा पुल खोले जाने के कारण स्थानीय लोगों को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है.

Input : First Bihar

Continue Reading
BIHAR1 hour ago

बिहार के DGP गुप्तेश्वर पांडेय हुए हाईटेक, यूट्यूब चैनल के बाद अब वेबसाइट भी बनाया

INDIA2 hours ago

AAP में शामिल हो सकते हैं नवजोत सिंह सिद्धू, केजरीवाल बोले उनका स्वागत है

BIHAR3 hours ago

UP के प्रतापगढ़ में भीषण सड़क हादसा, बिहार के नौ लोगों की मौत, हरियाणा से लौट रहे थे घर

BIHAR3 hours ago

जून में बंद हो जाएंगे पटना के सभी पीपा पुल, पुल निर्माण निगम ने जारी किया आदेश

BIHAR3 hours ago

गार्ड ने फर्जी SI बनकर रिटायर्ड दारोगा की बेटी से की शादी, दहेज में लिया 12 लाख रुपए

MUZAFFARPUR3 hours ago

प्रधानमंत्री समेत अन्य गण्यमान्यों को लीची भेजने की परेशानी खत्म, उद्यान रत्न किसान ने की व्यवस्था

BIHAR3 hours ago

World Environment Day 2020: पश्चिम चंपारण के इस विद्यालय में नामांकन के समय पौधा लगाते छात्र, जानें कैसे हुई शुरुआत

MUZAFFARPUR3 hours ago

चमकी बुखार से पीड़ित दो बच्चों की मौत, एक एईएस मरीज भर्ती

MUZAFFARPUR4 hours ago

मुजफ्फरपुर के जय अलानी देशभर से भगा रहे ‘भूत-प्रेत’

MUZAFFARPUR5 hours ago

मीनापुर से फिर मजदूरों को लेकर पंजाब गई बस

BIHAR3 weeks ago

जानिए- बिहार के एक मजदूर ने ऐसा क्या कहा कि दिल्ली के अफसर की आंखों में आ गए आंसू

WORLD4 weeks ago

इंडोनेशिया में घर के साथ पत्नी मुफ्त, एड ऑनलाइन हुआ वायरल

BIHAR4 weeks ago

बिहार के लिए हरियाणा से खुलेंगी 11 ट्रेनें, यहां देखिये गाड़ियों की पूरी लिस्ट

BIHAR3 weeks ago

बिहार के 4 जिलों के लिए मौसम विभाग का अलर्ट,वर्षा-वज्रपात और ओलावृष्टि की चेतावनी

TECH4 weeks ago

ज़बरदस्त ऑफर! सिर्फ 22,999 रुपये का हुआ सैमसंग का 63 हज़ार वाला धांसू स्मार्टफोन

MUZAFFARPUR1 week ago

मुजफ्फरपुर आ रहें हैं सोनू सूद, कहा साइकिल से घूमेंगे पुरा मुजफ्फरपुर

BIHAR3 weeks ago

बिहार में 33916 शिक्षकों की होगी बहाली, मैथ और साइंस के होंगे 11 हजार टीचर, यहां देखिये सभी विषयों की लिस्ट

INDIA3 weeks ago

घरेलू उड़ानों के लिए बुकिंग शुरू, पर शर्तें लागू; जानें आपको फायदा मिलेगा या नहीं

TECH7 days ago

आ रहा नोकिया का 43 इंच का TV, जानें कितनी होगी कीमत

INDIA3 weeks ago

भारत के 700 स्टेशनों के लिए चलेगी ट्रेन, रेल मंत्रालय ने कहा- रोज चलेंगी 300 ट्रेनें

Trending