Connect with us

INDIA

जयंती विशेष : सुषमा स्‍वराज ने महज 25 की उम्र में दिखाई थी ये दिलेरी

Published

on

14 फरवरी को पूरी दुनिया जहां वेलेंटाइन डे मनाती है चहीं इसी तारीख को भारतीय राजनेता सुषमा स्वराज का जन्‍म हुआ था। सुषमा स्‍वराज वो नेता जिनके प्रभावी और धारदार भाषणों पर हर कोई प्रभावित हो जाया करता था और विपक्ष धराशायी हो जाया करता था। उन्‍होंने भाजपा में रहते हुए कई असंभव काम को संभव कर डाला। उन्‍होंने राजनीति में रहते हुए भी अपनी पारिवारिक जिंदगी और प्रोफेशनल लाइफ में वो संतुलन बना कर रखा जो एक नजीर बन चुका है। सुषमा स्‍वराज भले ही अगस्‍त 2019 में हम सब को सदा के लिए अलविदा कह गईं लेकिन राजनीति के शानदार करियर के लिए उन्‍हें सदा याद किया जाता रहेगा। 4 दशकों की राजनीति के बीच जो उन्‍होंने पहचान बनाई वो राजनीति में आने वाली कई पीढि़यों को प्रेरणा देती रहेगी। उनकी 69 वीं जयंती के अवसर पर, आइए उनके शानदार जीवन, करियर से जुड़ी रोचक बातें ….

सुषमा स्‍वराज ने महज 25 की उम्र में दिखाई थी ये दिलेरी

देश की सर्वोच्‍च न्‍यायालय में उन्‍होंने वकालत की
सुषमा स्वराज का जन्म हरियाणा के अंबाला कैंट में 14 फरवरी 1952 को हुआ। वकालत की पढ़ाई के बाद उन्‍होंने देश की सर्वोच्‍च न्‍यायालय में उन्‍होंने वकालत की और 1970 में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़ीं। जुलाई 1975 में स्वराज कौशल के साथ उनका विवाह हुआ।सुषमा स्वराज के पति कौशल कोर्ट में ही प्रैक्टिस करते थे। उन्‍होंने आपातकाल के दौरान जयप्रकाश नारायण के संपूर्ण क्रांति आंदोलन में हिस्सा लिया। इसी समय पर इंदिरा गांधी के कट्टर नेताओं का केस लड़ने और उनका खुलकर साथ देने के लिए सुषमा स्वराज तैयार होते हुए हामी भरी थी। जो किस्‍सा काफी मशहूर है।

जेल का फाटक टूटेगा, जार्ज हमारा छूटेगा नारा लगाकर किया था ये कमाल

सुषमा स्‍वराज ने महज 25 की उम्र में दिखाई थी ये दिलेरी
बता दें उस समय जार्ज फडवीस को जेल में इसलिए डाल दिया गया था क्योंकि उन्‍होंने इमरजेंसी यानी आपातकाल के खिलाफ उसरकारी संस्‍थानों और रेल ट्रैक को उड़ाने के लिए डायनामाइट की तस्‍करी की थी। उन पर विद्रोह और सरकार को उखाड़ फेकनें का आरोप लगा था। 1976 में उन्‍हें गिरफ्तार कर दिल्‍ली की तिहाड़ जेल में बंद किया गया था। तब सुषमा स्वराज बड़ौदा डायनामाईट केस में जार्ज फर्नांडीस सहित 25 अभियुक्तों की वकील बन कर उनका केस लड़ने की ठानी थी। महज 25 बरस की सुषमा स्वराज इंदिरा गांधी के घोर शत्रुओं का मुकदमा लड़ने को तैयार हो गई। वहीं 1977 के लोकसभा चुनाव में जार्ज ने जेल से ही नामांकन किया। जार्ज का वहां कोई घर का सदस्‍य नहीं था इसलिए सुषमा स्‍वराज ने जार्ज को चुनाव में जीत दिलाने की जिम्मेदारी अपनी कंधों पर ली।

विदेश मंत्री रहते हुए अपने तेवरों से पाक को झुकाया

जेल का फाटक टूटेगा, जार्ज हमारा छूटेगा नारा लगाकर किया था ये कमाल
सुषमा स्‍वराज ने प्रचार का नायाब तरीका अपनाते हुए नुक्‍कड़ नाटक किए जिसके बाद ये ऐसा दौर था मुजफ्फरपुर के लोगों ने परिवर्तन की लहर देखी। उस समय सुषमा स्‍वराज नारा लगाती थी कि जेल का फाटक टूटेगा, जार्ज हमारा छूटेगा। यह नारा आम लोगों की जुबान पर उस समय चढ़ गया था। जार्ज के परिवार का कोई नहीं था तो सुषमा स्‍वराज ने ही चुनाव प्रचार का बीड़ा थामा था। पूरे चुनाव के दौरान जार्ज एक बार भी अपने क्षेत्र में नहीं जा सके और उस दौर हाथों में हथकड़ी से जकड़े जार्ज की एक तस्वीर सर्कुलेट हुई। कुछ समय में ही ये फोटाे प्रतिरोध का प्रतीक चिन्ह बनकर लोगों पर असर किया और जिसका परिणाम ये हुआ कि लगभग तीन लाख वोटों से जार्ज ने चुनाव जीत हासिल की।

Image result for sushma swaraj

25 साल की उम्र में बनी थीं कैबिनेट मंत्री
सुषमा स्‍वराज जिन्‍होंने पहली नरेंद्र मोदी सरकार के दौरान विदेश मंत्री के रूप में कार्य किया। सुषमा स्वराज स्वतंत्र भारत के इतिहास में पोर्टफोलियो की सेवा के लिए इंदिरा गांधी के बाद केवल दूसरी महिला थीं और निर्विवाद रहते हुए सबसे अधिक सफल विदेश मंत्री बनीं। स्वराज का राजनीतिक जीवन 25 वर्ष की आयु में शुरू हुआ, जब उन्हें 1977 के हरियाणा चुनावों में विधान सभा के सदस्य के रूप में चुना गया। उसी वर्ष, उन्हें हरियाणा की पूर्व मुख्यमंत्री देवी लाल की अध्यक्षता वाली जनता पार्टी सरकार में कैबिनेट मंत्री के रूप में चुना गया। 27 साल की उम्र तक, वह जनता पार्टी की हरियाणा इकाई के अध्यक्ष बन गई।



सुषमा स्‍वराज बनी थीं दिल्‍ली की पहली महिला मुख्‍यमंत्री

1996 में राज्यसभा में अपना छह साल का कार्यकाल पूरा करने पर, स्वराज 1996 के चुनावों में दक्षिण दिल्ली निर्वाचन क्षेत्र से 11 वीं लोकसभा के लिए चुने गए। 1996 में अटल बिहारी वाजपेयी के नेतृत्व वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार के सत्ता में आने के बाद, स्वराज को सूचना और प्रसारण विभाग दिया गया। सरकार 13 दिनों तक चली, हालांकि स्वराज दिल्ली की पहली महिला मुख्यमंत्री के रूप में कार्यभार संभालने से पहले अक्टूबर 1998 तक केंद्रीय मंत्री बनी रहीं। उन्होंने पद संभालने के बाद हफ्तों के भीतर मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया।

विदेश मंत्री रहते हुए अपने तेवरों से पाक को झुकाया
12 वीं लोकसभा के लिए उनके फिर से चुने जाने पर, स्वराज को फिर से सूचना और प्रसारण विभाग दिया गया, जो उन्होंने स्वास्थ्य और परिवार कल्याण और संसदीय मामलों के मंत्री बनने से पहले 2000 से 2003 के बीच सेवा की। 2009 और 2014 के बीच, उन्होंने 15 वीं लोकसभा में विपक्ष के नेता के रूप में कार्य किया। 2014 में जोरदार जीत के साथ भारतीय जनता पार्टी के सत्ता में लौटने के बाद स्वराज को विदेश मंत्रालय मंत्रालय दिया गया था। वह निर्विवाद रूप से अब तक का सबसे सुलभ विदेश मंत्री था। अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने एक भारतीय लड़की गीता को वापस लाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जो 15 साल से पाकिस्तान में फंसी हुई थी।पाकिस्‍तान को लेकर भी सुषमा का रुख हमेशा आक्रामक रहा। उन्‍होंने हमेशा पाकिस्‍तान को स्‍पष्‍ट कहा कि जब तक सीमा पार से जारी आतंकवाद पर लगाम नहीं लगेगी तब तक कोई बातचीत नहीं होगी। पाकिस्‍तान को सुषमा स्‍वराज के जबरदस्‍त तेवर के सामने झुकना पड़ा था।

Source : One India

INDIA

निर्देश : ट्रेन के सफर में जरूरत पर दवा मिलेगी

Published

on

NEW DELHI : ट्रेन में सफर के दौरान जरूरत पर रेल यात्रियों को जीवन रक्षक दवा और ऑक्सीजन सिलेंडर भी मिलेगा। रेलवे बोर्ड ने 17 जोनल महाप्रबंधकों को जारी आदेश में कहा गया है कि यात्री ट्रेन में यह प्रबंध किया जाए। अभी रेल सफर में जरूरत होने पर अगले स्टेशन पर चिकित्सा सुविधा मिलती है।

रेलवे बोर्ड ने 18 नवंबर यह निर्देश जारी किए हैं। इसमें सुप्रीम कोर्ट के आदेश का हवाला देते हुए कहा है कि सभी ट्रेन में सूचीबद्ध जीवन रक्षक दवाइयों (फर्स्ट एड बॉक्स) के साथ ऑक्सीजन सिलेंडर-चिकित्सा उपकरण उपलब्ध कराना है। इससे सफर में यात्रियों को स्वास्थ्य संबंधी आपात स्थिति होने पर चिकित्सा सुविधा मुहैया कराई जा सकेगी। सुप्रीम कोर्ट ने 2016 के आदेश में स्पष्ट कहा है कि सफर के दौरान आपात स्थिति में यात्रियों की मदद के लिए दवाएं और उपकरण उपलब्ध कराए जाएं। लेकिन अभी तक सभी जोनल रेलवे ने डाटा नहीं दिया है। बोर्ड ने इस पर चिंता जताई है और सभी जोन को ट्रेन में चिकित्सा सुविधा देने की हिदायत दी है।

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading

INDIA

पुलिस की ‘जानलेवा’ करतूत: सब्जी वाले का तराजू रेलवे ट्रैक पर फेंका, उठाने गया तो कट गए दोनों पैर

Published

on

कानपुर के कल्याणपुर थाने के दीवान की दबंगई ने एक सब्जीवाले की पूरी जिंदगी तबाह कर डाली. पुलिसकर्मी के कारनामे से गरीब अब अपने दोनों पैरों से महरूम हो गया. दरअसल थाने के सामने रोड किनारे टमाटर बेचने वाले का तराजू पुलिसकर्मी ने उठाकर पास की रेल पटरी पर फेंक दिया था. जब सब्जीवाला उठाने गया तो ट्रेन से उसके दोनों पैर कट गए. इस मामले में आरोपी दीवान को सस्पेंड कर दिया गया है.

चश्मदीदों ने बताया कि कल्याणपुर थाने के सामने रोड के किनारे सब्जीवालों की दुकानें लगती हैं. यहां दुकानें लगाना नियम के विरुद्ध है. लेकिन कुछ गरीब परिवार दशकों से यहीं दुकानें लगाकर अपना पेट पालते हैं. इन्हीं में शामिल लड्डू भी यहां टमाटर की दुकान लगाए हुआ था.

इस दौरान सब्जीवाला पुलिस दीवान से हाथ जोड़कर प्रार्थना करता रहा, ‘तराजू मत पर फेंकिए, मैं दुकान हटा रहा हूं…” लेकिन दीवान ने उसकी एक न सुनी और तराजू समेत कुछ समान उठाकर रेलवे पटरी पर फेंक दिया. दुकानदार लड्डू दीवार फांद कर जल्दी से अपना तराजू लेने पर रेलवे पटरी पर पहुंचा, उसी समय सामने से ट्रेन आ गई और उसके पैरों को काटते हुए चली गई.

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

चीख-पुकार सुनकर आसपास के दुकानदार दौड़े और तब तक पुलिससकर्मी भी आ गए. खून से लथपथ सब्जीवाले को लोगों ने पुलिस की मदद से उठाया और कानपुर के हैलट हॉस्पिटल के इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है.

इस घटना को लेकर पुलिस का कोई भी अधिकारी बयान नहीं दे रहा है. हालांकि, एडीसीपी लाखन सिंह ने बताया कि दीवान को दोषी पाते हुए सस्पेंड कर दिया गया है. आगे की जांच की जाएगी. उसके बाद कार्रवाई की जाएगी.

Source : Aaj Tak

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading

INDIA

शुरुआत : ‘डिजी यात्रा’ ऐप लांच, अब आपका चेहरा ही होगा बोर्डिंग पास

Published

on

नागरिक उड्यन मंत्रालय ने यात्रियों को हवाई अड्डे पर काग़ज़ रहित एवं संपर्क रहित यात्रा की सुविधा मुहैया कराने की दिशा में आज एक महत्वपूर्ण पहल ‘डिजी यात्रा’ का शुभारंभ किया। नागरिक उड्यन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने राजधानी में इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के टर्मिनल 3 पर एक संक्षिप्त समारोह में इस सुविधा की शुरूआत की। इस मौके पर नागरिक उड्यन सचिव राजीव बंसल भी मौजूद थे।

RAMKRISHNA-MOTORS-IN-MUZAFFARPUR-CHAKIA-RAXUAL-MARUTI-

इस पहल के तहत एक मोबाइल एप्लीकेशन डिजी यात्रा जारी किया गया है जो डिजी लॉकर, कोविन ऐप और विशिष्ट पहचान आधार के पोर्टल से जुड़ा है। किसी भी यात्री को अपने मोबाइल फोन सेट पर अपने आधार कार्ड अथवा कोई सरकारी पहचान पत्र तथा कोविन पोर्टल से कोविड टीका प्रमाणपत्र संबद्ध करना होगा। यात्री खुद की फोटो यानी सेल्फी खींच कर पहचान स्थापित कर सकेगा।

यात्रा से कम से कम डेढ़ घंटे पहले अपने बोर्डिंग कॉर्ड को स्कैन करना होगा। इससे यात्री हवाई अड्डे में सुगमता से प्रवेश कर सकेगा। पहले चरण में इसे आज से दिल्ली, बेंगलुरु और वाराणसी हवाईअड्डों का क्रियान्वित किया गया है। मार्च 2023 तक हैदराबाद, कोलकाता, पुणे और विजयवाड़ा में भी शुरू किया जाएगा। बाद में इसे देश के सभी हवाईअड्डों पर शुरू किया जाएगा।

nps-builders

Genius-Classes

Continue Reading
BIHAR5 hours ago

दारोगा की पार्टी में मेहमान बनकर आईं दो महिला चोर, लाखों के गहने और कैश से भरा बैग उड़ाया

BIHAR6 hours ago

आर्केस्ट्रा गर्ल का वीडियो हुआ वायरल… कहा-लड़की गलत नही होती बना दी जाती हैं.. सबने धोखा दिया

BIHAR11 hours ago

17 जिलों के हवाई अड्डे होंगे अतिक्रमण मुक्त, जल्द शुरू होगा हवाई अड्डे का मापी

MUZAFFARPUR12 hours ago

मुजफ्फरपुर : डॉ. रविकांत को मिला ट्रू लीजेंड पुरस्कार

INDIA13 hours ago

निर्देश : ट्रेन के सफर में जरूरत पर दवा मिलेगी

BIHAR13 hours ago

कलयुग के श्रवण कुमार की खूब हो रही चर्चा, पिता के निधन के बाद बनाई मंदिर,11 सालों से कर रहा पूजा

BUSINESS1 day ago

घर में कितना रख सकते हैं कैश, जानिए क्या हैं इनकम टैक्स के नियम

INDIA1 day ago

पुलिस की ‘जानलेवा’ करतूत: सब्जी वाले का तराजू रेलवे ट्रैक पर फेंका, उठाने गया तो कट गए दोनों पैर

crime-news-muzaffarpur-now-india-bihar
MUZAFFARPUR1 day ago

मुजफ्फरपुर के सिविल इंजीनियर की सुंदरगढ़ में हुई हत्या

BIHAR2 days ago

बिहार बोर्ड: 11 वीं में दाखिले के लिए 15 दिसंबर तक बढ़ी रजिस्ट्रेशन की डेट

TRENDING4 weeks ago

प्यार की खातिर टीचर मीरा बनी आरव, जेंडर बदल कर स्कूल स्टूडेंट कल्पना से रचाई शादी

MUZAFFARPUR4 weeks ago

इंतजार की घड़ी खत्म: 12 साल पहले बना सिटी पार्क 15 नवंबर से पब्लिक के लिए खुलेगा

INDIA3 weeks ago

गर्लफ्रेंड शादी करना चाहती थी, प्रेमी ने उसके 35 टुकड़े किए, कई दिन फ्रिज में रखा

SPORTS3 weeks ago

खुशखबरी! टी20 वर्ल्ड कप में हार के बाद भारतीय टीम में फिर होगी धोनी की वापसी

ENTERTAINMENT3 weeks ago

‘कसौटी जिंदगी की’ एक्टर सिद्धांत वीर सूर्यवंशी का जिम में वर्कआउट करते वक्त निधन

MUZAFFARPUR4 weeks ago

सोनपुर मेले में भारी भीड़ को देखते हुए आज और कल मुजफ्फरपुर से चलेगी स्पेशल ट्रेनें

OMG4 weeks ago

पाकिस्तानी एक्ट्रेस सेहर शिनवारी का जिम्बाब्वे को ऑफर, इंडिया को हराया तो तुमसे करूंगी शादी

BIHAR3 weeks ago

भोजपुरी एक्ट्र्रेस अक्षरा सिंह की बढ़ीं मुश्किलें, पटना के घर पर पुलिस ने चिपकाया इश्तेहार

MUZAFFARPUR4 weeks ago

मुजफ्फरपुर शहर के बैंड-बाजा कलाकार लग्न में नहीं बजाएंगे अश्लील व फूहड़ गाने

VIRAL4 weeks ago

मोहब्बत की अजीब दास्तां : 83 साल की विदेशी महिला को हुआ 28 साल के युवक से इश्क़, किया निकाह

Trending