Connect with us

MUZAFFARPUR

तिरहुत क्षेत्र के शिक्षक निर्वाचन में बंपर वोटिंग, 79.77 प्रतिशत पड़े वोट; स्नातक निर्वाचन के प्रति उत्साह कम

Muzaffarpur Now

Published

on

बिहार विधान परिषद के तिरहुत क्षेत्र शिक्षक निर्वाचन के लिए गुरुवार काे मतदाताओं ने काेराेना काे मात देते हुए बंपर मतदान किया। 79.77 प्रतिशत शिक्षक मतदाताओं ने वाेट डाले। दूसरी तरफ स्नातक क्षेत्र के चुनाव में उत्साह कम दिखा। सिर्फ 43.91 प्रतिशत वाेटिंग हुई। यह पिछले चुनाव से भी कम रहा। पिछले चुनाव में 46.33 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। इसके साथ ही सभी 22 प्रत्याशियों की किस्मत मतपेटियों में बंद हो गई। कड़ी सुरक्षा व एहतियात के बीच हुए चुनाव में पुरुषाें के साथ महिला मतदाताओं ने भी भारी उत्साह से मतदान किया। कोरोना काल में हुए इस पहले बड़े चुनाव में कोरोना का थोड़ा असर ताे दिखा। लेकिन, शिक्षकाें ने उसे मात देते हुए यह दिखा दिया कि संक्रमण से बचाव जरूरी है, पर मतदान के अधिकार का प्रयोग भी उतना ही जरूरी।

धैर्य के साथ साेशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करते हुए अपनी बारी का इंतजार किया। बूथाें पर कोरोना संक्रमण से बचाव के भी पुख्ता इंतजाम थे। वाेट के पहले मतदाताओं की थर्मल स्क्रीनिंग कराई गई और हाथों को सैनिटाइज कराया गया। मतदाता भी मास्क पहने पहुंच रहे थे। मतदान सुबह 8 बजे से शुरू हुआ।

पहले घंटे में रफ्तार काफी धीमी रही। हर बूथ पर 12 से 15 वोट गिरे। कलेक्ट्रेट कैंपस स्थित एसडीओ पूर्वी पश्चिमी, डीसीएलआर पूर्वी पश्चिमी में शिक्षक निर्वाचन के लिए 4 बूथ होने के बावजूद 10 बजे तक सन्नाटा रहा। पर, दिन चढ़ने के साथ मतदान में तेजी आने लगी। पूजा कर मतदाता घर से निकले तो दोपहर बाद कई बूथाें पर लंबी-लंबी कतारें लग गईं।

मतदान के लिए पूर्व वीसी को 60 किमी दूर साहेबगंज और प्राध्यापक काे पटना जाना पड़ा

मतदान के दौरान बूथाें काे लेकर कई मतदाताओं को भारी परेशानी हुई। उर्दू फ़ारसी विश्वविद्यालय के पूर्व वीसी एवं विवि उर्दू विभाग के पूर्व अध्यक्ष डॉ. तौकीर आलम को मतदान के लिए 60 किलाेमीटर दूर साहेबगंज जाना पड़ा। उन्होंने कहा कि उनका विभाग विवि और घर सादपुरा में है। फिर भी पता नहीं कि कैसे साहेबगंज भेज दिया गया। आरडीएस कॉलेज के वरिष्ठ प्राध्यापक डॉ. विकास नारायण उपाध्याय ने बताया कि उन्हें एक दिन पहले मैसेज आया कि स्नातक में उनका बूथ पटना है।

कई बूथों पर हाथ जोड़े हुए प्रत्याशी ले रहे थे मतदाताओंं का हालचाल

मतदान के दिन भी मतदाताओं को अपने पाले में लाने की कोशिश होती रही। कलेक्ट्रेट गेट से घुसते ही कई शिक्षक प्रत्याशी हाथ जोड़ कर मतदाताओं से उनका हालचाल पूछते दिखे। ये प्रत्याशी सुबह से ही वहां जमे रहे। मोबाइल से भी वोटरों को बुलाने एवं अन्य बूथों की भी जानकारी लेने का कार्य चलता रहा।

भीड़ अधिक न हाे, इसलिए बूथ भी अधिक थे: भीड़ अधिक नहीं हाे, इसलिए इस बार बूथ भी अधिक थे। पिछले चुनाव में स्नातक क्षेत्र के लिए मुजफ्फरपुर, सीतामढ़ी, शिवहर, वैशाली के कुल 90526 मतदाताओं के लिए 96 बूथ थे। इस बार 94775 वोटराें के लिए 127 और मुख्यालय में 59 बूथ थे। शिक्षक निर्वाचन के लिए 2014 में 8172 मतदाताओं के लिए 57 बूथ थे। इस बार 8684 मतदाताओं के लिए चारों जिलों में 58 और मुजफ्फरपुर में 19 बूथाें पर मतदान हुआ।

Source : Dainik Bhaskar

BIHAR

मुजफ्फरपुर से देहरादून के लिए सात दिसंबर से चलेगी ट्रेन

Muzaffarpur Now

Published

on

Muzaffarpur Junction

यात्रियों का सफर आसान करने के लिए रेलवे सात दिसंबर से मुजफ्फरपुर से देहरादून के बीच साप्ताहिक स्पेशल ट्रेन चलाने का निर्णय लिया है। इसको लेकर पूर्व मध्य रलवे की ओर से शुक्रवार रात अधिसूचना जारी की गई।

पूर्व मध्य रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि यह ट्रेन मुजफ्फरपुर से सात दिसंबर से जबकि देहरादून से पांच दिसंबर से चलेगी। गाड़ी संख्या 05001 मुजफ्फरपुर देहरादून साप्ताहिक स्पेशल सात दिसंबर से 28 दिसंबर तक हर सोमवार को मुजफ्फरपुर से दोपहर दो बजे खुलेगी जो चकिया, मोतिहारी, सुगौली, गोरखपुर के रास्ते देरहादून जाएगी। गाड़ी संख्या 05002 देहरादून-मुजफ्फरपुर साप्ताहिक बनकर पांच दिसंबर से 26 दिसंबर तक हर शनिवार को देहरादून से खुलेगी।

मुजफ्फरपुर से होकर गुजरेगी मुम्बई स्पेशल

मधेपुरा से मुम्बई के बीच चलने वाली स्पेशल ट्रेन मुजफ्फरपुर होकर गुजरेगी। 29 नवंबर को मधेपुरा से सुबह नौ बजे खुलकर समस्तीपुर के रास्ते दोपहर के 2:15 बजे मुजफ्फरपुर पहुंचेगी।

-इन ट्रेनों के अवधि में हुआ विस्तार

गाड़ी संख्या 05097 भागलपुर जम्मूतवी 31 दिसंबर तक

गाड़ी संख्या 05098 जम्मूतवी भागलपुर 29 दिसंबर तक

गाड़ी संख्या 05028 गोरखपुर हटिया एक्सप्रेस 31 दिसंबर तक

गाड़ी संख्या 05027 हटिया गोरखपुर एक्सप्रेस एक जनवरी तक

गाड़ी संख्या 04185 ग्वालियर बरौनी एक्सप्रेस 30 दिसंबर तक

गाड़ी संख्या 05049 कोलकाता गोरखपुर 30 दिसंबर तक

गाड़ी संख्या 05048 गोरखपुर कोलकाता 29 दिसंबर तक

गाड़ी संख्या 04186 बरौनी ग्वालियर एक्सप्रेस 31 दिसंबर तक

Source : Hindustan

Continue Reading

MUZAFFARPUR

कोरोना से बचाव में पत्रकार व प्रशासन एक-दूसरे के पूरक

Muzaffarpur Now

Published

on

जिले के प्रख्यात पत्रकार दिवंगत शिवशंकर श्रीवास्तव की 10वीं पुण्यतिथि पर गुरुवार को खादी भंडार के पटेल नगर स्थित आवासीय परिसर में स्मृति पर्व मनाया गया। इस अवसर पर ऑनलाइन संगोष्ठी का भी आयोजन किया गया। इसमें देशभर से शामिल हुए पत्रकारों व समाजसेवियों ने दिवंगत पत्रकार शिवशंकर श्रीवास्तव के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित की। सबने उनकी पत्रकारिता के दिनों की यादें साझा की। साथ ही संगोष्ठी के विषय ” कोरोना से बचाव में पत्रकारों की भूमिका” पर अपनी बातें रखी।

दिल्ली के पत्रकार अमित दत्ता ने कोरोना काल में पत्रकारिता के लिए चुनौतियों की चर्चा की। उन्होंने कहा कि सही सूचना का प्रसार करना पत्रकारों का कर्तव्य है। अधूरी या भ्रामक सूचनाओं से लोगों में वहम फैल सकता है। इससे डिप्रेशन, हार्ट अटैक आदि का खतरा हो सकता है। उन्होंने कहा कि चुनौती भरे इस कोरोना काल में पत्रकार व प्रशासन एक-दूसरे के पूरक हैं। ये दोनों समाज को सुरक्षा के लिए सचेत करते हैं। चुनौतियों से जूझते हुए पत्रकार अपनी लेखनी से समाज व प्रशासन को सचेत करते हैं। वहीं, प्रशासन भी पत्रकार के माध्यम से ही सही सूचना समाज तक पहुंचाता है।

पर्यावरणविद अनिल प्रकाश ने कहा कि शिवशंकर श्रीवास्तव जी निर्भीक पत्रकार थे। उन्होंने अपनी पत्रकारिता में चुनौतियों से कभी समझौता नहीं किया। उनको याद करना सही और वास्तविक पत्रकारिता को जीवंत बनाए रखने के लिए जरूरी है। दिवंगत पत्रकार शिवशंकर श्रीवास्तव की पत्नी संगीता चैनपुरी ने कहा कि श्रीवास्तव जी समाज व पत्रकारिता के लिए हमेशा चेतनाशील रहे।

संगोष्ठी का अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ साहित्यविद शशिकांत झा ने कहा कि आपदा के समय पत्रकारों की भूमिका महत्वपूर्ण हो जाती है। जागरूकता ही कोरोना से बचाव के लिए अहम है और समाज को जागरूक करना पत्रकारों का कर्तव्य है। कोरोना के प्रति डर की भावना खत्म करने में पत्रकारों की भूमिका अहम है। संचालन कर रहे डॉ. फूलगेन पूर्वे ने शिवशंकर श्रीवास्तव की पत्रकारिता के दिनों की चर्चा की। धन्यवाद ज्ञापन अभिषेक प्रियदर्शी ने किया।

इस दौरान कवि व अधिवक्ता पंकज बसंत, केएन श्रीवास्तव, प्रियेश सहाय, मंजू वर्मा, महालक्ष्मी, अंजनी, चंदन विश्वास, शक्ति सौरभ, आदर्श रंजन, श्वेता विश्वास आदि ने दिवंगत शिवशंकर श्रीवास्तव जी को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।

Continue Reading

MUZAFFARPUR

बिहार विवि का फर्जी अकाउंट बनाकर छात्रों को कर रहे गुमराह

Muzaffarpur Now

Published

on

मुजफ्फरपुर : सोशल मीडिया के माध्यम से फर्जीवाड़ा करने वाले बदमाशों का रुझान अब विद्यार्थियों की ओर हो रहा है। बैंक और एटीएम से धोखाधड़ी के मामले सामने आने के बाद अब सोशल मीडिया पर बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के नाम से फर्जी अकाउंट बनाकर छात्रों को गुमराह किया जा रहा है। कभी अखबार की क्लोन की गई खबर तो कभी विवि के अधिकारियों के हस्ताक्षर को स्कैन कर फर्जी तरीके से दूसरे पत्रों से जोड़कर वायरल किया जा रहा है। सैकड़ों छात्र इसे सही मानकर फर्जी अकाउंट्स संचालित करने वाले से कमेंट बॉक्स में संवाद करते हैं। यहीं से संबंधित छात्र-छात्र का नंबर मांगता है और अवैध वसूली का खेल शुरू होता है। पार्ट टू की एक छात्र जब ऐसे ही फर्जी अकाउंट पर पेंडिंग रिजल्ट में सुधार कराने की प्रक्रिया की जानकारी चाही तो उसे इनबॉक्स में मैसेज करने के लिए कहा। वहां उससे 1500 रुपये की मांग की गई। हालांकि, उसने पैसे नहीं दिए।

सोशल साइट्स के चक्कर में नहीं पड़ें विद्यार्थी : परीक्षा नियंत्रक: परीक्षा नियंत्रक डॉ.मनोज कुमार ने कहा कि अक्सर ऐसी शिकायतें मिलती हैं कि विवि परिसर में छात्र-छात्रओं से नंबर बढ़वाने, प्रमाणपत्र बनवाने और सुधार कराने के नाम पर पैसे की ठगी हो जाती है। अब सोशल मीडिया पर परीक्षा का गलत कार्यक्रम व अन्य जानकारी वायरल किया जा रहा है। छात्र-छात्रओं को चाहिए कि इससे दूर रहें। साथ ही किसी काम के लिए विवि में ही संपर्क करें। क्योंकि, सोशल मीडिया पर भी अब साइबर बदमाश सक्रिय हो गए हैं। जो विवि में काम कराने की बात कह पैसे मांगते हैं और इसके बाद गायब हो जाते हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि सोशल मीडिया पर विवि का कोई आधिकारिक हैंडल नहीं है। बीआरएबीयू न्यूज, ऑफिसियल बीआरएबीयू समेत फेसबुक पर दर्जनों फर्जी अकाउंट्स बनाकर गलत जानकारियां प्रसारित की जा रही हैं।

Source : Dainik Jagran

Continue Reading
BIHAR1 hour ago

बढ़ती बिमारी और मौत के बावजूद, बिहारियों को नहीं लग रहा कोरोना से डर –

TRENDING1 hour ago

दुनिया का सबसे महंगा बैग लॉन्च, कीमत है 53 करोड़ रुपये

TRENDING2 hours ago

लॉकडाउन में घर जमाई बना दामाद तो साली को ले भागा, पकड़े जाने पर लड़की ने खाया जहर

BIHAR2 hours ago

मैट्रिक और इंटर परीक्षा के लिए बिहार बोर्ड की तैयारी, टेंपरेचर अधिक व सर्दी होने पर अलग कक्ष में बैंठेंगे परीक्षार्थी

INDIA2 hours ago

पीएम मोदी की समीक्षा के तुरंत बाद SII प्रमुख ने दी खुशखबरी

BIHAR2 hours ago

‘कोरोना बम’ साबित हो सकती हैं पैसेंजर ट्रेनें, भेड़-बकरियों की तरह यात्रा कर रहे लोग

INDIA3 hours ago

किसान आंदोलन पर बोले गृह मंत्री अमित शाह- ‘सरकार हर मांग पर विचार को तैयार’

BIHAR5 hours ago

लॉ एंड आर्डर को लेकर सख्त हुए CM नीतीश, DGP और चीफ सेक्रेटरी के साथ की मीटिंग

BIHAR6 hours ago

तेजस्वी पर बरसे मांझी, कहा- उन्हें नहीं कोई संवैधानिक जानकारी, नीतीश कुमार से मांगें माफी

BIHAR6 hours ago

राज्यसभा सांसद बन राष्ट्रीय राजनीति करेंगे सुशील मोदी, केंद्र में बन सकते हैं मंत्री!

BIHAR1 week ago

सात समंदर पार रूस से छठ करने पहुंची विदेशी बहू

WORLD2 weeks ago

संयुक्त राष्ट्र की शाखा ने चेताया- 2020 से भी ज्यादा खराब होगा साल 2021, दुनिया भर में पड़ेगा भीषण अकाल

BIHAR5 days ago

खाक से फलक तक : 18 साल की उम्र में घर से भागे, मजदूरी की, और अब हैं बिहार के मंत्री

TRENDING6 days ago

यात्री नहीं मिलने से पहली प्राइवेट ट्रेन तेजस एक्‍सप्रेस हो जाएगी बंद

INDIA4 days ago

राजस्थान छोड़कर जम्मू-कश्मीर जाना चाहते हैं IAS टीना डाबी के पति अतहर, लगाई तबादले की अर्जी

BIHAR1 week ago

एम्स से दीघा तक एलिवेटेड रोड पर आज से परिचालन शुरू, कोइलवर पुल पर आज ट्रायल रन

INDIA2 weeks ago

मिट्टी से भरी ट्रॉली खाली करते वक्त अचानक गिरने लगे सोने-चांदी के सिक्के, लूटकर भागे लोग

TRENDING2 weeks ago

ठंड से ठिठुर रहा था भिखारी, DSP ने गाड़ी रोकी तो निकला उन्हीं के बैच का ऑफिसर

BIHAR2 weeks ago

जीत की खुशी में पटाखा जलाने पर BJP नेता के बेटे की पीट-पीटकर हत्या, शव पेड़ पर लटकाया

BIHAR4 weeks ago

झूठा साबित हुआ लिपि सिंह का आरोप, भीड़ ने नहीं पुलिस ने की थी फायरिंग, CISF की रिपोर्ट से खुलासा

Trending