जयनगर इंटरसिटी और गरीब रथ में हो सकती थी टक्कर, ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर रोकी ट्रेन
Connect with us
leaderboard image

BIHAR

जयनगर इंटरसिटी और गरीब रथ में हो सकती थी टक्कर, ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर रोकी ट्रेन

Santosh Chaudhary

Published

on

ड्राइवर की सूझबूझ ने यात्रियों की जा’न बचा ली, वरना हो सकता था बड़ा रेल हा’दसा. जी हां, मोकामा स्टेशन पर प्लेटफार्म संख्या तीन (अप लाइन) पर जयनगर-राजेंद्रनगर इंटरसिटी एक्सप्रेस रुकी हुई थी, तभी उसी लाइन पर जयनगर-आनंद विहार गरीब रथ एक्सप्रेस आ गयी. पूर्वी फाटक पार करते ही गरीब रथ के चालक की नजर प्लेटफार्म संख्या तीन पर खड़ी ट्रेन पर पड़ गयी. लेकिन ड्राइवर की सूझबूझ से हाद’सा टल गया. ड्राइवर ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर बचाई जान.

ड्राइवर ने लगाया इमरजेंसी ब्रेक :

करीब डेढ़ सौ मीटर के फासले पर गरीब रथ एक्सप्रेस रुकी. करीब दो मिनट के अंतराल पर एक ही ट्रैक पर दोनों ट्रेनों को दौड़ाया जा रहा था. स्टेशन प्रबंधक का कहना है कि जयनगर-आनंद विहार गरीब रथ एक्सप्रेस को भूलवश थ्रू सिग्नल दे दिया गया, जबकि उस ट्रेन का ठहराव मोकामा में भी है. ड्राइवर ने सूझबूझ से दबाया इमरजेंसी ब्रेक.

यात्रियों में मची अफरातफरी:

बता दें कि मोकामा स्टेशन पर जयनगर- राजेंद्रनगर इंटरसिटी एक्सप्रेस दोनों एक ही प्लेटफार्म पर आ कर रुक गयी. पहले तो यात्रियों को लगा कि जयनगर इंटरसिटी के खुलने के बाद गरीब रथ एक्सप्रेस आयेगी, लेकिन अचानक पीछे से आ रही दूसरी ट्रेन देखकर प्लेटफाॅर्म पर खड़े यात्रियों में अफरा-तफरी मच गयी. इमरजेंसी ब्रेक लगाने के बाद गरीब रथ एक्सप्रेस में तकनीकी गड़बड़ी आ गयी.

इसके कारण ट्रेन पूर्वी फाटक पर करीब एक घंटा रुकी रही. इससे फाटक से होकर सड़क यातायात भी बाधित हो गया. बाद में तकनीकी खामियों को दुरुस्त कर ट्रेन को तीन नंबर प्लेटफाॅर्म पर लाया गया.

Input : Live Cities

BIHAR

VIDEO: बिहार में इस तरह भी होता है बच्चों का जन्म, वीडियो देखकर आपको भी आएगी शर्म

Santosh Chaudhary

Published

on

बिहार में अस्पताल की ला’परवाही वक्त बेबक्त सामने आती रहती है। इस बार खबर अररिया जिले की है जहां रानीगंज रेफरल अस्पताल में बुधवार की सुबह आठ बजे एएनएम ने प्र’सव पी’ड़ा से करा’ह रही महिला को बिना जां’च किये ही निजी नर्सिंग होम ले जाने का आदेश दे दिया।

इसके बाद पीड़ित महिला के परिजन महिला को किसी अन्य अस्पताल में ले जा रहे थे कि महिला की प्रसव पीड़ा तेज हो गई तो अस्पताल परिसर में ही कुछ महिलाओं ने आनन-फानन में साड़ी टांगकर महिला का प्रसव कराया। इसमें हैरत की बात यह है कि रेफरल अस्पताल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी वाई पी सिंह के सामने साड़ी टांग कर महिलाओं ने प्रसव कराया, लेकिन प्रसव के बाद भी अस्पताल से कोई भी एएनएम देखने नहीं आई।

महिला ने एक साथ तीन स्वस्थ बच्चों को जन्म दिया है। इसके बाद परिजन अस्पताल प्रशासन से काफी नाराज दिखे। इसकी जानकारी मिलने पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉक्टर वाई पी सिंह ने ड्यूटी पर तैनात एएनएम अस्मिता को तत्काल लेबर रूम की ड्यूटी से हटाने का आदेश दे दिया है।

Input : Dainik Jagran

 

Continue Reading

BIHAR

बिहार के इन 3 शहरों में जल्द दूर होगी पानी की किल्लत, पीने के लिए मिलेगा गंगाजल

Ravi Pratap

Published

on

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के समक्ष सरकार के जल संसाधन विभाग की तरफ से एक प्रेजेंटेशन दिया गया, जिसमें पाइप के सहारे तीन शहरों में गंगा का पानी पहुंचाने की बात कही गई. गया, नवादा और राजगीर के लोगों को पीने के लिए आने वाले समय में गंगाजल मिलेगा. मुख्य सड़क के किनारे पाइप लाइन बिछाकर तीनों शहरों तक गंगाजल पहुंचाने की योजना पर जल संसाधन विभाग काम कर रहा है.

यह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ड्रीम प्रोजेक्ट है. पटना से गंगाजल को नवादा, गया और राजगीर ले जाने को सरकार लगातार कोशिश कर रही है. जल संसाधन विभाग इसकी तैयारी में जुट गया है.

मुख्यमंत्री लगातार इसके कार्य प्रगति की समीक्षा भी करते हैं. इस दौरान नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार सरकार का लक्ष्य लोगों को स्वच्छ पेयजल उपलब्ध कराना है. गया और राजगीर में भूजल स्तर में गिरावट आई है. उन्होंने कहा कि इस व्यवस्था को जल्द से जल्द शुरू करने के लिए काम किया जाएगा, ताकि लोगों को वहां पेयजल की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़े.

नीतीश कुमार की अध्यक्षता में आयोजित इस समीक्षा बैठक में जल संसाधन मंत्री संजय झा, कृषि मंत्री मंत्री प्रेम कुमार के साथ-साथ विभागीय अधिकारी मौजूद रहे. इसके अलावा नगर विकास विभाग ने भी सीएम के समक्ष प्रेजेंटेशन दिया.

Input : Zee news

(हम ज्यादा दिन WhatsApp पर आपके साथ नहीं रह पाएंगे. ये सर्विस अब बंद होने वाली है. लेकिन हम आपको आगे भी नए प्लेटफॉर्म Telegram पर न्यूज अपडेट भेजते रहेंगे. इसलिए अब हमारे Telegram चैनल को सब्सक्राइब कीजिए)

Continue Reading

MUZAFFARPUR

एक हजार वेपर लाइट हुईं खराब शहर की सड़कें व गलियां अंधेरे में

Santosh Chaudhary

Published

on

शहर की सड़कों एवं गली-मोहल्लों को रोशन करने के लगीं एक हजार से अधिक वेपर लाइटें अपनी रोशनी खो चुकी हैं। उनकी मरम्मत के लिए आम जनता से लेकर वार्ड पार्षद तक निगम प्रशासन एवं एनर्जी एफिशिएंसी सर्विस लिमिटेड (ईईएसएल) का दरवाजा खटखटा रहे हैं। लेकिन, किसी की नींद नहीं खुल रही। इससे पार्षदों में आक्रोश है। सोमवार को उन्होंने निगम बोर्ड की बैठक में खराब वेपरों की मरम्मत नहीं होने पर न सिर्फ नाराजगी व्यक्त की, बल्कि निगम प्रशासन से एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी।

शहर में लगी हैं 18 हजार से अधिक वेपर लाइटें: नगर विकास विभाग की पहल पर बीते वर्ष शहर की सड़कों को एलईडी लाइट से रोशन करने के लिए ईईएसएल से करार हुआ था। 6 फरवरी 2018 को हुए करार के बाद ईईएसएल ने शहर में 14 हजार से अधिक एलईडी वेपर लाइटें लगाईं। वहीं निगम की 3332 वेपर लाइटें भी सड़कों पर लगी हैं।

ईईएसएल को सात साल तक करना है वेपर लाइटों का रखरखाव: एकरारनामा के अनुसार शहर में लगीं सभी वेपर लाइटों का सात साल तक रखरखाव भी ईईएसएल को ही करना है। शिकायत मिलते ही खराब वेपर लाइटों की मरम्मत का काम करना है। लेकिन, ऐसा नहीं हो रहा। एजेंसी इनकी मरम्मत नहीं करा रही है। पार्षदों की नाराजगी व नगर आयुक्त की चेतावनी के बाद भी खराब वेपरों की मरम्मत नहीं हो पा रही है।

करार का उल्लंघन, नहीं लग रहा जुर्माना: एलईडी लाइट लगाने एवं उसके रखरखाव के लिए निगम को 17.84 करोड़ रुपये ईईएसएल को भुगतान करना है। निगम इसकी प्रक्रिया में लगा है, लेकिन करार के विपरीत एजेंसी खराब वेपरों की मरम्मत नहीं कर रही है। करार के अनुसार यदि एजेंसी शिकायत के 72 घंटे के अंदर कार्य नहीं कराती तो जुर्माना भरना पड़ेगा। लेकिन, अब तक जुर्माना वसूल नहीं किया गया।

 

ईईएसएल के पदाधिकारी को बुलाकर नाराजगी जताई गई है। पार्षदों की शिकायत के तुरंत बाद खराब वेपरों की मरम्मत के लिए कहा गया है। यदि एजेंसी ने अपना काम सुचारु रूप से नहीं किया तो एकरारनामा की शर्तो के अनुसार कार्रवाई होगी ।– मनेश कुमार मीणा, नगर आयुक्त

शिकायत के बाद भी ईईएसएल खराब वेपर लाइटों की मरम्मत नहीं कर रही। इससे लोगों में नाराजगी है। नगर आयुक्त को एजेंसी के खिलाफ कार्रवाई को कहा गया है। दीपावली के पूर्व खराब वेपरों को ठीक कराने को कहा गया है।

-सुरेश कुमार, महापौर

 

रखरखाव की जिम्मेदारी से मुंह मोड़ रही ईईएसएल, शिकायतों की हो रही अनदेखी

शहर में 18 हजार एलईडी वेपर लाइट लगी हैं, सात साल तक एजेंसी को करना है रखरखाव

Input : Dainik Jagran

Continue Reading
Advertisement
RELIGION1 hour ago

सुप्रीम कोर्ट से अयोध्‍या के’स वापस लेगा सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड, विवादि’त जमीन पर छोड़ेगा कब्‍जा

BIHAR2 hours ago

VIDEO: बिहार में इस तरह भी होता है बच्चों का जन्म, वीडियो देखकर आपको भी आएगी शर्म

BIHAR4 hours ago

बिहार के इन 3 शहरों में जल्द दूर होगी पानी की किल्लत, पीने के लिए मिलेगा गंगाजल

STORY4 hours ago

प्रांजल बनीं भारत की पहली नेत्रहीन महिला IAS, प्रेरणादायक है इनकी कहानी

INDIA5 hours ago

Ayodhya Case: CJI गोगोई ने किया स्‍पष्‍ट, अयोध्या मामले की आज पूरी हो जाएगी सुनवाई

MUZAFFARPUR5 hours ago

एक हजार वेपर लाइट हुईं खराब शहर की सड़कें व गलियां अंधेरे में

RELIGION14 hours ago

कब से शुरू हुई छठ महापर्व मनाने की परंपरा, जानिए पौराणिक बातें

BIHAR14 hours ago

बिहार में TET को लेकर पटना हाईकोर्ट का बड़ा फैसला, उम्र खत्‍म होने के बाद भी दे सकेंगे परीक्षा

INDIA16 hours ago

मां के लिए फ्रिज खरीदने 35 किलो सिक्के लेकर गया, दो हजार रु. कम निकले तो शोरूम ने छूट दी

BIHAR16 hours ago

चैतन्य प्रसाद और आनंद किशोर की छुट्टी, बिहार में 8 IAS अधिकारियों का तबादला

BIHAR2 days ago

63वीं परीक्षा का रिजल्ट जारी, श्रीयांश तिवारी बने टॉपर, यहां देखें लिस्ट

BIHAR5 days ago

पटना पहुंची प्रीति जिंटा, एक झलक पाने को बेताब दिखी भीड़

BIHAR2 weeks ago

KBC 11: वैज्ञानिक के नाम से जुड़े सवाल पर अटकी बिहार की साइंस टीचर संगीता, गेम छोड़ने का लिया निर्णय

BIHAR3 days ago

संभावना सेठ के साथ रॉयल फुलार ने मनाया अपना प्रथम वर्षगाँठ

INDIA7 days ago

Reliance Jio यूजर्स को लगा बड़ा झटका, अन्‍य मोबाइल नेटवर्क पर कॉल करने के लिए देना होगा पैसा

MUZAFFARPUR6 days ago

मुजफ्फरपुर से दिल्ली के लिए चलेगी सुविधा स्पेशल

BIHAR5 days ago

पटना: IIT मुंबई ने सबसे कम उम्र के प्रोफेसर तथागत तुलसी को नौकरी से निकाला, जानिए कारण

BIHAR3 weeks ago

हाई वोल्‍टेज फैमिली ड्रामा: प्रेमी के घर के सामने धरना पर बैठी प्रेमिका, बोली- चल कर शादी

BUSINESS4 days ago

Paytm इस्तेमाल करने वालों के लिए बुरी ख़बर

MUZAFFARPUR3 weeks ago

बिहार में 28 नवंबर से 12 दिसंबर के बीच आठ जिलों की सेना बहाली, ये कागजात लाना होगा जरूरी

Trending

0Shares