Connect with us

BUSINESS

टिकट कैंसिल कराते वक्त रहें सावधान, नहीं तो खाली हो सकता है बैंक अकाउंट

Published

on

नई दिल्ली. अगर किसी वजह से आपको ​रेलवे टिकट कैंसिल (Railway Ticket Cancellation) करना पड़ रहा है तो आपको सावधानी बरतनी चाहिए. ऐसा नहीं करने पर आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) ने ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के लिए अपने ग्राहकों को सावधान किया है. बीते कुछ समय में साइबर फ्रॉड के मामलों में इजाफा हुआ है. टिकट कैंसिल कराने के नाम पर ग्राहकों को साइबर ठग चूना लगा रहे हैं.

IRCTC ने ई-मेल भेजकर ग्राहकों को सावधान किया

दरअसल, टिकट कैंसिल कराने के लिए ग्राहकों से उनके बैंक डिटेल्स की अहम जानकारियां मांगने के बाद ये ठग बैंक अकाउंट में सेंध लगा रहे हैं. IRCTC ने अपने ग्राहकों को एक मेल में कहा है, ‘किसी भी कारण के लिए IRCTC आपसे आपके बैंक की कोई जानकारी नहीं मांगता है. अगर आप बैंक अकाउंट संबंधी जानकारी किसी के साथ साझा करते हैं तो आप फ्रॉड के शिकार हो सकते हैं.

किसी से न साझा करें ये जानकारी

मेल में IRCTC ने अपने ग्राहकों को सलाह दी है कि वे अपने बैंक अकाउंट नंबर, ATM कार्ड, PIN, TPIN, CVV और UPI डिटेल्स समेत अन्य जानकारियों को किसी के साथ साझा न करें. साइबर लगातार इस प्रयास में हैं कि ग्राहकों के बैंक अकांउट संबंध जानकारी पता करे उन्हें ठगा जा सके. IRCTC ने साफ किया कि हम कभी भी कोई फोन कॉल या एसएमएस के जरिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगते है.

ऐसे मे आपके लिए जरूरी है कि आप कुछ जरूरी बातों को विशेष ध्यान दें ताकि आप भी इस तरह के फ्रॉड से समय रहते बच सकें. रेलवे टिकट कैंसिल कराने की प्रक्रिया पूरी तरह से ऑटोमेटिक होती है.1. ई-टिकट कैंसिलेशन के बाद रिफंड प्रोसेस पूरी तरह से ऑटोमेटिक होता है. रिफंड प्रोसेस टिकट कैंसिल कराने के बाद ही ऑटोमेटिक तरीके से शुरू हो जाता है. रिफंड की रकम भी अपने आप ही उसी खाते में डाली जाती है, जिस खाते की मदद से रेलवे टिकट बु​क किया गया होता है. ऐसे में ग्राहक से टिकट का दाम चार्जेज काटने के बाद स्वत: ही भेज दिया जाता है.

Input : News18

 

 

BUSINESS

बाजार में आया गाय के गोबर से बना पेंट, किसानों को मिलेगा गोबर से धन

Published

on

अभी तक हम गोबर्धन को एक त्योहार के रूप में ही मनाते आ रहे हैं, लेकिन वह दिन दूर नहीं जब सच में ही गोबर से धन (Gobar se Dhan) बरसेगा. किसानों की आमदनी बढ़ाने में गोबर का अहम रोल होगा. किसान जल्द ही गोबर से इनकम (Gobar se Income) करेंगे.

गाय का दूध-घी, गोमूत्र से बने पेस्टीसाइट, गाय के गोबर के दीये और गाय के गोबर से बना पेंट. जी हां, सही पढ़ा आपने, गाय के गोबर से बना पेंट. वही पेंट जिससे आप अपने घर, ऑफिस या दुकान रंगते हैं. खादी इंडिया गाय के गोबर से बना पेंट लेकर आया है. इस पेंट को बाजार में मंगलवार को लॉन्च किया जाएगा. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) इस पेंट को लॉन्च करेंगे. इस पेंट को खादी प्राकृतिक पेंट (Khadi Prakritik Paint) के नाम से लॉन्च किया जा रहा है. इस वेदिक पेंट (Vedic Paint) नाम दिया गया है.

गाय के गोबर से बने पेंट की बिक्री खादी और ग्रामोद्योग आयोग (KVIC) की मदद से की जाएगी. इस गोबर पेंट को खादी और ग्रामोद्योग आयोग की जयपुर की इकाई कुमारप्पा नेशनल हैंडमेड पेपर इंस्टीट्यूट (Kumarappa National Handmade Paper Institute) ने तैयार किया है. खास बात ये है कि इस पेंट को बीआईएस (BIS) यानी भारतीय मानक ब्यूरो भी प्रमाणित कर चुका है. किसानों की आमदनी बढ़ाने की दिशा में गाय के गोबर से बना पेंट एक बड़ा कदम है.

एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल, इको फ्रेंडली पेंट (Cow dung Paint)
खादी और ग्रामोद्योग आयोग का कहना है कि गाय के गोबर से बना यह पेंट एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल और इको फ्रेंडली है. दीवार पर पेंट करने के बाद यह सिर्फ चार घंटे में सूख जाएगा. इस पेंट में आप अपनी जरूरत के हिसाब से रंग भी मिला सकते हैं

अलग-अलग पैकिंग में तैयार (Khadi Prakritik Paint)
खादी प्राकृतिक पेंट (Khadi Prakritik Paint) दो रूप में उपलब्ध होगा, डिस्टेंपर पेंट (distemper paint) और प्लास्टिक एम्युनेशन पेंट (plastic emulsion paint). बताया गया है कि इस पेंट में हैवी मैटल (heavy metals) जैसे- सीसा (lead), पारा (mercury), क्रोमियम (chromium), आर्सेनिक, कैडमियम आदि का इस्तेमाल नहीं किया गया है. फिलहाल इसकी पैकिंग 2 लीटर से लेकर 30 लीटर तक तैयार की गई है.

30,000 रुपये की इनकम (Gobar se Dhan)
खादी और ग्रामोद्योग आयोग का कहना है कि इस पेंट से स्थानीय निर्माताओं को बढ़ावा मिलेगा और स्थानीय स्तर पर रोजगार के अवसर पैदा होंगे. पेंट की इस तकनीक से गाय के गोबर का इस्तेमाल बढ़ेगा. यह गोशालों की आमदनी बढ़ाने में भी अहम भूमिका अदा करेगा. इस पेंट के निर्माण से किसान या गोशाला को एक पशु से हर साल तकरीबन 30,000 रुपये की आमदनी होगी.

Input: Zee Business

rama-hardware-muzaffarpur

Continue Reading

BUSINESS

रिलायंस इंडस्ट्रीज बनी दुनिया की 40वीं सबसे मूल्यवान कंपनी, मार्केट कैप 200 अरब डॉलर के पार

Published

on

मार्केट कैपिटल के लिहाज से देश की सबसे बड़ी कंपनी रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (Reliance Industries Limited) अब दुनिया की 40वीं सबसे मूल्यवान कंपनी बन गई है. इसके साथ ही, रिलायंस इंडस्ट्रीज 210 अरब डॉलर (15 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा) का मार्केट कैप छूने वाली भारत की पहली कंपनी बनी. रिलायंस इंडस्ट्रीज कच्चा तेल, रिफाइनरी, पेट्रो रसायन, रिटेल और टेलिकॉम सेक्टर में काम करने वाली देश की प्रमुख कंपनी है. दुनियाभर में बाजार मूल्यांकन के हिसाब से रिलायंस 40वीं सबसे मूल्यवान कंपनी है.

Mukesh Ambani

रिलायंस इंडस्ट्रीज का शेयर एनएसई इंट्रा-डे पर गुरुवार को 2,344.95 रुपये के अपने सर्वकालिक रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गया और कारोबार के अंत में 7.29 फीसदी की बढ़त के साथ 2,319 रुपये पर बंद हुआ. NSE पर ReliancePP के शेयर में 10 फीसदी का अपर सर्किट लगा और यह 1,393.7 रुपये के ऑल-टाइम हाई पर बंद कर हुआ. इससे इंट्रा-डे में कंपनी का मार्केट कैप 15.45 लाख करोड़ रुपये यानी 210 अरब डॉलर के स्तर पर पहुंच गया.

बाजार बंद होने पर RIL का मार्केट कैप 208.3 अरब डॉलर था. मार्केट एनालिस्ट के मुताबिक, यह पहली बार है जब किसी भारतीय कंपनी ने 200 अरब डॉलर के मार्केट कैप को पार किया है. मार्केट एनालिस्ट के मुताबिक, रिलायंस इंडस्ट्रीज वर्तमान में दुनिया की 40वीं सबसे मूल्यवान कंपनी है और यह Exxon Mobil, पेप्सिको, SAP, Oracle, Pfizer और Novartis जैसी कंपनियों से आगे है. आरआईएल एशिया की शीर्ष 10 सबसे मूल्यवान कंपनियों में भी शामिल है.

mukesh ambani net worth: Mukesh Ambani becomes fifth-richest in the world as net worth swells past $75 billion - The Economic Times

ReliancePP या पार्टली पेड-अप शेयरों ने केवल तीन महीनों में 4.4 गुना से अधिक की छलांग लगाई है. यह इश्यू 4 जून, 2020 को बंद हुआ था और निवेशकों को प्रत्येक पार्टली पेड-अप शेयरों के लिए 314.25 रुपये का भुगतान करना पड़ा. 19 जून, 2020 को रिलायंस ने 150 अरब डॉलर के मार्केट कैप को पार किया था और इसने 60 दिनों के कम समय में इन्वेस्टर वैल्यू में 60 अरब डॉलर का इजाफा किया है.

Continue Reading

BUSINESS

31 अगस्त के बाद भरना पड़ सकता है EMI लोन ? छूट को लेकर आरबीआई की बैठक में नहीं हुआ कोई फैसला

Published

on

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ने मौद्रिक समीक्षा नीति की बैठक में ईएमआई लोन चुकाने की अवधि पर कोई फैसला नहीं लिया है. इससे पहले, वित्त मंत्री ने इसके संकेत दिए थे, लेकिन बैठक के बाद गवर्नर ने कहा कि लोन अवधि बढ़ाने पर फैसला नहीं किया गया है.समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास की अध्यक्षता में आज रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया की मौद्रिक समीक्षा नीति की बैठक होगी, जिसमें लॉकडाउन की वजह से सुस्त पड़ी आर्थिक रफ्तार को बढ़ाने पर भी फैसला किया जा सकता है.

6 महीने से लागू है लोन मोरेटोरियम – बता दें कि कोरोना संकट के कारण देश में लॉकडाउन लागू होने के साथ ही लोन मोरेटोरियम चुकाने पर भी राहत दी गई थी. मार्च से लेकर मई तक के लिए पहले स्लॉट में राहत दी गई थी. वहीं जून से लेकर अगस्त तक के लिए दूसरे स्लॉट में राहत दी गई है.

बैंक ने किया विरोध- आरबीआई कर्ज लौटाने को लेकर दी गयी मोहलत के संदर्भ में दिशानिर्देश जारी कर सकता है. इसकी अवधि 31 अगस्त को समाप्त होने जा रही है. बैंक अधिकारी इसके दुरूपयोग की आशंका को लेकर इसकी मियाद बढ़ाये जाने का विरोध कर रहे हैं. बैंक अधिकारियों ने आरबीआई की बैठक में बढ़ानेे पर ऐतराज जताया गया.

आपको होगा ये फायदा- किसी की प्रिंसिपल बकाया राशि 30 लाख रुपये है और बची हुई अवधि 15 साल है, तो 8.5 फीसदी के ब्याज पर आपको 29,540 रुपये की ईएमआई का भुगतान करना होगा. हालांकि, कनवर्जन फीस का भुगतान करके ब्याज दर को 7.4 फीसदी कर सकते हैं, जिससे आपकी ईएमआई में 1900 रुपये की कटौती होगी. इसके साथ ही, आप मार्जिनल कॉस्ट-बेस्ड लेंडिंग रेट से रेपो रेट लिंक्ड रेट में जा सकते हैं, जिससे यह सुनिश्चित हो जाए कि आरबीआई जिस समय रेपो रेट में कटौती करेगा, तो बैंक उसका फायदा आगे देगा.

Continue Reading
WORLD8 hours ago

UNGA में पीएम मोदी ने पाकिस्तान और चीन को लताड़ा

BIHAR10 hours ago

त्योहारों पर आना है बिहार, तो लानी होगी 72 घंटे पूर्व की RT-PCR नेगेटिव जांच रिपोर्ट

VIRAL11 hours ago

गुस्से में बॉयफ्रेंड के सिर पर लड़की ने दे मारा मोबाइल फोन, बेहोश होकर गिरा, मौत

MUZAFFARPUR12 hours ago

मुजफ्फरपुर- एन. सी.सी कैडेट्स को दिया गया सेना में शामिल होने का गुरुमंत्र

MUZAFFARPUR12 hours ago

मुजफ्फरपुर में सार्वजनिक स्थानों पर तम्बाकू सेवन करने वालों को पकड़े जाने पर भरना होगा जुर्माना

BIHAR13 hours ago

वीडियो: भोजपुरी रैपर ने दी ‘बादशाह-हनी सिंह’ को टक्कर, मनिहारी गाने में यूं लगाया तड़का

INDIA13 hours ago

दुष्कर्म मामले में लोजपा सांसद प्रिंस राज को मिली अग्रिम जमानत

BIHAR15 hours ago

वीडियो: हमारे देश की अफसर बिटिया स्नेहा दुबे ने पाकिस्तान को दिया मुंहतोड़ जवाब

BIHAR16 hours ago

पंचायत चुनाव: इन चार जिलों में महिलाओं ने पुरुषों को पछाड़ा, ओवरऑल वोटिंग में यह जिला रहा टॉप

BIHAR17 hours ago

जिम ट्रेनर गोलीकांड: सिर्फ विक्रम से नहीं था खुशबू सिंह का याराना, मिहिर पर भी आया था दिल, पटना SSP का खुलासा

INDIA3 weeks ago

सिद्धार्थ शुक्ला पंचतत्व में विलीन, कांपते हाथों से मां ने दी जिगर के टुकड़े को मुखाग्नि

BIHAR6 days ago

बिहार: कागजों में करोड़पति बने 2 लड़कों का अभिनेता सोनू सूद कनेक्शन!

BIHAR22 hours ago

बिहार: पिता की थी छोटी सी खैनी की दुकान, ट्यूशन पढ़ा करते थे पढ़ाई, अब UPSC में पाई दूसरी बार सफलता

MUZAFFARPUR5 days ago

मुजफ्फरपुर : पति की हत्या कर शव केमिकल से गला रही थी पत्नी, चार दिन बाद हो गया ब्लास्ट

BIHAR1 week ago

बिहार : भांजी पर आया मामा का दिल, पत्नी और बेटे को छोड़कर हुआ फरार, दो सालों से चल रहा था प्रेम प्रसंग

BIHAR4 days ago

बिहार के सभी घरों में नजर आएंगे स्मार्ट प्रीपेड मीटर

INDIA2 weeks ago

अगर इन 3 बैंकों में है आपका भी अकाउंट तो 1 अक्टूबर से नहीं चलेगी पुरानी चेकबुक

INDIA2 weeks ago

रिवॉल्वर लेकर वीडियो बनाने वाली लेडी कांस्टेबल को विभाग को देने होंगे 1.82 लाख रुपए

INDIA1 day ago

यू ही नहीं बिहार को कहा जाता आई.ए.एस फैक्ट्री कटिहार का शुभम बना UPSC टॉपर

TRENDING4 weeks ago

शादी के 3 महीने बाद महिला ने दिया बच्चे को जन्म, पति पहुंचा कोर्ट

Trending