डीआईजी बोले- बैरिया से जीरोमाइल तक भारी वाहनों के प्रवेश पर नहीं लग पाई रोक, क्या कर रहे अफसर

0
121

शहर में ट्रैफिक व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए शहरी क्षेत्र के थानाध्यक्ष, टाउन डीएसपी, यातायात डीएसपी व ट्रैफिक इंस्पेक्टर गंभीर नहीं हैं। डीआईजी की अध्यक्षता में 1 मार्च को शहर में ट्रैफिक व्यवस्थित करने को लेकर हुई समीक्षा बैठक में 7 प्रमुख बिंदुओं पर सहमति बनी थी। उनमें महज एक बिंदु पर काम हो सका। सोमवार को फिर डीआईजी ने पुलिस अधिकारियों के साथ समीक्षा की तो ये बात सामने आई। डीआईजी ने बैठक में मौजूद पुलिस अधिकारियों को डांट पिलाई। साथ ही बैठक से निकल कर सीधे ट्रैफिक पोस्ट पर तैनात बुजुर्ग ट्रैफिक सिपाहियों को चिह्नित कर सिटी एसपी को सूची सौंपने के लिए कहा।

पिछली बैठक में बैरिया से जीरोमाइल होते हुए बाजार समिति तक भारी वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने के फैसले के संबंध में जब डीआईजी ने पुलिस अधिकारियों से पूछा तो कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। शहर में बिना कागजात ऑटो के संचालन पर डीआईजी ने हर हाल में रोक लगाने के लिए ट्रैफिक थाने से शहर में चल रहे ऑटो चालकों को अलग-अलग नंबर देने का आदेश दिया था। कागजात की जांच-पड़ताल करनी थी। ऑटो चालकों के कागजात की जांच व नंबर देने के निर्णय के आलोक में भी कोई कार्रवाई ट्रैफिक थाने से नहीं की गई। ट्रेनी महिला सिपाहियों की दोपहर में तैनाती के आदेश को सिर्फ लागू किया जा सका।

कहा- शहरवासी हैं परेशान, यातायात सुचारु रखना थानाध्यक्षों की भी जिम्मेदारी

डीआईजी ने बैठक में मौजूद पुलिस अधिकारियों को भविष्य के लिए चेतावनी देते हुए कहा कि शहर में लोग ट्रैफिक की समस्या से काफी परेशान हैं। कहा- यातायात सुचारु रखना संबंधित थानाध्यक्ष की भी जिम्मेदारी बनती है। जीरोमाइल में ट्रैफिक कंट्रोल के लिए चांदनी चौक से बाजार समिति तक भारी वाहनों का परिचालन सुबह 6 बजे से रात 8 बजे तक बंद करने के लिए प्रशासन के स्तर पर जो भी कानूनी कार्रवाई है उसे पूरा किया जाए। शहर के 11 नए स्थानों पर ट्रैफिक जवानों की तैनाती के संबंध में भी डीआईजी ने यातायात डीएसपी से जानकारी ली। चौक-चौराहों के पहले ऑटो को रोकने के लिए पीले रंग की मार्किंग करने के लिए नगर निगम से जरूरत पड़ने पर डीआईजी ने सहयोग लेने का आदेश दिया। एक सप्ताह बाद फिर से ट्रैफिक समस्या की समीक्षा की जाएगी। डीआईजी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में सिटी एसपी, टाउन डीएसपी, यातायात डीएसपी, ट्रैफिक इंस्पेक्टर व शहर के सभी थानाध्यक्ष मौजूद थे।

इन 7 बिंदुओं पर ट्रैफिक व्यवस्था में होना है सुधार

  1. शहर में ग्यारह नए स्थानों पर ट्रैफिक जवानों की तैनाती
  2. बैरिया से बाजार समिति तक भारी वाहनों का प्रवेश नहीं
  3. ट्रैफिक पोस्ट पर अभी तैनात बुजुर्ग सिपाहियों को हटाना
  4. दोपहर में विभिन्न पोस्ट पर 50 ट्रेनी सिपाहियों की तैनाती
  5. ऑटो चालकों के कागजात की जांच व नंबर जारी करना
  6. चौक-चौराहों पर ऑटो रोकने के लिए पीले रंग की मार्किंग
  7. नगर निगम को दिए गए पुलिसकर्मियों की वापसी।

Input : Dainik Bhaskar

Total 0 Votes
0

Tell us how can we improve this post?

+ = Verify Human or Spambot ?