Connect with us

WORLD

डोनाल्‍ड ट्रंप की गिरफ्तारी का आदेश, इस देश ने जारी किया वारंट

Muzaffarpur Now

Published

on

ईरान ने शीर्ष ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी की मौत को लेकर अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया है. तेहरान के अभियोजक अली अलकासीमहर ने डोनाल्ड ट्रंप और 35 लोगों पर शीर्ष ईरानी जनरल की हत्या में शामिल रहने का आरोप लगाते हुए इंटरपोल से मदद मांगी है.

डोनाल्‍ड ट्रंप की गिरफ्तारी का आदेश, इस देश ने जारी किया वारंट

तेहरान के अभियोजक अली अलकासीमहर ने तीन जनवरी को बगदाद में हुए हमले में ट्रंप और 35 अन्य लोगों के शामिल होने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, ‘ऐसे 36 लोगों की पहचान की गई है, जो कासिम की हत्या या इसका आदेश जारी करने में शामिल थे. जिसमें अमेरिका और अन्य सरकारों के राजनीतिक और सैन्य अधिकारी शामिल हैं. न्यायपालिका के अधिकारियों ने इनके खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी किया है और इंटरपोल के जरिए इनके लिए रेड अलर्ट भी घोषित किया गया है.’

ईरान ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का गिरफ्तारी वारंट कासिम के मारे जाने के करीब 6 महीने बाद जारी किया है.

हवाई हमले में कासिम को अमेरिका ने मार गिराया था

ईरान संग तनातनी के बीच अमेरिका ने सैन्य कार्रवाई की थी. इस दौरान अमेरिकी स्ट्राइक में ईरानी रिवोल्यूशनरी गार्ड (IRGC) के वरिष्ठ जनरल और कुद्स फोर्स कमांडर कासिम सुलेमानी की 3 जनवरी को मौत हो गई थी.

Input : Zee News

WORLD

PoK में स्कार्दू एयरबेस पर दिखा चीनी फाइटर एयरक्राफ्ट, भारत के खिलाफ बड़ी साजिश की आशंका

Muzaffarpur Now

Published

on

पीओके में स्कार्दू एयरबेस (Skardu Airbase) पर चीनी वायुसेना की हरकतों ने भारतीय एजेंसियों को चौकन्ना कर दिया है. केवल जून के महीने में ही 40 से ज्यादा चीनी फाइटर जेट जे 10 स्कार्दू गए हैं. आशंका है कि स्कार्दू का इस्तेमाल चीनी वायुसेना भारत में हमले के लिए करने की तैयारी कर रही है. स्कार्दू की लेह से दूरी लगभग 100 किमी है और ये किसी भी चीनी एयरबेस की तुलना में बहुत ज्यादा पास है. इसलिए इस बात की आशंका बढ़ गई है कि चीन स्कार्दू एयरबेस की क्षमताओं को परख रहा है ताकि इसका इस्तेमाल किया जा सके. यानी अब भारत को दोहरे मोर्चे पर लड़ने के लिए खींचने की तैयारी हो रही है.

PoK में स्कार्दू एयरबेस पर दिखा चीनी फाइटर एयरक्राफ्ट, भारत के खिलाफ बड़ी साजिश की आशंका

लद्दाख के खिलाफ इस्तेमाल करने के लिए चीन के पास तीन एयरबेस हैं जहां से उसके फाइटर एयरक्राफ्ट कार्रवाई कर सकते हैं. ये हैं काशगर, होतान और नग्री गुरगुंसा लेकिन इनकी भारत के खिलाफ कार्रवाई करने की क्षमताएं सीमित हैं. काशगर की लेह से दूरी 625 किमी, लेह से खोतान की दूरी 390 किमी और लेह से गुरगुंसा की दूरी 330 किमी है. ये सभी तिब्बत में 11000 फीट से ज्यादा ऊंचाई पर स्थित हैं. इतनी ऊंचाई से टेकऑफ करने पर ईंधन और साथ ले जाने वाले हथियार दोनों का ही वजन कम रखना होता है. इससे फाइटर जेट्स की मारक क्षमता और रेंज दोनों ही कम हो जाते हैं. साथ ही इतनी लंबी दूरी की उड़ान को रडार से पकड़े जाने की संभावना भी बढ़ जाती है.

स्कार्दू से लद्दाख और कश्मीर दोनों में भारतीय ठिकानों पर हमले करना आसान होगा. स्कार्दू की लेह से दूरी 100 किमी के आसपास और कारगिल से 75 किमी के आसपास है. यहां के एयरबेस में दो रन वे हैं जिनमें से एक ढाई किमी लंबा और दूसरी 3.5 किमी लंबा है. यहां से चीनी फाइटर जेट्स आसानी से कार्रवाई कर वापस लौट सकते हैं. वहीं अगर भारत स्कार्दू पर जवाबी कार्रवाई करता है तो पाकिस्तान को युद्ध शूरू करने का आसान बहाना मिल जाएगा. चीनी वायुसेना के जे 10 और मिड एयर रिफ्यूलर आईएल 78 का स्कार्दू आना ये बताने के लिए काफी है कि उस इलाके में चीनी वायुसेना ने कोई बड़ी एक्सरसाइज की है.

Input : Zee News

Continue Reading

WORLD

चीन के खतरे से निपटने के लिए होगी अमेरिकी सेना की तैनाती, अमेरिकी विदेश मंत्री का एलान

Muzaffarpur Now

Published

on

अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोंपियो ने कहा है कि भारत और दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के लिए खतरा उत्पन्न कर रहे चीन के कारण उनका देश यूरोप से अपनी सेनाएं कम करके अन्य जगहों पर तैनात कर रहा है। पोंपियो ने ब्रसेल्स फोरम में अपने एक वर्चुअल संबोधन के दौरान एक सवाल के जवाब में यह बात कही। पोंपियो की टिप्पणी भारत और चीन के बीच जारी तनाव के संदर्भ में बेहद अहम है।

US Army - INVISIO

पोंपियो से पूछा गया था कि जर्मनी से अमेरिका ने अपनी सेनाएं क्यों कम कर दी हैं। उनका जवाब था-क्योंकि उन्हें अन्य जगहों में भेजा जा रहा है। उन्‍होंने चीन को भारत और दक्षिणपूर्व एशिया के लिए खतरा बताया है। माइक पोंपियो से सवाल किया गया था कि जर्मनी में अमेरिकी सेना की टुकड़ी को क्यों घटा दिया गया। माइक ने कहा कि वहां से हटाकर सेना को दूसरी जगह तैनात किया जा रहा है।

Military Armament — Colombian Special Forces Soldiers taking part ...

चीन की कम्युनिस्ट पार्टी से कई देशों को खतरा बढ़ा 

अमेरिकी विदेश मंत्री ने कहा, चीन की सत्ताधारी कम्युनिस्ट पार्टी के कार्यों के कारण भारत, वियतनाम, मलेशिया, इंडोनेशिया और दक्षिण चीन सागर के इर्द-गिर्द खतरा उत्पन्न हो गया है। हम सुनिश्चित करेंगे कि अमेरिकी सेना इन चुनौतियों का सामना करने के लिए सही जगह तैनात हो। गत सप्ताह भी पोंपियो ने चीन शासन की तीखी आलोचना की थी।

US Army plans to bring human-AI interaction to the battlefield

उन्होंने कहा था कि चीन का शासन नए नियम-कायदे लागू करने की कोशिश कर रहा है। पोंपियो ने कहा कि डोनाल्‍ड ट्रंप प्रशासन ने पिछले दो साल में अमेरिकी सेना की तैनाती की रणनीतिगत तरीके से समीक्षा की है। अमेरिका ने खतरों को देखा है और समझा है कि साइबर, इंटेलिजेंस और मिलिट्री जैसे संसाधनों को कैसे बांटा जाए।

Another escalation in Iraq: U.S. Army sends new reinforcements to ...

पूरी दुनिया कर रही है चीन का सामना 

इससे पहले माइक पोंपियो ने बताया था कि उन्होंने यूरोपियन यूनियन के विदेश नीति के प्रमुख जोसेप बोरेल से चीन को लेकर बातचीत के प्रस्ताव को स्वीकार किया है। इसके लिए वह जल्द ही यूरोप जाने वाले हैं। पोंपियो ने कहा कि सिर्फ अमेरिका ही नहीं है जो चीन का सामना कर रहा है, पूरी दुनिया चीन का सामना कर रही है। पॉम्पिओ ने कहा कि मैंने इस महीने यूरोपियन यूनियन के विदेश मंत्रियों से बात की और चीन की कम्युनिस्ट पार्टी के बारे में बहुत सा फीडबैक मिला। कई तथ्य सामने आए हैं, जिसमें भारत के साथ लद्दाख में घातक झड़प, पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने उकसावे वाले कार्रवाई की बात थी। इसमें दक्षिण चीन सागर में उसकी आक्रामता,और शांतिपूर्ण पड़ोसियों के खिलाफ खतरे का जिक्र किया गया था।

Input : Dainik Jagran

Continue Reading

WORLD

Amazon और Flipkart बताएंगे किस देश में बना है प्रोडक्ट

Muzaffarpur Now

Published

on

पिछले कुछ दिनों से भारत और चीन के तनाव के चलते हमें हर दिन कुछ न कुछ नया सुनने को मिल रहा है। भारत में ‘मेड इन इंडिया’ और ‘बॉयकॉट चाइना’ जैसी भावनाओं को भी तेज़ी से हवा मिल रही है। ऐसे में अब एक नई खबर सामने आई है, जहां पता चला है कि भारत में ई-कॉमर्स दिग्गज जैसे कि Amazon India और Wallmart के स्वामित्व वाली Flipkart अपने प्लेटफार्मों पर रिटेलर्स से प्रोडक्ट्स पर उनके मूल देश को लिस्ट करने के लिए कह रही हैं। इस खबर से परिचित सूत्रों ने कहा कि इसपर चर्चा के लिए ऑनलाइन रिटेलर्स की एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग बैठक हुई, जिसे संघीय वाणिज्य मंत्रालय के डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री एंड इंटरनल ट्रेड (DPIIT) ने होस्ट किया था।

Amazon और Flipkart बताएंगे किस देश में बना है प्रोडक्ट

NDTV ने भी यह रिपोर्ट किया है कि अमेज़न और फ्लिपकार्ट सहित ई-कॉमर्स कंपनियों के एक समूह ने अपने नए प्रोडक्ट्स पर ‘मूल देश’ दिखाने का फैसला किया है और वे 2 हफ्ते के अंदर ऐसा करना शुरू कर देंगे। यह कदम राज्य सरकार द्वारा संचालित ई-मार्केटप्लेस पोर्टल पर मौजूद रिटेलर्स के लिए लागू किए जा रहे नियम का पालन करता है।

यह कदम चीन के भारत द्वारा बने प्रोडक्ट्स को बाहर करने और भारत के विवादित हिमालयी सीमा स्थल पर दोनों पड़ोसियों के बीच झड़प के बाद सामने आया है।

हालांकि, “मूल देश” की परिभाषा को लेकर कंपनियों ने सरकार से अपना रुख स्पष्ट करने के लिए कहा है, क्योंकि कुछ प्रोडक्ट्स भारत में असेंबल तो होते हैं, लेकिन उनके कंपोनेंट चीन या किसी अन्य देशों से आयात होते हैं।

Bloomberg की रिपोर्ट के अनुसार, Amazon India और Flipkart अपने रिटेलर्स को सभी प्रोडक्ट्स के लिए मूल देश प्रदर्शित करने लिए कहने के लिए सहमत हैं।

हालांकि अमेज़न, फ्लिपकार्ट और DPIIT ने इसपर टिप्पणी के अनुरोधों का तुरंत जवाब नहीं दिया।

Continue Reading
INDIA2 mins ago

कंपनी खोलना हुआ आसान, रजिस्ट्रेशन के लिए सिर्फ आधार कार्ड होगा जरुरी

WORLD30 mins ago

डोनाल्‍ड ट्रंप की गिरफ्तारी का आदेश, इस देश ने जारी किया वारंट

WORLD34 mins ago

PoK में स्कार्दू एयरबेस पर दिखा चीनी फाइटर एयरक्राफ्ट, भारत के खिलाफ बड़ी साजिश की आशंका

BIHAR2 hours ago

चिराग के बयान ने NDA को चौंकाया, अलर्ट मोड में आई BJP

BIHAR2 hours ago

क्या बिहार में बिना चुनाव ही CM बने रहेंगे नीतीश! युवाओं ने EC से की यह मांग

INDIA2 hours ago

अक्षय कुमार और सोनू सूद को भारत रत्न देने की उठी मांग, ट्वीट कर लोगों ने कही ऐसी बात

Uncategorized2 hours ago

कोरोना वायरस: महाराष्ट्र सरकार ने 31 जुलाई तक बढ़ाया लॉकडाउन

BIHAR5 hours ago

शेर सिंह राणा ने बिहार विधानसभा चुनाव में मारी एंट्री , बोले- आरजेपी( सत्य) सभी 243 सीटों पर चुनाव लड़ने को तैयार

MUZAFFARPUR6 hours ago

मुजफ्फरपुर की बेटी का जलवा, निफ्ट परीक्षा में 28वां स्थान

BIHAR7 hours ago

बिहार ने चीन को दिया बड़ा झटका- नीतीश सरकार ने छीन लिया चीनी कंपनियों से ये प्रोजेक्ट, जानिए

INDIA3 weeks ago

धोनी ने खरीदा स्‍वराज ट्रैक्‍टर तो आनंद महिंद्रा ने दिया बड़ा बयान, वायरल हुआ ट्वीट

BIHAR2 weeks ago

सुशांत के परिवार पर टूटा दुखों का पहाड़, सदमा नहीं झेल पाईं भाभी, तोड़ा दम

BIHAR2 weeks ago

प्रिय सुशांत – एक ख़त तुम्हारे नाम, पढ़ना और सहेज कर रखना

INDIA2 weeks ago

सुशांत स‍िंह राजपूत की सुसाइड पर बोले मुकेश भट्ट, ‘मुझे पता था ऐसा होने वाला है…’

BIHAR3 weeks ago

लालू के बेटे तेजस्वी यादव की कप्तानी में खेलते हुए बदली विराट कोहली की किस्मत!

MUZAFFARPUR2 weeks ago

सुशांत सिंह राजपूत की मौत पर एकता कपूर ने तोड़ी चुप्पी, कहा- मेरे खिलाफ मुकदमा करने के लिए शुक्रिया

BIHAR4 days ago

बिहार में नहीं चलेंगी सलमान खान, आलिया भट्ट, करण जौहर की फिल्में

INDIA7 days ago

सुशांत के व्हॉट्सऐप चैट आये सामने, उनको फिल्म करने में हो रही थी परेशानी

INDIA2 weeks ago

चांद पर प्लॉट खरीदने वाले पहले एक्टर थे सुशांत सिंह राजपूत!

INDIA2 weeks ago

मरने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने किया था ट्वीट, ‘मैं इस जिंदगी से तंग आ गया हूं, गुड बाय’

Trending