Connect with us

BIHAR

ट्रेनें बढ़ाने के बजाय बिहार कोटे की ट्रेनों का यूपी के स्टेशनों पर हुआ ठहराव, सफर करना हुआ मुश्किल

बिहार के रेलयात्रियों के साथ रेलवे भेदभाव कर रहा है। यानी कि यूपी के स्टेशनों से चलनेवाली ट्रेनों का विस्तार बिहार के लिए नहीं किया जा रहा है लेकिन बिहार के ट्रेनों का ठहराव यूपी के स्टेशनों पर किया जा रहा है। इससे बिहार से चलनेवाली ट्रेनों में यूपी के यात्री पहले से ज्यादा सवार […]

Santosh Chaudhary

Published

on

बिहार के रेलयात्रियों के साथ रेलवे भेदभाव कर रहा है। यानी कि यूपी के स्टेशनों से चलनेवाली ट्रेनों का विस्तार बिहार के लिए नहीं किया जा रहा है लेकिन बिहार के ट्रेनों का ठहराव यूपी के स्टेशनों पर किया जा रहा है। इससे बिहार से चलनेवाली ट्रेनों में यूपी के यात्री पहले से ज्यादा सवार हो रहे हैं और ट्रेनों में भीड़ बढ़ रही है। लोकसभा चुनाव नजदीक आते ही इस तरह का कारनामा हो रहा है। ऐसा भी कार्य किया जा रहा है जो, ट्रेन के परिचालन शुरू करने के दौरान नियमावली में ही नहीं है। नियमावली को भी ताक पर रख कर ऐसा किया जा रहा है। इस जिले के कई यात्रियों का आरोप है कि बिहार के यात्रियों के साथ भेदभाव बरता जा रहा है। सीवान स्टेशन होकर ट्रेनों की संख्या बढ़ाने की जरूरत है। ताकि ट्रेनों में भीड़ कम हो। लेकिन, ट्रेनों की संख्या बढ़ाने की बजाय इस स्टेशन से गुजरने वाली ट्रेनों का ठहराव यूपी के वैसे स्टेशनों पर किया जा रहा है, जहां पहले से ठहराव नहीं होता था।

तत्कालीन रेल मंत्री लालू प्रसाद के कार्यकाल में बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट ट्रेन चलाई गई। इसी तरह की ट्रेन दिल्ली समेत अन्य राज्यों के लिए भी चली, जिसका उद्देश्य था कि वह ट्रेन सुपरफास्ट होगी और जिस राज्य के नाम पर ट्रेन होगी, उस राज्य के प्रमुख स्टेशनों पर ठहराव होगा। दूसरे राज्यों से उस ट्रेन के गुजरने पर दूसरे राज्यों के बहुत बड़े स्टेशनों पर ही ठहराव होगा।

रेलयात्रियों को हो रही दिक्कत पर न तो अधिकारी ध्यान दे रहे हैं और न ही जनप्रतिनिधि कुछ बोलते हैं

बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट के साथ भी भेदभाव

बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस का परिचालन दरभंगा से नई दिल्ली स्टेशन तक होती है। इस ट्रेन का ठहराव यूपी के गोरखपुर, लखनऊ व कानपुर स्टेशन पर होता था। लेकिन, एक पखवारे से इस ट्रेन का ठहराव यूपी के देवरिया व बादशाह नगर स्टेशन पर किया जा रहा है। इस ट्रेन पर रोज भीड़ रहती है। जेनरल बोगी में पैर रखने के लिए भी जगह नहीं होती। स्लीपर बोगी में तो बैठने के लिए भी मशक्कत करनी पड़ती है। इस हालत में यूपी के दो और स्टेशनों पर ठहराव करने से वहां पर भी यात्री सवार हो रहे हैं और इस पर यात्रियों की संख्या बढ़ने से भीड़ भी बढ़ रही है। हालत यह होता है कि जब यह ट्रेन बिहार पहुंचती है, तो यहां के स्टेशनों पर खड़े यात्रियों के लिए ट्रेन पर जगह नहीं होती।

Digita Media, Social Media, Advertisement, Bihar, Muzaffarpur

लखनऊ तक ट्रेनें नहीं जाने से ऐशपार स्टेशन पर ही उतरने को मजबूर हैं यात्री

अप 12565 बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस रोज दरभंगा से खुलती है। इसे सीवान होकर देवरिया व बादशाह नगर में स्टॉपेज कर दिया गया है। हालांकि, यह ट्रेन अब लखनऊ नहीं जा रही है। लखनऊ से पहले ऐशपार स्टेशन से ही उसे डायवर्ट कर कानपुर निकाला जा रहा है। इससे लखनऊ तक की यात्रा करनेवाले यात्रियों को ऐशपार स्टेशन पर ही उतरना पड़ रहा है। इसी तरह डाउन साइड में 12566 बिहार संपर्क क्रांति सुपरफास्ट एक्सप्रेस देवरिया में अहले सुबह 3:40 बजे आ रही है। वहां पर इसका स्टॉपेज दो मिनट का रखा गया है। यह ट्रेन सीवान में सुबह 4:30 बजे आती है। इस ट्रेन से सफर करनेवालों की संख्या भी अच्छी-खासी है। यूपी के स्टेशनों पर अितरिक्त स्टॉपेज के चलते इस ट्रेन पर यात्रियों की संख्या और बढ़ गई है। बावजूद यहां के अधिकारी और जनप्रतिनिधि इसपर ध्यान नहीं देते हैं।

होली पर्व पर सीवान के रास्ते नहीं मिली स्पेशल ट्रेनें

होली पर्व के मौके पर भी सीवान के रास्ते कोई भी विशेष ट्रेनें नहीं मिली। जबकि विभिन्न राज्यों में रहनेवाले सीवान के लगभग 50 हजार से ज्यादा लोग होली के मौके पर अपने घर आते हैं और होली के अगले दिन से ही वे परदेश लौटने लगते हैं। इस हालत में उन्हें काफी परेशानी होती है। उन्हें आने व जाने के लिए कन्फर्म टिकट नहीं मिल पाता है। फिर भी इस रास्ते से एक भी विशेष ट्रेन नहीं चलाई गई है। हालांकि कुछ ट्रेनें दिल्ली से गोरखपुर तक व दिल्ली से बलिया होकर छपरा तक चलाई जा रही है। कारण कि उधर रेल राज्य मंत्री मनोज सिन्हा का क्षेत्र है। लेकिन, सीवान को पर्व के मौके पर भी उपेक्षित रखा गया है।

सुपरफास्ट वैशाली एक्सप्रेस भी नहीं जा रही लखनऊ

छपरा- गोरखपुर रेलखंड पर सीवान स्टेशन होकर जाने वाली 12553 सुपरफास्ट वैशाली एक्सप्रेस भी अब लखनऊ स्टेशन नहीं जा रही है। इसे भी ऐश्पार स्टेशन से डायवर्ट कर कानपुर निकाला जा रहा है। इससे सीवान से लखनऊ जानेवाले यात्रियों को काफी कठिनाई हो रही है। इस ट्रेन का परिचालन बरौनी स्टेशन से होता था। लेकिन, गुरुवार से इसका परिचालन सहरसा से कर दिया गया। यह ट्रेन इस रूट की सबसे वीआईवी ट्रेन है। यह समय से परिचालन के लिए जानी जाती है। इसमें भी पहले से ही यात्रियों की काफी भीड़ है। जेनरल बोगी में 72 की जगह 150 से ज्यादा यात्री सवार रहते हैं। जबकि स्लीपर बोगी में भी 72 की जगह लगभग 100 यात्री सवार होते हैं। फिर भी इस ट्रेन का परिचालन सहरसा से कर दिया गया। इससे अब इस ट्रेन में यात्रियों की संख्या और बढ़ गई। गुरुवार को पहले ही दिन अपने निर्धारित समय से ढाई घंटे लेट से सीवान आई थी। शुक्रवार को भी यह ट्रेन लेट थी।

Input : Dainik Bhaskar

MUZAFFARPUR

बिहार में 4 IPS अफसरों का ट्रांसफर, कई जिलों के SP बदले गए,देखें लिस्ट

Ravi Pratap

Published

on

बिहार में 4 आईपीएस अधिकारियों का ट्रांसफर हुआ है. इनमें से बेतिया की एस पी  नताशा गुड़िया का भी स्थानांतरण किया गया है.

इसके अलावा मुजफ्फरपुर टाउन एसपी और बक्सर एसपी का भी स्थानांतरण किया गया है. इस संबंध में गृह विभाग ने अधिसूचना जारी कर दी है.

बेतिया की एसपी नताशा गुड़िया को पुलिस अधीक्षक आर्थिक अपराध इकाई पटना के पद पर पदस्थापित किया गया है. नीरज कुमार सिंह एसपी सिटी मुजफ्फरपुर को पुलिस अधीक्षक बक्सर बनाया गया है. पुलिस अधीक्षक बक्सर उपेन्द्र वर्मा को पुलिस अधीक्षक पश्चिम चंपारण बनाया गया है. पुलिस अधीक्षक आर्थिक अपराध इकाई राजेश कुमार को पुलिस अधीक्षक नगर मुजफ्फरपुर के पद पर पदस्थापित किया गया है.

Input: News4Nation

Continue Reading

BIHAR

नीतीश कुमार शुक्रवार को आधुनिक सुविधाओं से लैस नए बस टर्मिनल ISBT और कृषि भवन का करेंगे उद्घाटन

Ravi Pratap

Published

on

बिहार में विधानसभा चुनाव की उल्टी गिनती शुरू हो गई है. लिहाजा सूबे में युद्धस्तर पर उद्घाटन-शिलान्यास का काम किया जा रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार भी हर दिन नए योजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास कर रहे हैं. वहीं, पीएम मोदी भी लगातार केंद्र की ओर से सौगात दे रहे हैं.

सीएम नीतीश कुमार शुक्रवार को पटना में निर्मित आधुनिक सुविधाओं वाले अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल और कृषि भवन का उद्घाटन करेंगे. शुक्रवार की शाम आईएसबीटी का उद्घाटन समारोह होगा. उद्घाटन के साथ ही आईएसबीटी से फेज-1 में बसों का परिचालन भी शुरू हो जाएगा. इससे बिहार ही नहीं दूसरे राज्यों से भी सड़क परिवहन सेवा आसान हो जाएगी. बता दें कि वित्तीय वर्ष 2017-18 में मौजा पहाड़ी में अंतर्राज्यीय बस टर्मिनल की प्रशासनिक स्वीकृति प्रदान की गई थी. इसकी लागत 339 करोड़ 22 लाख है. आईएसबीटी तमाम अत्याधुनिक सुविधाओं से सुसज्जित है और तीन भागों में बांटकर बनाया जा रहा है.

बस अड्डा के साथ ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार शुक्रवार को मीठापुर में नवनिर्मित कृषि भवन का भी उद्घाटन करेंगे. इस भवन में एक छत के नीचे कृषि विभाग के सारे कार्यालय होंगे. कृषि भवन को ग्रीन बिल्डिंग की तर्ज पर बनाया गया है. 17 वाटर हार्वेस्टिंग और एक वाटर बॉडी के साथ चारों तरफ हरियाली से आच्छादित किया गया है. भवन का निर्माण भूकंपरोधी तकनीक से किया गया है. कृषि भवन फायर फाइटिंग, सीसीटीवी कैमरा आदि आधुनिक सुविधाओं से लैस है. कृषि भवन कुल 23.8018 एकड़ क्षेत्र में फैला हुआ है.

Input: Live Cities

Continue Reading

BIHAR

चिराग के लिए सूरजभान सिंह ने खोला मोर्चा, गर्दन दबाईएगा तो असर होगा खतरनाक

Ravi Pratap

Published

on

एनडीए में सीट शेयरिंग का मामला अभी तक सुलझ नहीं सका है। बार-बार 143 सीटों पर चुनाव लड़ने का संकेत देने वाली एलजेपी ने अब 36 सीटों पर अपना दावा ठोका है। पार्टी ने संकेतों से स्पष्ट कर दिया है कि इससे कम वे नहीं मानने वाले।

बुधवार को दिल्ली में एलजेपी सासंदों की हुई बैठक के बाद 36 सीटों पर एलजेपी का दावा सामने आया है। पार्टी के पूर्व सांसद सूरजभान सिंह ने कहा कि बिहार में हमारी 36 सीटें बनती हैं। 123 सीट पर जेडीयू-बीजेपी के सीटिंग विधायक हैं जबकि बाकी की बची 120 सीटों में से हमें पसंद की 20 सीटें चाहिए। सूरजभान ने कहा कि इसके बाद बची हुई 100 सीटों में से बी और सी ग्रेड की 16 सीटें हमें दी जाए ताकि हमारा आंकड़ा 36 को छू जाए।

इसके साथ ही सूरजभान सिंह ने इशारों ही इशारों में सहयोगियों को चेतावनी देते हुए कह दिया कि अगर आप किसी की गर्दन दबाइएगा तो उसका असर बहुत खतरनाक होता है। उन्होनें कहा कि अगर आप बिल्ली का भी गर्दन दबाएंगे तो उसका पलटवार काफी खतरनाक हो जाता है, उनका इशारा साफ तौर पर सीट उन्होनें पार्टी को 25 से भी कम सीट दिए जाने संबंधी खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए ये बातें कहीं।

Input: City Post Live

Continue Reading
MUZAFFARPUR6 mins ago

बिहार में 4 IPS अफसरों का ट्रांसफर, कई जिलों के SP बदले गए,देखें लिस्ट

BIHAR33 mins ago

नीतीश कुमार शुक्रवार को आधुनिक सुविधाओं से लैस नए बस टर्मिनल ISBT और कृषि भवन का करेंगे उद्घाटन

BIHAR44 mins ago

चिराग के लिए सूरजभान सिंह ने खोला मोर्चा, गर्दन दबाईएगा तो असर होगा खतरनाक

INDIA1 hour ago

अब देहरादून को अपना शहर बता रहा नेपाल! चलाया यह अभियान

BIHAR1 hour ago

पीएम मोदी के जन्मदिन पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे ने 70 किलो का लड्डू मंगाया

INDIA1 hour ago

ये तस्वीरें साबित करती हैं, PM मोदी क्यों हैं सबसे पॉपुलर वर्ल्ड लीडर

TRENDING3 hours ago

राहुल गांधी सहित कई दिग्गजों ने दी PM मोदी को जन्मदिन की शुभकामनाएं

MUZAFFARPUR3 hours ago

नवरुणा कांड : आठ साल, तीन जांच एजेंसियां, दस डेडलाइन, नतीजा सिफर

INDIA3 hours ago

प्रधानमंत्री मोदी की ‘डेट ऑफ बर्थ’ पर बवाल, दो जन्म तिथियां का दावा

INDIA3 hours ago

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर क्यों ट्रेंड कर रहा है राष्ट्रीय बेरोज़गार दिवस?

BIHAR4 days ago

KBC जीत करोड़पति बने थे सुशील कुमार, सेलेब्रिटी बनने के बाद देखा सबसे बुरा समय

BIHAR4 days ago

जाते जाते भी लोगो के लिए मांग रखकर, रुला गए ब्रह्म बाबा..

JOBS2 weeks ago

Amazon दे रहा पैसा कमाने का मौका! सिर्फ 4 घंटे में कमा सकते हैं 60000-70000 रु

BIHAR1 week ago

बारिश में भीगकर ट्रैफिक कंट्रोल कर रहा था कांस्टेबल, रास्ते से गुजर रहे DIG ने गाड़ी रोक किया सम्मानित

MUZAFFARPUR6 days ago

पिता जदयू में और मां लोजपा में, बेटी कोमल सिंह लड़ेगी मुजफ्फरपुर के गायघाट से चुनाव!

BIHAR3 weeks ago

क्या बिहार के डीजीपी ने दे दिया इस्तीफा? जानिए खुद गुप्तेश्वर पांडेय ने ट्वीट कर क्या कहा?

INDIA4 weeks ago

फर्स्ट डिविजन से पास होने वाली लड़कियों को स्कूटी देगी राज्य सरकार…

BIHAR4 weeks ago

सुशांत सिंह की संपत्ति पर पिता ने जताया दावा, बोले- इस पर केवल मेरा हक

BIHAR3 weeks ago

बिहार में बड़ी संख्या में निकलने वाली है कंप्यूटर ऑपरेटर्स की भर्ती, कर लें तैयारी

INDIA2 weeks ago

एलपीजी सिलिंडर बुकिंग पर मिल रहा है 500 रुपये तक का कैशबैक, करें बस यह छोटा सा काम

Trending