Connect with us

BUSINESS

टिकट कैंसिल कराते वक्त रहें सावधान, नहीं तो खाली हो सकता है बैंक अकाउंट

Published

on

नई दिल्ली. अगर किसी वजह से आपको ​रेलवे टिकट कैंसिल (Railway Ticket Cancellation) करना पड़ रहा है तो आपको सावधानी बरतनी चाहिए. ऐसा नहीं करने पर आपका बैंक अकाउंट खाली हो सकता है. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (IRCTC) ने ऑनलाइन फ्रॉड से बचने के लिए अपने ग्राहकों को सावधान किया है. बीते कुछ समय में साइबर फ्रॉड के मामलों में इजाफा हुआ है. टिकट कैंसिल कराने के नाम पर ग्राहकों को साइबर ठग चूना लगा रहे हैं.

IRCTC ने ई-मेल भेजकर ग्राहकों को सावधान किया

Advertisement

दरअसल, टिकट कैंसिल कराने के लिए ग्राहकों से उनके बैंक डिटेल्स की अहम जानकारियां मांगने के बाद ये ठग बैंक अकाउंट में सेंध लगा रहे हैं. IRCTC ने अपने ग्राहकों को एक मेल में कहा है, ‘किसी भी कारण के लिए IRCTC आपसे आपके बैंक की कोई जानकारी नहीं मांगता है. अगर आप बैंक अकाउंट संबंधी जानकारी किसी के साथ साझा करते हैं तो आप फ्रॉड के शिकार हो सकते हैं.

किसी से न साझा करें ये जानकारी

Advertisement

मेल में IRCTC ने अपने ग्राहकों को सलाह दी है कि वे अपने बैंक अकाउंट नंबर, ATM कार्ड, PIN, TPIN, CVV और UPI डिटेल्स समेत अन्य जानकारियों को किसी के साथ साझा न करें. साइबर लगातार इस प्रयास में हैं कि ग्राहकों के बैंक अकांउट संबंध जानकारी पता करे उन्हें ठगा जा सके. IRCTC ने साफ किया कि हम कभी भी कोई फोन कॉल या एसएमएस के जरिए व्यक्तिगत जानकारी नहीं मांगते है.

ऐसे मे आपके लिए जरूरी है कि आप कुछ जरूरी बातों को विशेष ध्यान दें ताकि आप भी इस तरह के फ्रॉड से समय रहते बच सकें. रेलवे टिकट कैंसिल कराने की प्रक्रिया पूरी तरह से ऑटोमेटिक होती है.1. ई-टिकट कैंसिलेशन के बाद रिफंड प्रोसेस पूरी तरह से ऑटोमेटिक होता है. रिफंड प्रोसेस टिकट कैंसिल कराने के बाद ही ऑटोमेटिक तरीके से शुरू हो जाता है. रिफंड की रकम भी अपने आप ही उसी खाते में डाली जाती है, जिस खाते की मदद से रेलवे टिकट बु​क किया गया होता है. ऐसे में ग्राहक से टिकट का दाम चार्जेज काटने के बाद स्वत: ही भेज दिया जाता है.

Advertisement

Input : News18

 

Advertisement

 

Advertisement
Advertisement

BUSINESS

पैसों की जरूरत हो तो लोन की जगह लें ये सुविधा; होगा बड़ा फायदा

Published

on

अक्सर जब पैसों की जरूरत होती है तो हम सब या तो दोस्तों या रिश्तेदारों से कर्ज लेते हैं या फिर बैंक के पास लोन के लिए अप्लाई करते हैं। लेकिन क्या आपने कभी ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी (overdraft facility) के बारे में सुना है। अगर नहीं तो ये जान लीजिए कि ये ऐसी सुविधा है जिसके तहत आप अपने खाते में मौजूद रकम से ज्यादा पैसा निकाल सकते हैं। रह गए न हैरान ! आप सोच रहे होंगे कि ऐसा कैसे मुमकिन है ! लेकिन यह बिल्कुल संभव है। आपको बस कुछ जरूरी शर्तें फॉलो करनी होंगी। हम आपको बताते हैं कि क्या है ये ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी और यह आपको कैसे मिलेगी।

Genius-Classes

क्या है Overdraft Facility

Advertisement

आमतौर पर हम सोचते हैं कि हम अपने बैंक अकाउंट से उतना ही पैसा निकाल सकते हैं, जितना उसमें जमा है। लेकिन, कई बैंक और नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियां (NBFC) अपने ग्राहकों को मौैजूद रकम से ज्यादा पैसे निकालने की सुविधा देती हैं। इसे ही ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी कहते हैं। इसका फायदा तब मिलता है जब आपको पैसे की अचानक जरूरत पड़ जाए। दरअसल, यह एक तरह का लोन ही है। इसके तहत आप बैंक अकाउंट में मौजूद बैलेंस से ज्यादा पैसे निकाल सकते हैं।

कब तक वापस करना होगा पैसा

Advertisement

आप जितना अमाउंट निकालते है, उसे एक निश्चित अवधि के भीतर चुकाना होता है। ऐसा न करने पर ब्याज भी लगता है। यह ब्याज रोजमर्रा आधार पर कैलकुलेट होता है। आपको कितना ओवरड्राफ्ट मिलेगा यानी इसकी लिमिट क्या रहेगी, यह बैंक या NBFCs तय करते है। अलग-अलग बैंकों और नॉन बैंकिंग कंपनियों में यह लिमिट अलग-अलग हो सकती है।

कैसे मिलती है यह फैसिलिटी

Advertisement

बैंक और नॉन-बैंकिंग फाइनेंशियल कंपनियां अपने कुछ कस्‍टमर्स को यह सुविधा प्री-अप्रूव्ड देते हैं। जबकि कुछ ग्राहकों को इसके लिए अलग से आवेदन करना होता है। आप बैंक की ब्रांच या इंटरनेट बैंकिंग के जरिए भी अप्‍लाई कर सकते हैं। कुछ बैंक इस सर्विस के लिए फीस भी लेते हैं। इसलिए बेहतर है कि ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी के लिए अप्‍लाई करने से पहले प्रोसेसिंग फीस के बारे में जानकारी प्राप्त कर लें। आमतौर पर बैंक सैलरी अकाउंट के बदले भी ओवरड्राफ्ट देते हैं। आपकी ओवरड्राफ्ट लिमिट सैलरी का 2 से 3 गुना हो सकती है। इस तरह के ओवरड्राफ्ट सुविधा के लिए आपका सैलरी अकाउंट उसी बैंक में होना चाहिए. जिससे आप ओवरड्राफ्ट लेना चाहते हैं।

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

कितने तरह की होती है फैसिलिटी

Advertisement

ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी दो तरह की होती है, एक सिक्योर्ड और दूसरी नॉन अनसिक्योर्ड। सिक्योर्ड ओवरड्राफ्ट वह है, जिसमें सिक्योरिटी के तौर पर कुछ गिरवी रखा जाता है, जैसे FD, शेयर, घर, सैलरी, इंश्योरेंस पॉलिसी आदि। अगर आपके पास कुछ भी सिक्योरिटी के तौर पर देने के लिए नहीं है तो भी आप ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी ले सकते हैं, लेकिन इसका तरीका अलग है। क्रेडिट कार्ड से पैसा निकालना अनसिक्योर्ड ओवरड्राफ्ट का उदाहरण है। पर्सनल लोन के मुकाबले ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी अच्छा विकल्प है। तय अवधि से पहले भी बिना कोई चार्ज दिए आप बैंक को पैसे वापस कर सकते हैं। ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी में आपको ब्याज भी केवल उतने ही समय का देना होता है, जितने वक्त तक आपने ओवरड्राफ्ट अमाउंट अपने पास रखा है।

Source : Dainik Jagran

Advertisement

nps-builders

Continue Reading

BUSINESS

मटके में भी मशरूम उगा कर किसान कमा सकते हैं बंपर मुनाफा

Published

on

मशरूम की खेती से कई किसान बंपर मुनाफा कमा रहे हैं. इससे प्रेरित होकर अन्य किसानों भी इसकी खेती की तरफ रुख करना शुरू कर दिया है. मशरूम की खेती की सबसे खास बात है कि बाजार में ये हाथों-हाथ बिक जाता है. साथ ही इससे बिस्किट, नमकीन जैसे कई अन्य तरह के प्रोडक्ट बनाकर बढ़िया मुनाफा कमा सकते हैं.

बता दें कि मशरूम की खेती करने में पहले लोग हिचकते थे. उनका मानना था कि इसकी खेती करना बेहद खर्चीला है. इसके लिए बकायदे सेटअप तैयार किया जाता है. लेकिन हम आपको बता रहे हैं कि कैसे कम खर्च में अपने घर पर मटके में ऑयस्टर मशरूम ( ढींगरी मशरूम) को उगा सकते हैं.

Advertisement

साल में कभी भी करें ऑयस्टर मशरूम की खेती

हरियाणा के हिसार जिला के सलेमगढ़ गांव के रहने वाले 24 वर्षीय विकास वर्मा बड़े पैमाने पर मशरूम की खेती करते हैं. वह अपने फार्म में सबसे ज्यादा ऑयस्टर मशरूम की खेती करते हैं. उनके मुताबिक इस मशरूम की खेती साल भर की जा सकती है. अन्य प्रकार के मशरूमों की खेती के मुकाबले इसमें नुकसान भी कम होता है.

Advertisement

मटके में ऐसे करें मशरूम की खेती

विकास बताते हैं कि ज्यादातर लोग मशरूम की खेती करने के लिए आयताकार सांचे बनाते हैं. यह प्रकिया थोड़ी खर्चीली है. ऐसे में किसान मटके में भी मशरूम उगा सकते हैं. इसके लिए सबसे पहले आपको एक मटका लेना होगा. मटके में चारों तरफ छोटे-छोटे छेद कर दें. इसके बाद, उस मटके के अंदर नमी युक्त भूसा भरें. इस दौरान मटके के अंदर मशरूम का बीज भी डाल दें. इसके बाद, उन छेदों को रूई की मदद से बंद कर दें. मटके का मुंह किसी मोटे कपड़े से बांध दें, ताकि नमी मटके के बाहर न निकल सके.

Advertisement

इसके बाद उस मटके को अंधेरे कमरे में 12 से 15 दिन के लिए रख दीजिए. करीब 15 दिनों में मशरूम के स्पॉन बीज, पूरी तरह से फैलकर विकसित हो जाएंगे.लगभग 3 हफ्ते बाद कपड़े को हटाकर मटके को देखें.आपको छेद में से मशरूम के छोटे-छोटे सफेद बड दिखाई देंगे. जब बड गुच्छे में तब्दील होकर ऊपर की तरफ मुड़ने लगे तो इसकी तुड़ाई करना शुरू कर दें.

कम हो जाएगी किसानों की लागत

Advertisement

इस तकनीक का इस्तेमाल करने के दौरान किसानों को एक तो खर्च कम आएगा. दूसरा मटके के अंदर का तापमान हमेशा ठंडा रहता है. ऐसे में मशरूम के विकास के लिए ये काफी फायदेमंद साबित हो सकता है, जिससे किसान बढ़िया मुनाफा हासिल कर सकता है.

Source : Aaj Tak

Advertisement

Genius-Classes

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

nps-builders

Continue Reading

BUSINESS

क्रेडिट कार्ड यूजर्स के लिए अच्छी खबर, अब UPI के जरिए भी कर सकेंगे पेमेंट

Published

on

अब क्रेडिट कार्ड यूजर्स भी डेबिट कार्ड की तरह UPI से पेमेंट कर सकेंगे. भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने बुधवार को इसका ऐलान किया है. आरबीआई यूपीआई के काम करने के तरीके में एक बड़ा बदलाव करने जा रही है.

इस सुविधा के तहत सबसे पहले स्वदेशी रुपे क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से लिंक किया जा सकेगा. इसके बाद वीजा  और मास्टरकार्ड जैसे अन्य कार्ड होल्डर इसफा फायदा उठा पाएंगे. अब तक, ग्राहक केवल अपने डेबिट कार्ड को UPI से लिंक कर सकते थे.

Advertisement

umanag-utsav-banquet-hall-in-muzaffarpur-bihar

ऑनलाइन पेमेंट का नया जरिया मिलेगा

यह ऐलान करते हुए आरबीआई गवर्नर ने कहा, “अब तक सिर्फ डेबिट कार्ड के जरिए सेविंग्स /करेंट अकाउंट्स को UPI ट्रांजेक्शन के लिए लिंक किया जा सकता था. अब यूपीआई प्लेटफॉर्म पर क्रेडिट कार्ड को जोड़ने का प्रस्ताव है. शुरुआत में रुपे क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से जोड़ा जा सकेगा” उन्होंने कहा कि इस सुविधा से कस्टमर्स को यूपीआई प्लेटफॉर्म के जरिए पेमेंट के लिहाज से दूसरे विकल्प भी उपलब्ध होंगे. कस्टमर जल्द ही इस सुविधा का लाभ उठा पाएंगे.

Advertisement

nps-builders

कई कस्टमर को मिलेगा फायदा

यूपीआई देश में पेमेंट करने का सबसे लोकप्रिय जरिया बन गया है. आज देश में करीब 26 करोड़ लोग यूपीआई का इस्तेमाल करते हैं. वहीं, 5 करोड़ से ज्यादा व्यापारी इसका इस्तेमाल कर रहे हैं.  एक्सपर्ट्स का मानना है कि क्रेडिट कार्ड को यूपीआई से लिंक करने से कस्टमर को पेमेंट का नया ऑप्शन मिलेगा. देश में क्रेडिट कार्ड यूजर्स की संख्या लगातार बढ़ रही है. देश में अब कई छोटी-बड़ी दुकानों पर यूपीआई का इस्तेमाल किया जा रहा है.

Advertisement

आरबीआई ने बढ़ाई रेपो रेट

आरबीआई गवर्नर ने आज रेपो रेट बढ़ाकर अब 4.90 फीसदी करने की घोषणा की है. केंद्रीय बैंक ने वित्त वर्ष 2023 में खुदरा महंगाई दर 7.5 फीसदी रहने का अनुमान जताया है. हालांकि, अभी तक यह स्पष्ट नहीं है कि क्रेडिट कार्ड का उपयोग करके किए गए UPI लेनदेन के लिए मर्चेंट डिस्काउंट रेट (MDR) कैसे लागू होगा, क्योंकि प्रत्येक लेन-देन के लिए व्यापारी लेन-देन की राशि का एक निश्चित भुगतान करता है, जिसे बाद में बैंकों और पेमेंट सर्विस प्रोवाइडरों के बीच बांटी जाती है.

Advertisement

Source : News18

Advertisement
Continue Reading
INDIA18 hours ago

मूसेवाला के पिता बोले- मेरे बेटे की हत्या के पीछे कुछ सिंगर और सफेदपोश, जल्द करूंगा खुलासा

INDIA19 hours ago

तलाक पर कोर्ट में समझौता, बाहर निकलते ही पत्नी की गला रेतकर हत्या की, बच्ची पर भी किया हमला

BIHAR19 hours ago

पत्नी को गैर की बाहों में देखा तो पति ने कर दी हत्या, लिखा- इसका यही अंजाम होता है

BIHAR19 hours ago

समस्तीपुर : पिस्टल से केक काटा, ड्रोन से खिंचाई फोटो,गर्लफ्रेंड से रिश्ता टूटने पर मनी ब्रेकअप पार्टी

INDIA20 hours ago

असम के मुख्यमंत्री ने आमिर खान से राज्य का दौरा स्थगित करने का आग्रह किया

BIHAR21 hours ago

नीतीश कुमार ने भले तोड़ा हो भाजपा से गठबंधन, हरिवंश नहीं देंगे इस्तीफा; बने रहेंगे राज्यसभा के उपसभापति

MUZAFFARPUR23 hours ago

महिला सिपाही कविता की गर्दन की हड्डी टूटी, गले पर गहरा निशान

INDIA23 hours ago

शेयर मार्केट किंग राकेश झुनझुनवाला का निधन, 62 साल की उम्र में ली आखिरी सांस #RakeshJhunjhunwala

BIHAR23 hours ago

बिहार का नवादा बन रहा साइबर क्राइम का हब, 1.22 करोड़ कैश के साथ 4 गिरफ्तार

INDIA1 day ago

‘उठो राजू…’ रिकवरी के लिए राजू श्रीवास्तव को सुनाई जा रही है अमिताभ बच्चन की आवाज

job-alert
BIHAR2 weeks ago

बिहार: मैट्रिक व इंटर पास महिलाएं हो जाएं तैयार, जल्द होगी 30 हजार कोऑर्डिनेटर की बहाली

BIHAR4 weeks ago

बिहार में तेल कंपनियों ने जारी की पेट्रोल-डीजल की नई दरें

BIHAR2 weeks ago

बीपीएससी 66वीं रिजल्ट : वैशाली के सुधीर बने टॉपर ; टॉप 10 में मुजफ्फरपुर के आयुष भी शामिल

BIHAR1 week ago

एक साल में चार नौकरी, फिर शादी के 30वें दिन ही BPSC क्लियर कर गई बहू

BUSINESS2 weeks ago

पैसों की जरूरत हो तो लोन की जगह लें ये सुविधा; होगा बड़ा फायदा

BIHAR1 week ago

ग्राहक बन रेड लाइट एरिया में पहुंची पुलिस, मिली कॉलेज की लड़किया

BIHAR4 weeks ago

बिहार : अब शिकायत करें, 3 से 30 दिनों के भीतर सड़क की मरम्मत हाेगी

INDIA2 weeks ago

बुढ़ापे का सहारा है यह योजना, हर दिन लगाएं बस 50 रुपये और जुटाएं ₹35 लाख फंड

BIHAR2 weeks ago

बीपीएससी 66 वीं के रिजल्ट में परफेक्शन आईएएस के 131 अभ्यर्थी सफल..

BIHAR4 weeks ago

सात समुंदर पार कर इंग्लैंड से सुल्तानगंज गंगा घाट पहुंची भोलेनाथ की दीवानी रेबेका

Trending