Connect with us

TRENDING

ठंड से ठिठुर रहा था भिखारी, DSP ने गाड़ी रोकी तो निकला उन्हीं के बैच का ऑफिसर

Muzaffarpur Now

Published

on

कई बार ऐसा होता है कि देखने से तो सामने वाला इंसान भिखारी लगता है लेकिन असलियत कुछ और होती है. मध्य प्रदेश के ग्वालियर से एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां डीएसपी सड़क किनारे जब एक भिखारी के पास गए तो दंग रह गए. वो भिखारी उनके ही बैच का ऑफिसर निकला.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

दरअसल, ग्वालियर में उपचुनाव की मतगणना के बाद डीएसपी रत्नेश सिंह तोमर और विजय सिह भदौरिया झांसी रोड से निकल रहे थे. जैसे ही दोनों बंधन वाटिका के फुटपाथ से होकर गुजरे तो उन्हें वहां एक अधेड़ उम्र का भिखारी ठंड से ठिठुरता दिखाई पड़ा. उसे देखकर अफसरों ने गाड़ी रोकी और उससे बात करने पहुंच गए.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

इसके बाद दोनों अधिकारियों ने उसकी मदद की. रत्नेश ने अपने जूते और डीएसपी विजय सिंह भदौरिया ने अपनी जैकेट दे दी. इसके बाद जब दोनों ने बातचीत शुरू की तो हतप्रभ रह गए. वह भिखारी डीएसपी के बैच का ही ऑफिसर निकला.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

वह भिखारी के रूप में पिछले 10 सालों से लावारिस हालात में घूम रहा है. वह पुलिस अफसर रहा है. उसका नाम मनीष मिश्रा है. इतना ही नहीं 1999 बैच का वह पुलिस अधिकारी अचूक निशानेबाज था. जानकारी के मुताबिक मनीष मिश्रा एमपी के विभिन्न थानों में थानेदार के रूप में पदस्थ रहे हैं.

(मनीष की फाइल फोटो)

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

मनीष मिश्रा ने 2005 तक पुलिस की नौकरी की और वह अंतिम समय में दतिया में पोस्टेड थे. धीरे-धीरे अचानक उनकी मानसिक स्थिति खराब हो गई. घर वाले भी परेशान होने लगे. इलाज के लिए उनको जहां-जहां ले जाया गया वो वहां से भाग गए.

(मनीष की फाइल फोटो)

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

कुछ दिन बाद परिवार को भी नहीं पता चल पाया कि मनीष कहां चले गए. उनकी पत्नी भी उन्हें छोड़कर चली गई. बाद में उनकी पत्नी ने तलाक ले लिया. धीरे-धीरे वह भीख मांगने लगे. और भीख मांगते-मांगते करीब दस साल गुजर गए.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

मनीष के इन दोनों साथियों ने सोचा नहीं था कि ऐसा भी हो सकता है. मनीष दोनों अफसरों के साथ सन 1999 में पुलिस सब इंस्पेक्टर की पोस्ट पर भर्ती हुए थे. इसके बाद दोनों ने काफी देर तक मनीष मिश्रा से पुराने दिनों की बात करने की कोशिश की और अपने साथ ले जाने की जिद भी की. लेकिन वह साथ जाने को राजी नहीं हुए.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

इसके बाद दोनों अधिकारियों ने मनीष को एक समाजसेवी संस्था में भिजवाया. वहां मनीष की देखभाल शुरू हो गई है. इतना ही नहीं मनीष के भाई भी थानेदार हैं और पिता और चाचा एसएसपी के पद से रिटायर हुए हैं.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

जानकारी में पता चला कि उनकी एक बहन किसी दूतावास में अच्छे पद पर हैं. मनीष की पत्नी, जिसका उनसे तलाक हो गया, वह भी न्यायिक विभाग में पदस्थ हैं.

भिखारी निकला पुलिस ऑफिसर

फिलहाल मनीष के इन दोनों दोस्तों ने उसका इलाज फिर से शुरू करा दिया है. मनीष की यह दर्दभरी कहानी जो भी सुनता है वह हैरान रह जाता है. (फोटो में डीएसपी रत्नेश सिंह तोमर)

Source : Aaj Tak (रिपोर्ट- सर्वेश पुरोहित)

khusiyon-ki-rangoli-contest-muzaffarpur-now

TRENDING

शादी में रोड़ा अटकाने पर गुस्साया युवक, पड़ोसी की दुकान को जेसीबी से उखाड़ फेंका

Muzaffarpur Now

Published

on

केरल में एक हैरान करने वाला मामला सामना आया है. यहां एक शख्स ने अपने पड़ोसी की दुकान को जेसीबी से ध्वस्त कर दिया. वहीं जांच में पता चला कि आरोपी शख्स कथित तौर पर शादी के प्रस्तावों को रोके जाने के कारण नाराज था. जिसके कारण ये कदम उठाया.

घटना सोमवार को कन्नूर जिले के चेरुपुझा क्षेत्र में हुई. जहां एक 30 वर्षीय शख्स ने अपने पड़ोसी की दुकान को खुदाई मशीन के जरिए उखाड़ दिया. दुकान को उखाड़ने वाले शख्स ने आरोप लगाया कि शादी के प्रस्तावों को रोकने से नाराज होकर अपने पड़ोसी की दुकान को जेसीबी से ध्वस्त कर दिया.

बुलडोजर से गिराई दुकान

हालांकि इस मामले में पुलिस ने 30 वर्षीय एल्बिन को गिरफ्तार कर लिया है. वहीं आरोपी ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो भी अपलोड किया था. जिसमें एल्बिन की ओर से दावा किया गया था कि दुकान का इस्तेमाल कई गैरकानूनी गतिविधियों के लिए किया गया था.

आरोपी ने कहा था, ‘दुकान का इस्तेमाल अवैध जुआ और शराब के धंधे के लिए किया जाता है. इस इलाके के नौजवान इससे परेशान हैं. हमें पुलिस या गांव के अधिकारियों से सकारात्मक प्रतिक्रिया नहीं मिल रही है, इसलिए मैं इस दुकान को ध्वस्त करने जा रहा हूं.’ इसके बाद अपने कहे मुताबिक आरोपी पूरी तरह से दुकान को उखाड़ फेंकता है.

पुलिस ने क्या कहा

इस मामले में पुलिस का कहना है कि एल्बिन के जरिए किया गया काम एक अपराध है और इसलिए उस पर संबंधित धाराओं के तहत आरोप लगाए गए हैं. वहीं पुलिस ने बताया कि अपना बयान दर्ज करते हुए उसने कहा कि दुकान चलाने वाले व्यक्ति ने एल्बिन के लिए आए कई शादी के प्रस्तावों को रोक दिया था. फिलहाल इस पूरे मामले में आगे की जांच की जा रही है.

Continue Reading

TRENDING

मंदिर के गर्भगृह में घुसा मगरमच्छ, पुजारी के साथ दिखा अनोखा कनेक्शन, तस्वीरें Viral

Muzaffarpur Now

Published

on

भारत के तीर्थस्थल अपनी परंपरा के साथ कई ऐसे रहस्यों को अपने अंदर समेटे हुए हैं. कुछ रहस्यों पर से पर्दा उठ चुका, लेकिन कुछ अनसुलझे ही हैं. शायद यही रहस्य हैं जो देश ही नहीं बल्कि विदेशी श्रद्धालुओं को भी अपनी ओर खींचते हैं. एक ऐसा ही रहस्या छिपा हुआ है केरल (Kerala) के कासरगोज स्थित अनंतपुर नाम के मंदिर में. कई सालों से इस मंदिर की रखवाली एक मगरमच्छ (Crocodile babiya) कर रहा है. इस मगरमच्छ का नाम बाबिया है. ये बात जानकार आपको हैरानी होगी कि इसे मंदिर का पुजारी भी कहा जाता है. मंगलवार को यह मगरमच्छ अचानक मंदिर में प्रवेश कर गया. मंदिर परिसर में मगरमच्छ का इस तरह से घुसना सबके लिए हैरान करने वाला था. मंदिर परिसर में प्रवेश करने के बाद मगरमच्छ ने कुछ वक्त वहां पर बिताया और मुख्य पुजारी चंद्रप्रकाश नंबिसन के कहने पर वह मंदिर के तालाब में वापस चला गया.

फोटो साभारः ट्विटर

मगरमच्छ के मंदिर में प्रवेश करने की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं. रिपोर्ट्स की मानें तो ये मगरमच्छ शाकाहारी है और किसी को नुकसान नहीं पहुंचाता है. कुछ रिपोर्ट्स में भी यह भी कहा गया है कि मगरमच्छ ने मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश किया जो कि ठीक नहीं है.

Image

रहस्य है तालाब में मगरमच्छ का आना

बाबिया काफी समय में मंदिर के तालाब में रह रहा है. हालांकि अभी तक ये बात सामने नहीं आई है कि बाबिया मंदिर के तालाब में कैसे आया और यह नाम इसे किसने दिया. ऐसा कहा जा रहा है कि बाबिया मंदिर के तालाब में पिछले 70 सालों से है, लेकिन आज तक उसने किसी के साथ हिंसक व्यवहार नहीं किया है और न ही किसी को नुकसान पहुंचाया है.

दो बार मंदिर का प्रसाद खाता है मगरमच्छ

रिपोर्ट्स की मानें तो ये मगरमच्छ दिन में दो बार मंदिर में पूजा के बाद प्रसाद खाता है. प्रसाद लेकर मंदिर के पुजारी जैसे ही तालाब के पास जाते हैं बाबिया को आवाज देते हैं वो बाहर आ जाता है और शांति से प्रसाद खाता है. मंदिर के कर्मचारियों का कहना है कि बाबिया का पुजारी से अनोखा कनेक्शन है. उन्होंने कहा मंदिर के तालाब में ढेरों मछलियां हैं और हमें यकीन है कि बाबिया कभी उनका शिकार नहीं करता है. बाबिया पूरी तरह से शाकाहारी है.

Image

Continue Reading

TRENDING

कोलकाता में दुर्गा पूजा का अनोखा पंडाल, दिखाया गया लॉकडाउन में महिला मजदूरों का संघर्ष

Ravi Pratap

Published

on

पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा के आयोजन की तैयारी शुरू हो गई है। हालांकि कोरोना महामारी के चलते इसबार आयोजन हर बार की तरह भव्य नहीं दिखाई पड़ रहा। लेकिन इस बीच कोलकाता के एक पंडाल चर्चा में है।

कोलकाता के बेहाला में बारिशा क्लब ने दुर्गा पूजा में एक बड़ा बदलाव किया। इस बार दुर्गा मूर्ति की जगह अपने बच्चों के साथ एक प्रवासी महिला की मूरत को जगह दी गई है। यह प्रतिमा लॉकडाउन में महिला मजदूरों के संघर्ष के प्रति सम्मान को दिखाएगी। दरअसल, ये महिलाएं लॉकडाउन में अपने बच्चों को गोद में लेकर हजारों किलोमीटर पैदल चलती रहीं है।

इसे बनाने वाले कलाकार रिंटू दास कहते हैं, “ये आइडिया तब आया जब मैंने प्रवासी कामगारों की दुर्दशा देखी। 4 बच्चों के साथ चलने वाली महिला, बिना किसी सहायता के, मुझे लगा इसपर कुछ करने लायक है।”

दास ने कहा कि पंडाल में प्रवासी मजदूरों की बेटियों के रूप में देवियों की सांकेतिक मूर्तियां स्थापित की जाएंगी जिनमें एक मूर्ति के साथ लक्ष्मी का वाहन उल्लू और दूसरी मूर्ति के साथ सरस्वती के वाहन हंस के साथ लगाई जाएगी। इसके अलावा चौथी मूर्ति हाथी के सिर के साथ होगी जो गणेश का सांकेतिक रूप होगी। इसे इस तरह दर्शाया जाएगा कि सभी दुर्गा से इस मुश्किल दौर में राहत की अपील करते हुए मजदूर उनकी ओर बढ़ रहे हैं। इस बार बरीशा क्लब की मुख्य थीम भी ‘रिलीफ’ यानी राहत ही है।

Input: Live Hindustan

Continue Reading
WORLD3 hours ago

मुंबई हमलों के मास्टरमाइंड आतंकी हाफिज सईद को 10 साल की सजा, पाक अदालत ने दिया फैसला

BIHAR5 hours ago

बिहार में नव नियुक्त शिक्षा मंत्री मेवालाल ने इस्तीफा दिया, आज ही कार्यभार संभाला था

BIHAR5 hours ago

आरोप लगाने वालों पर 50 करोड़ की मानहानि ठोकेंगे शिक्षा मंत्री मेवालाल

BIHAR6 hours ago

कोरोना के कारण विश्व प्रसिद्ध सोनपुर मेला रद्द, मंत्री रामसूरत राय ने दिए आदेश

MUZAFFARPUR6 hours ago

लॉ प्रेप डिजिटल एजुकेशनल स्टूडियो का उद्घाटन केंद्रीय मंत्री द्वारा किया गया

BOLLYWOOD6 hours ago

अक्षय कुमार ने यू-ट्यूबर को भेजा 500 करोड़ का मानहानि का नोटिस, सुशांत सिंह के फेक वीडियोज़ बनाकर कमाए थे 15 लाख

INDIA7 hours ago

तीन महीने से कम समय में 76 बच्चों को बचाया, दिल्ली पुलिस में सीमा ढाका का आउट-ऑफ-टर्न प्रमोशन

BIHAR7 hours ago

एम्स से दीघा तक एलिवेटेड रोड पर आज से परिचालन शुरू, कोइलवर पुल पर आज ट्रायल रन

BIHAR9 hours ago

बिहार: जानें उस सूर्य मंदिर के बारे में जिसका निर्माण स्वयं विश्वकर्मा ने करवाया, देखें बिहार के मंदिरों की तस्वीरें

BIHAR9 hours ago

CM नीतीश ने सुशील मोदी से निभाई दोस्ती! विधान परिषद में दिया यह बड़ा पद

WORLD4 days ago

संयुक्त राष्ट्र की शाखा ने चेताया- 2020 से भी ज्यादा खराब होगा साल 2021, दुनिया भर में पड़ेगा भीषण अकाल

INDIA3 weeks ago

JEE MAINS का टॉपर गिरफ्तार, परीक्षा में दूसरे को बैठाकर पाए थे 99.8 % अंक

BIHAR13 hours ago

सात समंदर पार रूस से छठ करने पहुंची विदेशी बहू

INDIA4 weeks ago

हिमालय में आएगा बड़ा भूकंप, देश की राजधानी दिल्ली भी होगी जद में: रिसर्च

TRENDING6 days ago

ठंड से ठिठुर रहा था भिखारी, DSP ने गाड़ी रोकी तो निकला उन्हीं के बैच का ऑफिसर

BIHAR1 week ago

जीत की खुशी में पटाखा जलाने पर BJP नेता के बेटे की पीट-पीटकर हत्या, शव पेड़ पर लटकाया

BIHAR2 weeks ago

बड़ा ऐलान : नीतीश ने कर दिया राजनीति से संन्यास का एलान

BIHAR3 weeks ago

झूठा साबित हुआ लिपि सिंह का आरोप, भीड़ ने नहीं पुलिस ने की थी फायरिंग, CISF की रिपोर्ट से खुलासा

BIHAR1 week ago

बहुमत से महज 12 सीट दूर RJD ने नहीं छोड़ी सरकार बनाने की उम्मीद, सहनी-मांझी पर नजर

ENTERTAINMENT4 weeks ago

बिहार और ब्राह्मणो के प्रति घृणा फ़ैलाने के उद्देश्य से बना है – मिर्जापुर का नया सीज़न

Trending